आचार्य बालकृष्ण का जीवन परिचय | Acharya Balkrishna Biography in Hindi, Age, Family, Wife, House Patanjali CEO

Acharya Balkrishna Biography

Acharya Balkrishna Biography in Hindi:- जब भी हम पतंजलि के बारे में सोचते हैं, तो हमारे दिमाग में दो नाम आते हैं। या तो बाबा रामदेव नहीं तो आचार्य बालकृष्ण। लेकिन क्या आप जानते हैं कि पतंजलि आयुर्वेदिक उत्पादों के पीछे असली प्रेरणा शक्ति बाबा रामदेव नहीं बल्कि आचार्य बालकृष्ण हैं? आचार्य बालकृष्ण पतंजलि (Patanjali) की कंज्यूमर गुड्स कंपनी के चेयरमैन हैं। वहीं बाबा रामदेव पतंजलि के उत्पादों के ब्रांड एंबेसडर और चेहरा हैं। पतंजलि कंपनी में लगभग 98.5% हिस्सेदारी के साथ, उन्हें कंपनी के बड़े पैमाने पर विकास और सफलता का श्रेय दिया जाता है। पतंजलि भारतीय उपभोक्ता बाजार में एक केंद्रीय स्थान रखता है। टूथपेस्ट से लेकर वॉशिंग बार तक, शायद ही कोई घरेलू उत्पाद है जिसमें पतंजलि को अपने प्रतिस्पर्धियों पर बढ़त न मिली हो। बता दें बालकृष्ण का जन्म 4 अगस्त 1972 को उत्तराखंड (Uttarakhand) के हरिद्वार में हुआ था।

पिता का नाम जय बल्लभ और माता का नाम सुमित्रा देवी है। बालकृष्ण के माता-पिता मूल रूप से नेपाल (Nepal) के रहने वाले हैं।इस लेख में हम आपको आचार्य बालकृष्ण के जीवन से जुड़ी सारी जानकारी देंगें। इस लेख को हमने कई बिंदूओं के आधार पर तैयार किया है। हमने इस लेख में आचार्य बालकृष्ण का जीवन परिचय, Acharya Balkrishna Biography in Hindi, आचार्य बालकृष्ण कौन हैं?,आचार्य बालकृष्ण की जीवनी,आचार्य बालकृष्ण शिक्षा, आचार्य बालकृष्ण का परिवार, पतंजलि के मालिक आचार्य बालकृष्ण, आचार्य बालकृष्ण के प्रसिद्ध घरेलू नुस्खे, Acharya Balkrishna Books, Acharya Balkrishna Content No. ,Acharya Balkrishna Net Worth, Acharya Balkrishna Social Media Links को शामिल किया है। इस लेख को आखिर तक पढ़े और आर्चार्य के बारे में सारी जानकारी पाएं।

लक्ष्मी निवास मित्तल बायोग्राफी हिंदी में

आनंद महिंद्रा का सम्पूर्ण जीवन परिचय

नरेंद्र मोदी के मोबाइल नंबर क्या है?

पीएम नरेंद्र मोदी का जीवन परिचय

Acharya Balkrishna Biography in Hindi

टॉपिकआचार्य बालकृष्ण का जीवन परिचय
लेख प्रकारजीवनी
साल2023
नामआचार्य बालकृष्ण
पूरा नामबालकृष्ण सुवेदी
पेशाआयुर्वेदाचार्य, व्यापारी
जन्म4 अगस्त 1974
जन्म स्थाननेपाल
राष्टेीयताभारतीय
किस लिए जाने जाते हैपतंजलि आयुर्वेद के लिए जाना जाते है

बालकृष्ण अभी वर्तमान में पतंजलि (Patanjali) के CEO और इसका प्रचार-प्रसार भी करते हैं। आचार्य बालकृष्ण (Acharya Balkrishna) के जन्म दिवस पर पतंजलि योगपीठ (Patanjali Yogpeeth) हर साल जड़ी-बूटी दिवस के रूप में मनाता है। बालकृष्ण ने बचपन से आयुर्वेद केंद्र के जरिए पारंपरिक आयुर्वेद पध्दति को आगे बढ़ाने का काम किया है। बालकृष्ण एक लेखक भी हैं। उन्होंने आयुर्वेद पर कई पुस्तकें भी लिखी हैं। बालकृष्ण का जन्म 4 अगस्त 1972 को उत्तराखंड (Uttarakhand) के हरिद्वार में हुआ था। उनके पिता का नाम जय बल्लभ और माता का नाम सुमित्रा देवी है। बालकृष्ण के माता-पिता मूल रूप से नेपाल (Nepal) के रहने वाले हैं। बालकृष्ण ने अपना बचपन कुछ वक्त तक पश्चिमी नेपाल के सियांग्जा जिले में बिताया था और यहीं से उन्होंने कक्षा पांच तक पढ़ाई भी की।

See also  किरण बेदी का जीवन परिचय | Kiran Bedi Biography in Hindi, IPS Officer, History, Books, Family, Daughter

जब उनका जन्म हुआ तब उनके पिता उत्तराखंड के हरिद्वार (Haridwar) में एक चौकीदार के रूप में काम करते थे। उनके माता-पिता अब भी नेपाल स्थित अपने पुश्तैनी मकान में रहते हैं।रामदेव और बालकृष्ण दोनों ने मिलकर हरिद्वार में एक आचार्यकुलम (Acharyakulam) की स्थापना भी की है, इसके अलावा दोनों स्वच्छ भारत कार्यक्रम से भी जुड़े हैं। आयुर्वेद के प्रचार-प्रसार के साथ-साथ बालकृष्ण ने लोगों को योग के बारे में भी जागरुक किया है। लोगों का मानना है कि आचार्य के बताए गए छोटे-छोटे घरेलू नुस्खों से उन्हें काफी फायदा मिला है। 

आचार्य बालकृष्ण कौन हैं? । Who is Acharya Balkrishna

आयुर्वेद की दुनिया में बहुत बड़ा नाम आचार्य बालकृष्ण (Acharya Balkrishna) का है । ये आयुर्वेद के ज्ञान के लिए जाने जाते हैं। वे योग गुरू बाबा रामदेव (yoga guru baba ramdev) के सहयोगी हैं। फिलहाल वे आयुर्वेद केंद्र पतंजलि योगपीठ के अध्यक्ष हैं। वे आयुर्वेद के प्रचार-प्रसार के साथ-साथ योग के प्रति भी लोगों को जागरुक बनाने का काम कर रहे हैं। उन्होंने आयुर्वेद के क्षेत्र में बहुत बड़ा योगदान दिया है। वे वेद,आयुर्वेद, संस्कृत भाषा, सख्य योग, पाणिनि, उपनिषद और भारतीय दर्शन के विद्वान हैं।वर्तमान में, वह उसी गुरुकुल के कुलाधिपति हैं, जहां से उन्होंने अध्ययन किया था।उनका लक्ष्य स्वास्थ्य और शिक्षा के क्षेत्र में क्रांति लाना है।वह पतंजलि विश्वविद्यालय के कुलपति भी हैं। विश्वविद्यालय योग, कंप्यूटर विज्ञान, आयुर्वेद, पंचकर्म और पीएचडी में विभिन्न डिग्री और डिप्लोमा प्रदान करता है।वह ‘योग संदेश’ पत्रिका के मुख्य संपादक भी हैं।उन्होंने योग और आयुर्वेद पर लगभग 41 शोध पत्र लिखे हैं।

आचार्य बालकृष्ण की जीवनी । Biography of Acharya Balkrishna

Acharya Balkrishna Biography in Hindi:- आचार्य बालकृष्ण मूल रूप से नेपाल के रहने वाले हैं। बालकृष्ण जी ने आयुर्वेदिक औषधियों और जड़ी-बूटियों का ज्ञान प्राप्त किया। उसके बाद उनकी मुलाकात योग गुरू रामदेव बाबा yoga guru baba ramdev से हुई। साल 1993 में वह बाबा रामदेव के साथ हिमालय की गुफाओं में रहते थे। बाबा रामदेव के सहयोग में उन्होंने आयुर्वेदिक (Ayurvedic) दवाओं और उपचार के संगठनों को स्थापित करना शुरू कर दिया। दोनों के परिश्रम से “दिव्य फार्मेसी” का निर्माण साकार हुआ और इसे काफी अच्छा रिस्पॉन्स भी मिल रहा है। आयुर्वेद के प्रचार-प्रसार के साथ-साथ बालकृष्ण जी ने लोगों को योग के प्रति जागरुक करने का काम किया। उन्होंने पतंजलि योगपीठ के आयुर्वेद केंद्र के जरिए पारंपरिक आयुर्वेद पध्दति को आगे बढ़ाने का अहम काम किया। 

Acharya Balkrishna Wikipedia in Hindi

नामबालकृष्ण सुवेदी
उपनामआचार्य बालकृष्ण
जन्म4 अगस्त 1972
जन्म स्थानहरिद्वार, उत्तराखंड
वैवाहिक जीवनअविवाहित
माता-पितासुमित्रा देवी-जय बल्लभ
व्यवसायपतंजलि आयुर्वेदाचार्य
पदपतंजलि आयुर्वेदाचार्य के एमडी और सीईओ
धर्महिंदू
राष्ट्रीयताभारतीय
शाकाहारी या मांसाहारीशाकाहारी
शौककिताबे पढ़ना, लिखना, यात्रा करना
राशिसिंह राशि
उम्र50 साल
राजनीतिक झुकावभारतीय जनता पार्टी

आचार्य बालकृष्ण की शिक्षा । Education of Acharya Balkrishna

आचार्य बालकृष्ण ने नेपाल में पांचवी तक की पढ़ाई करने के बाद बालकृष्ण भारत आ गए और हरियाणा (Haryana) में खानपुर के एक गुरूकुल में पढ़ाई करने के दौरान वे 1988 में बाबा रामदेव (Baba Ramdev) के मित्र बन गए । उसके बाद से दोनों साथ काम कर रहे हैं। हरियाणा में उन्होंने कालवा गुरुकुल, हरियाणा से संस्कृत में आयुर्वेदिक औषधियों और जड़ी-बूटियों में ज्ञान अर्जित किया और इसका प्रचार-प्रसार भी करने लगे। शिक्षा पूरी करने के बाद वे पौधों के औषधीय मूल्यों का अध्ययन करने के लिए भारत यात्रा की और संस्कृत में आयुर्वेदिक औषधियों और जड़ी-बूटियों के क्षेत्र में निपुणता हासिल की ।  

See also  Mulayam Singh Yadav Biography in Hindi | मुलायम सिंह यादव जीवन परिचय, निधन, राजनितिक सफर, नेट वर्थ, परिवार, जाने पूरी कहानी

आचार्य बालकृष्ण का परिवार । Family of Acharya Balkrishna

आचार्य बालकृष्ण के परिवार में उनके पिता जय बल्लभ और उनकी माता सुमित्रा देवी का नाम आता है, इनके भाई और बहन की अभी तक कोई ठोस जानकारी नहीं है। हालांकि कुछ दिन पहले मेरठ में इनके भाई के होने की खबर मिली थी, लेकिन यह कितनी सही है, इसका कोई प्रमाण नहीं है। पतंजलि योग पीठ में रहने वाले और कार्य करने वाले ही इनका परिवार हैं। योगपीठ के लोग इनका हर साल बड़ी धूमधाम से जन्मदिवस मनाते हैं। 

पतंजलि के मालिक आचार्य बालकृष्ण । Patanjali owner Acharya Balkrishna

साल 2006 में, आचार्य बालकृष्ण (Acharya Balkrishna) और बाबा रामदेव ने मिलकर ‘पतंजलि आयुर्वेद’ (Patanjali Ayurveda’) की स्थापना की थी। आज पतंजलि आयुर्वेद में आचार्य बालकृष्ण का करीब 97 प्रतिशत हिस्सा रखते हैं। पतंजलि आयुर्वेद के ब्रांड एम्बेसडर बाबा रामदेव हैं और वे ही योग के जरिए इसके उत्पादों का प्रचार-प्रसार करते हैं। वे इस पद पर जरूर हैं, लेकिन इसके लिए वे कभी वेतन नहीं लेते हैं, उनका कहना है कि यह पैसा जनता का है और जनता की भलाई के लिए ही इसका यूज होगा। बालकृष्ण योगपीठ के महासचिव भी हैं, पतंजलि योगपीठ करीब 5000 पतंजलि क्लीनिक का संचालन करती है। इसके साथ ही वे ‘पतंजलि विश्वविद्यालय’ के कुलपति भी हैं। इसका उद्देश्य जड़ी-बूटीऔर आयुर्वेद पर आधारित चिकित्सा पध्दतिका प्रचार करना है।

आचार्य बालकृष्ण के प्रसिद्ध घरेलू नुस्खे । Famous home remedies of Acharya Balkrishna

आयुर्वेद में हर तरह के रोगों का इलाज मौजूद है। नेचुरल हर्ब्स के इस्तेमाल से हर तरह के रोगों से छुटकारा पाया जा सकता है। बाजार में तमाम तरह की दवाएं उपलब्ध हैं, लेकिन आयुर्वेदिक औषधियों का इस्तेमाल करना हर किसी के लिए बेहतर होता है। 

  • बथुआ का इस्तेमाल – जिन लोगों को यौन दुर्बलता की शिकायत होती है, वे लोग 20 ग्राम बथुआ के बीज को 400 ग्राम पानी के साथ उबाल लें। पानी जब केवल 50 ग्राम बचे, तब इसे आंच से उतार लें। इसे ठंडा कर शहद मिला लें, फिर इसका नियमित सेवन करने से यौन दुर्बलता, नपुंसकता और यौन जनित रोगों से मुक्ति मिलती है। इसके अलावा इसके बीजों को पीसकर उसकी पांचग्राम मात्रा को पानी केसाथ रोज लेंगे तो इससे भी यौन जनित विकृतियां दूर होती हैं।
  • मालकांगनी का इस्तेमाल – मालकांगनी एक अत्यंत पौष्टिक आयुर्वेदिक वनस्पति है। इसके 2-3 बीजों को सुबह नाश्ते के वक्त खाली पेट चबाकर खाएं या दूध या पानी में लें। इससे शरीर में ताकत और स्फूर्ति का संचार होता है। 
  • भांग का इस्तेमाल – इससे आंतरिक शक्ति बढ़ती है और नपुंसकता दूर होती है।   
  • कब्ज के लिए – अमरूद या पपीता कब्ज के लिए काफी रामबाण इलाज है। इन फलों का सेवन दिन में कभी भी कर सकते हैं। इससे आंतों को शक्ति मिलती है। इससे मल विसर्जित भी आसान होता है। 
  • कफ के लिए – तुलसी सर्दी के मौसम मे काफी असरकारक है। इसका रस निकाल कर शहद मिलाकर रोज सुबह लेने से रोग प्रतिरोधक शक्ति बढ़ती है और कफ की बीमारी ठीक होती है। 

Acharya Balkrishna Books

  • आचार्य बालकृष्ण ने शोध के क्षेत्र में भी अपना अहम योगदान दिया है। वे अब तक योग, आयुर्वेद और दवाइयांसे जुड़े 41 शोध पत्र लिख चुके हैं। उन्होंने कुछ पुस्तके भी लिखी है –
    आयुर्वेद सिध्दांत रहस्य
  • आयुर्वेद जड़ी-बूटी रहस्य
  • भोजन कौतुहलम्
  • आयुर्वेद महोदधि
  • अजीर्णामृत मंजरी
  • विचार क्रांति
See also  Tarek Fatah Biography in Hindi | तारेक फतेह का संपूर्ण जीवन परिचय -(प्रगतिशील लेखक, पत्रकार, टीवी एंकर और एक सेक्युलर उदारवादी कार्यकर्ता)

Acharya Balkrishna Contact No.

आचार्य बालकृष्ण का कॉन्टेक्ट नंबर की जानकारी इंटरनेट पर दिखाता तो है, लेकिन वह उनके योगपीठ की जानकारी ही बता ता है। उनका पर्सनल नंबर की जानकारी उपलब्ध नहीं है। लेकिन आप उनसे विभिन्न सोशल मीडिया के जरिए संपर्क कर सकते हैं।

Patanjali Yogpeeth (Trust)

Patanjali Yogpeeth, Maharshi Dayanand Gram,
Delhi-Haridwar National Highway,
Near Bahadarbad, Haridwar-249405
Uttarakhand,India

Helpline No

+91-1334-240008, 244107, 246737

Fax No.

+91-1334-244805

Email

[email protected]

Acharya Balkrishna Net Worth

आचार्य बालकृष्ण की अंतिम शुद्ध संपत्ति स्पष्ट नहीं है, लेकिन माना जाता है कि साल 2022 में  यह लगभग $2.22 बिलियन डॉलर है जो कि भारतीय रुपए में 1.6 लाख करोड़ है। वहीं वह हर माह 60.8 करोड़ कमाते है और साला 500.4 करोड़ है। आचार्य बालकृष्ण के चैनल को हर महीने 2.03 मिलियन व्यूज और हर दिन लगभग 67.68 हजार व्यूज मिलते हैं। जिन यूट्यूब चैनलों का मुद्रीकरण किया जाता है, वे सेवा करके राजस्व कमाते हैं। औसतन, YouTube चैनल हर एक हजार वीडियो दृश्यों के लिए $ 3 से $ 7 के बीच कमाते हैं। इस डेटा के साथ, अनुमान लगाया जाता है कि आचार्य बालकृष्ण यूट्यूब चैनल एक महीने में विज्ञापन राजस्व में $ 8.12 हजार और एक वर्ष में $ 121.82 हजार कमाते है ।

Acharya Balkrishna Social Media Links

Acharya BalkrishnaContact Details
FacebookClick Here
YouTubeClick Here
InstagramClick Here
Website https://acharyabalkrishna.com/

FAQ’s Acharya Balkrishna Biography in Hindi

Q. आचार्य बालकृष्ण कौन है?

Ans. पतंजलि आयुर्वेद के एमडी और सीईओ हैं।

Q. आचार्य बालकृष्ण धूम्रपान करते है?

Ans. आचार्य बालकृष्ण धूम्रपान नहीं करते है । 

Q. आचार्य बालकृष्ण मूलत कहां के है?

Ans. आचार्य बालकृष्ण मूलत नेपाल से है।

Q. क्या आचार्य बालकृष्ण शादीशुदा है?

Ans. आचार्य बालकृष्ण शादीशुदा नहीं है।

Q. आचार्य बालकृष्ण की मासिक आय कितनी है?

Ans. 60.8 करोड़ रुपए आचार्य बालकृष्ण की मासिक आय है ।

Q. आचार्य बालकृष्ण की हाईट कितनी है?

Ans. आचार्य बालकृष्ण की 5 फिट 8 इंच हाइट है ।

Q. आचार्य बालकृष्ण का वजन कितना है?

Ans.आचार्य बालकृष्ण का वज़न लगभग 75 किलो है ।

इस ब्लॉग पोस्ट पर आपका कीमती समय देने के लिए धन्यवाद। इसी प्रकार के बेहतरीन सूचनाप्रद एवं ज्ञानवर्धक लेख easyhindi.in पर पढ़ते रहने के लिए इस वेबसाइट को बुकमार्क कर सकते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Optimized with PageSpeed Ninja