ads

Guru Nanak Dev ji Birthday | गुरु नानक जी का जन्मदिन, गुरुपर्व कब हैं?

By | November 26, 2023
Follow Us: Google News

गुरु नानक जन्मदिन 2023 | गुरु नानक जी का जन्म दिन कब हैं? | गुरु नानक जन्मदिन कब मनाया जाता हैं? | Guru Nanak Birthday 2023 | Guru Nanak Dev ji Birthday

Guru Nanak Dev ji Birthday:- जैसा कि आप लोग जानते हैं कि 27 नवंबर को पूरे भारत में धूमधाम और हर्षोल्लास के साथ गुरु नानक जयंती मनाई जाएगी इस दिन भारत के विभिन्न गुरुद्वारों में सांस्कृतिक और धार्मिक कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे यह सिख धर्म का सबसे पवित्र त्योहार है I इसे गुरुपर्व (Guruparb) के रूप में मनाया जाता हैं . इस दिन सिख भाई गुरुद्वारा जाकर नानक जी की पूजा अर्चना करते हैं I गुरु नानक जी को सिख धर्म का प्रथम गुरु कहा जाता है . जो उन्होंने सिख धर्म का प्रचार और प्रसार दुनिया के कोने कोने में किया था और सिख धर्म की स्थापना उनके द्वारा की गई थी I अब आप लोगों के मन में सवाल आ रहा है कि गुरु नानक जयंती कब मनाई जाएगी (Guru Nanak Dev ji Birthday Date) जीवन परिचय, जन्म कब हुआ? गुरुपर्व कब मनाया जाता हैं? अगर आप इन सब के बारे में नहीं जानते हैं तो हम आपसे निवेदन करेंगे कि हमारे आर्टिकल पर आखिर तक बने रहे चलिए शुरू करते हैं-

Guru Nanak Dev ji Birthday

आर्टिकल का प्रकारजन्म दिवस
साल2023
गुरु नानक जी जन्म कब हुआ था15 अप्रैल 1469
जन्म दिवस को कहां-कहां मनाया जाता हैभारत के सभी जगहों पर जहां पर सिख धर्म के लोग रहते हैं
कौन से धर्म के लोग मनाते हैंसिख धर्म के लोग
सिख धर्म के प्रथम गुरु कौन थेगुरु नानक जी
गुरुपर्व कब हैं27 नवंबर 2023

गुरु नानक जी का जन्मदिन कब हैं?

गुरु नानक जी का जन्म 15 अप्रैल 1469 को तलवंडी नाम गांव में हुआ था | यह स्थान पाकिस्तान में है I अब इस जगह का नाम नानक देव के नाम से जाना जाता है . यहां पर प्रतिवर्ष लाखों की संख्या में श्रद्धालु गुरु नानक जी के दर्शन करने के लिए आते हैं I इसका निर्माण महाराजा रणजीत सिंह ने करवाया था . सिख धर्म के प्रथम गुरु नानक जी का जन्मदिन गुरुपर्व (Guruparb) के रूप में मनाया जाता हैं |

See also  महेश नवमी 2023 | Mahesh Navmi Quotes| महेश नवमी पूजा तारीख व समय | महेश नवमी की हार्दिक शुभकामनाएं |

गुरु नानक के बारे में और जाने: गुरु नानक जी का जन्मदिन

Guru Nanak Birthday Date 

गुरु नानक जी का जन्मदिन 15 अप्रैल 1469 है I बचपन से ही इनका मान सांसारिक मोह माया में नहीं रहा लेकिन इसके बावजूद उन्होंने अपने पिताजी के कहने पर शादी की लेकिन जब इनकी 33 साल से अधिक हो गए तो उन्होंने संसार एक मोह माया को छोड़ने का फैसला किया और उन्होंने घर छोड़ दिया और दुनिया के कई देशों में उन्होंने भ्रमण किया और सिख धर्म के प्रचार और प्रसार के लिए लगातार काम किया उन्हीं की देन है कि आज सिख धर्म का प्रचार और प्रसार दुनिया के हर कोने में हो पाया I

गुरु नानक जी का जन्म परिचय (Guru Nanak Ji Biography in Hindi)

गुरु नानक देव जी का जन्म (Guru Nanak Dev ji Birthday) 15 अप्रैल 1469 में पंजाब के लाहौर जिले में रावी पर तलवंडी गाँव में हुआ था। जिस घर में उनका जन्म हुआ था उसके एक छोर पर नानीका साहब मंदिर है जो आज के समय नानक साहब के देव के नाम से जाना जाता है गुरु नानक जी को पंजाब और सिंध का पैगंबर कहा जाता है. उनके पिता का नाम मेहता कालू चंद्र माता का नाम तृप्ता देवी थीं।

उनका अधिकांश बचपन अपनी बड़ी बहन बेबे के साथ बिताया क्योंकि वह उनसे बहुत ज्यादा प्यार करते थे उनकी बड़ी बहन की 1575 में शादी हो गई और वह सुल्तानपुर चली गई I गुरु नानक देव का विवाह 1487 में 16 साल की उम्र में गुरदासपुर जिले के लाखौकी नामक स्थान के रहनेवाले मूला की बेटी सुलखनी देवी से हुआ था। 32 साल की उम्र में इनके यहां पहला बेटा श्रीचन्द का जन्म हुआ। चार साल के बाद दूसरे बेटे लखमीदास का जन्म हुआ।

See also  गांधी जयंती पर कविता | Gandhi Jayanti Poem in Hindi | Download PDF ('राष्ट्रपिता' महात्मा गांधी की जयंती)

गुरु नानक देव जी का जीवन परिचय

साल 1507 में नानक देव जी अपने परिवार की जिम्मेदारी ईस्वर पर छोड़कर मरदाना, लहना, बाला और रामदास इन चार साथियों को लेकर यात्रा पर निकल गए . इसके बाद वह विभिन्न देशों में जाना उन्होंने शुरू किया और वहां पर जाकर सिख धर्म का प्रचार और प्रसार किया इसके बाद ही सिख धर्म की स्थापना हुई . यही कारण है कि उन्हें सिख धर्म का प्रथम गुरु कहा जाता है I 

गुरु नानक को शिक्षा दी की हमेशा मानवता की भलाई के लिए काम करो इसमें आपका कोई भी स्वार्थ नहीं होना चाहिए क्योंकि जब आप कोई भी काम स्वार्थ से वशीभूत होकर करते हैं . तो ऐसे कामों का कोई भी लाभ आपको सीधे तौर पर प्राप्त नहीं होगा . क्योंकि मानवता की सेवा सच्चे मन और इमानदारी से की जाती है . अभी जाकर आपको ईश्वर की विशेष कृपा प्राप्त होगी I

गुरु नानक जी ने अपने पूरे जीवन काल में पांच महत्वपूर्ण यात्रा के उन यात्राओं के माध्यम से ही उन्होंने सिख धर्म को दुनिया के कोने कोने तक पहुंचाया उन सभी पांच यात्राओं के बारे में नीचे हम आपको जानकारी देंगे आइए जानते हैं-

पहली यात्रा

 अपनी पहली यात्रा में उन्होंने पाकिस्तान और इंडिया के अधिकांश क्षेत्रों को कवर किया इन सभी क्षेत्रों में उन्हें यात्रा करने में लगभग 7 साल का समय लगा I

दूसरी यात्रा में

दूसरी यात्रा के दौरान उन्होंने श्रीलंका के अधिकांश क्षेत्रों का दौरा किया इसमें उनको 7 साल का समय लगा

तीसरी यात्रा

 तीसरी यात्रा में उन्होंने हिमालय, कश्मीर, नेपाल, सिक्किम, तिब्बत और ताशकंद जैसे पर्वतीय क्षेत्रों को कवर किया। इसे पूरा होने में लगभग 5 साल लगे।

See also  गुरु नानक जयंती पर निबंध हिंदी में | Guru Nanak Jayanti Essay in Hindi [ Download PDF ]

चौथी यात्रा

 उन्होंने मक्का और मध्य पूर्व के अन्य स्थानों का दौरा किया और इसमें 3 साल लग गए।

पांचवी यात्रा

 इस दौरान उन्होंने पूरे पंजाब में उन्होंने लोगों तक अपना संदेश पहुंचाया उनके बारे में कहा जाता है कि उन्होंने अपना 24 वर्ष जीवन यात्रा करने में व्यतीत किया I

गुरु नानक जयंती पर निबंध

FAQ’s Guru Nanak Dev ji Birthday

Q: गुरु नानक डे कब मनाया जाएगा

Ans; 27 नवंबर को भारत में गुरु नानक डे मनाया जाएगा |

Q: गुरु नानक जयंती क्यों मनाया जाता है?

Ans: गुरु नानक जयंती गुरु नानक जी के जन्मदिन के उपलक्ष में मनाया जाता है I

Q: सिखों के प्रथम गुरु कौन है?

Ans: सिख धर्म के प्रथम गुरु गुरु नानक जी हैं I

इस ब्लॉग पोस्ट पर आपका कीमती समय देने के लिए धन्यवाद। इसी प्रकार के बेहतरीन सूचनाप्रद एवं ज्ञानवर्धक लेख easyhindi.in पर पढ़ते रहने के लिए इस वेबसाइट को बुकमार्क कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *