कौन है द्रौपदी मुर्मू? जन्म, शिक्षा, उपलब्धियां, राष्ट्रपति बनने तक का सफर | Draupadi Murmu Full Biography in Hindi

By | जुलाई 22, 2022
Draupadi Murmu Jeevan Parichay

Draupadi Murmu Jeevan Parichay – द्रौपदी मुर्मू झारखंड के राज्यपाल के रूप में कार्य कर रही है। हाल ही में इन्हें भारत के अगले राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के रूप में चुना गया है। द्रोपदी मुर्मू का जन्म 20 जून 1958 को उड़ीसा के मयूरभंज नाम के एक छोटे से जगह में हुआ है। राष्ट्रपति पद के लिए चुने जाने से पहले द्रौपदी मुर्मू 2015 से 2021 तक झारखंड के राज्यपाल के रूप में कार्य किया है। राष्ट्रपति चुनाव 2022 में द्रौपदी मुर्मू 15 वें महामहिम के रूप में चुनी गई। राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को 64% (6,76,803) वोट मिले। आज द्रौपदी मुरमू जीवन परिचय के इस लेख में हम द्रौपदी मुर्मू के जीवन के कुछ अनछुए पहलुओं को आपके समक्ष रखेंगे।

द्रौपदी मुर्मू एक हिंदू अनुसूचित जाति के समुदाय से संबंध रखती है। उन्होंने अपने करियर की शुरुआत एक अध्यापिका के रूप में की थी धीरे-धीरे उनकी प्रचलिता बढ़ने लगी और वह राजनीति में चली आई। इसके बाद उन्होंने श्याम चरण मुर्मू से विवाह किया और उनके दो बेटे और एक बेटी हुई। मगर दुर्भाग्यवश उनके दोनों बेटों की मृत्यु हो गई। आज हम इस बहादुर और प्रभावशाली राजनीतिज्ञ की जानकारी सरल शब्दों में प्रस्तुत कर रहे हैं।

Draupadi Murmu Short Biography in Hindi

नेता का नामDraupadi murmu
जन्म तिथि20 जून 1958
जन्म स्थानउड़ीसा के मयूरभंज जिले में
देशभारत
उपलब्धि9th राजयपाल झारखण्
पेशाराजनीतिज्ञ
पार्टीभारतीय जनता पार्टी 

द्रौपदी मुर्मू जीवन परिचय | Draupadi Murmu Biography in Hindi

Draupadi Murmu Jeevan Parichay:- द्रौपदी मुर्मू का जन्म 20 जून 1958 को उड़ीसा के मयूरभंज जिले में बैदापोसी नाम के छोटे से गांव में हुआ। इनका जन्म एक साधारण सांथाली हिंदू परिवार में हुआ था। इनके दादा दादी कई सालों तक गांव के प्रधान रहे थे। इन्होंने अपने व्यवसायिक जीवन की शुरुआत एक अध्यापिका के रूप में की थी। उन्होंने श्याम चरण मुर्मू से विवाह किया और इससे उन्हें दो बेटे और एक बेटी को जन्म दिया। मगर दुर्भाग्यवश अचानक उनके दोनों बेटे और पति की अलग-अलग समय पर मृत्यु हो गई। उनकी पुत्री का विवाह हो चुका है जो इस वक्त उड़ीसा के भुवनेश्वर में रहती है।

इन्होंने अध्यापिका के रूप में कार्य करते हुए काफी प्रचलिता हासिल की। जिसके बाद 1997 में पंचायत परिषद का इलेक्शन जीतकर उन्होंने अपना कदम राजनीति में रखा। उन्होंने भाजपा के साथ खुद को जोड़ा और काफी दिनों तक एक प्रमुख चेहरे के रूप में कार्य किया। हाल ही में NDA की तरफ से राष्ट्रपति चुनाव 2022 में द्रौपदी मुर्मू 15 वें महामहिम के रूप में चुनी गई।

READ  नीरज चोपड़ा कैसे बने एथलीट | (Neeraj Chopra Biography) शिक्षा, जॉब, रिकॉर्ड, अथिलीट करियर सब कुछ जाने

द्रौपदी मुर्मू की शिक्षा | Draupadi Murmur’s Education

द्रौपदी मुर्मू की प्रारंभिक शिक्षा उनके गांव के विद्यालय में ही हुई है। उड़ीसा में अपने गांव से प्रारंभिक शिक्षा पूरी करने के बाद वह भुवनेश्वर चली गई। भुवनेश्वर में राम देवी महिला कॉलेज से उन्होंने स्नातक की शिक्षा प्राप्त किया। अपनी स्नातक की पढ़ाई पूरी करने के बाद उन्होंने सरकारी नौकरी के लिए आवेदन किया। इस प्रक्रिया में उड़ीसा के बिजली विभाग में उन्हें जूनियर असिस्टेंट के पद पर नौकरी मिली। उन्होंने 1979 से लेकर 1983 तक बिजली विभाग में जूनियर असिस्टेंट के तौर पर कार्य किया।

इसके बाद उन्होंने घर से ही कुछ कोर्स की पढ़ाई को पूरा किया और 1994 में रायरंगपुर के अरबिंदो इंटीग्रल एजुकेशन में टीचर के तौर पर काम किया। उन्होंने इस एजुकेशनल सेंटर में 1997 तक टीचर के तौर पर काम किया, जहां इनकी कार्य प्रतिभा को देखकर इनकी प्रचलिता बड़ी तेजी से बढ़ने लगी जिसके बाद उन्होंने राजनीति में कदम रखा।

द्रौपदी मुर्मू सम्बंधित रोचक जानकारी

द्रौपदी मुर्मू झारखंड की एक प्रचलित राजनेता है। इन से जुड़े कुछ रोचक तथ्य हैं जिनके बारे में हर किसी को जानकारी होनी चाहिए। उसकी सूची नीचे दी गई है – 

  • द्रौपदी मुर्मू का जन्म उड़ीसा के एक छोटे से गांव में हुआ था। जहां उनके दादा-दादी प्रधान हुआ करते थे।
  • द्रौपदी मुर्मू ने भुवनेश्वर में महिला कॉलेज से अपनी पढ़ाई को पूरा किया। जिसके बाद उन्होंने बिजली विभाग में जूनियर असिस्टेंट के तौर पर कुछ सालों तक कार्य किया।
  • इसके बाद उनकी शादी उनके बचपन के दोस्त श्याम चरण मुर्मू से हुई। जो उस वक्त एक बैंकर के तौर पर कार्य करते थे। इसके बाद इन्होंने दो बेटे और एक बेटी को जन्म दिया।
  • इसके बाद उन्होंने 1997 तक अध्यापिका के तौर पर कार्य किया।
  • इसके बाद द्रौपदी जी की प्रचलिता बड़ी तेजी से बढ़ने लगी और उन्होंने भारतीय जनता पार्टी को ज्वाइन किया।
  • राजनीति में कदम रखने के बाद अलग-अलग क्षेत्र में अच्छी बहुमत से चुनाव जीतने के बाद वह राजनीति में एक प्रचलित चेहरा बनी।
  • दुर्भाग्यवश 2014 में उनके पति और दो बेटों की अकाल मृत्यु अलग-अलग समय पर हुई।
  • उसके बाद उन्होंने अपनी बेटी की शादी भुवनेश्वर में करवाई।
  • उसके बाद 2015 से 2021 तक द्रौपदी मुर्मू झारखंड के राज्यपाल के रूप में कार्य किया।

द्रौपदी मुर्मू का राजनीतिक जीवन | Draupadi Murmu Political Career

  • द्रौपदी मुर्मू ने अपने राजनीतिक जीवन की शुरुआत 1997 में भारतीय जनता पार्टी के साथ की। सबसे पहले इन्होंने रायरंगपुर में पंचायत के पार्षद चुनाव को जीता। उनकी प्रचलिता बड़ी तेजी से बढ़ने लगी तब उन्होंने भारतीय जनता पार्टी के अनुसूचित जनजाति मोर्चा के उपाध्यक्ष के रूप में कार्य किया।
  • द्रौपदी मुर्मू उड़ीसा के मयूरभंज जिले में रायरंगपुर नगर से 2000 से 2009 के बीच दो बार विधायक का चुनाव जीता। 2000 और 2004 के बीच द्रौपदी उड़ीसा के वाणिज्य, परिवहन, और मत्स्य पशुपालन संस्था विभाग के मंत्री रही। इसके बाद 2009 में विधायक के पद से वो हटी, और कुछ सालों तक उन्होंने किसी भी पद पर तीव्रता से कार्य नहीं किया।
  • अंततः 2015 में उन्हें झारखंड का राज्यपाल नियुक्त किया गया। जिसके बाद द्रौपदी मुर्मू को भारत की पहली आदिवासी राजपाल और झारखंड की पहली महिला राज्यपाल का खिताब मिला। इसके बाद 24 जून 2022 में उन्हें भारत के राष्ट्रपति पद के लिए नामांकित किया गया।
  • राष्ट्रपति चुनाव 2022 में द्रौपदी मुर्मू 15 वें महामहिम के रूप में चुनी गई।
READ  सुष्मिता सेन जीवन परिचय | Sushmita Sen Biography in Hindi (उम्र, लव, शादी, परिवार,फिल्म)

द्रौपदी मुर्मू का परिवार | Draupadi Murmu Family

द्रौपदी मुर्मू के पिता बिरंजी नारायण टूडू, उड़ीसा के मयूरभंज जिले में एक साधारण व्यवसाय चलाते थे। इनका परिवार उड़ीसा के बैदापोसी नाम के गांव में रहता था। इनके दादा दादी इस गांव के सरपंच हुआ करते थे। 1983 तक इन्होंने बिजली विभाग में कार्य किया जिसके बाद इनकी शादी श्याम चरण मुर्मू से हुई जो इनके बचपन के दोस्त थे। इनसे इन्हें तीन बच्चे प्राप्त हुए।

इनका एक बड़ा हंसता खेलता परिवार था। 2014 में दुर्भाग्यवश इनके परिवार में दो बेटे और इनके पति की अचानक आपातकाल मृत्यु अलग-अलग समय पर हुई। जिसके बाद उन्होंने अपनी बेटी की शादी करवाई और इस वक्त इनकी बेटी भुवनेश्वर में है। वर्तमान समय में द्रौपदी मुर्मू के परिवार में उनकी विवाहित बेटी के अलावा और कोई नहीं है।

द्रौपदी मुर्मू राष्ट्रपति उम्मीदवार क्यों घोषित की गई

वर्तमान समय में द्रौपदी मुर्मू 64 वर्ष की हो चुकी है। उन्होंने भारतीय जनता पार्टी के साथ बहुत सालों तक अलग-अलग क्षेत्र में चुनाव जीत कर दिखाया है। 9 साल तक विधायक और तीन अलग-अलग क्षेत्र में मंत्री के तौर पर कार्य किया है। इसके अलावा द्रौपदी मुर्मू पिछले 6 साल से झारखंड के राज्यपाल के रूप में कार्य कर रही हैं।

उनके पास अनुभव काफी अच्छा है और राजनीति के क्षेत्र में अब आगे अपना करियर नहीं बनाना चाहती हैं। जिस वजह से अपने राजनीतिक करियर को एक शानदार रूप देकर खत्म करना चाहती हैं। इस वजह से इन्हें आने वाले राष्ट्रपति चुनाव के लिए एक अच्छा उम्मीदवार चुना गया है। भारतीय जनता पार्टी के साथ इनका गठबंधन काफी पुराना है वर्तमान समय में भारतीय जनता पार्टी की सरकार चल रही है और द्रौपदी मुर्मू अपना राजनीतिक कैरियर खत्म करना चाहती हैं। इस वजह से इन के अनुरोध पर एनडीए के द्वारा द्रौपदी मुर्मू को राष्ट्रपति पद के लिए एक उम्मीदवार चुना गया है।

READ  कौन हैं नूपुर शर्मा? Nupur Sharma Biography in Hindi | जीवन परिचय, शिक्षा, राजनितिक सफर, सोशल मीडिया लिंक

द्रौपदी मुर्मू की जीवन उपलब्धियां | Draupadi Murmur’s Achievements

द्रौपदी मुर्मू ने बहुत सारी उपलब्धियों को हासिल किया है राजनीति के क्षेत्र में एक महिला के रूप में इन्होंने काफी उम्दा काम किया है जिसकी एक संक्षिप्त सूची नीचे दी गई है – 

  • द्रौपदी मुर्मू भारत की पहली आदिवासी राज्यपाल हैं।
  • द्रौपदी मुर्मू झारखंड की पहली महिला राज्यपाल हैं।
  • 2000 से 2009 तक उड़ीसा के रायरंगपुर से इन्होंने विधायक का इलेक्शन जीता है।
  • इसके अलावा द्रोपदी जी 2002 से 2004 तक उड़ीसा में पशुपालन और मत्स्य डिपार्टमेंट की मंत्री रही है।
  • उन्होंने 2009 तक उड़ीसा में भारतीय जनता पार्टी के अनुसूचित जाति के मोर्चे को संभाला है।
  • इसके बाद इन्होंने 2015 से 2021 तक झारखंड के राज्यपाल के रूप में कार्य किया है।
  • राष्ट्रपति चुनाव 2022 में द्रौपदी मुर्मू 15 वें महामहिम (राष्ट्रपति) के रूप में चुनी गई।

FAQ’s Draupadi Murmu Jeevan Parichay

Q. द्रौपदी मुर्मू कौन है?

Ans. द्रौपदी मुर्मू भारत की पहली आदिवासी राज्यपाल और 2015 से 2021 तक झारखंड की पहली महिला राज्यपाल रही है।

Q. द्रौपदी मुर्मू की उम्र कितनी है?

Ans. द्रौपदी मुर्मू वर्तमान समय में 64 वर्ष की है। इसके अनुसार उनका जन्म 20 जून 1958 को हुआ है।

Q. द्रौपदी मुर्मू क्यों इतनी प्रचलित हुई है?

Ans. द्रौपदी मुर्मू को भी हाल ही में भारत के नए राष्ट्रपति उम्मीदवार के लिए चयनित किया गया है। राष्ट्रपति बनने वाले राजनेताओं की सूची में द्रौपदी मुर्मू एक प्रचलित नाम है।

Q. द्रौपदी मुर्मू किस समुदाय या जाति से ताल्लुक रखती हैं?

Ans. द्रौपदी मुर्मू अनुसूचित जाति या आदिवासी समुदाय से ताल्लुक रखती है।

Q. राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को कितने वोट मिले?

Ans. राष्ट्रपति चुनाव 2022 में  महामहिम पद के लिए चुने गए द्रौपदी मुर्मू को 6,76,803 वोट मिले जो कि टोटल वोटिंग का 64% प्रतिशत है .

निष्कर्ष

आज के इस लेख में हमने द्रौपदी मुर्मू जीवन परिचय (Draupadi Murmu Jeevan Parichay) को संक्षिप्त रूप में आपके समक्ष रखने का प्रयास किया है। हमने आपको सरल शब्दों में यह समझाने का प्रयास किया कि द्रौपदी मुर्मू का राजनीतिक करियर कैसा था, इसके अलावा इन्होंने किस प्रकार प्रथम महिला का खिताब भी जीता। आज द्रौपदी मुर्मू सभी महिलाओं के लिए एक प्रेरणा का नाम साबित हुई है।

अगर ऊपर बताई गई सभी जानकारियों को पढ़ने के बाद द्रौपदी मुर्मू के बारे में विस्तार पूर्वक समझ पाए है, और उनके जीवन के बेहतरीन पहलुओं को एक अलग नजरिए से देख पाए हैं तो इसे अपने मित्रों के साथ साझा करें साथ ही अपने सुझाव विचार किया किसी भी प्रकार के प्रश्नों को कमेंट में बताना ना भूलें।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.