आतंकवाद विरोधी दिवस पर निबंध 2023| Essay on Anti Terrorism Day in Hindi | Speech On Anti Terrorism Day

Essay on Anti Terrorism Day in Hindi: इस संसार में भारत में प्रत्येक साल 21 मई को आतंकवाद विरोधी दिवस मनाया जाता है इस दिन देश के हर एक कोने में विभिन्न प्रकार के कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं | जिसमें आतंकवाद देश के लिए कितना बड़ा खतरा है उसके बारे में आम जनता को जागृत किया जाता है | आप लोगों ने देखा होगा कि आए दिन कहीं ना कहीं आतंकवादी घटना घटित हुई दिखाई पड़ेंगे और जिसके कारण कई हजार लोग बेकसूर मारे जाते हैं | भारत में आतंकवाद विरोधी दिवस पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की आतंकवादी घटना में मौत होने के बाद आतंकवाद विरोधी दिवस मनाने की परंपरा उस समय के तत्कालीन सरकार ने किया गया था ताकि आतंकवाद का स्वरूप कितना खतरनाक है उसके बारे में हम आम नागरिक को जागृत कर सके ऐसे में अगर आप 1 छात्र हैं और आतंकवाद विरोधी दिवस पर निबंध लिखना चाहते हैं लेकिन इसकी शुरुआत कैसे करें उसके बारे में अगर आप नहीं जानते हैं तो हम आपको इस आर्टिकल में Essay on Anti Terrorism Day in Hindi के  बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी देंगे आइए जानते हैं-

Anti Terrorism Day Essay in Hindi

आर्टिकल का प्रकारनिबंध
आर्टिकल का नामआतंकवाद विरोधी दिवस निबंध
साल2023
कब मनाया जाएगा21 मई को
कहां मनाया जाएगापूरे भारत में

Also Read: आतंकवाद विरोधी दिवस कब है?

Essay on Anti-Terrorism Day in Hindi (300 शब्द)

आतंकवाद किसे कहते हैं? आतंकवाद क्या है?

आतंकवाद एक ऐसा गैरकानूनी हिंसा का माध्यम है जो लोगों को डराने के लिए आतंकवादियों के द्वारा इस्तेमाल होता है आतंकवाद के माध्यम से कई बेकसूर लोगों की जान आतंकवादियों के द्वारा ले ली जाती है आतंकवाद का स्वरूप काफी भयंकर होता है और दुनिया के आज तमाम देश आतंकवाद से पीड़ित है उनमें भारत देश का भी नाम आता है भारत में लगातार पाकिस्तान के द्वारा आतंकवादी गतिविधियों को अंजाम देने की कोशिश की जाती है लेकिन हमारे देश के वीर जवान उसके पूरे मंसूबे पर पानी फेर देते हैं|

आतंकवाद वि‍‍रोधी दि‍वस का इतिहास/आतंकवाद वि‍‍रोधी दि‍वस की शुरुआत

आतंकवाद विरोधी दिवस के इतिहास के बारे में बात करें तो पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्या 1991 में तमिलनाडु के एक चुनावी सभा में आतंकवादियों के द्वारा किया गया था जब वह भाषण देने के लिए तमिलनाडु गए थे इस दौरान उनसे एक लड़की मिलने के लिए आती है जो आतंकवादी संगठन से जुड़ी हुई थी  |जिसके बाद से ही भारत में 21 मई को आतंकवादी विरोधी दिवस मनाने की घोषणा उस समय के तत्कालीन सरकार ने की जिसका अनुसरण आज की सभी सरकारों के द्वारा किया जा रहा है इस दिवस के माध्यम से आतंकवाद का स्वरूप कितना खतरनाक और डरावना है उसके बारे में जनता को सावधान किया जाता है ताकि जनता सरकार के आतंकवाद रोकने की मुहिम में अपनी भूमिका निर्वाह कर सकें |

आतंकवाद विरोधी दिवस पर निबंध  (500 शब्द)

आतंकवाद वि‍‍रोधी दि‍वस क्यों मनाया जाता है –

See also  वर्ल्ड एड्स डे पर निबंध हिंदी में | Essay On World Aids Day in Hindi (कक्षा-3 से 10 के लिए)

आतंकवाद विरोधी दिवस मनाने के पीछे का सबसे प्रमुख कारण है कि बढ़ती हुई आतंकवाद को रोकना ताकि देश और दुनिया को आतंकवाद से बचाया जा सके इसके अलावा

 लोगों को आतंकवाद से निडर होकर उससे साहस से सामना करने का जागरूकता आम जनता में जागृत करने के लिए भी आतंकवाद विरोधी दिवस मनाया जाता है ताकि हर एक व्यक्ति आतंकवाद से लोहा ले सके |

आतंकवाद वि‍‍रोधी दि‍वस कैसे मनाया जाता है

आतंकवादी विरोधी दिवस भारत सरकार और राज्य सरकार के द्वारा मनाया जाता है इस दिन पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई को श्रद्धांजलि अर्पित की जाती है इसके अलावा उन लोगों को भी सरकार के द्वारा श्रद्धांजलि अर्पित की जाती है | जो आतंकवाद के कारण हमारे बीच नहीं है  इस दिवस के दिन कई सरकारी दफ्तरों में भाषण, सेमिनार और कई प्रकार के गतिविधियां आयोजित किये जाते है।  कई जगह पर माता को एकजुट होकर आतंकवाद का सामना करना चाहिए उसके सीख दी जाती है सरकार के द्वारा आतंकवाद को भारत से पूरी तरह से समाप्त किया जाए इसके लिए कई प्रकार के कार्यक्रम भारत के सुरक्षा अधिकारियों के साथ आयोजित किए जाते हैं | ताकि आतंकवाद पर लगाम कैसे लगाए जा सके उसके बारे में एक रोडमैप तैयार हो सके|

Also Read: विश्व तंबाकू निषेध दिवस पर निबंध 2023

आतंकवाद विरोधी दिवस – निबंध 4 (600 शब्द)

आतंकवाद वि‍‍रोधी दि‍वस का उद्देश्य/एंटी-टेररिज्म डे उद्देश्य

आतंकवाद विरोधी दिवस मनाने का प्रमुख उद्देश्य देश के सभी वर्गों को आतंकवाद और उससे जुड़े हुए खतरे के बारे में जानकारी प्रदान करना है ताकि सभी लोग एकजुट होकर आतंकवाद का मुकाबला कर सके | इसी उद्देश्य से स्कूल-कॉलेज और वि‍श्ववि‍द्यालयों में आतंकवाद और हिं‍सा के खतरों पर परि‍चर्चा, वाद-वि‍वाद, संगोष्ठी, सेमीनार जैसे कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं ताकि अधिक से अधिक लोगों को आतंकवाद के बारे में जागृत किया जा सके इसके अलावा राष्ट्रीय हितों पर पड़ने वाले प्रतिकूल प्रभावों, आतंकवाद के कारण आम जनता को हो रही परेशानियों, आतंकवादी हिंसा पर लगाम कैसे लगे उसके लिए योजना का निर्माण करना आतंकवाद विरोधी दिवस का प्रमुख लक्ष्य है |

आतंकवाद विरोधी दिवस पर अनमोल वचन (Anti Terrorism Day Quotes in Hindi)

●  इस संसार के दो पहलु हो सकते हैं पहला शांति और अमन का, दूसरा आतंक और डर से भरा. इन दोनों आप क्या चुनेंगे आपके ऊपर निर्भर करता है

●  आतंकवाद हमारे समाज का सबसे खतरनाक दीमक है, अगर इस खतरनाक दीमक को समय रहते  नष्ट नहीं किया गया तो यह हमारे देश को पूरी तरह से समाप्त कर देगा

●  आतंकवाद का कोई जाति और धर्म नहीं होता है आतंकवाद का केवल मकसद होता है मानव जाति को कष्ट पहुंचाना और बेकसूर लोगों को मानना इसलिए आतंकवाद का पुरजोर विरोध हमें सभी लोगों को एकजुट होकर करना होगा | 

●  किसी भी देश का पिता ये नहीं चाहेगा कि उसका बेटा बचपन से बन्दूक उठाकर आतंकवादी बन जाए, क्योंकि बच्चों के हाथ में पेन शोभा देता है ना कि बन्दूक.

See also  सुभाष चंद्र बोस पर निबंध हिंदी में | Subhash Chandra Bose Essay in Hindi (PDF Download)

● आतंकवाद किसी भी देश की उन्नति में सबसे बड़ा बाधक है इसलिए आतंकवाद को जड़ से समाप्त करना प्रत्येक देश का प्रमुख लक्ष्य होना चाहिए |

आतंकवाद विरोधी दिवस पर भाषण | Speech On Anti Terrorism Day In Hindi

माननीय प्रधानाचार्य, उप प्रधान, सम्मानित शिक्षकगण और मेरे प्रिय छात्रों – मैं आप सभी का हमारे स्कूल संगोष्ठी हॉल में स्वागत करता हूं। सबसे पहले मैं यहाँ हर किसी को गर्मजोशी से बधाई देना चाहता हूँ! हम सभी लोग आज आतंकवाद विरोधी दिवस पर अपने विचार रखने के लिए उपस्थित हुए हैं या मेरा सौभाग्य है कि मुझे आज आतंकवाद विरोधी दिवस पर अपने विचार रखने का अवसर प्रदान किया गया है

आज का हमारा जो ज्वलंत मुद्दा है वह है आतंकवाद जिससे सारी दुनिया पीड़ित है।  आज का समय दुनिया का अधिकांश आतंकवाद से पीड़ित है आए दिन कहीं ना कहीं बम विस्फोट और आतंकवादी घटनाएं घटित होते हुए दिखाई पड़ती है जिसके कारण कई बेकसूर लोगों की जान चली जाती है आतंकवाद हुआ नासूर है जिसे अगर वक्त रहते नहीं रोका गया तो या देश को पूरी तरह से समाप्त कर देगा आतंकवाद मानव जाति का सबसे बड़ा दुश्मन है इसलिए हम सबको मिलकर आतंकवाद का मुकाबला एकजुटता के साथ करना होगा तभी जाकर आप इसे हरा पाएंगे  हम भारत के रहने वाले निवासी आतंकवाद के खतरनाक रूप का सामना कर चुके हैं आप लोगों को मुंबई आतंकवादी हमलों (यानी 26/11) देसी आतंकवादी घटना है आप लोगों ने देखी होगी इस तरह की गतिविधियाँ दुनिया में लगातार बढ़ रही है। उदाहरण के लिए पाकिस्तान बम हमलों से लेकर मुंबई ताज होटल पर आतंकवादी हमलों तक, अमेरिका में बमबारी से लेकर ट्विन टॉवर पर हमले तक। पूरा विश्व आज आतंकवाद से त्रस्त है | भारत में आतंकवाद से मुकाबला करने के लिए कई प्रकार की खुफिया एजेंसी बनाई गई है और प्रत्येक साल भारत सरकार आतंकवादी गतिविधियों को रोकने के लिए अरबों रुपए का खर्च करती है तभी जाकर हम अपने घरों में चैन की नींद सो पाते हैं लेकिन आम जनता के नाते हमारा भी करता है कि सरकार की इस मुहिम में बढ़-चढ़कर भाग ले ताकि आतंकवाद को समाप्त किया जा सके |

चलिए हम प्रतिज्ञा करते हैं कि हम अपराधों और हत्याओं की इन घृणित गतिविधियों को रोकने के लिए हर संभव प्रयास करेंगे और लोगों को जागरूक करके हमारे देश को मजबूत बनाएंगे।

धन्यवाद।

आतंकवाद विरोधी दिवस निबंध PDF

आतंकवाद विरोधी दिवस निबंध का पीडीएफ अगर आप प्राप्त करना चाहते हैं तो उसका लिंक हम आपको नीचे उपलब्ध कराएंगे जिस पर क्लिक कर  आप  पीडीएफ फाइल अपने मोबाइल में डाउनलोड कर सकते हैं |

Download Here:

Long Essay on Anti-Terrorism Day (800 शब्द)

आतंकवाद विरोधी दिवस 2023 का महत्व:

 आतंकवाद विरोधी दिवस का हमारे जीवन में विशेष महत्व है  इसके द्वारा  लोगों के बीच मानवता को जीवित रखना है। लोगों आतंकवादी समूह के बारे में जानकारी उपलब्ध करवाना और साथ में जनता के बीच में जागरूक अभियान का भी संचालन करना विशेष तौर पर युवाओं को आतंकवाद विरोधी दिवस के माध्यम से जागृत किया जाता है ताकि वह भूल से भी  किसी भी लालच में विभिन्न आतंकवादी समूहों का हिस्सा न बनें। देश, समाज और व्यक्ति सभी आतंकवाद से किस प्रकार बचाया जा सके के लिए पूरे भारत में 21 मई को आतंकवाद विरोधी दिवस मनाया जाता है |

See also  मुख्यमंत्री चिरंजीवी योजना पर निबंध | Essay On Mukhyamantri Chirenjivi Swasthya Bima Yojana in Hindi

भारत में आतंकवाद विरोधी दिवस 2023 क्यों मनाया जाता है?

जैसा कि आप लोगों को मालूम है कि भारत के सातवें प्रधानमंत्री राजीव गांधी चुनाव की रैली में भाग लेने के लिए तमिलनाडु गए थे वहां पर एक महिला राजीव गांधी से मिलना चाहती थी महिला ने कहा कि उन्हें प्रधानमंत्री के पैर छूना है लेकिन महिला लिबरेशन फ्रंट आतंकवादी समूह की एक मेंबर थी और उसने अपने साथ विस्फोटक पदार्थ की ले रखा था जैसे ही उस महिला ने राजीव गांधी के पैर हुए एक विस्फोट हुआ और उसके बाद राजीव गांधी हमें छोड़कर इस दुनिया से चले गए | जिसके बाद उस समय के तत्कालीन सरकार ने इस बात की घोषणा की कि भारत में 21 मई आतंकवाद विरोधी दिवस के रुप में मनाया जाएगा |

आतंकवाद विरोधी दिवस 2023: उद्धरण

●  हर कोई आतंकवाद को रोकने के बारे में चिंतित है। खैर, वास्तव में एक आसान तरीका है: इसमें भाग लेना बंद करें।” — नोम चौमस्की

● आतंकवाद का उद्देश्य आतंकवाद है। दमन की वस्तु दमन है। यातना की वस्तु यातना है। हत्या का उद्देश्य हत्या है। शक्ति की वस्तु शक्ति है। अब क्या तुम मुझे समझने लगे हो?” – जॉर्ज ऑरवेल

● 1984 “बंदूकों से आप आतंकवादियों को मार सकते हैं, शिक्षा से आप आतंकवाद को मार सकते हैं।” — मलाल यौसफ्जई“

● हजारों किताबें पढ़ो और मैं खुद को ज्ञान से भर दूंगा। कलम और किताबें आतंकवाद को हराने वाले हथियार हैं। — मलाल यौसफ्जई

● “हमारे मूल्य और जीवन का तरीका प्रबल होगा – आतंकवाद नहीं होगा।” — जॉन लिंडर”आतंकवाद की कोई राष्ट्रीयता या धर्म नहीं होता है।” — व्लादिमीर पुतिन

Anti Terrorism Day Essay in Hindi (10 Lines)

1.  आतंकवाद विरोधी दिवस 21 मई को मनाते हैं।

2. 1991 में प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्या की।

3. आतंकवाद विरोधी दिवस में हमें जरूर सम्मिलित होना चाहिए

4. जब राजीव गांधी की हत्या हुई ।  उनके साथ और भी 25 लोगों की मृत्यु हुई

5. हमारे भारत में आतंकवादी की संख्या बढ़ रही है।

6. आतंकवाद विरोधी दिवस विश्व स्तर पर मनाते हैं।

7.  आतंकवाद विरोधी दिवस राजीव गांधी को श्रद्धांजलि देने को मनाते हैं।

8. भारत आतंकवाद विरोधी दिवस 1991 में मनाना शुरू किया।

9. आतंकवाद विरोधी दिवस सभी कार्यालयों में मनाते हैं।10.  आतंकवाद विरोधी दिवस राजीव गांधी के आतंकवादी घटना में मौत के बाद भारत में 21 मई को मनाने की परंपरा तत्कालीन सरकार के द्वारा शुरू किए गए

इस ब्लॉग पोस्ट पर आपका कीमती समय देने के लिए धन्यवाद। इसी प्रकार के बेहतरीन सूचनाप्रद एवं ज्ञानवर्धक लेख easyhindi.in पर पढ़ते रहने के लिए इस वेबसाइट को बुकमार्क कर सकते हैं

One thought on “आतंकवाद विरोधी दिवस पर निबंध 2023| Essay on Anti Terrorism Day in Hindi | Speech On Anti Terrorism Day

  1. ऐसे आर्टिकल लोगों को अपने देश के हित में काम करने के लिए प्रेरित करते हैं। धन्यवाद!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Optimized with PageSpeed Ninja