अब्दुल करीम तेलगी जीवनी | Abdul Karim Telgi Biography in Hindi | Abdul Karim Telgi-Scam 2003 (परिवार, पत्नी, प्रेमिका, स्टैम्प पेपर स्कैम की कहानी)

By | November 3, 2023
Follow Us: Google News

अब्दुल करीम तेलगी का जीवन परिचय | Abdul Karim Telgi Wiki in Hindi:  हम आपको बता दें कि आज के समय अब्दुल करीम तेलगी पर बनाई गई वेब सीरीज काफी चर्चा का विषय बनी हुई है और लोग इसे काफी अधिक पसंद कर रहे हैं |ऐसे में लोगों के मन में सवाल आएगा कि अब्दुल करीम तेलुगू वेब सीरीज किस व्यक्ति के जीवन पर आधारित है तो हम आपको बता दें कि इस वेब सीरीज को तेलगी स्टांप घोटाला करने वाले व्यक्ति  अब्दुल करीम तेलगी का जीवन पर बनाया गया है ऐसे में अगर आप भी इंटरनेट पर अब्दुल करीम तेलगी के जीवन परिचय के बारे में जानकारी हासिल करना चाहते हैं तो आप बिल्कुल सही वेबसाइट पर आ गए हैं यहां पर हम आपको Abdul Karim Telgi Biography in Hindi संबंधित चीजों जैसे-Abdul Karim Telgi – Scam 2003 कौन हैं? अब्दुल करीम तेलगी प्रारंभिक जीवन पत्नी का नाम स्टांप पेपर घोटाला की कहानी इत्यादि के बारे में विस्तार पूर्वक बताएंगे इसलिए अनुरोध है कि आप आर्टिकल पर आखिर तक बन रहे हैं चलिए जानते हैं-;

अब्दुल करीम तेलगी कौन हैं? – Overview

Abdul Karim Telgi Kon Hai
Abdul Karim Telgi Kon Hai

Abdul Karim Telgi Kon Hai: भारत के कुख्यात जालसाजी कांड के मास्टरमाइंड अब्दुल करीम तेलगी ने 2006 में 30 साल की जेल की सजा सुनाए जाने से पहले ₹30,000 करोड़ का नकली साम्राज्य बनाया था।

आर्टिकल का प्रकारजीवन परिचय
आर्टिकल का नामअब्दुल करीम तेलगी जीवन परिचय
साल2023
कौन हैस्टांप पेपर घोटाले का मुख्य रूपी
मृत्यु कब हुई23 अक्टूबर 2017 को

अब्दुल करीम तेलगी का प्रारंभिक जीवन | Abdul Karim Telgi Early Life

Abdul Karim Telgi Jivani: हम आपको बता दें कि अब्दुल करीम तेलगी का जन्म 29 जुलाई 1961 को बेलगाम के खानपुर में हुआ था जो भारत के कर्नाटक राज्य में स्थित है हम आपको बता दे कि उसके पिता रेलवे कर्मचारी का काम क्या करते थे लेकिन अब्दुल करीम का जन्म जैसे ही हुआ था कुछ दिनों के बाद उनके पिता की मृत्यु हो गई जिसके बाद उसकी मां ने ही उसका पालन पोषण किया घर की माली हालत बहुत ज्यादा खराब थी इसलिए वह अपने माता और भाइयों के साथ रेलवे स्टेशन पर फल बेचने का काम किया करता था उसके बाद उसने अपनी प्रारंभिक शिक्षा का कर्नाटक प्राथमिक से प्राप्त किया इसके बाद उसने बेलगाम के एक कॉलेज से बीकॉम की डिग्री हासिल की और छोटी-मोटी नौकरियां करने लगा लेकिन उसे उसके जो सपने थे वह पूरे नहीं हो रहे थे इसके बाद उसने फैसला किया कि वह सऊदी अरब जाएगा कि उसे स्वास्थ्य की सऊदी अरब में अच्छे खासे पैसे कमा के वह अमीर बन सकता है लेकिन सऊदी अरब में भी उसे अच्छी सफलता प्राप्त नहीं हुई |

See also  (Wipro) अजीम प्रेमजी का जीवन परिचय | Azim Premji Biography in Hindi, Foundation, Education, Family, Net Worth

अब्दुल करीम तेलगी का व्यक्तिगत जीवन |

अब्दुल करीम तेलुगू के व्यक्ति का जीवन के बारे में बात करें तो जैसा हमने आपको बताया कि सऊदी अरब अधिक पैसे की लालच में हुआ गया था लेकिन वहां पर पैसे नहीं कमाने के बाद वापस भारत आ गया और बात आकर उसने देखा कि यहां पर लोगों में दुबई और सऊदी अरब जाने की एक जबरदस्त दौड़ लगी है  इसके बाद उसने ट्रैवल एजेंसी का काम किया जो लोगों को दुबई और सऊदी अरब भेजने का काम करती थी हालांकि उसके ऊपर इस दौरान कई प्रकार के जलसा जी के मामले दर्ज किए गए थे जिसके बाद उसे जेल की हवा भी खानी पड़ी थी  जेल काटने के दौरान उसकी मौत मुलाकात रतन सोनी नाम के व्यक्ति से जो शेयर मार्केट संबंधित जानकारी के मामले में जेल की सजा काटा था उसने कहा कि अगर तुम्हें जेल जाना यह तो बड़ा कम करो उसने अब्दुल करीम को सरकारी स्टांप पेपर बचने के काम के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी दी और कहा कि अगर इसका बिजनेस करते हो तो अच्छा खासा पैसा कमा सकते हो लेकिन इसके लिए तुम्हें मुझे कमीशन देना होगा इसके बाद अब्दुल करीम ने रतन सोनी को अपना पार्टनर बना लिया इसके बाद ही देश में सबसे बड़ा स्टांप पेपर का घोटाला हुआ इसके बारे में हम डिटेल में जानकारी आपको देंगे आप हमारे साथ बनी रहिएगा |

इन्हें भी पढ़ें:- मनीष कश्यप कौन है, जीवन परिचय, संपत्ति, पेशा, ताजा ख़बर, कांटेक्ट नंबर

अब्दुल करीम तेलगी की पत्नी कौन थी? Abdul Karim Telgi Life Partner

Abdul Karim Telgi Wife: अब्दुल करीम तेलगी की पत्नी का नाम शाहिद है | हम आपको बता दे कि सब राज्य में उसकी पत्नी ने भी अब्दुल करीम की सहायता किया था |

स्टांप घोटाले का मुख्य आरोपी-अब्दुल करीम तेलगी स्टाम्प पेपर घोटाला की कहानी | Abdul Karim Telgi Stamp Paper Story in Hindi

Abdul Karim Telgi Stamp Paper Story in Hindi:- स्टांप घोटाले का मुख्य आरोपी अब्दुल करीम तेल की है ऐसे में स्टांप पेपर घोटाले को अंजाम कैसे दिया गया था उससे संबंधित कहानी क्या है तो चलिए हम आपको बताते हैं मार्च 1993  समाजवादी पार्टी के नेता अनिल के द्वारा उसे स्टांप पेपर बनाने और बेचने का लाइसेंस मिल गया हम आपको बता दे कि उसे समय उसका लाइसेंस नंबर 12500 था इसके बाद उसने कई बैंक को मैं अपने अकाउंट खोले और साथ में मुंबई में ऑफिस इसके बाद से नकली स्टांप पेपर बनाने का उसने बिजनेस शुरू किया और लगातार नकली स्टांप पेपर बनाकर बाजार में बेचने लगा उसके इस बिजनेस में उसका पार्टनर रतन सोनी था जिसने जेल में अब्दुल करीम तेलगी को नकली स्टांप पेपर बनाने का आईडिया दिया था हालांकि हम आपको बता दे कि इस बीच में अब्दुल करीम तेलुगू को गिरफ्तार भी किया गया था और उसे जेल भी जाना पड़ा था लेकिन जेल से छूटने के बाद उसने दोबारा से नए व्यक्ति के नाम पर लाइसेंस जारी करवाया और फिर उसने यह कारोबार शुरू किया | पहले वर्ष में उसने 10 करोड़ के नकली स्टांप पेपर बीच डालें

See also  भारत की महिला (इसरो वैज्ञानिक) नंदिनी हरिनाथ का जीवन परिचय | Chandrayaan-3 Nandini Harinath Biography in Hindi (Education, Family, Awards Career, Salary)

पहले ही वर्ष में इन दोनों ने मिलकर 2.5 करोड़ के साथ 10 करोड़ के नकली स्टाम्प पेपर बेच डाले। ये दोनों नकली स्टाम्प पेपर बेचकर करोड़ कमा रहे थे। इसके साथ ही उसने अपने कईं अन्य व्यापार भी शुरू किए। हालांकि उसके द्वारा बनाए गए नकली स्टांप पेपर लोगों के द्वारा पकड़ में आने लगे लोगों ने उसके खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई जिसके कारण उसे जेल जाना पड़ा लेकिन उसने प्रशासन को पैसे देकर अपनी तरफ कर लिया था और वह इस प्रकार जेल से बाहर निकाल कर अपना बिजनेस धड़ल्ले से संचालित कर रहा था | उसे पुलिस का कोई भी डर नहीं था उसे केवल इस बात की चिंता थी कि उसका मामला कोर्ट तक न पहुंचे क्योंकि कोर्ट से वह अपने सजा को कम नहीं करवा सकता है इसलिए उसने बड़े-बड़े अधिकारियों और पुलिस को अच्छा खासा पैसा देकर अपनी तरफ कर लिया था |

अब्दुल करीम तेलगी के बारे में कहा जाता है कि टोपाज बार मे माधुरी दीक्षित जैसी दिखने वाली डांसर पर वह प्रत्येक हफ्ते 90 लाख से लेकर 95 लाख खर्च करता था इसके बाद उसने मुंबई के मिंट रोड लोकेशन पर उसने एक प्रिंटिंग प्रेस खोल और उसके बाद उसने कई प्रकार की दूसरे मशीन भी उसने खरीदा किसके माध्यम से वह मनचाहा है नकली स्टांप पेपर छप कर अपने बिजनेस को और भी बड़ा कर रहा था | हम आपको बता दें कि इसके द्वारा छापे गए नकली स्टांप पेपर का इस्तेमाल कई लोग घर कानून तरीके से प्रॉपर्टी के पेपर रजिस्टर करने और फर्जी इंश्योरेंस दस्तावेज बनाने में करते थे | हम आपको बता दे कि उसका बिजनेस अच्छा खासा मुनाफा उसे कम कर दे रहा था और जब भी उसके बारे में कोई व्यक्ति शिकायतकर्ता तो अपने प्रिंटिंग प्रेस का पता और जगह दोनों ही बदल देता था ताकि पुलिस की पकड़ में ना आए लेकिन एक बार बढ़ाते हुए शिकायत को देखते हुए उसका लाइसेंस कैंसिल कर दिया गया था |

See also  नरेश गोयल जीवन परिचय | Naresh Goyal-Founder of Jet Airways Biography in Hindi (Family, Networth, Career, Age)

इन्हें भी पढ़ें:- 21+सर्वश्रेष्ठ नैतिक शिक्षाप्रद हिंदी में लघु कहानियां

स्टाम्प पेपर घोटाला से संबंधित फिल्म &वेब सीरीज ​​अब्दुल करीम की मौत का कारण

हम आपको बता दे की स्टांप पेपर बांटने से संबंधित अब्दुल करीम तेलगी के ऊपर वेब सीरीज भी बनाई गई है जिसे दिसंबर महीने को ओटी प्लेटफार्म पर लॉन्च किया गया है वेब सीरीज का पूरा नाम ‘स्कैम 2003: द क्यूरियस केस ऑफ अब्दुल करीम तेलगी’ है। 2004 में तेलगी करोड़ रुपये के फर्जी स्टांप पेपर घोटाले से जुड़े हुए कई मामलों में न्यायालय ने उसे अपराधिक घोषित किया जिसके बाद उसे 30 साल की सजा सुनाई गई थी  ऐसे में हम बता दे कि अब्दुल करीम की मौत हाई ब्लड प्रेशर जैसे गंभीर बीमारी होने के कारण 23 अक्टूबर 2017  को हुआ था |

About Scam 2003-The Telgi Story (Web Series) स्कैम 2003 द टेल्गी स्टोरी

हम आपको बता दे की The Telgi Story वेब सीरीज को हंसल मेहता के निर्देशन में बनाया गया है जिन्होंने दिल पे मत ले यार’ (2000), ‘ये क्या हो रहा है’ (2002), ‘वुडस्टॉक विला’ (2008), ‘अलीगढ़’ (2015) और ‘सिमरन’ (2017) जैसी फिल्मों का निर्देशन किया है | 2020 में उन्होंने हर्ष मेहता 1992 शेयर मार्केट स्कीम संबंधित वेब सीरीज बनाई थी जो काफी सुपरहिट  साबित हुई थी | ऐसे में हम आपको बता दें कि इस वेब सीरीज को मशहूर स्टांप पेपर घोटाला करने वाले आरोपी अब्दुल करीम तेलगी के जीवन पर आधारित है जिसमें काफी प्रामाणिक ढंग से स्टांप पेपर घोटाला कैसे हुआ था उसको दिखाने का प्रयास किया गया है | इस वेब सीरीज में पगगन देव रियार, सना अमीन शेख, मुकेश तिवारी, तलत अजीज, भरत जाधव और शाद रंधावा  जैसे कलाकारों ने काम किया है | गगन देव रियार इस वेब सीरीज में अब्दुल करीम तेलगी का किरदार निभाया है | फिल्म में पटकथा लिखने का काम तुषार हीरानंदानी के द्वारा किया गया है जिन्होंने डबल धमाल’, ‘ग्रैंड मस्ती’, ‘द विलन’, ‘ग्रेड ग्रैंड मस्ती’ और ‘ढिशूम’ जैसी फिल्मों के कहानी को लिखा है | हम आपको बता दे कि इस पूरे वेब सीरीज को 10 एपिसोड में बनाया गया है 5 एपिसोड का सीधा प्रसारण सोनी टीवी लाइव पर होगा |

इन्हें भी पढ़ें:- सुष्मिता सेन जीवन परिचय

FAQ’s: Abdul Karim Telgi Biography in Hindi

Q. अब्दुल तेलगी कहां है?

Ans. 23 अक्टूबर 2017 को अब्दुल करीम तेलगी की मृत्यु हाई ब्लड प्रेशर की बीमारी के कारण बेंगलुरु में स्थित विक्टोरिया हॉस्पिटल में हो गया है |

Q. स्टाम्प घोटाले का मुख्य आरोपी कौन है?

Ans. स्टांप घोटाले का मुख्य आरोपी अब्दुल करीम तेलगी है इस आरोप में उसे 30 साल की सजा हुई थी

Q.अब्दुल करीम तेलगी कितने करोड़  घोटाला किया था?

Ans. अब्दुल करीम तेलगी ने कुल मिलाकर 30 हजार करोड़ का घोटाला किया था |

इस ब्लॉग पोस्ट पर आपका कीमती समय देने के लिए धन्यवाद। इसी प्रकार के बेहतरीन सूचनाप्रद एवं ज्ञानवर्धक लेख easyhindi.in पर पढ़ते रहने के लिए इस वेबसाइट को बुकमार्क कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *