कौन थे करणी सेना के Sukhdev Singh Gogamedi ? जिनकी दिनदहाड़े हुई हत्या, जानें सब कुछ

Sukhdev Singh Gogamedi Murder: राजस्थान विधानसभा चुनाव के नतीजे घोषित होने के 48 घंटे के भीतर ही एक दिल दहलाने वाली खबर सुर्खियां बटोर रही हैं। राजस्थान की राजधानी जयपुर में दिनदहाड़े एक क्रूर हत्या हुई, जिसने शहर को झकझोर कर रख दिया। आज यानी कि 5 दिसंबर को दोपहर 12 बजकर 30 मिनट को जयपुर में दक्षिणपंथी संगठन ‘राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना’ के अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेड़ी कि उनके ही आवास में आकर अज्ञात हमलावरों में उनकी हत्या कर दी।

राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की दिल दहला देने वाली इस हत्या की वारदात घर में लगे सीसीटीवी में कैद हो गई। वारदात कि जानकारी मिलते ही पुलिक मौके पर पहुंची। पुलिस के अनुसार तीन शूटर उनके आवास पर आए और गोगामेड़ी के सुरक्षाकर्मियों से पूछा कि वे उनसे मिलना चाहते हैं। अंदर जाने की अनुमति मिलने के बाद, उन्होंने गोली चलाने से पहले लगभग 10 मिनट तक उनसे बात की। सीसीटीवी फुटेज में दो लोग रिवॉल्वर निकालते दिखाई पड़ रहे है और करणी सेना अध्यक्ष पर कई गोलियां चलाते नजर आ रहे हैं। घटना के समय गोगामेडी के दो सहयोगी भी वहां मौजूद थे, उन्हें भी चोटें आईं और फिलहाल उनका इलाज चल रहा है।

पुलिस के अनुसार, वीडियो में दिखाई न देने वाला एक शूटर भी गोलीबारी में मारा गया। कथित तौर पर वह निगरानी रखने के लिए बाहर था।घटना के बाद, राजपूत समुदाय के सदस्य उस अस्पताल के बाहर एकत्र हुए जहां करणी सेना के अध्यक्ष का शव रखा गया था और वहां तुरंत न्याय की मांग की गई और विरोध प्रदर्शन किया गया।  वहीं अगरअपराधियों को शीघ्र गिरफ्तार नहीं किया गया तो देश भर में हिंसक विरोध प्रदर्शन की धमकी दी गई।जयपुर पुलिस कमिश्नर बीजू जॉर्ज जोसेफ ने बताया कि मारे गए हमलावर की पहचान नवीन नाम के शख्स के रूप में हुई है। वह शाहपुरा का रहने वाला था और जयपुर में कपड़े की एक छोटी सी दुकान चलाता था। उन्होंने कहा कि बाकी दो शूटरों को भी जल्द से जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा |

See also  Bollywood Celebrities Death 2023 | साल 2023 में इन बॉलीवुड सेलिब्रिटीज ने कहा दुनिया को अलविदा

कौन थे सुखदेव सिंह गोगामेड़ी | Who is Sukhdev Singh Gogamedi?

Sukhdev Singh Gogamedi Kon Hai: सुखदेव गोगामेदी ने  साल 2015 श्री राजपूत करणी सेना से निकाले जाने के बाद श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना का गठन किया था।दरअसल उनके श्री राजपूत करणी सेना के संस्थापक लोकेंद्र सिंह कालवी के साथ मतभेदों के कारण उन्हें इस सेना से निकाल दिया गया था। 2006 में गठित, श्री राजपूत करणी सेना, जो मुख्य रूप से राजपूत युवाओं से बनी है, राजपूतों के लिए जाति-आधारित आरक्षण की वकालत करती है। एक समय श्री गोगामेदी श्री कालवी के करीबी विश्वासपात्र थे और उन्हें श्री राजपूत करणी सेना के राजस्थान अध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया गया था। हालाँकि, दोनों के बीच राजनीतिक मतभेदों ने सुखदेव सिंह गोगामेदी को एक अलग समूह बनाने के लिए मजबूर किया।

श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना और गोगामेड़ी की प्रसिद्धि दीपिका पादुकोण, रणवीर सिंह और शाहिद कपूर-स्टारर 2018 की बॉलीवुड फिल्म ‘पद्मावत’ के खिलाफ विरोध प्रदर्शन का नेतृत्व कर रही थी। श्री गोगामेदी के नेतृत्व वाले समूह सहित राजस्थान में राजपूत समूहों ने विरोध किया और फिल्म के सेट पर तोड़फोड़ की, यह दावा करते हुए कि इसमें राजपूत रानी पद्मावती को खराब तरीके से चित्रित किया गया है। फिल्म के निर्देशक संजय लीला भंसाली पर जयपुर के जयगढ़ किले में श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना द्वारा हमला किया गया था। विरोध प्रदर्शन तब राष्ट्रीय सुर्खियाँ बनीं जब एक अन्य करणी सेना समूह के सदस्य द्वारा दीपिका पादुकोण पर ₹ 10 करोड़ का इनाम रखा गया।

यह भी पढ़ें:- लॉरेंस बिश्नोई का जीवन परिचय

सुखदेव सिंह गोगामेड़ी ने गैंगस्टर आनंदपाल सिंह के पुलिस एनकाउंटर का भी विरोध किया | सिंह की मौत राज्य में राजपूतों के लिए एक रैली का मुद्दा बन गई, जिन्होंने दावा किया कि गैंगस्टर आत्मसमर्पण करना चाहता था, लेकिन पुलिस ने उसे बेरहमी से मार गिराया।

See also  Chhattisgarh New CM: Vishnu Deo Sai 2024 | विष्णु देव साय होंगे छत्तीसगढ़ के नए सीएम, बीजेपी विधायक दल की बैठक में लिया फैसला

इस ब्लॉग पोस्ट पर आपका कीमती समय देने के लिए धन्यवाद। इसी प्रकार के बेहतरीन सूचनाप्रद एवं ज्ञानवर्धक लेख easyhindi.in पर पढ़ते रहने के लिए इस वेबसाइट को बुकमार्क कर सकते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Optimized with PageSpeed Ninja