Naya vivah kanoon pass | अब लड़कियों की होगी 21 वर्ष में शादी | Girl’s marriage age was 18 years to 21 years | जानिए उम्र बढ़ाने के फायदे

By | अक्टूबर 5, 2022
Girl Marrige Age 21 Year

Naya vivah kanoon pass:- विवाह के लिए लड़की की उम्र 18 वर्ष एवं लड़की की उम्र 21 वर्ष निर्धारित की गई हैं। अब इस नियम में बड़ा बदलाव किया जा रहा है। दरअसल 16 दिसंबर 2021 को कैबिनेट में दो बड़े सुधार के बिल  पेश किए गए हैं। जिसमें एक लड़की की शादी उम्र लड़के के समान अर्थात 21 वर्ष करने की मांग की गई है। कैबिनेट बैठक में इस बिल को पास कर दिया गया है। अतः अब लड़की की उम्र 18 वर्ष के बजाय 21वर्ष होने पर ही शादी की उम्र मानी जाएगी।

आइए जानते हैं, सरकार द्वारा लड़की की उम्र 18 वर्ष से बढ़ाकर 21 वर्ष क्यों की गई है? क्या अब लड़के और लड़की की शादी उम्र उम्र 21 वर्ष होगी? लड़की की शादी की उम्र को लेकर पेश किए गए बिल को विस्तृत जानने के लिए इस लेख में अंत बने रहे रहे।

Why was the age of marriage of a girl increased from 18 years to 21 years? | लड़की की शादी की उम्र 18 वर्ष से बढ़ाकर 21 वर्ष क्यों की गई

दरशल लड़कियों के विवाह की न्यूनतम उम्र पर विचार करने के लिए जया जेटली की अध्यक्षता में एक टास्क फोर्स का गठन हुआ था। गठित टास्क फोर्स द्वारा नीति आयोग को अपनी रिपोर्ट सौंपी गई थी। जिसमें लड़कियों की शादी की उम्र को बढ़ाने का जिक्र किया गया था। मोदी सरकार के कार्यकाल में शादी से जुड़ा यह दूसरा बड़ा सुधार है। जो सम्मान रूप से सभी धर्मों पर लागू होगा। लागू किए गए नियम के अनुसार पहले NRI मैरिज को 30 दिन में रजिस्ट्रेशन कराने पर कदम उठाए गए थे।

READ  खेलो इंडिया यूथ गेम रजिस्ट्रेशन 2022 |Khelo India Youth Games Registration 2022

What was the task force’s demand for marriage age? | क्या थी टास्क फोर्स की शादी उम्र को लेकर मांग

दिसंबर 2020 में टास्क फोर्स द्वारा भारत सरकार को अर्थात नीति आयोग को एक  रिपोर्ट सौंपी गई थी। 10 सदस्यों की टास्क फोर्स द्वारा तैयार की गई रिपोर्ट में देशभर के प्रबुद्ध कानूनी विशेषज्ञों, नागरिक संगठनों के नेताओं से परामर्श किया गया था। ऑनलाइन वेबीनार के जरिए देश में सीधे महिला प्रतिनिधियों से बातचीत कर रिपोर्ट दिसंबर 2020 में सरकार को सुपुर्द की गई थी। जिसमें लड़कियों की शादी की उम्र को लड़कों के सामान रखने की मांग रखी गई है। अब लड़कियों की उम्र 18 वर्ष से बढ़ाकर 21 वर्ष करने पर सरकार द्वारा कानून बना दिया गया है। Naya vivah kanoon pass

 Naya vivah kanoon pass | विवाह कानून में दूसरा बड़ा बदलाव

 जया जेटली के अध्यक्षता में टास्क फोर्स ने शादी की उम्र 21 साल रखने को लेकर 4 कानूनों में संशोधन की सिफारिश की थी। विवाह उम्र में आखिरी परिवर्तन 1978 में किया गया था और इसके लिए शारदा एक्ट 1929 में परिवर्तन कर लड़कियों की उम्र 15 वर्ष से बढ़ाकर 18 वर्ष की गई थी।

How many girls in India get married at the age of 18 | भारत में कितनी लड़कियों की शादी 18 वर्ष की उम्र में होती है

यूनिसेफ के आंकड़ों के अनुसार भारत में हर साल 15 लड़कियों की शादी 18 साल से कम उम्र में कर दी जाती है। जनगणना महा पंजीयन के मुताबिक देश में 18 से 21 साल के बीच विवाह करने वाली युवतियों की संख्या लगभग 16 करोड़ से अधिक है। वर्ष 2021 में विवाह कानून को लेकर यह बहुत बड़ा फैसला है कि अब लड़कियों की शादी उम्र 21 वर्ष कर दी गई है। 16 दिसंबर 2021 को  कैबिनेट में  कानून पास कर दिया गया है।

READ  आधार सेवा केंद्र | Aadhaar Seva Kendra Rajasthan

Benefits of increasing the marriage age of a girl | लड़की की शादी उम्र बढ़ाने से होने वाले लाभ

जैसा कि आप सभी जानते हैं, विवाह समाज की अहम प्रणाली है। जिसे सभी धर्म विधिवत निभाते हैं। सन 1978 से पहले लड़कियों की शादी उम्र 15 वर्ष हुआ करती थी। जोकि सही नहीं थी। तब 1978 में विवाह कानून में पहला बड़ा बदलाव किया गया था। जिसमें लड़कियों की  शादी करने की उम्र 15 वर्ष से बढ़ाकर 18 वर्ष  की गई थी। अब 2021 में  फिर से विवाह कानून में दूसरा बड़ा बदलाव किया गया है। अब लड़कियों की उम्र 18 वर्ष से बढ़ाकर 21 वर्ष कर दी गई है। जिससे लड़कियों को बहुत फायदे होंगे जैसे:-

  • लड़कियों को अपने करियर पर फोकस करने में काफी समय मिलेगा।
  • लड़कियां शादी के बंधन में बंधने से पहले अपने पैरों पर खड़ा हो सकेगी।
  • लड़कियों के शादी होने के उपरांत मां बनने की प्रक्रिया प्राकृतिक है। इसके लिए लड़कियां पूर्ण रूप से विकसित हो सकेंगी।
  • समाज में हो रहे बाल विवाह में कमी आएगी।
  • समाज में लड़के और लड़की को बराबर को दर्जा दिया गया है, तो फिर क्यों ना शादी भी एक ही उम्र में की जाए।
  • लड़कियों की शादी की उम्र को लेकर परिवार को अब 2 साल तक चिंता नहीं होगी।

FAQ’s Naya vivah kanoon pass

Q. लड़कियों की शादी उम्र 18 वर्ष से बढ़ाकर 21 वर्ष क्यों की गई?

Ans. बरहाल लड़कियों की शादी उम्र 18 वर्ष  निर्धारित थी। जो कि लड़कियों के कैरियर एवं शारीरिक विकास को लेकर कम समय था। 18 वर्ष में लड़कियों को कैरियर में फोकस करने मैं कम समय दिया जा रहा था और 18 वर्ष के बाद उसे शादी बंधन में बांध दिया जाता था। अब लड़कियों को 2 साल अधिक मिलेंगे। जिससे वह अपने कैरियर पर फोकस कर सकेगी और शारीरिक वर्चस्व को सुदृढ़ कर सकेगी।

READ  ई-श्रम कार्ड पेंशन योजना 2022 | E-Shram Card Pension Yojana | ₹3000 प्रति महीना पेंशन के लिए ऐसे करें ऑनलाइन आवेदन

Q. क्या आप लड़के और लड़की की शादी उम्र 21वर्ष होगी?

Ans.जी हां बिल्कुल, अब लड़की और लड़के की शादी करने की उम्र 21 वर्ष होगी। लड़कियों को पुरुषों के बराबर समय देना उचित है। अतः अब लड़कियां अपने करियर पर फोकस कर सकती हैं और शादी बंधन में बंधने से पहले अपने पैरों पर खड़ा हो सकती हैं।

Q. लड़कियों की उम्र 18 वर्ष से बढ़ाकर 21 वर्ष करने पर क्या लाभ होगा?

Ans. जैसा कि आप जानते हैं, 1978 में पहले लड़कियों की उम्र 15 वर्ष निर्धारित की गई थी। जिसमें संशोधन कर 18 वर्ष की उम्र निर्धारित कि गई थी। अब दिसंबर  2021 में विवाह कानून में दूसरा बड़ा बदलाव किया गया है। जिसमें लड़कियों की शादी की उम्र 18 वर्ष से बढ़ाकर 21 वर्ष कर दी गई है। जिससे लड़कियां अपने कैरियर पर फोकस कर सकेगी और 2 साल अतिरिक्त पढ़ाई करने के पश्चात अपने जीवन में खुद के पैरों पर खड़ा होने के काबिल बन सकेगी। लड़की और लड़के को समाज में बराबर का दर्जा दिया जा रहा है तो क्यों ना अब लड़कियां भी पुरुषों के बराबर उम्र में ही शादी क्यों न करें।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *