Sachin Tendulkar Biography in Hindi | सचिन तेंदुलकर जीवन परिचय, अचिवमेंट्स, विश्व रिकॉर्ड व अनमोल वचन

Sachin Tendulkar Biography in Hindi: 24 अप्रैल को मास्टर ब्लास्टर अपना जन्मदिन मनाएंगे। सचिन के जन्मदिन के उपलक्ष्य में हम आपके लिए Sachin Tendulkar Biography In Hindi | सचिन तेंदुलकर जीवन परिचय लेकर आएं है जो आपके सचिन से जुड़ी हर जरुरी जानकारी देगी। कई बिंदूओं पर आधार यह जीवनी हर तरह से समृद्ध है, जिसको पढ़कर आपको सचिन को डिटेल में जानने में मदद मिलेगी। गौरतलब है कि सचिन रमेश तेंदुलकर के उपनाम मास्टर ब्लास्टर है, इसके साथ ही उन्हें क्रिकेट के भगवान के रुप में भी जाना जाता है और वह कई लोगों के लिए छोटे विशेषज्ञ भी थे। उन्हें अक्सर क्रिकेट इतिहास का सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज माना जाता है। उनके बचपन, जवानी, एक क्रिकेट दौरे, पुरस्कारों और सम्मानों आदि को लेकर जाना पहचाना जाता है। सचिन का कहना है कि “लोग आप पर पत्थर फेंकते हैं, लेकिन आप उन्हें जीत में बदल देते हैं। सचिन तेंदुलकर का जन्म 24 अप्रैल 1973 को हुआ था।आज उनकी 50 वीं जन्मदिन हो जाएंगे वह इतिहास में एकमात्र बल्लेबाज हैं जिन्होंने 100 शतक बनाए हैं।  

वहीं अगर सचिन कि लव लाइफ के बारे में बात करें तो जब वह अपनी पहली विदेश छुट्टी से लौटे, तो उन्होंने मुंबई के विदेशी हवाई अड्डे पर अपनी जीवन साथी अंजलि से मुलाकात की। यह सचिन के लिए अथाह प्यार था। किस्मत से, वह अंजलि को एक म्यूचल फ्रेंड के माध्यम से जानता था, लेकिन अंजलि खेल, विशेषकर क्रिकेट के बारे में कुछ नहीं जानती थी। लंबे समय तक डेटिंग करने के बाद, इस जोड़े ने 1995 में शादी की। उनके दो बच्चे सारा और अर्जुन तेंदुलकर हैं। वहीं सचिन के बारे में हम आपके लिए कई तथ्य लेकर आएं है जो आपकी सचिन को लेकर जानकारी में वृद्धि करेगा। इस लेख को हमने कई बिंदूओं के आधार पर तैयार किया है जैसे कि सचिन तेंदुलकर जीवनी – Sachin Tendulkar Biography In Hindi,सचिन तेंदुलकर जीवनी Sachin Tendulkar Jivani Highlights, सचिन तेंदुलकर प्रारंभिक जीवन 

सचिन तेंदुलकर पारिवारिक जानकारी Sachin Tendulkar Family Detail in Hindi,सचिन तेंदुलकर की शिक्षा (Sachin Tendulkar’s Education),सचिन तेंदुलकर की लव लाइफ और मेरिज लाइफ (Love Life and Marriage)सचिन तेंदुलकर का करियर (Sachin Tendulkar’s Career),सचिन तेंदुलकर का टेस्ट मैच रिकार्ड्स (Sachin Tendulkar’s Test Match Record)सचिन तेंदुलकर ODI मैच रिकार्ड्स (Sachin Tendulkar ODI Match Record),सचिन तेंदुलकर टी -20 मैच रिकार्ड्स (Sachin Tendulkar T-20 Match Record),सचिन तेंदुलकर का आईपीएल मैच रिकार्ड्स (Sachin Tendulkar’s IPL Match Record),सचिन तेंदुलकर का अंतर्राष्ट्रीय डेब्यू,अवार्ड्स और अचीवमेंट (Awards and Achievement),सचिन तेंदुलकर की उपलब्धियां,सचिन तेंदुलकर रोचक तथ्य

सचिन तेंदुलकर जीवनी – Sachin Tendulkar Biography In Hindi

टॉपिक(Topic) Sachin Tendulkar Biography In Hindi 
लेख प्रकार जीवनी
साल 2023
सचिन तेंदुलकर  जन्म 24 अप्रैल 1973
सचिन तेंदुलकर  जन्म स्थान दादर, मुंबई
सचिन तेंदुलकर  निक नाम लिटिल मास्टर, मास्टर ब्लास्टर
सचिन तेंदुलकर  माता पिता नाम रमेश तेंदुलकर – रजनी तेंदुलकर 
सचिन के भाई बहन
सचिन तेंदुलकर भाई बहन नाम अजीत तेंदुलकर, सविता तेंदुलकर, नितिन तेंदुलकर
सचिन कि शिक्षा 10 वीं
सचिन तेंदुलकर शादी 1995
सचिन तेंदुलकर पत्नी का नाम अंजिल तेंदुलकर
सचिन तेंदुलकर के बच्चे दो, एक बेटा और एक बेटी
सचिन तेंदुलकर बच्चों के नाम अर्जुन तेंदुलकर और सारा तेंदुलकर 

Also Read: Nandini Gupta Biography in Hindi

सचिन तेंदुलकर जीवनी Sachin Tendulkar Jivani Highlights

सचिन तेंदुलकर जिन्हें पूरी दुनिया मास्टर ब्लास्टर से नाम से जानती है उनका जन्म 24 अप्रैल 1973 को दादर, बॉम्बे, महाराष्ट्र में हुआ था। उनके चार भाई-बहनों में वह सबसे छोटे है।उनके पिता रमेश तेंदुलकर एक मराठी उपन्यासकार थे और उनकी माता रजनी तेंदूलकर वह बीमा उद्योग में काम किया करती थी। उनका नाम उनके पिता के पसंदीदा संगीत निर्देशक सचिन देव बर्मन के नाम पर रखा गया था। वह घर के सबसे छोटे थे यहीं कारण है कि वह बचपन से ही चंचल थे और लोगों को धमका के रखते थे। उनके बड़े भाई ने उन्हें झगड़े से ध्यान हटाने के लिए क्रिकेट खेलने के लिए प्रोत्साहित किया और उन्हें रमाकांत आचरेकर से मिलवाया जो एक प्रतिष्ठित क्रिकेट कोच थे।वह आचरेकर के सुझाव के अनुसार ‘शारदाश्रम विद्यामंदिर हाई स्कूल’ गए, क्योंकि उस स्कूल में एक समृद्ध क्रिकेट परंपरा का पालन हुआ  करता था। वह अपने स्कूल के लिए खेलते खेलते एक स्टार क्रिकेटर के रूप में फेमस हो गए थे। इसके बाद लोगों ने भविष्यवाणी की थी कि वह एक दिन एक प्रसिद्ध खिलाड़ी बनेंगे।अपने दोस्त विनोद कांबली के साथ, सन 1988 में वह सेंट जेवियर्स हाई स्कूल के खिलाफ एक इंटर स्कूल मैच में रिकॉर्ड 664 रन की साझेदारी में शामिल थे।

सचिन तेंदुलकर प्रारंभिक जीवन 

Sachin Tendulkar Latest News, Updates in Hindi | सचिन तेंदुलकर के समाचार और अपडेट - AajTak

सचिन तेंदुलकर का जन्म 24 अप्रैल 1973 को दादर, मुंबई में एक ब्राह्मण परिवार में हुआ था। वह प्रसिद्ध सारस्वत ब्राह्मण परिवार से ताल्लुक रखते हैं। उनके पिता जिनका नाम रमेश तेंदुलकर है, वह एक मराठी कवि और उपन्यासकार थे। उनकी मां रजनी थीं जो बीमा उद्योग में काम किया करती थीं। उनके दो सौतेले भाई नितिन और अजीत और एक सौतेली बहन सविता हैं। उनके शुरुआती साल बांद्रा (पूर्व) में “साहित्य सहवास सहकारी हाउसिंग सोसाइटी” में बिताए गए थे। उन्होंने अपनी स्कूली शिक्षा शारदाश्रम विद्यामंदिर हाई स्कूल से की थी। स्कूल के दिनों में उन्होंने खुद को तेज गेंदबाज बनने के लिए प्रशिक्षित करने के लिए M.R.F.Pace Foundation में भाग लिया था। लेकिन ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज डेनिस लिली के सुझाव के अनुसार उन्होंने बल्लेबाजी पर ध्यान दिया। वहीं सचिन तेंदुलकर को टेनिस खेलना भी पसंद है मात्र 14 साल की उम्र में उन्होंने एक स्कूल मैच में 664 के विश्व-रिकॉर्ड स्टैंड में से 326 रन बनाए और बॉम्बे स्कूलबॉयज़ में प्रसिद्ध हो गए।हम आपको बता दें कि वह अपनी जीवन साथी अंजलि से मुंबई अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर मिले थे, जब वह अपने पहले अंतरराष्ट्रीय दौरे से लौट रहे थे। सचिन के लिए यह पहली नजर का प्यार था। सौभाग्य से, उनका अंजलि से एक आम दोस्त ने परिचय कराया था और अंजलि खेल, क्रिकेट के बारे में कुछ नहीं जानती थी। पांच साल तक एक-दूसरे को डेट करने के बाद 1995 में दोनों ने शादी कर ली। उनके दो बच्चे सारा और अर्जुन तेंदुलकर हैं।

सचिन तेंदुलकर पारिवारिक जानकारी Sachin Tendulkar Family Detail in Hindi

सचिन तेंदुलकर जीवन के 46वें पड़ाव पर, आखिर क्यों लकी है महान बल्लेबाज के लिए 'नंबर-24' - Sachin Tendulkar Birthday: Number 24 Is Lucky For Master Blaster - Amar Ujala Hindi News Live

हम सबके सचिन यानी कि मास्टर ब्लास्टर का जन्म 24 अप्रैल 1973 को दादर, मुंबई में रमेश और रजनी तेंदुलकर के घर हुआ था। उनके पिता स्वर्गीय रमेश तेंदुलकर एक मराठी उपन्यासकार और कवि थे। उनकी मां एक बीमा कंपनी में काम करती थीं और रमेश तेंदुलकर की दूसरी पत्नी थीं। वास्तव में सचिन नाम रमेश के पसंदीदा संगीतकार सचिन देव बर्मन से प्ररित होकर लिया गया था। सचिन का बचपन से ही अपने पिता से गहरा नाता था। रमेश तेंदुलकर कीर्ति कॉलेज, प्रभादेवी में प्रोफेसर भी थे। यह उनके पिता की दूरदर्शिता और खुले विचार ही थे जिसके चलते 11 वर्षीय सचिन को सिर्फ अपने जुनून का पालन करने के लिए स्कूल बदलने की अनुमति दी गई थी। सचिन की मां रजनी तेंदुलकर का भी उनके क्रिकेट करियर पर गहरा प्रभाव था। वह मुंबई के सांताक्रूज के विदेश विभाग में एलआईसी एजेंट थीं। सचिन ने अपनी मां से वफादारी और कड़ी मेहनत के महत्व को सीखा, जिन्होंने सचिन के क्रिकेट की दुनिया में शीर्ष स्तर तक पहुंचने के बाद भी उनके संन्यास लेने तक काम किया, साथ ही चलने में लगातार स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं के बावजूद भी वह लगातार कर करती रहीं। अपने पहले दौरे से लौटते हुए सचिन ने पहली बार अंजलि को मुंबई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर देखा था। 17 साल के लड़के के लिए यह पहली नजर का प्यार था। सौभाग्य से, वह एक कॉमन फ्रेंड की मदद से अंजलि से मिलने में सफल हो पाए थे और दोनों ने डेटिंग शुरू कर दी थी। सचिन और अंजलि ने पांच साल तक डेटिंग करने के बाद 24 मई 1995 को शादी कर ली थी। अंजलि एक बाल रोग विशेषज्ञ हैं और सचिन तेंदुलकर से छह साल बड़ी हैं। सचिन तेंदुलकर 4 भाई-बहनों में सबसे छोटे थे। उसके दो बड़े भाई और एक बड़ी बहन है। अजीत, नितिन और सविता सचिन की सौतेली बहनें हैं क्योंकि वे रमेश की पहली पत्नी के बच्चे थे और जो तीसरे बच्चे को जन्म देने के बाद मर गई। सचिन छोटी उम्र से ही टेनिस के दीवाने थे, अमेरिकी टेनिस सुपरस्टार जॉन मैकनरो को अपना आदर्श मानते थे। यह उनके भाई अजीत थे जिन्होंने अपने छोटे भाई में बढ़ती क्रिकेट प्रतिभा को देखा। सचिन और अंजलि तेंदुलकर को एक बेटी और एक बेटा, सारा और अर्जुन है। सारा तेंदुलकर का जन्म 12 अक्टूबर 1997 को हुआ था, वहीं अर्जुन तेंदुलकर का जन्म 24 सितंबर 1999 को हुआ था।

See also  MBA Chai Wala Biography in Hindi | प्रफुल्ल बिल्लौर का जीवन परिचय

Also Read: क्रिकेटर रिंकू सिंह का जीवन परिचय

सचिन तेंदुलकर की शिक्षा (Sachin Tendulkar’s Education)

सचिन को पढ़ाई में ज्यादा कोई दिलचस्पी नहीं थी। अध्ययन में कोई दिलचस्पी नहीं के बावजुद उन्होंने अपने शिक्षा करियर की शुरुआत शरदश्रम विद्यामंदिर हाई स्कूल से की, जहाँ उन्होंने कोच रमाकांत आचरेकर के मार्गदर्शन में अपने क्रिकेट करियर की शुरुआत की थी।युवा होने के बाद वह घंटों नेट्स में अभ्यास किया करते थे। उनके कोच स्टंप के ऊपर एक रुपये का सिक्का रखते थे और गेंदबाज जो सचिन को डिमिस करेगा उसे यह रुपये का सिक्का मिलेगा ऐसी शर्त रखा करते थे। लेकिन सचिन को कोई आउट नहीं कर पाता था और तेंदुलकर को उस एक रुपये के सिक्के से सम्मानित किया जाता था।सचिन में बल्लेबाजी का हुनर कूट कूट के भरा हुआ था। अक्सर कहा जाता है कि सचिन ने क्रिकेट की वजह से बोर्ड की परीक्षा नहीं दी और बता दें कि वह 10वीं कक्षा की बोर्ड परीक्षा में तीन बार फेल हुए हैं।सचिन तेंदुलकर की शैक्षणिक योग्यता 10वीं पास है। उन्होंने किसी भी कॉलेज से स्नातक नहीं किया। सचिन ने विलासम हाई स्कूल मुंबई में पढ़ाई की है।

सचिन तेंदुलकर की लव लाइफ और मेरिज लाइफ (Love Life and Marriage)

शादी से पहले सचिन के घर पत्रकार बनकर गई थीं अंजलि - Happy Marriage Anniversary Sachin Tendulkar - Amar Ujala Hindi News Live

सचिन और अंजलि के लिए यह पहली नजर का प्यार था। इन दोनों की पहली मुलाकात मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर हुई थी। सचिन 1990 में अपने पहले अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट दौरे से लौट रहे थे, जबकि अंजलि अपनी माँ को लेने के लिए हवाई अड्डे पर थी। दोनों जब पहली बार मिले तो एक-दूसरे को तुरंत पसंद करने लगे। बाद में दोनों एक कॉमन फ्रेंड के यहां मिले और एक-दूसरे को बेहतर तरीके से जानने के लिए एक दूसरे से मिलने लगे।

जब सचिन तेंदुलकर और अंजलि पहली बार मिले थे, तब अंजलि डॉक्टरी कर रही थी, जबकि सचिन ने भी अपने क्रिकेट करियर की शुरुआत की थी। अंजलि एक समर्पित छात्रा होने के कारण पढ़ाई में बहुत अधिक अच्छी थी और क्रिकेट में बहुत कम रुचि रखती थी। खेलों और विशेषकर क्रिकेट के बारे में उनका ज्ञान बहुत कम था। बाद में, जब उन्होंने सचिन के साथ डेटिंग शुरू की जिसके बाद अंजलि ने खेल के बारे में अपने ज्ञान को बढ़ाने के लिए सभी प्रयास किए।

अपने करियर की शुरुआत से ही मशहूर होने के कारण, सचिन तेंदुलकर को अंजलि के साथ लगातार डेट पर जाने के बहुत कम मौके मिले। एक स्थानीय न्यूज पेपर को इंटरव्यू देते हुए सचिन ने बताया था कि अंजलि एक घटना को याद करती है जहां वे दोनों अपने कुछ सामान्य मित्रों के साथ फिल्म रोजा देखने गए थे। उन्हें डर था कि अगर लोग इस दिग्गज क्रिकेटर को पहचान लेंगे तो वे अपने दिन का लुत्फ नहीं उठा पाएंगे। इसलिए सारे अटेंशन से बचने के लिए सचिन नकली दाढ़ी और चश्मा पहनकर अपना वेश बदलकर अंजलि के साथ फिल्म देखने गए थे। वे फिल्म थियेटर में थोड़ी देर से अंदर गए थे लेकिन फिल्म के इंटरवल के दौरान उनका चश्मा गिर गया और क्रिकेटर अपने प्रशंसकों से घिर गए। इन सबके चलते उन्हें फिल्म बीच में ही छोड़नी पड़ी। जाने-माने उद्योगपति अशोक मेहता की बेटी अंजलि ने एक-दूसरे को पांच साल तक डेट करने के बाद 1995 में सचिन तेंदुलकर से शादी कर ली। वे पिछले 18 वर्षों से एक-दूसरे के साथ खुशी-खुशी रहकर अपनी शादी कर सार्थक बना रहे हैं। अंजलि तेंदुलकर सचिन तेंदुलकर से 6 साल बड़ी हैं, लेकिन दंपति का कहना है कि उम्र का यह फासला उनके रिश्ते में कभी भी चिंता का विषय नहीं रहा है और इसके बजाय उन्होंने उन्हें एक-दूसरे के प्रति अधिक प्रतिबद्ध और समझने वाला बना दिया है।

सचिन तेंदुलकर का करियर (Sachin Tendulkar’s Career)

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Mumbai Indians (@mumbaiindians)

14 नवंबर 1987 को सचिन को रणजी ट्रॉफी में बॉम्बे का प्रतिनिधित्व करने के लिए चुना गया था। हालांकि, उन्हें final eleven के लिए नहीं चुना गया था। हालांकि उन्हें अक्सर सभी मैचों में एक substitute fielder के रूप में इस्तेमाल किया जाता था। एक साल बाद उन्होंने गुजरात के खिलाफ बॉम्बे के लिए पदार्पण किया और नाबाद 100 रन बनाए। यह घटना उन्हें प्रथम श्रेणी क्रिकेट में शतक बनाने वाला सबसे कम उम्र का भारतीय बल्लेबाज बनाता है। सचिन ने सन 1988-1989 के रणजी ट्रॉफी सीज़न को बॉम्बे के सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी के रूप में स्थापित किया। उन्होंने 583 रन बनाए और कुल मिलाकर आठवें सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी बन गए थे।

उन्होंने दिल्ली के खिलाफ ईरानी ट्रॉफी मैच में एक अजेय शतक भी लगाया है। सचिन का पहला दोहरा शतक (नाबाद 204) 1988 में मेहमान ऑस्ट्रेलियाई टीम के खिलाफ खेलते हुए मुंबई के लिए था।उन्होंने सन 2000 में तमिलनाडु के खिलाफ रणजी ट्रॉफी का सेमीफाइनल खेलते हुए एक और दोहरा शतक बनाया था। उन्होंने इस पारी को अपने क्रिकेट करियर की सर्वश्रेष्ठ पारियों में से एक माना था। सन 1992 में सचिन यॉर्कशायर का प्रतिनिधित्व करने वाले पहले विदेशी खिलाड़ी बने। इससे पहले किसी दूसरे देश के किसी खिलाड़ी ने यॉर्कशायर के लिए क्रिकेट नहीं खेला है।सचिन के टीम में आने से पहले, उन्हें यॉर्कशायर के लिए घायल ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज क्रेग मैकडरमोट के प्रतिस्थापन के रूप में चुना गया था। सचिन ने देश के लिए 16 प्रथम श्रेणी मैच खेले और 1070 रन बना हैए। सचिन ने सन 1989 में पाकिस्तान के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय टेस्ट में debut किया। हालांकि, उन्होंने अपने पहले मैच में केवल 15 रन बनाए थे।अपने चौथे टेस्ट में, नाक पर चोट लगने के बावजूद उन्हें चिकित्सा सहायता देने से मना कर दिया गया था। हालाँकि, उन्होंने अपनी बल्लेबाजी तब भी जारी रखी जब उनकी नाक से खून बह रहा था।

See also  Amitabh Bachchan Quotes : सदी के महानायक अमिताभ बच्चन के कोट्स पढ़े और बनाएं अपने जीवन को पॉजिटिव

सन 1990 के 14 अगस्त को 17 साल के सचिन ने इंग्लैंड के खिलाफ 119 रन बनाए थे। इसके बाद वह टेस्ट शतक बनाने वाले दूसरे सबसे कम उम्र के खिलाड़ी बन गए थे। सचिन ने 1992 के विश्व कप से पहले आयोजित ऑस्ट्रेलिया दौरे के दौरान अपनी प्रतिष्ठा को और बढ़ाया था। उन्होंने तीसरे टेस्ट मैच में 148 रन की अपराजेय पारी खेली, जो उन्हें ऑस्ट्रेलिया में शतक लगाने वाला सबसे युवा क्रिकेटर बनाता है।इसके बाद उन्होंने अंतिम टेस्ट में तेज उछाल वाली पिच पर 114 रन बनाए। एक ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज मर्व ह्यूजेस ने एलन बॉर्डर को टिप्पणी की कि यह छोटा मास्टर आपसे एबी से अधिक रन बनाने जा रहा है।

सचिन तेंदुलकर का टेस्ट मैच रिकार्ड्स (Sachin Tendulkar’s Test Match Record)

मैच 200
पारी  329
रन  15,921
औसत  53.78
सर्वश्रेष्ठ  248*
100  51
50  68

 

  • 10 – सचिन तेंदुलकर ने टेस्ट क्रिकेट में 10 नब्बे का स्कोर बनाया – स्टीव वॉ और राहुल द्रविड़ के साथ किसी भी बल्लेबाज द्वारा सबसे ज्यादा।
  • 19 – सचिन तेंदुलकर ने टेस्ट क्रिकेट में राहुल द्रविड़ के साथ 19 बार 100 से अधिक रन की साझेदारी की – टेस्ट क्रिकेट में एक जोड़ी द्वारा सबसे अधिक।
  • 29 – सचिन तेंदुलकर ने घर से बाहर 29 टेस्ट शतक बनाए – जो दुनिया के किसी भी बल्लेबाज द्वारा सबसे अधिक है।
  • 51 – सचिन तेंदुलकर ने टेस्ट क्रिकेट में 51 शतक बनाए – किसी भी बल्लेबाज द्वारा सबसे अधिक और वह 50 से अधिक टेस्ट शतक बनाने वाले एकमात्र बल्लेबाज भी हैं।
  • 68 – सचिन तेंदुलकर ने टेस्ट क्रिकेट में 68 अर्द्धशतक बनाए – किसी भी बल्लेबाज द्वारा सबसे ज्यादा।
  • 195 – सचिन तेंदुलकर ने 195 पारियों में 10,000 टेस्ट रन बनाए – ब्रायन लारा और कुमार संगकारा के साथ इस मुकाम तक पहुंचने वाले संयुक्त रूप से सबसे तेज। सचिन सबसे तेज 13000, 14000 और 15000 टेस्ट रन बनाने वाले भी हैं।
  • 200 – सचिन तेंदुलकर ने 200 टेस्ट मैच खेले – 200 टेस्ट मैच खेलने वाले एकमात्र क्रिकेटर।
  • 1000 – सचिन तेंदुलकर ने एक कैलेंडर वर्ष में छह मौकों पर 1000 से अधिक टेस्ट रन बनाए हैं – ऐसा करने वाले एकमात्र बल्लेबाज। उन्होंने 1997, 1999, 2001, 2002, 2008 और 2010 में 1000 या उससे अधिक टेस्ट रन बनाए।
  • 8705 – सचिन तेंदुलकर ने टेस्ट क्रिकेट में घर से दूर 8705 रन बनाए – जो दुनिया के किसी भी बल्लेबाज द्वारा सबसे ज्यादा है।
  • 15921 – सचिन तेंदुलकर ने टेस्ट क्रिकेट में रन बनाए – किसी भी बल्लेबाज द्वारा सबसे ज्यादा और वह इस प्रारूप में 12000, 13000, 14000 और 15000 रन बनाने वाले पहले बल्लेबाज भी हैं।

सचिन तेंदुलकर ODI मैच रिकार्ड्स (Sachin Tendulkar ODI Match Record)

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Sachin Tendulkar (@sachintendulkar)

बेटिंग (Batting) बोलिंग(Bolling)
इनिंरन रिकॉर्डस(in record ) 452 बेस्ट इनिंग्स 270
नॉट आउट(Not OUT) 41 विकेट्स(Wickets) 154
फोर रन रिकॉर्ड(four run Record) 2016 इकोनोमिक रेट(economic rate) 5.1
सिक्स रन रिकॉर्ड(Six Run Record) 195 बाल्स (Bolls) 6850
सबसे ज्यादा रन(Most Runs) 200
औसत(average) 44.83
स्कोरिंग रेट(Score Rate ) 86.24
अर्धशतक( Half Centuary) 96
शतक (Centuary) 49

सचिन तेंदुलकर ने 70 एकदिवसीय मैच खेले और 70 पारियों में 3103 रन बनाए। सचिन तेंदुलकर का ODI में उच्चतम स्कोर 200 है। S तेंदुलकर के नाम 8 ODI शतक, 12 ODI अर्धशतक और 12 गुना 30+ और 10 गुना 20+ ODI रन हैं। एस तेंदुलकर का 3449 एकदिवसीय गेंदों में 44.32 के औसत के साथ 89.9 का स्ट्राइक रेट है। सचिन तेंदुलकर ने वनडे में 364 चौकों और 26 छक्कों की मदद से कुल 390 चौके लगाए। एस तेंदुलकर का ओडीआई आउटटाइप विश्लेषण 10 बार lbw, 15 बार बोल्ड, 1 बार स्टंप, 34 बार कैच, 5 बार रन आउट। सचिन तेंदुलकर के वनडे विकेट लेने वाले 17 लेफ्ट आर्म और 43 राइट आर्म हैं। एस तेंदुलकर का लेफ्ट आर्म ओडीआई विकेट टेकर विश्लेषण तेज गेंदबाज 2 विकेट, तेज-मध्यम गेंदबाज 10 विकेट, मध्यम गेंदबाज 0 विकेट, धीमी गेंदबाज 5 विकेट हैं। सचिन तेंदुलकर के राइट आर्म ओडीआई विकेट टेकर विश्लेषण में तेज गेंदबाज 9 विकेट, तेज-मध्यम गेंदबाज 24 विकेट, मध्यम गेंदबाज 3 विकेट, धीमी गेंदबाज 7 विकेट हैं। वनडे विश्लेषण में बाएं हाथ के गेंदबाजों द्वारा लिए गए एस तेंदुलकर के विकेट एलबीडब्ल्यू 3 विकेट, बोल्ड 3 विकेट, स्टंप्ड 0 विकेट, कैच 11 विकेट हैं। एकदिवसीय विश्लेषण में दाएं हाथ के गेंदबाजों द्वारा लिए गए सचिन तेंदुलकर के विकेट एलबीडब्लू 7 विकेट, बोल्ड 12 विकेट, स्टंप्ड 1 विकेट, कैच 23 विकेट हैं।

सचिन तेंदुलकर ने 76.33 के स्ट्राइक रेट और 75.33 के औसत से 3 विकेट (16 वनडे पारियों में) लिए। एस तेंदुलकर ने 229 गेंदें (0 मेडेन ओवर के साथ) डालीं और 2 विकेट 1 बार 3 विकेट 0 बार, 5 विकेट 0 बार, 8 विकेट 0 बार, 10 विकेट 0 बार लिए। वनडे में सचिन तेंदुलकर ने 3 दाएं हाथ के और 0 बाएं हाथ के बल्लेबाज को आउट किया। दाएं हाथ के बल्लेबाज ओडीआई आउटटाइप विश्लेषण (एस तेंदुलकर द्वारा लिया गया विकेट) 0 बार एलबीडब्लू, 0 बार बोल्ड, 2 बार स्टंप, 1 बार कैच। बाएं हाथ के बल्लेबाज ओडीआई आउटटाइप विश्लेषण (एस तेंदुलकर द्वारा लिया गया विकेट) 0 बार एलबीडब्ल्यू, 0 बार बोल्ड, 0 बार स्टंप, 0 बार कैच।सचिन तेंदुलकर क्षेत्ररक्षण विश्लेषण 22 बार कैच, स्टंपिंग 0 बार, डायरेक्ट थ्रो (रन आउट) 0 बार, थ्रो (रन आउट) 0 बार हैं।सचिन तेंदुलकर टी -20 मैच रिकार्ड्स (Sachin Tendulkar T-20 Match Record)

सचिन तेंदुलकर का आईपीएल मैच रिकार्ड्स (Sachin Tendulkar’s IPL Match Record)

बेटिंग(Botting) बोलिंग (Bolling)
इनिंरन रिकॉर्डस(in record) 1 बेस्ट इनिंग्स 1
नॉट आउट(Not OUT) विकेट्स 1
फोर रन रिकॉर्ड(four run Record) 2 इकोनोमिक रेट 4.8
सिक्स रन रिकॉर्ड(Six Run Record) बाल्स 15
सबसे ज्यादा रन(Most Runs) 10
औसत(average) 10
स्कोरिंग रेट(Score Rate ) 83.33
अर्धशतक( Half Centuary)
शतक(Centuary)

सचिन तेंदुलकर ने 76 आईपीएल मैच खेले और 76 पारियों में 2281 रन बनाए। सचिन तेंदुलकर का आईपीएल में सर्वोच्च स्कोर 100 है। एस तेंदुलकर के नाम 1 आईपीएल शतक, 13 आईपीएल अर्धशतक और 22 गुना 30+ और 10 बार 20+ आईपीएल रन हैं। एस तेंदुलकर का 1907 आईपीएल गेंदों में 30.01 के औसत के साथ 119.6 का स्ट्राइक रेट है। सचिन तेंदुलकर ने आईपीएल में 287 चौकों और 29 छक्कों की मदद से कुल 316 चौके लगाए। एस तेंदुलकर का आईपीएल आउटटाइप विश्लेषण 8 बार पगबाधा, 12 बार गेंदबाजी, 3 बार स्टंप, 37 बार कैच, 5 बार रन आउट। सचिन तेंदुलकर के आईपीएल विकेट लेने वाले खिलाड़ी 18 लेफ्ट आर्म और 42 राइट आर्म हैं। एस तेंदुलकर के बाएं हाथ के आईपीएल विकेट लेने वाले विश्लेषण में तेज गेंदबाज 1 विकेट, तेज-मध्यम गेंदबाज 9 विकेट, मध्यम गेंदबाज 0 विकेट, धीमी गेंदबाज 8 विकेट हैं। सचिन तेंदुलकर के राइट आर्म आईपीएल विकेट टेकर विश्लेषण में तेज गेंदबाज 5 विकेट, तेज-मध्यम गेंदबाज 14 विकेट, मध्यम गेंदबाज 9 विकेट, धीमी गेंदबाज 14 विकेट हैं। आईपीएल विश्लेषण में लेफ्ट आर्म बॉलर्स द्वारा लिए गए एस तेंदुलकर के विकेट एलबीडब्ल्यू 3 विकेट, बोल्ड 2 विकेट, स्टंप्ड 3 विकेट, कैच 10 विकेट हैं। आईपीएल विश्लेषण में दाएं हाथ के गेंदबाजों द्वारा लिए गए सचिन तेंदुलकर के विकेट एलबीडब्लू 5 विकेट, बोल्ड 10 विकेट, स्टंप आउट 0 विकेट, कैच 27 विकेट हैं।

See also  एलन मस्क का जीवन परिचय | Elon Musk Full Biography in Hindi

सचिन तेंदुलकर का अंतर्राष्ट्रीय डेब्यू  | International Debut of Sachin Tendulkar 

ओ डी आई (ODI) 18 दिसम्बर 1989
इंडिया और पाकिस्तान
गुजरांवाला
टेस्ट (Test) 15 नवम्बर 1989
इंडिया और पाकिस्तान
कराची
 टी–20 (T–20) 1 दिसम्बर 2006
इंडिया और साउथ अफ्रीका
जोंसबर्ग

सचिन ने 1989 में पाकिस्तान के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण किया। हालांकि, उन्होंने अपने पहले मैच में केवल 15 रन बनाए।अपने चौथे टेस्ट में, नाक पर चोट लगने के बावजूद उन्हें चिकित्सा सहायता देने से मना कर दिया गया था। हालाँकि, उन्होंने अपनी बल्लेबाजी तब भी जारी रखी जब उनकी नाक से खून बह रहा था।1990 के 14 अगस्त को 17 साल के सचिन ने इंग्लैंड के खिलाफ 119 रन बनाए थे। इसके बाद, वह टेस्ट शतक बनाने वाले दूसरे सबसे कम उम्र के खिलाड़ी बन गए। सचिन ने 1992 के विश्व कप से पहले आयोजित ऑस्ट्रेलिया दौरे के दौरान अपनी प्रतिष्ठा को और बढ़ाया।उन्होंने तीसरे टेस्ट मैच में 148 रन की अपराजेय पारी खेली। जो उन्हें ऑस्ट्रेलिया में शतक लगाने वाला सबसे युवा क्रिकेटर बनाता है।इसके बाद उन्होंने अंतिम टेस्ट में तेज उछाल वाली पिच पर 114 रन बनाए। एक ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज मर्व ह्यूजेस ने एलन बॉर्डर को टिप्पणी की कि, यह छोटा सा चुभन आपसे, एबी से अधिक रन बनाने जा रहा है।

अवार्ड्स और अचीवमेंट (Awards and Achievement)

Year Awards and Achievement
1994 खेलों में उत्कृष्ट उपलब्धियों के लिए भारत सरकार की ओर से अर्जुन पुरस्कार
1997-98 राजीव गांधी खेल रत्न, खेलों में उपलब्धि के लिए भारत का सर्वोच्च सम्मान
1999 पद्म श्री, भारत का चौथा सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार
2001 महाराष्ट्र भूषण पुरस्कार, महाराष्ट्र राज्य का सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार
2008 पद्म विभूषण, भारत का दूसरा सर्वोच्च नागरिक सम्मान
2014 भारत रत्न, भारत का सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार

सचिन तेंदुलकर की उपलब्धियां

  • सचिन अब तक के सबसे विपुल क्रिकेटरों में से एक हैं – एकदिवसीय मैचों में दोहरा शतक बनाने वाले पहले व्यक्ति, 100 शतक बनाने वाले एकमात्र खिलाड़ी और अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट के सभी रूपों में 30,000 से अधिक रन बनाने वाले एकमात्र खिलाड़ी। यह कोई आश्चर्य की बात नहीं है कि वह भारत में एक महान स्थिति रखता है।
  • सचिन तेंदुलकर के नाम टेस्ट क्रिकेट और एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय दोनों में सर्वाधिक रन और शतक बनाने का विश्व रिकॉर्ड है। उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में 15,921 रन और 51 शतक बनाए हैं। वनडे में उन्होंने 18,426 रन और 49 शतक बनाए हैं।
  • वह वनडे में दोहरा शतक बनाने वाले पहले व्यक्ति हैं।
  • वह अब तक 200 टेस्ट मैच खेलने वाले इकलौते क्रिकेटर हैं।
  • कई क्रिकेट पुरस्कारों के अलावा, जो उन्होंने जीते हैं, सचिन भारत सरकार के कई पुरस्कारों से भी गौरवान्वित हैं। उन्हें क्रिकेट में उनकी उपलब्धियों के लिए 1997-98 में भारत के सर्वोच्च खेल पुरस्कार ‘राजीव गांधी खेल रत्न’ से सम्मानित किया गया था। क्रिकेट। वह पुरस्कार प्राप्त करने वाले पहले खिलाड़ी और साथ ही सबसे कम उम्र के व्यक्ति बने।

सचिन तेंदुलकर रोचक तथ्य

  • एक युवा लड़के के रूप में, सचिन तेंदुलकर एक तेज गेंदबाज बनना चाहते थे लेकिन 1987 में डेनिस लिली के ‘एमआरएफ पेस फाउंडेशन’ ने उन्हें अस्वीकार कर दिया था।
  • उन्होंने 1987 के ‘विश्व कप’ के दौरान ‘वानखेड़े स्टेडियम’ में भारत और जिम्बाब्वे के बीच मैच के लिए बॉल बॉय के रूप में काम किया।
  • क्या होगा अगर कोई आपसे कहे कि सचिन तेंदुलकर ने पाकिस्तान के लिए एक मैच में क्षेत्ररक्षण किया! हां, आपने इसे सही सुना। सचिन तेंदुलकर ने 1987 में ‘ब्रेबॉर्न स्टेडियम’ में भारत के खिलाफ एक दिवसीय अभ्यास मैच के दौरान स्थानापन्न के रूप में क्षेत्ररक्षण किया था।
  • पाकिस्तान के खिलाफ अपने टेस्ट डेब्यू में, उन्होंने सुनील गावस्कर द्वारा उपहार में दिए गए पैड पहने थे।
  • सचिन उभयलिंगी हैं; वह दाएं हाथ के बल्लेबाज और गेंदबाज हैं, लेकिन लिखते बाएं हाथ से हैं।
  • वह ‘राजीव गांधी खेल रत्न’, ‘अर्जुन पुरस्कार’ और ‘पद्म श्री’ के प्राप्तकर्ता हैं- इन तीनों को जीतने वाले एकमात्र क्रिकेटर हैं।
  • उन्हें नींद में चलने के साथ-साथ नींद में बात करने की भी आदत थी।
  • 1990 में अपने पहले टेस्ट टन के लिए मैन ऑफ द मैच का पुरस्कार जीतने पर उन्हें शैम्पेन की एक बोतल मिली। हालाँकि, उन्हें इसे खोलने की अनुमति नहीं थी क्योंकि वह 18 साल से कम उम्र के थे!
  • एक लोकप्रिय क्रिकेटर के रूप में, उन्होंने कई प्रसिद्ध ब्रांडों का समर्थन किया, लेकिन उन्होंने जिस पहले ब्रांड का समर्थन किया, वह स्वास्थ्य पेय ‘बूस्ट’ था।
  • वह बिना उड्डयन पृष्ठभूमि वाले पहले खिलाड़ी हैं जिन्हें ‘भारतीय वायु सेना’ द्वारा ‘ग्रुप कैप्टन’ की मानद रैंक से सम्मानित किया गया है।

FAQ’s

Q.सचिन को क्रिकेट से किसने परिचित कराया?

Ans.सचिन के बड़े भाई अजीत ने उनकी क्रिकेट क्षमता को पहचाना और 1984 में उन्हें क्रिकेट से परिचित कराया।

Q.सचिन तेंदुलकर ने क्रिकेट खेलना कब शुरू किया था?

Ans. सचिन ने 16 साल की उम्र में पाकिस्तान के खिलाफ वर्ष 1989 में टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण किया।

Q.सचिन तेंदुलकर की योग्यता क्या है?

Ans. सचिन तेंदुलकर 10वीं पास हैं। 

Q.सचिन तेंदुलकर ने क्रिकेट से संन्यास कब लिया था?

Ans.सचिन ने 23 दिसंबर 2012 को एकदिवसीय प्रारूप से संन्यास की घोषणा की थी, जिसके बाद में उन्होंने सीएसके के खिलाफ 2013 का फाइनल मैच जीतने के बाद आईपीएल से भी संन्यास की घोषणा कर दी थी।

Q.सचिन तेंदुलकर ने कितने ODI मैच खेले हैं?

Ans .सचिन तेंदुलकर ने 70 ODI मैच खेले हैं

Q.सचिन तेंदुलकर के कुल वनडे रन?

Ans. सचिन तेंदुलकर ने कुल  3103 वनडे रन बनाएं हैं।

Q.सचिन तेंदुलकर की कुल वनडे पारी?

Ans.सचिन तेंदुलकर की कुल वनडे पारी 70 हैं।

इस ब्लॉग पोस्ट पर आपका कीमती समय देने के लिए धन्यवाद। इसी प्रकार के बेहतरीन सूचनाप्रद एवं ज्ञानवर्धक लेख easyhindi.in पर पढ़ते रहने के लिए इस वेबसाइट को बुकमार्क कर सकते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Optimized with PageSpeed Ninja