बसंत ऋतु पर निबंध | Essay on Basant Ritu

Essay on Basant Ritu

भारत में कुल छ: ऋतु पाई जाती हैं। जिनके नाम है – ग्रीष्म, शरद, वर्षा, वसंत,  शिशिर और हेमंत। इन सभी में से वसंत ऋतु को ऋतुराज अर्थात ऋतुओं का राजा कहा जाता है। यह मौसम सर्दियों के जाने की और गर्मी के मौसम के आने का संदेश देती है। इस ऋतु के आने से मौसम में कई सारे बदलाव हो जाते हैं, हवा में ताजगी आ जाती है बगीचों में फूल लहलहाने लगते हैं। इस मौसम में लोग पिकनिक पर जाना बहुत ही ज्यादा पसंद करते हैं।

इस आर्टिकल में हम आपको Vasant Ritu के बारे में बताएंगे। इसकी विशेषताएं, महत्व सभी बातों पर चर्चा करेंगे। इस आर्टिकल में Vasant Ritu पर विस्तार से निबंध लिखा गया, जो सभी कक्षाओं के लिए उपयोगी है, इसलिए अंत तक जरूर पढ़े।

About Vasant Ritu। वसंत ऋतु के बारे में

बसंत ऋतु Basant Ritu को ऋतुराज की संज्ञा दी गई है। यह सर्दी और गर्मी के बीच के मौसम को कहा जाता है। जहा सर्दी में बहुत ज्यादा ठंडी, गर्मी में बहुत गर्म, वर्षा ऋतु में हर जगह जलजमाव, कीचड़ और गंदगी फैली होती है। वही वसंत ऋतु में हर जगह हरा भरा रहता है। जो लोगों के मन को अपनी ओर आकर्षित करता है। जब पृथ्वी के उत्तरी गोलार्ध में वसंत ऋतु होती है तो वहीं दक्षिणी गोलार्ध में शरद ऋतु होती है। इस रिट में दिन और रात औसतन 12 घंटे के होते हैं। इस मौसम में आसमान एकदम साफ दिखाई देता है और ठंडी और ताजी हवा चलती है। इस मौसम में आम का पेड़ पूरी तरह से बौर से लद जाता है, ऐसा प्रतीत होता है मानो धरती को छू लेगा। इस मौसम में लोग पिकनिक पर जाना बहुत ही ज्यादा पसंद करते हैं क्योंकि पूरी पृथ्वी हरियाली से भरी होती है चारों तरफ फूल फल बगीचे हरे-भरे होते हैं कोयल की कु कु सुनाई देती है, जो मन को बहुत ही आनंदित करती है। इस मौसम में कुछ महामारिया भी फैलने लगती है, इसलिए हम सभी को स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखना चाहिए। समय समय पर टिका लगवाते रहना चाहिए। यह मौसम सभी भारतवासियों का सबसे पसंदीदा मौसम होता है।

See also  विश्व दुग्ध दिवस पर निबंध 2023 | Essay On World Milk Day | विश्व दुग्ध दिवस थीम इतिहास महत्व कोट्स उद्देश्य

Also See : hindi kavita poem on nature | प्रकृति पर कविता

वसंत ऋतु पर निबंध। Essay on Vasant Ritu (200 शब्द )

बसंत ऋतु | Basant Ritu को वर्ष का सबसे अच्छा और सुहावना मौसम माना जाता है। इस मौसम के आने से प्रकृति पूरी तरह खिल जाती है। शीत ऋतु के बाद आने वाला यह मौसम हमारे जीवन में ढेर सारी खुशियां और सुख लाता है। इस मौसम के आने पर फूल खिलने लगते हैं, हर जगह रंग बिरंगे और खूबसूरत फूल दिखाते देते है, और रंग बिरंगी तितलियां उनपर घूमती रहती है। पेड़ों में प्यारी प्यारी नई पत्तियां आने लगते हैं, आम के पेड़ पूरी तरह से बौर से लद जाते हैं, आकाश एकदम साफ और ताजी हवाएं बहने लगती है। पूरी प्रकृतियां दिखती है कि वसंत ऋतु का मौसम आ गया है अतः सभी को जाग जाना चाहिए, यह  मौसम कुछ नया करने का है। यह मौसम शरीर को आत्मविश्वास से भर देता है, इसमें लोग खूब व्यायाम करते हैं। इस मौसम में बसंत पंचमी, महाशिवरात्रि, होली, हनुमान जयंती, बिहू, नवरोज  त्यौहार खूब उत्सव के साथ मनाए जाते हैं। यह मौसम किसानों के लिए बहुत खास होता है क्योंकि इसमें उनके फसलें पकने लगती हैं और उनके काटने का समय आ जाता है। इस मौसम में हम अपने सभी दुखो को भूल जाते है, पूरा मन खुशी से भरा रहता है। इस मौसम में कवि प्रकृति को देख कर खूब कल्पनाएं करता है, फिर उसे अपने मधुर कविता के रूप में लोगो को सुनाता है। वर्ष में एक इतना प्यारा मौसम देने के लिए भगवान को धन्यवाद करना चाहिए।

See also  वन महोत्सव दिवस 2023 पर निबंध | Van Mahotsav Diwas Essay in Hindi

वसंत ऋतु  पर 10 लाइन। 10 lines on Basant Ritu

  • वसंत ऋतु भारतीयों के द्वारा सबसे ज्यादा पसंद किया जाने वाला ऋतु है।
  • वसंत ऋतु सर्दी के मौसम के बाद शुरू होती है।
  • बसंत ऋतु की शुरुआत मार्च और अप्रैल महीने से  होती हैं।
  • इस ऋतु में सबसे पहला त्यौहार वसंत पंचमी का होता है जो इस ऋतु के आगमन पर मनाया जाता है।
  • इस ऋतु में मौसम ना अधिक ठंडा होता है  और ना अधिक गर्म होता है, इसीलिए सभी लोग इसका आनंद उठा पाते हैं।
  • वसंत पंचमी के दिन मां सरस्वती की पूजा की जाती है।
  • इस ऋतु में महाशिवरात्रि और होली जैसे बड़े त्योहार मनाए जाते है।
  • इस ऋतु के आने से पूरी पृथ्वी पर हरियाली छा जाती है।
  • इस ऋतु में कोयल पक्षी के कु कू की आवाज सुनाई पड़ती है।
  • इस ऋतु के आने पर किसानों की फसल पकने लगती है इसलिए यह किसानों के लिए एक विशेष मौसम होता है।

Benefits of Vasant Ritu। वसंत ऋतु के लाभ

बसंत ऋतु | Basant Ritu को ऋतुराज कहा जाता है, क्योकी इस ऋतु में पृथ्वी की उर्वरा शक्ति अन्य ऋतुओं की अपेक्षा कई गुना बढ़ जाती है। इस मौसम में पेड़ पौधे लहलहाते रहते है, पशु पक्षी मनुष्य सभी खुश नजर आते है। सब के अंदर एक नया जोश आया हुआ रहता है। शाम की ठंडी हवा अपने साथ फूलो की सुगंध लाती है। यह एक ऐसा मौसम है जब किसान अपनी फसल काट कर अपने घर लाते है, और सुकून से रहते है। यह मौसम शरीर को नई ऊर्जा देता है, कवि ढेर सारी काल्पनिक रचनाएं करते है। बच्चे अपने परिवार के साथ पिकनिक घूमने जाते है। लोग अपने शरीर को स्वस्थ रखने के लिए खुले आसमान के नीचे व्यायाम करते है, इस मौसम में आसानी से ताजे फल और सब्जियां मिल जाती है जिससे उनका स्वास्थ्य और भी बेहतर हो पता है। Vasant Ritu में ढेर सारे त्योहार भी मनाए जाते है, जिसमे सभी लोग एकदूसरे से मिलते है, घर पर अलग अलग प्रकार की मिठाई और भोजन बनते है। इस मौसम में फलों का राजा आम भी लोगो को खाने के लिए मिल जाता है। इन सबके साथ लोग Vasant Ritu का खूब आनंद लेते है।

See also  स्वामी विवेकानंद पर निबंध हिंदी में | Swami Vivekananda Essay in Hindi

Disadvantage of Vasant Ritu। वसंत ऋतु की हानिया

वैसे तो यह मौसम लोगो को बहुत पसंद आता है, लेकिन अगर इंसान सावधानी न रखे तो कुछ समस्याएं भी आ सकती है, इसमें हम आपको इस मौसम में होनी वाली समस्या के बारे में बताएंगे।

यह मौसम शीत ऋतु के अंत होने पर शुरू होता है, जिसके कारण यह बहुत ही संवेदन शील मौसम होता है, थोड़ी भी लापरवाही करने पर स्वास्थ्य खराब हो सकता है। इस मौसम में सामान्य सर्दी, जुखाम, खासी, चिकनपॉक्स, चेचक और खसरा जैसी बीमारियां शुरू हो जाती है। इसके लिए लोगो को पहले ही सावधानी रखनी चाहिए, जिससे उन्हें किसी प्रकार की समस्या न हो। 

निष्कर्ष

Basant Ritu का यह मौसम सभी मौसमों का राजा माना जाता है। इस मौसम के दौरान प्रकृति अपना सुंदर रूप दिखाती है, इस मौसम का आनंद लेने के लिए स्वास्थ्य में सावधानी रखनी चाहिए। महामारियो से बचने के लिए इस मौसम के आने से पहले टीका लगवा लेना चाहिए। इस मौसम में सभी के अंदर खुशी का संचार होता है।

इस ब्लॉग पोस्ट पर आपका कीमती समय देने के लिए धन्यवाद। इसी प्रकार के बेहतरीन सूचनाप्रद एवं ज्ञानवर्धक लेख easyhindi.in पर पढ़ते रहने के लिए इस वेबसाइट को बुकमार्क कर सकते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Optimized with PageSpeed Ninja