प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना 2022 | पीएम गर्भावस्था सहायता योजना

By | जून 3, 2022
Pradhan Mantri Matritva Vandana Yojana

अधिकांश तौर पर आपने देखा होगा, की गर्भवती महिलाओं (pregnant women) को उचित समय पर आवश्यक सुविधाएं नहीं मिलती है। तो उन्हें काफी दिक्कत का सामना करना पड़ता है। यहां तक कि उन्हें अपनी जान भी गंवानी पड़ सकती है।   इन सभी समस्याओं को देखते हुए भारत सरकार (Government of India) द्वारा 1 जनवरी 2017 को “प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना” (Pradhan Mantri Matritva Vandana Yojana 2022)  की शुरुआत की गई। देश के वर्तमान  यशस्वी “प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी” द्वारा योजना का शुभारंभ किया गया। गर्भवती महिलाओं को अस्पताल से आवश्यक सुख सुविधाएं नि:शुल्क प्राप्त हो। आवश्यक जांच नि:शुल्क की जा सके। इन सब सुविधाओं को सरकार द्वारा गर्भावस्था सहायता योजना (Garbhavstha Shayta Yojana) अर्थात पीएम मातृत्व वंदना योजना के अंतर्गत शुरू किया गया है। योजना के अंतर्गत गर्भवती महिलाओं को गर्भावस्था से लेकर प्रसव तक ₹6000 की आर्थिक सहायता भी दी जाएगी।

आइए जानते हैं, प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना क्या है? गर्भवती महिलाएं योजना लाभान्वित होने हेतु कैसे आवेदन कर सकती हैं? मातृत्व वंदना योजना के अंतर्गत महिलाओं को क्या लाभ होंगे? गर्भवती महिलाओं को आर्थिक सहायता राशि कैसे उपलब्ध करवाई जाएगी? अस्पतालों से महिलाओं को कौन सी सुविधाएं नि:शुल्क मिलेगी? प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना के लिए आवेदन करने हेतु आवश्यक पात्रता दस्तावेज तथा आवेदन की प्रक्रिया को विस्तार से समझने के लिए लेख में अंत तक बने रहें और महत्वपूर्ण जानकारी को ध्यानपूर्वक पढ़ें।

पीएम मातृत्व वंदना योजना 2022 | PM Matritva Vandana Yojana 2022

राष्ट्रीय खाद सुरक्षा एक्ट 2013 के अंतर्गत प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना को लागू किया गया योजना में लगभग 3 करोड से भी अधिक महिलाएं शामिल हो चुकी है। Matritva Vandana Yojana के अंतर्गत अब तक महिलाओं को 7000 करोड रुपए की सहायता राशि प्रदान की जा चुकी है। प्रधानमंत्री मातृत्व योजना के लिए  ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। आवेदन करने की संपूर्ण प्रक्रिया लेख में दी जा रही है। अतः नीचे दी गई आवेदन प्रक्रिया को ध्यानपूर्वक फॉलो करें। अब निश्चित तौर पर घर बैठे कुछ ही समय में मातृत्व वंदना योजना के लिए आवेदन कर सकेंगे। इसके अतिरिक्त आप नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र पर जाकर आंगनवाड़ी कार्यकर्ता से मिल सकते हैं। जहां से आप को मातृत्व कार्ड बना कर दिया जाएगा। आवश्यकता अनुसार आपको दवाई जांच सब नि:शुल्क उपलब्ध करवाई जाएगी।

READ  8th class scholarship Form Online 2022-23 | Class 8 Government, Private scholarship Form | कक्षा 8 के लिए छात्रवृति योजना

New Update:- प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना 2022 | Pradhan Mantri Matritva Vandana Yojana 2022

PMMVY प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना स्कीम के तहत सर्वाधिक महिलाओं को शामिल करने का रिकॉर्ड मध्य प्रदेश सरकार ने बनाया है। पिछले 3 वर्षों में मध्य प्रदेश राज्य ने प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना के अंतर्गत अत्यधिक महिलाओं को लाभान्वित बनाया है। पूरे देश में केवल मध्य प्रदेश में 148% उपलब्धि दर्ज करवाई गई है। योजना से लाभान्वित होने वाले राज्यों में दूसरे नंबर पर हिमाचल प्रदेश रहा जिसमें 139% उपलब्धि हासिल की है। आंध्र प्रदेश इस दौड़ में तीसरे स्थान पर रहा। 

गर्भावस्था सहायता योजना लघु विवरण

योजना का नामPMMVY प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना 2022
योजना शुरू की गईमाननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा
योजना वर्ष2022
आवेदन प्रक्रियाऑनलाइन व ऑफलाइन मोड
उद्देश्यगर्भावस्था, बच्चे के जन्म के समय, औरस्तनपान के समय ज्यादा से ज्यादा देखपाल और सेवा
सहायता राशि6000

पीएम गर्भावस्था सहायता योजना 2022 के लाभ एवं विशेषताएं

  • प्रधानमंत्री गर्भावस्था योजना अर्थात Pradhan Mantri Matritva Vandana Yojana के लिए जो महिलाएं आवेदन करना चाहती हैं। या जो आवेदन कर चुके हैं उन्हें निम्न प्रकार से फायदे होंगे जैसे:-
  • PMMVY के तहत गर्भवती महिला और शिशु के लिए पहले से की जाने वाली जाँचे और दवाई खर्च के लिए ₹6000 की वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी।
  • महिलाओं को दी जाने वाली राशि तीन किस्तों में उपलब्ध करवाई जाएगी। पहली किस्त हजारों पर से शुरू की जाएगी। दूसरी किस्त ₹2000 तीसरी किस्त फिर ₹2000 बैंक खाते में जमा करा दिए जाएंगे।
  • योजना का लाभ पाने के लिए 3 फॉर्म जैसे: 1A, 1B, 1C भरना होगा।
  • उक्त में दर्शाए गए ₹5000 गर्भावस्था समय पर उपलब्ध करवाए जाएंगे तथा जैसे महिला को प्रसव होता है। शिशु का जन्म होने के बाद 1 हजार रुपए जननी सुरक्षा योजना के अंतर्गत प्राप्त होते हैं।

पीएम मातृ वंदना योजना महिलाओं को होने वाले लाभ | enefits of PM Matru Vandana Yojana for women

  • जो महिलाएं गर्भावस्था में नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र पर जाकर अपना पंजीकरण करवाती हैं। तो उन्हें ममता कार्ड बना कर दिया जाएगा।
READ  LIC आम आदमी बीमा योजना | LIC AAM ADAMI BIMA YOJANA ( LIC AABY 2022)
  • महिलाओं को ममता गार्ड में सभी आवश्यक दिशा निर्देश इसके अतिरिक्त भोजन प्रक्रिया शिशु की देखभाल हेतु आवश्यक दिशा निर्देश दिए जाते हैं।
  • गर्भावस्था से लेकर अवस्था तक महिलाओं को नि:शुल्क जांच नि:शुल्क दवाइयां उपलब्ध करवाई जाती है।
  • प्रसव के दौरान महिला को घर से अस्पताल ले जाने के लिए एंबुलेंस की नि:शुल्क व्यवस्था की जाती है।
  • गर्भावस्था में महिलाओं को सरकार द्वारा आवश्यक पोषक तत्वों से युक्त आहार उपलब्ध करवाया जाता है।
  • प्रसव होने के बाद बच्चों के लिए आवश्यक पोषक तत्व  युक्त आहार के साथ-साथ पालन पोषण हेतु उचित दिशा निर्देश दिए जाते हैं।
  • प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना के अंतर्गत, जननी सुरक्षा योजना के अंतर्गत, गर्भावस्था सहायता
  • योजना के अंतर्गत महिलाओं को सीधे बैंक खाते में सहायता राशि ट्रांसफर की जाती है।

योजना लाभान्वित होने हेतु आवश्यक पात्रता | Required eligibility to be benefitted under the scheme

  • जननी सुरक्षा योजना / गर्भावस्था सहायता योजना / मातृत्व वंदना योजना / पीएम मातृत्व वंदना योजना इन सभी योजनाओं के लिए आवश्यक पात्रता इस प्रकार है:-
  • योजना से लाभान्वित होने हेतु महिला एक बार आवेदन कर सकती है।
  • आवेदक महिला की गर्भावस्था उम्र 19 वर्ष से अधिक होनी चाहिए।
  • जो महिलाएं सरकारी नौकरी कर रही हैं। उन्हें योजना का लाभ नहीं दिया जाएगा।
  • आवेदक महिला का नेशनलाइज्ड बैंक में खाता होना चाहिए किसी के साथ वह अकाउंट मोबाइल नंबर और आधार कार्ड से लिंक होना अनिवार्य है।
  • यदि महिला को प्रसव नहीं होता है गर्भपात हो जाता है। या मृत बच्चा पैदा होता है। तब भी उसे योजना से लाभान्वित होने हेतु पात्र माना जाएगा।
  • सभी आर्थिक पक्ष से कमजोर BPL परिवार तथा असंगठित क्षेत्रों में काम कर रही शर्मिक महिलाएं योजना लाभान्वित हेतु उचित पात्र हैं।
  • योजना लाभ के लिए महिलाएं पूरे देश में किसी भी स्वास्थ्य केंद्र से सेवा प्राप्त कर सकती है।
  • पीएम गर्भावस्था सहायता योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज |

जो महिलाएं प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना के अंतर्गत आवेदन करना चाहती हैं। उन्हें नीचे दिए गए दस्तावेज अनिवार्य तौर पर प्रस्तुत करने होंगे जैसे:-

  • आवेदक महिला का आधार कार्ड
  • बैंक पासबुक विवरण
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • राशन कार्ड
  • ममता कार्ड / मातृत्व कार्ड
READ  EWS Certificate कैसे बनवाएं | ईडब्ल्यूएस जनरल आरक्षण प्रमाण पत्र से जुडी सम्पूर्ण जानकारी

मातृत्व वंदना योजना के अंतर्गत महिलाओं को मिलने वाली तीन राशियों का विस्तार पूर्वक विवरण।

जैसा कि आपको उक्त में बताया जा चुका है कि गर्भवती महिलाओं को रजिस्ट्रेशन करने के उपरांत ₹6000 की सहायता राशि दी जाती है। जिसे तीन किस्तों से बैंक अकाउंट में ट्रांसफर किया जाएगा।

पहली किस्त | first installment

गर्भवती महिला के रजिस्ट्रेशन करने के 150 दिन बाद ₹1000 बैंक अकाउंट में ट्रांसफर कर दिए जाएंगे। इसके लिए महिला को A1 फॉर्म भरना होगा। ममता कार्ड आपको स्वास्थ्य केंद्र से उपलब्ध होगा। पहचान पत्र के तौर पर आपको आधार कार्ड, बैंक पासबुक, राशन कार्ड, जन आधार कार्ड, उपलब्ध कराना होगा। बैंक विवरण उपलब्ध कराना होगा।

दूसरी किस्त | 2nd installment

जैसे एक गर्भवती महिला गर्भावस्था में पहला टेस्ट करवाती है। उसके 180 दिन बाद ₹2000 की सहायता राशि अकाउंट में ट्रांसफर कर दी जाती है। दूसरी किसके लिए महिलाओं को भी फॉर्म भरना होगा ममता कार्ड और आधार कार्ड की फोटोकॉपी देनी होगी।

तीसरी किस्त | third installment

पंजीकरण कराने के 6 महीने बाद हेपेटाइटिस बी खसरे के टीके आदि लगाए जाने पर महिला को ₹2000 की सहायता राशि अकाउंट में ट्रांसफर की जाएगी। यहां पर महिला को फॉर्म Ac भरना होगा। ममता कार्ड और आधार कार्ड की कॉपी की आवश्यकता होगी। 

FAQ’s Pradhan Mantri Matritva Vandana Yojana

Q. मातृत्व वंदना योजना के लिए कैसे आवेदन करें?

Ans. मातृत्व वंदना योजना के लिए आवेदन करना बहुत ही आसान प्रक्रिया है।  सबसे पहले अपने नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र से संपर्क करें और वहां पर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता से मिले और अपना पंजीकरण करवाएं। मातृत्व वंदना योजना के अंतर्गत पंजीकरण करने पर आपको में बताए गए दस्तावेज प्रस्तुत करने होंगे। आवेदन करने के बाद आपको ममता कार्ड मातृत्व कार्ड उपलब्ध करवाया जाएगा। इसके अतिरिक्त आफ ऑफिशल वेबसाइट से भी आवेदन कर सकते हैं।

Q.  गर्भावस्था सहायता योजना के अंतर्गत कितनी सहायता राशि दी जाएगी?

Ans . गर्भवती सहायता योजना के अंतर्गत गर्भावस्था में महिलाओं को ₹5000 की तीन किस्तों में राशि उपलब्ध करवाई जाएगी। इसके अतिरिक्त प्रसव होने पर हजार रुपए जननी सुरक्षा योजना के अंतर्गत उपलब्ध करवाए जाएंगे।

Q.  गर्भावस्था सहायता योजना से महिलाओं को क्या-क्या लाभ होंगे?

Ans . जो महिलाएं गर्भावस्था में उचित समय पर इलाज नहीं ले पा रही थी या आवश्यक जांच और दवाइयों के अभाव में अपने बच्चे और खुद की जान खतरे में डाल रही थी उन्हें निशुल्क सभी चिकित्सा सुविधाएं दवाइयां जांच उपलब्ध करवाई जाएगी। 

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.