बिहार कबीर अंत्येष्टि अनुदान योजना 2023 | Kabir Anteyeshti Anudan Yojana

By | दिसम्बर 13, 2022
Kabir Anteyeshti Anudan Yojana

Kabir Anteyeshti Anudan Yojana Bihar:- बिहार सरकार के द्वारा बिहार के लोगों के लिए कई प्रकार के जन हितकारी योजना का संचालन किया जाता है ताकि बिहार के रहने वाले नागरिकों को आर्थिक रूप से मदद किया जा सके बिहार सरकार के द्वारा कबीर अंत्येष्टि अनुदान योजना की शुरुआत की गई है I इस योजना के तहत अगर किसी के परिवार में मृत्यु हो जाए तो सरकार उस व्यक्ति का अंत्येष्टि करने के  करने के लिए ₹3000 की आर्थिक मदद देगी इसका लाभ केवल गरीब वर्ग के परिवारों को मिलेगा I अब आपके मन मे सवाल आएगा कि कबीर अंत्येष्टि अनुदान योजना क्या है? योजना के लाभ क्या होंगे योजना के अंतर्गत अनुदान राशि कितनी मिलेगी आवश्यक दस्तावेज क्या लगेंगे लाभ लेने की पात्रता क्या होगी आवेदन की प्रक्रिया क्या है अगर आप इन सब के बारे में कुछ भी नहीं जानते हैं तो हमारे साथ आर्टिकल पर आखिर तक बने रहे हैं चलिए शुरू करते हैं –

Kabir Anteyeshti Anudan Yojana 2023

आर्टिकल का प्रकारसरकारी योजना
आर्टिकल का नामकबीर अंत्येष्टि अनुदान योजना
किसके द्वारा शुरू की गई हैबिहार सरकार के समाज कल्याण विभाग के द्वारा
लाभ कैसे मिलेगाबिहार के बीपीएल कार्ड धारकों को
अनुदान राशि कितनी मिलेगी₹3000
आवेदन की प्रक्रियाऑफलाइन

कबीर अंत्येष्टि अनुदान योजना क्या है? Kabir Anteyeshti Anudan Yojana

कबीर अंत्येष्टि अनुदान योजना बिहार सरकार के द्वारा शुरू की गई एक लोग हितकारी योजना है जिसके तहत सरकार बिहार में रहने वाले नागरिकों को ₹3000 की आर्थिक सहायता अपने परिजन के अंत्येष्टि करने के लिए देगी इसका लाभ केवल ऐसे परिवारों को मिलेगा जो आर्थिक रूप से कमजोर और गरीब वर्ग से आते हैं I

READ  NREGA Job Card List Bihar | बिहार मनरेगा जॉब कार्ड लिस्ट 2023 | NREGA Payment, Bank Status, NREGA Job Card Download

कबीर अंत्येष्टि अनुदान योजना के लाभ

  • योजना के अंतर्गत मृतक के परिजनों ₹3000 की राशि दी जाएगी I
  • गरीब रेखा के नीचे जीवन यापन करने वाले लोगों को इसका लाभ मिलेगा I
  • वर्ष 2020-21 में लगभग 1715 लाभार्थियों को स्कीम लाभ  देने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है
  • ग्राम पंचायत को ₹15000 की राशि उपलब्ध करवाई जाएगी ताकि अगर उस ग्राम पंचायत में किसी व्यक्ति के घर में परिजन की मृत्यु हो जाए तो उसे पैसे तुरंत दिए जा सके
  • योजना का लाभ केवल बिहार के लोगों को मिलेगा

कबीर अंत्येष्टि अनुदान राशि

कबीर अंत्येष्टि योजना के अंतर्गत अगर हम अनुदान राशि की बात करें तो आपको ₹3000 की राशि यहां पर दी जाएगी I

पात्रता

  • बिहार का स्थाई निवासी होना आवश्यक है
  •  बीपीएल राशन कार्ड होना चाहिए।
  • 10 साल से अधिक समय से आप बिहार में रहते हो
  • आर्थिक सहायता की राशि उम्र के अनुसार नहीं प्रदान की जाएगी बल्कि सभी उम्र के लोगों के लिए सरकार निर्धारित राशि दी जाएगी I

आवश्यक दस्तावेज 

  • मृतक का आधार कार्ड
  • बैंक अकाउंट संबंधित जानकारी यहां पर देना
  • बीपीएल राशन कार्ड की फोटो कॉपी
  • मृत्यु प्रमाण पत्र

आवेदन प्रक्रिया

अगर आप इस योजना में आवेदन करना चाहते हैं तो हम आपको बता दें कि आपको अपने ग्राम पंचायत के मुखिया से मिलना होगा वहां पर आपको सभी प्रकार की आवश्यक डॉक्यूमेंट जमा करने होंगे इसके बाद भी आपको योजना के तहत अनुदान राशि मिल पाएगी हालांकि इसके लिए सरकार ने ई – पोर्टल भी लंच किया है लेकिन उस पोर्टल पर केवल मुख्य सचिव लॉगिन कर पाएगा इसलिए आपको अपने ग्राम पंचायत के माध्यम से आवेदन करना होगा I

READ  आयुष्मान भारत हॉस्पिटल लिस्ट अररिया बिहार | Ayushman Bharat Hospital List Araria ऑनलाइन देखें @pmjay.gov.in

FAQ’s Kabir Anteyeshti Anudan Yojana 2023

Q. कबीर अंत्येष्टि अनुदान योजना की आधिकारिक वेबसाइट क्या है ?

Ans. कबीर अंत्येष्टि योजना के लिए सरकार ने ई- सुविधा पोर्टल को लांच किया गया है लेकिन उस पोर्टल में सिर्फ मुख्य सचिव ही आवेदन कर पाएगा और साथ में आपके डॉक्यूमेंट अपलोड करेगा इसलिए आप को आवेदन ग्राम पंचायत के माध्यम से करना होगा

Q. योजना के अंतर्गत लाभार्थियों को कितने रूपये की आर्थिक सहायता दी जाएगी ?

Ans.योजना के अंतर्गत पहले 1500 की राशि आवंटित की जाती थी लेकिन अब इसकी राशि को बढ़ाकर ₹3000 कर दिया गया है

Q. क्या योजना का लाभ बिहार के सभी लोगों को दिया जायेगा ?

Ans. जी नहीं इस योजना का लाभ केवल बीपीएल कार्ड धारकों को ही दिया जाएगा I

इस ब्लॉग पोस्ट पर आपका कीमती समय देने के लिए धन्यवाद। इसी प्रकार के बेहतरीन सूचनाप्रद एवं ज्ञानवर्धक लेख easyhindi.in पर पढ़ते रहने के लिए इस वेबसाइट को बुकमार्क कर सकते हैं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *