Guru Nanak Jayanti 2022 | जानिए गुरु नानक जयंती कब हैं? क्यों मनाई जाती है?

By | नवम्बर 7, 2022
Guru Nanak Jayanti

Guru Nanak Jayanti 2022:- 8 नवंबर 2022 को देश भर में गुरु नानक जयंती उत्साह पूर्वक, हर्षोल्लास के साथ मनाया जाएगा . गुरु नानक जयंती भारत का एक प्रमुख धार्मिक त्यौहार है इस त्यौहार को विशेष तौर पर सिख धर्म के मानने वाले लोग काफी धूमधाम के साथ मनाते हैं . क्योंकि इसी दिन गुरु नानक जी का जन्म हुआ था जिसके कारण उनके जन्मदिन को गुरु नानक जयंती के रूप में मनाया जाता है इस दिन गुरुद्वारे में विभिन्न प्रकार के सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं . जिनमें धार्मिक भजन और गायन का आयोजन किया जाता है .

इस दिन गुरुद्वारे में सिख संप्रदाय के मानने वाले लोगों के द्वारा गुरु नानक जी की पूजा भी की जाती है I ऐसे में आपके मन में सवाल आ रहा होगा कि गुरु नानक जयंती कब है? GuruParv 2022 Kab Hai, गुरु नानक जयंती क्यों मनाई जाती है? ऐसे तमाम सवाल के जवाब अगर आप नहीं जानते हैं तो हम आपसे निवेदन करेंगे कि हमारे पोस्ट पर आखिर तक बने रहे हैं चलिए शुरू करते हैं-

Guru Nanak Jayanti 2022

जयंती का नामगुरु नानक जयंती
साल2022
कब मनाया जाएगा8 नवंबर को
कहां मनाया जाएगापूरे भारतवर्ष में
क्यों मनाया जाएगागुरु नानक का जन्म हुआ था
कौन से धर्म के लोग मनाते हैंसिख धर्म के लोग

गुरु नानक जयंती कब हैं? Guru Nanak Jayanti Kab hai

गुरु नानक जयंती 8 नवंबर 2022 को भारत में हर्षोल्लास और धूमधाम के साथ मनाया जाएगा I इस दिन गुरुद्वारे में विभिन्न प्रकार के धार्मिक अनुष्ठान और कीर्तन आयोजित किए जाएंगे जिसमें सिख संप्रदाय के लोग सम्मिलित होकर गुरु नानक  जी की पूजा विधि विधान से करेंगे ताकि उनकी विशेष कृपा उनके ऊपर बनी रहे गुरु नानक सिख धर्म के प्रथम गुरु थे और उनके द्वारा ही सिख धर्म का प्रचार और प्रसार किया गया I

READ  Kisan Diwas 2022 | किसान दिवस कब और कैसे मनाया जाता है

Guruparb 2022

नानक जयंती हिन्दू कैलेंडर के अनुसार कार्तिक माह के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि को मनाई जाती है| इस दिन दीपावली का महापर्व मनाया जाता है’गुरु नानक जयंती’ गुरुपर्व  आमतौर पर  ग्रेगोरियन कैलेंडर के मुताबिक अक्टूबर या नवंबर महीने में या पर अब आता है इस बार 2022 में 8 नवंबर को गुना जयंती मनाया जाएगा इस वर्ष 2022 में कार्तिक माह की पूर्णिमा तिथि 08 नवंबर को पड़ रही है, | पूर्णिमा तिथि की शुरुआत 07 नवंबर 2022 को शाम 04 बजकर 15 मिनट पर होगी और वहीँ यह तिथि 08 नवंबर 2022 को शाम 04 बजकर 31 मिनट पर समाप्त होगी| इसलिए आप जयंती के तिथियों का भी ध्यान रखें कि इसका का शुभ मुहूर्त है I

गुरु नानक जयंती कब मनाई जाती हैं  guru nanak Jayanti Kab manaya jati hai

गुरु नानक जयंती कार्तिक माह की पूर्णिमा तिथि को मनाई जाती है और इस बार कार्तिक की पूर्णिमा तिथि 8 नवंबर 2022 को है इस दिन ही बड़े धूमधाम के साथ गुरु नानक जयंती मनाई जाएगी I

गुरु नानक जी का जीवन परिचय

गुरु नानक जी सिख धर्म के प्रथम गुरु थे . उनका जन्म 1469 को राय भोई की तलवंडी (राय भोई दी तलवंडी) नाम की जगह पर हुआ था जो आज के समय पाकिस्तान के नानी का साहब ने स्थित है सिख धर्म का एक पवित्र गुरुद्वारा है यहां पर लाखों की संख्या में सिख धर्म के मानने वाले लोग गुरु नानक जी के दर्शन करने के लिए आते हैं इस जगह का नाम ही गुरु नानक देवजी के नाम पर पड़ा। इसका दर्शन करने के लिए देश और दुनिया के विभिन्न कोने से लोग आते हैं I इसका निर्माण सिख साम्राज्य के राजा रंजीत सिंह के द्वारा किया गया I

READ  Dhanteras Quotes in Hindi | धनतेरस कोट्स हिंदी में

गुरु नानक जी का पूरा जीवन मानवता की रक्षा के लिए समर्पित किया उन्होंने कहा कि सभी मनुष्य एक समान है किसी में भी हमें भेदभाव नहीं करनी चाहिए ना कोई छोटा है ना कोई बड़ा है हम सभी लोग ईश्वर की संतान हैं जब ईश्वर हमारे अंदर भेदभाव नहीं करता है तो हम कौन होते हैं एक दूसरे में भेदभाव करने वाले उन्होंने सिख धर्म का प्रचार और प्रसार दुनिया के कोने कोने में किया इसीलिए सिख धर्म के मानने वाले नानक देव जी, बाबा नानक और नानकशाह कहकर पुकारते हैं। वहीं, लद्दाख और तिब्बत में इन्हें नानक लामा कहा जाता है।

1539 ई. में करतारपुर में इनकी मृत्यु हो गई आज की तारीख में करतारपुर पाकिस्तान में है I मृत्यु के पहले शिष्य भाई लहना सिंह को अपना उत्तराधिकारी घोषित किया जो बाद में गुरु अंगद देव के नाम से मशहूर हुए और वह सिख धर्म के दूसरे गुरु बने I

गुरु नानक देव जी के सिद्धांत क्या है?

गुरु नानक जी के सिद्धांत आज भी मौजूद है और हमें उनके सिद्धांत पर चलने की कोशिश करनी चाहिए उनके सिद्धांत का विवरण हम आपको नीचे बिंदु अनुसार देंगे आइए जानते हैं-

  • ईश्वर का स्वरूप एक है इस संसार में जितने भी तरह में सबका मालिक एक है I
  • ईश्वर के दर्शन हर जगह आपको प्राप्त होंगे चाहे वह मनुष्य जो जंतु हो या पेड़ पौधे
  • भगवान के शरण में रहने वाले लोगों को किसी भी व्यक्ति से डरने की जरूरत नहीं है क्योंकि भगवान सभी की रक्षा करते हैं
  • हम सभी को सच्चे और निष्ठा के साथ भगवान की पूजा करनी चाहिए
  • भगवान की नजर में स्त्री और पुरुष दोनों एक समान है।
  • मनुष्य को अपने जीवन में स्वस्थ और निरोगी रहने के लिए अच्छा खाना खाना चाहिए तथा उसको कभी लालची, लोभी, क्रोधी नहीं बनना चाहिए।
READ  50 + Happy Holi Quotes in Hindi | Holi Quotes in Hindi | पढ़िए होली पर शायरी, शुभकामना सन्देश, कोट्स, कविता हिंदी में

गुरु नानक जयंती का महत्व – important of guru nanak Jayanti

गुरु नानक जयंती का सिख  धर्म में विशेष महत्व है क्योंकि इससे सिख धर्म के प्रथम गुरु गुरु नानक जी का जन्म हुआ था उन्होंने सिख धर्म के प्रचार प्रसार के लिए लगातार काम किया इनके जयंती को दीपावली के जैसे प्रकाश पर्व के रूप में मनाया जाता है इस दिन गुरुद्वारे में नानक साहब को सिख धर्म के मानने वाले लोग सच्ची श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं और साथ में उनकी जयंती पर उनसे प्रार्थना करते हैं कि उनके ऊपर उनकी विशेष कृपा बनी रहे I

FAQ’s Guru Nanak Jayanti 2022

Q: गुरु नानक जयंती कब मनाया जाता है?

Ans: गुरु नानक जयंती 8 नवंबर 2022 को हर्षोल्लास और धूमधाम के साथ मनाया जाएगा

Q: गुरु नानक जयंती क्यों मनाया जाता है?

Ans: गुरु नानक जयंती मनाने की पीछे की वजह है कि 1 दिन सिख धर्म के प्रथम गुरु नानक जी का जन्म हुआ था जिसके कारण उनके जन्मदिन को गुरु नानक जयंती के रूप में मनाया जाता है I

Q: गुरु नानक जयंती का सिख धर्म में क्या महत्व है?

Ans: गुरु नानक जयंती को दीपावली की तरह प्रकाश पर्व भी कहा जाता है क्योंकि इस दिन गुरुद्वारे में गुरु नानक जी को सिख धर्म के मानने लोग उन को सच्ची श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं इसके अलावा गुणांक जयंती पर विभिन्न प्रकार के धार्मिक अनुष्ठान और भजन आयोजित किए जाते हैं ताकि लोगों को गुरु नानक नानक जयंती के पर्व के महत्व के बारे में बताया जा सके I

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *