Essay on dog in hindi। कुत्ते पर निबंध हिंदी में

Essay on dog in hindi

हमारे भारत देश की संस्कृति बहुत ही अनोखी है यहां मानव प्रेम के साथ-साथ जानवरों को भी बहुत प्यार किया जाता है। दुनिया के हर कोने में आपको कुत्ते देखने को मिल जाएंगे हमारे भारत में भी कुत्ते को बहुत ही ज्यादा पाला जाता है। क्योंकि ऐसा माना जाता है कि कुत्ते मानव के बहुत ही अच्छे दोस्त और अपने मालिक के प्रति बहुत ही वफादार होते हैं। आज हम जानेंगे Essay on dog in hindi। कुत्ते पर निबंध हिंदी में, कुत्ता एक सबसे अच्छा पालतू जानवर माना जाता है। कुत्ता अपने मालिक की प्रति हमेशा वफादार रहता है मालिक अमीर हो या गरीब उसे इससे कोई फर्क नहीं पड़ता है वह अपने मालिक की सुरक्षा के लिए अपनी जान पर भी खिल जाता है। इनका दिमाग बहुत ही तेज होता है और उनके सूंघने की क्षमता भी बहुत तीव्र होती है इसीलिए इनको के लिए भी रखा जाता है। इसके पास एक बड़ा सिर, चार पैर, दो आंख, दो कान, एक नाक और एक पूछ होती है। कुत्तों के दांत बहुत ही नुकीले होते हैं जिसकी मदद से वह छोटे जानवरों का शिकार करके भी अपना भोजन तैयार कर लेते हैं। यह शाकाहारी और मांसाहारी दोनों प्रकार के भजन का सेवन करते हैं।

Short essay on dog। कुत्ते पर छोटा निबंध

कुत्ता एक पालतू जानवर है जो की बहुत ही लोकप्रिय होता है। उसके पास एक तेज दिमाग और सूंघने की तीव्र क्षमता होती है यह मनुष्य से भी कई गुना अधिक क्षमता से सुन सकता है। सूंघने की क्षमता के वजह से ही इसे देश की रक्षा के काम आते है। इनका जीवन काल उनके आकार पर निर्भर करता है छोटे आकार के कुत्ते बड़े आकार के कुत्ते की तुलना में ज्यादा समय तक जीवित रहते हैं औसतन इनका जीवनकाल 12 से 15 वर्ष तक काम माना जाता है। बहुत अच्छे तरह भी होते हैं और इन्हें पानी में रहना भी पसंद होता है।

About the dog’s nasl। कुत्ते की नस्ल के बारे में

हमारे देश में जानवरों कुत्ता बहुत ही ज्यादा प्यार किया जाता है। यह बहुत ही ज्यादा वफादार जानवर होता है साथ ही हम बताना चाहते हैं कि कुत्ते बहुत सारी नस्ल के होते हैं जो हमारे भारत में पाए जाते हैं। अगर आप भी अपने घर कुत्ता लाना चाहते हैं तो नीचे उनके नस्लों के बारे में हमने बताया है उसे एक बार जरूर पढ़ ले।

See also  Essay On Beti Bachao Beti Padhao in Hindi | बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ पर निबंध (Nibandh)

भारत में गोल्डन राइट्रीवर्स,जर्मन शेफर्ड, लैब्राडोर, पग, इंडियन परिया कुत्ते बहुत ही ज्यादा लोगों के द्वारा पसंद किए जाते हैं। लेब्राडोर कुत्ते की नस्ल हमारे भारत में सबसे ज्यादा लोकप्रिय है। हमारे भारत में जो सबसे आम नस्ल है कुत्ते की वह कंगाली कुत्ता जो कि हमारे गली मोहल्ले में टहलते रहते हैं।

दुनिया में हर जगह कुत्ते पाए जाते हैं लेकिन अमेरिका में सबसे ज्यादा कुत्तों को पाला जाता है। यहां पर तोलैब्राडोर 31 सालों तक सबसे लोकप्रिय कुत्ता माना गया है।

Importance of dog। कुत्तों का महत्व

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि कुत्ता बहुत ही लोकप्रिय जानवर होता है। साथ ही हम बताना चाहते हैं कि कुत्ते का हमारे जीवन में बहुत ही ज्यादा महत्व है। यह बहुत ही ज्यादा वफादार होते हैं और यह मानव जीवन में बहुत सारे कामों को आसान कर देते हैं। जैसे की हवाई अड्डे, पुलिस स्टेशन, सीमाओं पर खोजी कुत्तों को रखा जाता है, जो हमारी बहुत ही ज्यादा मदद करते हैं। और हमारी आर्मी में देश की रक्षा के लिए कुत्तों को रखा जाता है क्योंकि इनके पास सूंघने की मनुष्य से बहुत ही ज्यादा क्षमता होती है। रात में हमारे घरों की सुरक्षा करते हैं, और यह जिस भी घर में रहते हैं उसे घर के माहौल को पूरे बदल के रख देते हैं। आजकल कुत्तों को ट्रेनिंग भी दिया जाता है जिसके फल स्वरुप वह बहुत सारी क्रियाकलापों को करते हैं।  

Essay on dog in 10 lines। कुत्ते पर 10 लाइन का निबंध

कुत्ता इस पृथ्वी का एक ऐसा जानवर है जो मनुष्य के प्रति सबसे ज्यादा वफादार होता है। मनुष्य भी कुत्तों को बहुत ही ज्यादा प्यार और दुलार देते हैं अपने घरों में पालते हैं। उन्हें अपने बच्चों की तरह लाड प्यार करते हैं, की देखभाल करते हैं। नीचे हमने कुत्ते के बारे में कुछ लाइन लिखी हैं जिनको पढ़कर आप उनके बारे में अच्छे से जान सकते हैं।

  • मनुष्य ने जो सबसे पहला जानवर पाल था वह कुत्ता था।
  • कुत्ते का जीवनकाल औसतन 13 से 15 साल का होता है।
  • इसके सूंघने की क्षमता बहुत ही तेज होती है।
  • इसके पास चार पैर, दो कान, दो आंख एक नाक और एक पूंछ होतीहै।
  • यह जानवरों में सबसे वफादार जानवर माना जाता है।
  • यह बहुत ही चालाक होते हैं उनके नाम से बुलाने पर यह तुरंत ही आपके पास दौड़कर आ जाते हैं।
  • ये भेड़िया की प्रजाति के जानवर हैं और इनका दूसरा नाम स्वान है।
  • प्रत्येक कुत्ते की नाक की छाप अलग होती है जैसे की प्रत्येक मनुष्य के उंगलियों के निशान अलग-अलग होते हैं।
  • जब इनके बच्चे जन्म लेते हैं तो लगभग 12 दिनों तक वह अंधे और बहरे रहते हैं। उसके बाद उनकी आंखें और कान खुलते हैं।
  • कुत्ते को सर्वाहारी जानवर की श्रेणी में रखा गया है।
See also  विश्व दुग्ध दिवस पर निबंध 2023 | Essay On World Milk Day | विश्व दुग्ध दिवस थीम इतिहास महत्व कोट्स उद्देश्य

Essay on My pet Dog। मेरा पालतू कुत्ता पर निबंध

कुछ लोगों को पालतू कुत्ता रखने का शौक होता है उनमें से एक मैं भी हु। मुझे भी कुत्ता बहुत पसंद है मैं अपने पालतू कुत्ते की बहुत ही अच्छे से देखभाल करता हूं और वह मुझे बहुत प्यार देता है। नीचे मैंने अपने पालतू कुत्ते के बारे में बताया है।

लूसी मेरा पालतू कुत्ता

सर्दी का मौसम था, एक दिन मैं अपने दोस्त के घर गया था और मैंने उसके घर पर देखा कि उसकी कुत्ते ने पिल्लो को जन्म दिया है और उनमें से मुझे एक पिल्ला पसंद आ गया और मैं उसके पास गया और अपने हाथों में लेकर उसे प्यार दिया। फिर मैं घर चला आया और पापा से बोला कि मेरे लिए वह पिल्ला घर लेते आइए। पापा भी जानवरों को बहुत प्यार करते हैं और वह आसानी से इस बात के लिए सहमत हो गए। दूसरे दिन मैं और पापा जाकर उस पिल्ले को अपने घर लाया और उसका नाम लूसी रखा। जब वह मेरे घर आई तो वह छोटी बच्ची थी। उसके घर आने के बाद मेरे घर का पूरा माहौल बदल गया। समय कब बीत जाता है पता ही नहीं चलता है। लूसी लैब्राडोर नस्ल की है, उसका रंग दूध जैसा गोरा है। जब आई तो उसकी पंछी बहुत ही मुलायम और छोटे-छोटे थे जोकि बहुत ही प्यारे लगते थे। मेरे घर के सभी सदस्य उसे बहुत प्यार देते और सब अपना ज्यादा से ज्यादा समय उसके पास प्रतीत करना चाहते। मैं रोज सुबह अपनी लुसी को घर के पास ही एक पार्क है वहा टहलाने के लिए ले जाता हूं तब उसे अपने दोस्तों से मिलवाता हूं। वह हमेशा गेट पर बैठी रहती है और जब भी मेरे घर का कोई सदस्य बाहर से आता है तो प्यार से अपना पूछ हिलाती है। वह पालतू कुत्ता नहीं मेरे घर का एक सदस्य बन चुकी है। समय-समय पर मैं उसको पशु चिकित्सक को बुलाकर दिखाता हूं टीकाकरण कराता हु। जिससे उसे कोई भी परेशानी ना हो। मेरे घर पर किसी भी अनजान व्यक्ति के आने पर वह बहुत तेजी से भौंकती है, लेकिन कभी भी वह किसी को कटती नहीं है। और जब भी मैं स्कूल के काम से बोर हो जाता और दुखी मन से बैठा रहता तो लूसी मेरे पास आकर मुझे खुश करने की पूरी कोशिश करती है। मैंने अपनी लुसी से यह सीखा कि कैसे वह हमारी खुशी और सुरक्षा के लिए हमेशा वफादार बनी रहती है ऐसी हमें भी अपने जीवन में अपने लोगों के साथ हमेशा वफादार रहना चाहिए।

See also  Essay On Samay Ka Sadupyog in Hindi | समय का सदुपयोग पर निबंध (कक्षा 1 से 10 के लिए निबंध)

Essay on my pet dog in 10 lines।मेरे पालतू कुत्ता पर 10 लाइन का निबंध

पालतू जानवरों में कुत्ता सबसे ज्यादा पाला जाता है और यह बहुत ही वफादार जानवर होता है, मैं भी अपने घर में एक कुत्ता पाला हूं इसके बारे में मैं नीचे आपको बताया हू जो आपको बहुत ही पसंद आएगा।

  • मेरे पालतू कुत्ते का नाम रॉकी है।
  • रॉकी जर्मन शेफर्ड नस्ल का कुत्ता है
  • उसका रंग कोयले जैसा एकदम काला है।
  • रॉकी जब 3 महीने का था तभी मेरे घर पर लाया गया था, अब वह 2 साल का हो चुका है।
  • वह वेजिटेरियन है और उसे सब्जियां फल बिस्किट और पेडिग्री बहुत ज्यादा पसंद है।
  • वह रात में मेरे घर के गेट पर पहरेदार की तरह रहता है किसी भी अनजान व्यक्ति के आने पर उस पर भौकता है जिससे हमको पता चल जाता है।
  • वह मेरे दुखी होने पर बहुत प्यार देता है और खुश करता है।
  • वह मेरा पालतू कुत्ता नहीं दोस्त बन गया जो मेरे सुख-दुख में हमेशा साथ रहता है।
  • रोज सुबह वह बगीचे में मेरे साथ गेंद के साथ खूब खेलता है और दौड़ता है।
  • रॉकी को पानी में तैरना बहुत पसंद है इसलिए मैं उसे हफ्ते में एक बार नदी में ले जाता हूं और वह खूब तैरता है।

निष्कर्ष

इस आर्टिकल में हमने कुत्ते के बारे में बताया जिसमें हमने कुत्ते की नस्ल कुत्ते का हमारे जीवन में महत्व और कुत्ते पर ढेर सारी बातें बताएं। जिसको पढ़कर आप कुत्ते के बारे में अच्छी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं अगर यह जानकारी आपको अच्छी लगी हो तो अपने दोस्तों को भी शेयर करें ।

इस ब्लॉग पोस्ट पर आपका कीमती समय देने के लिए धन्यवाद। इसी प्रकार के बेहतरीन सूचनाप्रद एवं ज्ञानवर्धक लेख easyhindi.in पर पढ़ते रहने के लिए इस वेबसाइट को बुकमार्क कर सकते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Optimized with PageSpeed Ninja