भारत की (ISRO महिला वैज्ञानिक) अनुराधा टी.के का जीवन परिचय | Anuradha T.K. Biography in Hindi (वेतन, परिवार, उम्र, कुल संपत्ति, शिक्षा)

By | November 3, 2023
Follow Us: Google News

Anuradha TK (ISRO Scientist) Biography in Hindi : जैसा कि आप लोगों को मालूम है कि भारत ने चंद्रयान-3 मिशन को सफल कर कर दुनिया में एक इतिहास रच दिया है | क्योंकि भारत दुनिया का पहला ऐसा देश है जो चंद्रमा के South Pole पर सफलतापूर्वक पहुंच पाया है और साथ में चंद्रमा पर पहुंचने वाला चौथा देश है | चंद्रयान-3 मिशन में एस सोमनाथ की अध्यक्षता में इसरो ने विभिन्न अंतरिक्ष अभियानों का सफलतापूर्वक नेतृत्व किया है। ऐसे में हम आपको बता दें कि भारत के चंद्रायन-3 मिशन को सफल करने में नारी शक्ति का सबसे बड़ा हाथ है उनके कारण ही चंद्रमा-3 मिशन सफल हुआ है और इस विषय में देश के प्रधानमंत्री ने भी कहा है कि नारी शक्ति के द्वारा ही देश का विकास संभव है ऐसे में हम आपको बता दें कि चंद्रयान-3 मिशन में Indian ISRO Scientists Anuradha TK भूमिका काफी अहम रहे थे ऐसे में देश के आम नागरिक के मन में उनके जीवन के सभी पहलुओं के बारे में जानने की आवश्यकता तेजी के साथ बढ़ रही है कि अनुराधा टी.के कौन है प्रारंभिक जीवन शिक्षा परिवार करियर सैलरी कुल संपत्ति अवार्ड और पुरस्कार इत्यादि के विषय में अगर आप कुछ भी नहीं जानते हैं तो  कोई बात नहीं है आज के आर्टिकल में हम आपको Anuradha TK Biography in Hindi संबंधित विषय के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी उपलब्ध करवाएंगे अतः आपसे निवेदन है कि हमारे साथ आर्टिकल पर बने रहे हैं-

(ISRO) इसरो वैज्ञानिक अनुराधा टी.के | Anuradha TK Biography in Hindi- Overview

आर्टिकल का प्रकारजीवन परिचय
आर्टिकल का नामAnuradha TK Biography in Hindi
कौन हैISRO (इसरो) की वैज्ञानिक
चर्चा में क्यों हैचंद्रयान 3 मिशन के सफलता होने के पश्चात
उम्र क्या है63 साल है |

ये भी पढ़ें:- गूगल चांद पर सबसे पहले कौन गया था | चाँद पर जाने वाले लोगों के नाम

अनुराधा टी.के का प्रारंभिक जीवन | Anuradha TK Early Life

अनुराधा टी.के का जन्म अनुराधा टीके का जन्म 30 अप्रैल 1960 मे बैंगलोर में हुआ था  बचपन से ही उनकी रुचि विज्ञान में अधिक थी इसलिए उन्होंने विज्ञान को ही अपना करियर ऑप्शन चुना था और वह पढ़ाई में काफी तेज थी यही वजह था कि उनके माता-पिता ने इनका हर कदम पर सहयोग किया और इन्हें वैज्ञानिक बनने में उनके माता-पिता की भूमिका भी काफी अहम रही थी उनके माता-पिता का क्या नाम है इसके बारे में कोई जानकारी अभी तक इंटरनेट पर उपलब्ध नहीं है जैसे ही जानकारी आएगी हम आपको अपडेट कर देंगे |

See also  आईपीएस मनोज कुमार शर्मा का जीवन परिचय | 12th Fail IPS Manoj Kumar Sharma Biography in Hindi (सफलता की कहानी, लव स्टोरी)

भारत की (ISRO महिला वैज्ञानिक) मौमिता दत्ता का जीवन परिचय

अनुराधा टी.के का शिक्षा | Anuradha TK  Education

ISRO Scientist Anuradha T.K
ISRO Scientist Anuradha T.K

अनुराधा टी.के का शिक्षा के बारे में बात करें तो उन्हें अपने प्रारंभिक शिक्षा बेंगलुरु शहर में स्थित प्राथमिक स्कूल से पूरी की इसके बाद उन्होंने उन्होंने बैंगलोर के यूनिवर्सिटी विश्वेश्वरैया कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग से इलेक्ट्रॉनिक्सा मे स्त्रातक की डिग्री प्राप्त किया इसके बाद उन्होंने इलेक्ट्रॉनिक के क्षेत्र में उच्च स्तर के डिग्री प्राप्त की और फिर इसरो में ज्वाइन करने का निश्चय किया |

भारतीय इसरो महिला वैज्ञानिक अनुराधा टी.के का परिवार |Anuradha TK Family

Anuradha TK Family :- के बारे में बात करें तो अनुराधा की तीन बहनें हैं। उनके पिता संस्कृत के प्रोफेसर थे और उनकी माँ एक गृहिणी थीं। उनकी दो बहने हैं उनकी पहली बहन इलेक्ट्रिकल इंजीनियर बन गईं और दूसरी डॉक्टर बन गईं। हम आपको बता दें कि अनुराधा के पति इलेक्ट्रॉनिक में जनरल मैनेजर है और उनकी बेटी अमेरिका में कंप्यूटर साइड इंजीनियर है और उनकी दूसरी बेटी इलेक्ट्रिक इंजीनियर की छात्रा है इसलिए हम कर सकते हैं कि उनके पूरे परिवार में लोगों का झुकाव और रुचि साइंस की तरफ बहुत ज्यादा हैवह कहती हैं, ”मेरे पति और सास-ससुर हमेशा सहयोगी रहे, इसलिए मुझे अपने बच्चों के बारे में ज्यादा चिंता नहीं करनी पड़ी।”

Also Read: कल्पना चावला का जीवन परिचय

इसरो वैज्ञानिक अनुराधा टी.के का करियर | ISRO Scientist Anuradha TK Career

ISRO Scientist Anuradha TK Career:-अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद 1982 में उन्होंने इसरो ज्वाइन किया | हम आपको बता दे कि उन्होंने इसरो में 34 सालों तक काम किया है और वह सबसे वरिष्ठ महिला वैज्ञानिकों में से एक है उन्होंने अपने पूरे इसरो के वैज्ञानिक कार्यकाल में कई प्रकार के महत्वपूर्ण परियोजना पर काम किया है | जीसैट-12 को उसकी अंतिम कक्षा में सफलतापूर्वक पहुंचाया। पहली बार ऐसा हुआ कि किसी महिला वैज्ञानिक ने इस प्रकार का कारनामा किया  इसलिए, अंतरिक्ष एजेंसी ने अब उनके लिए कई और कार्य निर्धारित किए हैं। परियोजना निदेशक के रूप में, उन्होंने जीसैट-9, जीसैट-17 और जीसैट-18 संचार उपग्रहों के प्रक्षेपण और निरीक्षण उनके द्वारा ही किया गया था इसके अलावा उन्हें उन्होंने भारतीय रिमोट सेंसिंग और भारतीय क्षेत्रीय नेविगेशन सैटेलाइट सिस्टम कार्यक्रमों के लिए परियोजना प्रबंधक, उप परियोजना निदेशक और एसोसिएट परियोजना निदेशक के रूप में भी काम किया है। अनुराधा टी.के. सैटेलाइट चेकआउट सिस्टम क्षेत्र में महारत हासिल है और हम आपको बता दे की सेटेलाइट चेक आउट अंतरिक्ष में सेटेलाइट प्रदर्शन के निरीक्षण करने का अहम प्रक्रिया होता है हम आपको बता दे कि चंद्रयान-3 के मिशन में भी इनके भूमिका काफी अहम रही थी यही वजह है कि देश के प्रधानमंत्री ने उन सभी महिला वैज्ञानिकों से सीधी तौर पर बातचीत की जो इस मिशन में सम्मिलित थे |

See also  Savitribai Phule Jayanti 2024 | सावित्रीबाई फुले कौन थी? सावित्रीबाई फुले जयंती कब और क्यों मनाई जाती है? जानें (इतिहास, शिक्षा, उपलब्धियां, कहानी)

अनुराधा टी.की कुल संपत्ति और सैलरी | Anuradha TK (Chandrayaan-3) ISRO Scientist Salary

(ISRO Scientist) Anuradha TK:- अनुराधा टी.की कुल संपत्ति और सैलरी के बारे में कोई भी जानकारी इंटरनेट पर उपलब्ध नहीं है हालांकि हम आपको बता दें कि कोई भी सीनियर साइंटिस्ट इसरो में काम करता है तो उसकी सैलरी 70000 से लेकर 80000 के बीच होती है और साथ में और भी दूसरे प्रकार के सरकारी सुविधा का लाभ दिया जाता है इसके अलावा जो लोग किसी मिशन के डायरेक्टर के पद पर नियुक्त होते हैं उनकी सैलरी यहां पर UPTO 2.5 Lac तक होती है |

अनुराधा टी.की के पुरस्कार और सम्मान | Anuradha Tk Awards  Achievements

Anuradha Tk Awards  Achievements: इसरो महिला वैज्ञानिक अनुराधा टी. को विभिन्न प्रकार के पुरस्कार और सम्मान से नवाजा गया है जिसका पूरा विवरण हम आपको नीचे दे रहे हैं आईए जानते हैं

YearAchievements &Award (पुरस्कार और सम्मान)
2003अंतरिक्ष विज्ञान के क्षेत्र में सेवाओं के लिए एस्ट्रोनॉटिकल सोसाइटी ऑफ इंडिया द्वारा अंतरिक्ष स्वर्ण पदक पुरस्कार
2011आईईआई के नेशनल डिज़ाइन एंड रिसर्च फ़ोरम नेशनल डिज़ाइन एंड रिसर्च फ़ोरम (एनडीआरएफ) द्वारा सुमन शर्मा पुरस्कार
2012एएसआई-स्वदेशी संचार अंतरिक्ष यान की प्राप्ति के लिए इसरो मेरिट पुरस्कार
2012जीसैट-12 की प्राप्ति के लिए टीम लीडर होने के लिए इसरो टीम पुरस्कार

अनुराधा टी.की बारे में रोचक जानकारी | Interesting Facts about Indian Isro Scientists Anuradha TkSummar

● इनका जन्म 1 अप्रैल 1960 को बेंगलुरु में हुआ था

●  इन्होंने 1982 में इसरो ज्वाइन किया

●   34 सालों तक इसरो में काम करने का इनका अनुभव है

See also  Vineeta Singh Biography in Hindi | विनीता सिंह का जीवन परिचय

●  जीसैट-12 को उसकी अंतिम कक्षा में सफलतापूर्वक पहुंचाया।

●  चंद्रयान 3 मिशन में उनकी भूमिका काफी अहम रही थी |

Also Read: Chandrayaan-3 LIVE Updates

FAQ’s: Anuradha TK Biography in Hindi

Q. अनुराधा टी.की जन्म कहां हुआ था?

Ans. अनुराधा टी.की जन्म 30 अप्रैल 1960 मे बैंगलोर में हुआ था |

Q. अनुराधा टी.की उम्र कितनी है?

Ans. अनुराधा टी.की की उम्र 2023 के अनुसार 63 साल है

Q. अनुराधा टी.की के पति का क्या नाम है?

Ans. अनुराधा टी.की के पति का क्या नाम है इसके बारे में कोई जानकारी उपलब्ध नहीं है हालांकि उनके पति इलेक्ट्रॉनिक्स कंपनी में जनरल मैनेजर का का काम करते हैं |

इस ब्लॉग पोस्ट पर आपका कीमती समय देने के लिए धन्यवाद। इसी प्रकार के बेहतरीन सूचनाप्रद एवं ज्ञानवर्धक लेख easyhindi.in पर पढ़ते रहने के लिए इस वेबसाइट को बुकमार्क कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *