ISRO Chief डॉ एस सोमनाथ का जीवन परिचय | Dr. S Somanath Biography in Hindi (वेतन, परिवार, उम्र, कुल संपत्ति, शिक्षा)- चंद्रयान-3

ISRO CHIEF Dr.S Somanath Biography in Hindi

डॉ. एस सोमनाथ जीवन परिचय | S. Somanath Biography in Hindi: जैसा कि आप लोग जानते हैं कि 23 अगस्त 2023 भारत का नाम इतिहास के पन्नों में  सुनहरे अक्षरों के द्वारा अंकित कर दिया गया है क्योंकि भारत में चंद्रमा साउथ पोल पर चंद्रयान को सॉफ्ट लैंडिंग करवा कर इतिहास रच दिया है  जिसके साथ ही भारत दुनिया का पहला ऐसा देश बन गया है जो चंद्रमा के साउथ पोल पर पहुंच पाया है  सबसे अहम बात की विश्व में अब तक चंद्रमा पर तीन ही देश अमेरिका रूस चीन सफलतापूर्वक सॉफ्ट लैंडिंग करवा सके हैं ऐसे में भारत में चंद्रमा पर सॉफ्ट लैंडिंग करवा कर उसे श्रेणी में अपना नाम भी दर्ज करवा लिया है भारत के इस सफलता के पीछे इसरो प्रमुख (ISRO chief  S. Somanath)  डॉक्टर एस सोमनाथ के भूमिका काफी महत्वपूर्ण रही है क्योंकि उनके ही नेतृत्व में चंद्रयान 3 मिशन को ( Chandrayan-3 ) इसरो के द्वारा लांच किया गया था ऐसे में भारत के प्रत्येक नागरिक के मन में सवाल आ रहा है कि इसरो अध्यक्ष डॉक्टर एस सोमनाथ ( कौन है Who is SSomanath, प्रारंभिक जीवन परिवार शिक्षा करियर उम्र कुल संपत्ति सोशल मीडिया लिंक इत्यादि अगर आप उनके बारे में पूरी जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो हम आपसे निवेदन करेंगे कि हमारे साथ आर्टिकल पर बने रहे हैं क्योंकि आज के आर्टिकल में हम आपको S.Somanath Biography In Hindi संबंधित पूरी जानकारी उपलब्ध करवाएंगे चलिए जानते हैं-

एस. सोमनाथ की जीवनी | S. Somanath Biography

S Somanath Biography:- के बारे में जानने की उत्सुकता भारत के प्रत्येक नागरिक के अंदर है क्योंकि आज भारत चंद्रमा पर पहुंच पाया है तो उसके पीछे डॉ एस सोमनाथ  की भूमिका सबसे अहम है क्योंकि उनके द्वारा ही चंद्रयान-3 मिशन को लांच किया गया था और हम आपको बता दें कि उनके द्वारा जो भी टीम बनाई गई थी वह टीम काफी अनुभवी और मेहनती थी और उनके प्रयास से ही आज भारत ने इतिहास रचा है इसलिए आज हम आए सोमनाथ के जीवन (S Somanath Biography) के हर एक पहलू के बारे में आपको जानकारी उपलब्ध करवाएंगे इसलिए हमारे साथ बने रहिएगा

Also Read: कल्पना चावला का जीवन परिचय

एस. सोमनाथ की जीवनी | S. Somanath Biography in Hindi-Overview

पूरा नामसोमनाथ श्रीधर पणिकर
उपनामसोम
जन्मतिथिजुलाई 1963
जन्म स्थानअरुर , अलपुझा
उम्र कितनी है63 साल 2023 के मुताबिक
स्कूलसेंट अंगस्टाइन
कॉलेजमहाराजा कॉलेज , टिकेएम कॉलेज, क्विलोन
एजुकेशन क्वालीफिकेशनएरोस्पेस & मैकेनिकल इंजीनियरिंग
प्रसिद्ध हैचंद्रयान 3 मिशन को सफल बनाने के लिए
प्रोफेशनएरोस्पेस इंजीनियर व रॉकेट वैज्ञानिक
वर्तमान में क्या हैइसरो के अध्यक्ष
नागरिकताभारत
धर्महिन्दू
जातिब्रमलयाली
आँख का रंगकाला
बालों का रंगकाला

एस सोमनाथ कौन है (Who is S. Somanath)

Who is S. Somanath | एस. सोमनाथ की जीवनी

 S. Somanath इसरो के प्रमुख है इनका जन्म 1963 में जुलाई महीने में केरल राज्य के Aroor Alappuzha जिले में हुआ था।  उन्होंने अपने करियर की शुरुआत एयरप्लेन इंजीनियर और रॉकेट टेक्नोलॉजी के तौर पर की थी और हम आपको बता दें कि 1 जुलाई 2023 को इसरो का chief  बनाया गया हम आपको बता दें कि इसरो के द्वारा लांच किए गए कई महत्वपूर्ण मिशन में उनकी भूमिका काफी अहम रहती चंद्रयान-2 और और गगनयान जैसे प्रोजेक्ट पर भी इन्होंने काम किया है जैसा कि आप लोगों को मालूम है कि चंद्रयान 2019 में लॉन्च किया गया था लेकिन तकनीकी खराबी के कारण chandrayaan 2  असफल रहा था  उसे समय इसरो के प्रमुख के सिवान थे लेकिन 2023 में इनके नेतृत्व में चंद्रयान-3 मिशन को लांच किया गया सफल रहा था | इसलिए आज के समय डॉक्टर एस सोमनाथ उन सभी युवाओं के लिए पहनना के स्रोत हैं जो जीवन में हताश और निराश हो गए हैं उन्होंने साबित कर दिया कि इंसान को कभी भी प्रयास छोड़ना नहीं चाहिए क्योंकि जो लोग जीवन में प्रयास करते हैं उन्हें सफलता जरूर मिलती है

See also  Raghav Chadha Biography in Hindi: राघव चड्ढा जीवन परिचय - उम्र, गर्लफ्रेंड, पत्नी, Caste, परिवार, राजनीति

Chandrayaan-3 LIVE Updates : चंद्रयान-3 कहां तक पहुंच चुका है? ट्रैकिंग (Tracking) में देखें

एस सोमनाथ का प्रारंभिक जीवन | S. Somanath Early Life

एस सोमनाथ का जन्म जुलाई महीने के 1963 में केरल राज्य के Aroor Alappuzha जिले में हुआ था  बचपन से ही इनका झुकाव साइंस की तरफ बहुत ज्यादा था यही वजह था कि बचपन में ही इन्होंने तय कर लिया था कि उन्हें बड़ा होकर एक वैज्ञानिक बनना है | हालांकि उनके इस सपने को पूरा करने में उनके माता-पिता की भूमिका आयाम है क्योंकि जब भारत में चंद्रयान-3 मिशन को सफलतापूर्वक पूरा किया तब तमिलनाडु के मुख्यमंत्री स्टालिन ने उनके पिता को फोन करके बधाई दिया और कहा कि अपने देश को एक कोहिनूर हीरा दिया है इसलिए हम आपको नमन करते हैं |

एस सोमनाथ का पूरा नाम क्या है? (SSomanath Full Name)

Full Name : पूरा नाम श्रीधर पाड़ीकर सोमनाथ है और संक्षेप में लोग इन्हें एस सोमनाथ कहकर पुकारते हैं।

कल्पना चावला पर निबंध PDF, अंतरिक्ष यात्री की सम्पूर्ण कहानी

एस सोमनाथ का एजुकेशन | S. Somanath Education

एस सोमनाथ के एजुकेशन के बारे में बात करें तो स्कूली पढ़ाई सेंट अगस्टिन हाई स्कूल से  पूरा किया था इसके बाद उन्होंने मैकेनिकल इंजीनियर  बैचलर आफ टेक्नोलॉजी (B.Tech) पढ़ाई को पूरा किया फिर इसके  मास्टर इन एयरोस्पेस इंजीनियरिंग की डिग्री भी प्राप्त की है।  इसके बाद इन्होंने मैकेनिकल इंजीनियर में

 पीएचडी की पढ़ाई की।  हम आपको बता दें कि सोमनाथ व्हीकल स्ट्रक्चर सिस्टम के बारे में काफी अच्छी जानकारी रखते हैं और उसे लॉन्च करने में उन्हें एक्सपर्ट माना जाता है इसके अलावा सोमनाथ

 व्हीकल स्ट्रक्चर सिस्टम  स्ट्रक्चरल डायनेमिक, मेकैनिज्म और व्हीकल इंटीग्रेशन को कैसे लांच किया जाता है उसके बारे में उनके पास व्यापक जानकारी है यही वजह है कि 2023 में जब के सिवान का कार्यकाल पूरा हुआ तो एस सोमनाथ को इसरो का अध्यक्ष बनाया गया |

एस सोमनाथ परिवार ( S.Somanath Family)

S.Somanath Family

एस सोमनाथ के परिवार के बारे में अगर हम बात करें तो उसका विवरण हम आपको नीचे दे रहे हैं आईए जानते हैं-

पिता का नामश्रीधर पणिकर (प्रोफेसर)
माता का नामथंकम्मा (Thankamma)
पत्नी का नामवलसाला
बच्चे2
बेटामाधव
बेटीमालिका

एस सोमनाथ की पत्नी और बच्चे कौन हैं? S. Somanath Wife and Kids

एस सोमनाथ के पत्नी और बच्चे के बारे में बात करें तो उनकी पत्नी का नाम वलसाला है जो की मिनिस्ट्री ऑफ फाइनेंस विभाग के अंतर्गत काम करती है इनके दो बच्चे भी हैं और दोनों का ग्रेजुएशन इंजीनियर के क्षेत्र में है |

See also  डॉ.वर्गीज कुरियन का जीवन परिचय | Dr. Verghese Kurien Biography in Hindi | जानें (प्रारंभिक जीवन, शिक्षा, परिवार, इतिहास व मृत्यु)

गूगल चांद पर सबसे पहले कौन गया था | चाँद पर जाने वाले लोगों के नाम

डॉ. एस सोमनाथ का करियर (S. Somanath Career)

●  साल 1985 में एस सोमनाथ  इसरो ज्वाइन किया था

●  उन्होंने इसरो में कई महत्वपूर्ण पदों पर काम किया जैसे-

●  Project Manager-Polar Satellite Launch Vehicle (PSLV), Deputy Director for Structures Entity/Propulsion & Space Ordnance Entity, Project Director, Geosynchronous Satellite Launch Vehicle (GSLV Mk-III) इत्यादि।

●  हम आपको बता दें कि शुरुआती दिनों में उन्हें इसरो  दरमियान पोलर सैटलाइट लॉन्च दाखिल प्रोजेक्ट में काम करने का औसत किया गया है जहां पर उन्होंने काफी अच्छा काम किया

●  इसके बाद उनके  प्रदर्शन को देखते हुए साल 2014 में  प्रपोजिशन एंड स्पेस ऑर्डिनेंस एंटीटी के डिप्टी डायरेक्टर के पद पर उन्हें नियुक्त किया गया

●  2015 में  सोमनाथ को लिक्विड प्रोपल्शन सिस्टम सेंटर के डायरेक्टर के पद पर चयनित किया गया दिया जहां पर उन्होंने उन्होंने लॉन्च व्हीकल और स्पेस कार्यक्रम के लिए लिक्विड प्रोपल्शन सिस्टम डिजाइन बनाया

●  सोमनाथ विक्रम साराभाई अंतरिक्ष केंद्र में भी कम कर चुके हैं जहां पर उन्होंने लॉन्च व्हीकल के डिजाइन बनाया है

●   उन्होंने इसरो में कई महत्वपूर्ण योजनाओं में काम किया है जिसमें चंद्रयान-1 चंद्रयान 2 गगनयान और हाल के दिनों में चंद्रयान-3 मिशन को सफल बनाने में उनकी भूमिका काफी अहम रही थी |

एस सोमनाथ सैलरी, कुल कमाई (S. Somanath Salary & Net Worth)

S. Somanath कि सैलरी और कमाई की बात करें तो आज के तारीख में उनकी सैलरी 250000 रुपए है और आज के समय इसरो के अध्यक्ष के पद पर work कर रहे हैं  रहे हैं और अगर हम उनके कुल कमाई की बात करें तो उनके पास आज के समय समय में 3 से लेकर के 5 करोड रुपए के  आसपास बताई जा रही है हम आपको बता दें कि उन्होंने इसरो की सेवा सच्चे मन से की है और वह लगातार देश के विकास के लिए work कर रहे हैं इसलिए उनकी जो भी कमाई है  इसके लिए लगातार परिश्रम और मेहनत किया है |

एस सोमनाथ के पुरस्कार और सम्मान (S. Somanath Award)

एस सोमनाथ को कौन-कौन से पुरस्कार और सम्मान दिए गए हैं तो उसका पूरा विवरण हम आपको नीचे दे रहे हैं आईए जानते हैं-

YearName Of Awards (पुरस्कार और सम्मान)
एस्ट्रोनॉटिकल सोसाइटी ऑफ इंडिया के द्वारा स्पेस गोल्ड मेडल
इंडियन नेशनल एकेडमी ऑफ़ इंजीनियरिंग संस्थान ने सोमनाथ को सम्मानित किया है
2014सोमनाथ को साल 2014 में परफॉर्मेंस एक्सीलेंस अवार्ड दिया गया था
2014साल 2014 में ही टीम एक्सीलेंस अवार्ड
2022पद्मश्री अवार्ड
2021शांतिस्वरूप भटनागर पुरस्कार
2020डी.एस. कोठार पुरस्कार
2019इसरो वैज्ञानिक पुरस्कार

एस सोमनाथ चंद्रयान-3 (S. Somanath Chandrayan-3)

एस सोमनाथ चंद्रयान-3 (S. Somanath Chandrayan-3)

चंद्रयान-3 के सफलता के पीछे एस सोमनाथ की भूमिका साथ सबसे अहम है क्योंकि उनके ही नेतृत्व में चंद्रयान 3 मिशन को लांच किया गया था और अगर चंद्रमा की सतह पर चंद्रयान-3 सॉफ्ट लैंडिंग कर पाया है तो इसके पीछे एस सोमनाथ की मेहनत और परिश्रम है |  14 जनवरी 2022 को इन्हें इसरो का अध्यक्ष नियुक्त किया गया था और इनका कार्यकाल 3 साल का है |

See also  डॉ. राधाकृष्णन सर्वपल्ली का जीवन परिचय | Dr. Radhakrishnan Biography In Hindi | शिक्षा में योगदान, पुस्तकें, शैक्षणिक विचार, राष्ट्रपति के रूप में कार्यकाल

एस सोमनाथ – इसरो के चेयरपर्सन (S. Somanath ISRO Chairman)

हम आपको बता दें कि जब श्रीधर सोमनाथ को इसरो का अध्यक्ष नियुक्त किया गया तो उसे समय इसरो के सामने सबसे बड़ी चुनौती थी कि किस प्रकार चंद्रयान-3 मिशन को सफल किया जा सके क्योंकि आप लोगों को मालूम है कि 2019 में जब चंद्रयान 2  मिशन लॉन्च किया गया था तो कुछ कारण से चंद्रयान-2 मिशन असफल हुआ था जिसके कारण देश को काफी मायूसी हुई थी  इसके बाद इसरो चंद्रयान-3 मिशन में लग गया और लगातार परिश्रम और मेहनत करता रहा जिसके बाद 2023 में  चंद्रयान 3 मिशन को लांच किया गया जिसके बाद 23 अगस्त 2023 को जब चंद्रयान-3 सफलतापूर्वक चंद्रमा की सतह पर लैंड कर गया तो देश में खुशी के लहर  दौड़ गई और सभी लोग इस खुशी में सम्मिलित हो गए इसलिए हम कह सकते हैं कि  सोमनाथ का कार्यकाल इसरो के अध्यक्ष के रूप में काफी सफल साबित हुआ और इतिहास में उनका नाम सुनहरे अक्षरों से अंकित किया जाएगा | सबसे महत्वपूर्ण बात है कि  इसरो को दुनिया का सबसे शक्तिशाली स्पेस सेंटर बनाने की दिशा में लगातार कम कर रहे हैं और वह दिन दूर नहीं है जब भारत दुनिया का सबसे शक्तिशाली अंतरिक्ष एजेंसी होगा | उम्मीद की जा रही है कि अगला जो मिशन इसरो के द्वारा लांच किया जाएगा उसमें भी भारत को सफलता प्राप्त होगी |

जे रॉबर्ट ओपेनहाइमर का जीवन परिचय

इसरो चेयरमैन (ISRO Chief) की सूची | ISRO Chairman List Hindi

इसरो के चेयरमनों की सूची का पूरा विवरण हम आपको नीचे उपलब्ध करवाएंगे जहां पर आप आसानी से देख पाएंगे कि इसरो की स्थापना के बाद से लेकर अब तक इसरो के अध्यक्ष कौन-कौन से लोग रह चुके हैं-

डॉ. विक्रम साराभाई1963-1971
प्रोफ़ेसर एम.जी.के. मेननजन.-सित. 1972
प्रोफ़ेसर सतीश धवन1972-1984
प्रोफ़ेसर उडुपी रामचंद्र राव1984-1994
डॉ. कृष्णस्वामी कस्तूरीरंगन1994-2003
श्री जी. माधवन नायर2003-2009
डॉ. के. राधाकृष्णन2009-2014
श्री आ. सी. किरण कुमार2015 – 2018
कैलासवटिवु शिवन्2018-2022
डॉ एस सोमनाथ2022- अब तक

एस सोमनाथ (S Somanath) रोचक तथ्य

●  बचपन से ही इनका झुकाव साइंस और मैथ में अधिक था |

●  इनके पिता केरल के एक हिंदी भाषा स्कूल में अध्यापक के तौर पर काम करते थे |

●  इनके पिता ने सोमनाथ को बचपन में अंग्रेजी और मुलायम भाषा में विज्ञान के कई पुस्तक के पढ़ने के लिए दिया था

●  जब सोमनाथ कॉलेज में पढ़ कर रहे थे तभी उन्होंने इसरो के लिए आवेदन किया था जिसके बाद उनका चयन इसरो में हो गया

●  इन्होंने  एयरोस्पेस में एमटेक तक  पढ़ाई पूरी की है

●  एस सोमनाथ दसवें अध्यक्ष तौर पर 2025 तक काम करेंगे उनके नियुक्ति 2022 में हुई थी

●  सोमनाथ को व्हीकल स्ट्रक्चर के बारे में व्यापक जानकारी है

●  एस सोमनाथ को व्हीकल स्ट्रक्चर लॉन्च करने में एक्सपर्ट माना जाता है |

निष्कर्ष

हमारे द्वारा लिखा गया आर्टिकल आपको पसंद आया होगा ऐसे में आर्टिकल संबंधित कोई भी सवाल या प्रश्न है तो आप हमारे कमेंट बॉक्स में जाकर पूछ सकते हैं हम आपके सवालों का जवाब अवश्य देंगे तब तक के लिए धन्यवाद और मिलते हैं अगले आर्टिकल में-

FAQ’s: Dr.S Somanath Biography in Hindi

Q. . इसरो की स्थापना कब हुई?

Ans.इसरो का स्थापना 15 August 1969 हुआ था।

Q. डॉक्टर सोमनाथ कौन है?

डॉक्टर सोमनाथ ISRO के साइंटिस्ट और ISRO के  अध्यक्ष है |

Q. इसरो के पहले अध्यक्ष कौन थे।

इसरो का पहला अध्यक्ष 1969 मे विक्रम साराभाई बने थे।

Q.सोमनाथ पूरा नाम क्या है?

Ans. डॉ एस सोमनाथ जी का पूरा नाम श्रीधर पाड़ीकर सोमनाथ है।

Q. चंद्रयान 3 को कहा से लॉन्च किया गया?

Ans. चंद्रयान 3 को श्री हरिकोटा Visakhapatnam से  लॉन्च किया गया।

Q. चंद्रयान-1 के समय इसरो के अध्यक्ष कौन थे?

Ans. चंद्रयान-1 के समय श्री जी. माधवन नायर  ISRO  अध्यक्ष थे

इस ब्लॉग पोस्ट पर आपका कीमती समय देने के लिए धन्यवाद। इसी प्रकार के बेहतरीन सूचनाप्रद एवं ज्ञानवर्धक लेख easyhindi.in पर पढ़ते रहने के लिए इस वेबसाइट को बुकमार्क कर सकते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Optimized with PageSpeed Ninja