Message of Lord Jesus | क्रिसमस पर प्रभु ईसा मसीह के संदेश

By | दिसम्बर 24, 2022
Message of Lord Jesus

Message of Lord Jesus:- क्रिसमस के पावन त्यौहार पूरी दुनिया में लोगों के द्वारा उमंग के साथ मनाया जाता है इस दिन सभी लोग साथ में जाकर ईसा मसीह के सामने प्रार्थना करते हैं ताकि उनके जीवन में खुशियां और समृद्धि आ सके इसके अलावा इस दिन लोग प्रभु ईसा मसीह के संदेशों को भी याद करते हैं और अपने जीवन में उन्हें आत्मसात करने की प्रेरणा लेते हैं ताकि ईसा मसीह के द्वारा दिखाए गए रास्ते पर चलकर मानवता की भलाई के लिए काम कर सके ऐसे में अगर आप भी क्रिसमस पर ईसा मसीह के संदेश को अपने दोस्तों या परिवार वालों के साथ शेयर करना चाहते हैं लेकिन आपको अगर क्रिसमस पर प्रभु ईसा मसीह के संदेशों के बारे में कोई जानकारी नहीं है तो हम आपसे निवेदन करेंगे कि हमारे आर्टिकल को आखिर तक पढ़े चलिए शुरू करते हैं-

क्रिसमस पर प्रभु ईसा मसीह के संदेश | Message of Lord Jesus

क्रिसमस पर ईसा मसीह के प्रमुख संदेशों को पढ़ना चाहिए जिसका विवरण हम आपको नीचे बिंदु अनुसार देंगे आइए जानते हैं

1.प्रभु यीशु ने कहा है कि आपको अपने दिल को परेशान नहीं करना चाहिए और ईश्वर पर विश्वास रखना चाहिए या नहीं मुझ पर

2. ईसा मसीह ने कहा है कि चोरी न करना, अधिक धन का संचय न करना, किसी की हत्या न करना और सच का साथ देना ईश्वर के द्वारा दिए गए महत्वपूर्ण आदेशों का पालन करना है I

3. ईसा मसीह ने कहा है कि आप अपनी आत्मा को खोकर पूरे ब्रह्मांड को प्राप्त नहीं कर सकते हैं

READ  Navratri Vart 2022 | व्रत के नियम, व्रत विधि, कथा, व्रत पारण विधि

4 .ईसी मसीह ने कहा है कि जो सच्चे दिल से ईश्वर से मांगता है, उसे वह मिलता है. जो खोज करता है, उसे मिलता है, जो दरवाजा खटखटा है तो उसके लिए स्वर्ग के द्वार खोले जाते हैं I

5.प्रभु यीशु ने मानव सेवा को सबसे बड़ा धर्म बताया है. उनका कहना है कि जो लोग दूसरों की मदद करते हैं, उनकी ईश्वर मदद करता है. नि:स्वार्थ भावना से की गई मदद ही सबसे अच्छी सेवा है.

6. ईसा मसीह के अनुसार अधिक धन का संचय नहीं करना चाहिए क्योंकि इससे आपके मन को अशांति प्राप्त होगी इसलिए आप सभी धर्मों का त्याग कर दें और ईश्वर की शरण में चले जाएं तभी जाकर आपको मोक्ष की प्राप्ति होगी I

7.प्रभु यीशु ने लोगों को ईश्वर की प्राप्ति का मार्ग बताया है. वे कहते हैं कि जो उनके पास आ गया, वो ईश्वर तक पहुंच गया. वे ही मार्ग हैं, वे सत्य हैं, वे जीवन

8.जो आत्मा और शरीर दोनों को दुख दे सकता है, उससे व्यक्ति को डरना चाहिए. वह ईश्वर है. आप किसी अन्य से मत डरो क्योंकि वह आपकी आत्मा को नहीं मार सकता है.

इस ब्लॉग पोस्ट पर आपका कीमती समय देने के लिए धन्यवाद। इसी प्रकार के बेहतरीन सूचनाप्रद एवं ज्ञानवर्धक लेख easyhindi.in पर पढ़ते रहने के लिए इस वेबसाइट को बुकमार्क कर सकते हैं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *