Christmas Party 2023 | क्या क्रिसमस पार्टी पर होगी कोरोना की रोक?

Christmas party

Christmas party 2023:- कल यानी रविवार को पूरी दुनिया क्रिसमस (Christmas) का त्योहार मनाने वाली है। यीशु मसीह (God Jesus) के जन्मदिन के अवसर पर देश और दुनिया में बड़े ही धूमधाम और हर्षोल्लास के साथ क्रिसमस का त्यौहार (X-Mas Celebration) मनाया जाएगा। चाय तरफ क्रिसमस के त्योहार की धूम धाम है वहीं दूसरी तरफ कोरोनावायरस (CoronaVirus) ने दोबारा दस्तक देती हूं। पूरी दुनिया में कोरोना (Corona) के बदलते हालात देखने को मिल रहे हैं वहीं भारत(India) को इस संक्रमण से बचाने के लिए केंद्र स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा बैठक की गई।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने आयोजित की बैठक 

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा आयोजित की गई बैठक में एक बात तो स्पष्ट रूप से सामने आई है कि भीड़भाड़ वाले कार्यक्रमों में लोगों को जाने से रोकना पड़ेगा। बताया जा रहा है कि Coronavirus के बिगड़ते हालात को देखते हुए और इस पर नजर बनाए रखने के लिए आने वाले दिनों में क्रिसमस और नए साल (Christmas and New Year) जैसे कार्यक्रमों में जाओ पीड़ा होती है वैसे आयोजनों के लिए दिशानिर्देश (Guidelines) जारी किए जा सकते हैं।

वापस बढ़ने लगे है कोरोना वायरस के मामले

गौरतलब है कि कोरोनावायरस के मामले में वापस से देखने को मिल रही है वही चीन (China) के साथ ही जापान (Japan) अर्जेंटीना (Argentina) दक्षिण कोरिया (South Korea) ब्राजील (Brazil) अमेरिका(America) जैसे देशों में भी Coronavirus के केस में बढ़ोतरी देखने को मिल रही है। कोरोनावायरस के मरीज के बढ़ते हुए आंकड़े को देखते हुए जल्द ही सरकार द्वारा नई गाइडलाइन जारी की जा सकते हैं।

See also  Hemkund Sahib Yatra 2023 | हेमकुंड साहिब के कपाट कब खुल रहे हैं? यात्रा कैसे करें श्री हेमकुंड साहिब का इतिहास, मान्यता

हो सकता है कोरोना वायरस विस्फोट

साल 2023 के अंत के त्यौहार यानी के Christmas और  New Year के समय देश में कोरोनावायरस से बढ़ने लगे हैं और हम वापस से उसी जगह खड़े हो गए हैं जहां हम 2019 में खड़े हुए थे। Experts की माने जाए तो अगर December के आखिरी सप्ताह जनवरी की शुरुआत में आने वाले फेस्टिवल पर सावधानी नहीं बरती गई और भीड़-भाड़ इकट्ठा हुई तो कोरोनावायरस विस्फोट हो सकता है।

क्या फिर से लग जाएगा क्रिसमस की खुशियों पर कोरोना का ग्रहण

बता दें कि साल 2019 में दिसंबर का ही महीना था सफल चीन में कोरोना नाम के नए वायरस की महामारी ने दस्तक दी थी और उसके बाद पूरी दुनिया ने इस वायरस से हुई तबाही को देखा था। 2019 जैसे हालात दोबारा से सामने आए हैं। जहां देश और दुनिया को चिंता सताने लगी है कि क्या एक बार फिर नए साल की खुशियों पर कोरोनावायरस ग्रहण लगा सकता है। दिसंबर और जनवरी 2019 में Coronavirusके बड़े हुए मामले में Christmas और New Year  का काफी योगदान था कि यह दोनों ही कार्यक्रम भीड़भाड़ वाले थे। Coronavirus एक दूसरे के संपर्क में आने से फैलता है।

इस ब्लॉग पोस्ट पर आपका कीमती समय देने के लिए धन्यवाद। इसी प्रकार के बेहतरीन सूचनाप्रद एवं ज्ञानवर्धक लेख easyhindi.in पर पढ़ते रहने के लिए इस वेबसाइट को बुकमार्क कर सकते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Optimized with PageSpeed Ninja