जल जीवन हरियाली योजना बिहार | Jal Jeevan Hariyali Yojana 2023

By | जनवरी 4, 2023
Jeevan Hariyali Yojana

Jal Jeevan Hariyali Yojana Bihar:- जल ही जीवन है हम सभी लोग जानते हैं और इसके बिना कोई भी प्राणी इस पृथ्वी पर जीवित नहीं जा सकता है I इस बात का ध्यान रखते हुए बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने 26 नवंबर 2019 को जल जीवन हरियाली योजना की शुरुआत की थी | जल जीवन हरियाली योजना (Jal Jeevan Hariyali Scheme) के अंतर्गत बिहार में पौधों को लगाने के लिए छोटे कुएं और तालाबों का निर्माण करना है | ताकि वर्षा के जल कुआं और तालाबों में संरक्षण किया जा सके इस योजना के माध्यम से किसानों को भी पानी की समस्या से राहत दिलाना है और साथ में आसपास के वातावरण को प्रदूषित मुक्त करना है I ऐसे में आप लोगों के मन में सवाल आएगा कि जल जीवन हरियाली योजना क्या है? योजना के लाभ क्या है अगर आप इसके बारे में कुछ भी नहीं जानते हैं तो कोई बात नहीं है मैं आज आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बताऊंगा कि  Jal Jeevan Hariyali Yojana in Hindi इसलिए आप आर्टिकल पर आखिर तक बने रहे हैं चलिए शुरू करते हैं-

Jeevan Hariyali Yojana Bihar 2023

योजना का नामजल जीवन हरियाली योजना
योजना की शुरुआत किसने कीबिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जी ने
लाभ कौन-कौन ले पाएगाराज्य में रहने वाले किसान
आवेदन करने का प्रक्रियाऑनलाइन
मदद राशि₹75000
योजना का कुल खर्च23000 हजार 524 करोड़
योजना की शुरुआत26.10.2019
आधिकारिक वेबसाइटdbtagriculture.bihar.gov.in
साल2023

जल जीवन हरियाली योजना क्या है | Jal Jeevan Hariyali Yojana 2023

जल जीवन हरियाली योजना बिहार सरकार के द्वारा संचालित एक लोकप्रिय योजना है इस योजना के तहत लोगों को तलाब और कुआं बनाने के लिए आर्थिक मदद दी जाएगी ताकि पानी की समस्या को समाप्त किया जा सके इसके अलावा आसपास के वातावरण को प्रदूषण मुक्त रखने के लिए पेड़ लगाने के लिए प्रोत्साहित करना है ताकि अधिक मात्रा में लोग पर लगाकर वातावरण को प्रदूषण से बचा सके I

READ  विक्टिम मुआवजा योजना 2022 | Bihar Victim Muavja Yojana

जल जीवन हरियाली योजना के लाभ | Benefits of Jal Jeevan Hariyali Yojana 2023

  • योजना का लाभ केवल बिहार के किसानों को मिलेगा
  • पहाड़ी क्षेत्र में बांध और छोटी नदियों का निर्माण इस योजना के अंतर्गत किया
  • राज्य में रह रहे किसानों को 75500 रूपए की सब्सिडी की मदद कुआ तालाब और सिंचाई के दूसरे साधनों का निर्माण किया जाएगा
  •  योजना के तहत 43.62 लाख पौधे लगाए जायेंगे।
  • पेड़ लगने के बाद सिंचाई के लिए वर्षा के पानी का स्टोर भी किया जाएगा
  • 2023 तक 24 हजार 524 करोड़ रुपये का खर्चा सरकार द्वारा योजना हेतु किया जायेगा।
  • खेतों के सिंचाई का प्रबंध भी योजना के माध्यम से किया जाएगा
  • राज्य में ज्यादा ज्यादा पेड़ों का रोपण किया जाएगा ताकि पर्यावरण प्रदूषण मुक्त ना सके
  • तालाब का निर्माण करने के लिए किसान को सरकार की तरफ से 90% अनुदान दिया जाएगा I

जल जीवन हरियाली योजना की शुरुआत | Jal Jeevan Hariyali Yojana Scheme

जल जीवन हरियाली योजना की शुरुआत 26 नवंबर 2019 को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के द्वारा शुरू किया गया था I जिसके अंतर्गत राज्य में तालाब कुआं और पेड़ लगाने के लिए लोगों को आर्थिक मदद दी जाएगी .ताकि किसानों को पानी की समस्या का सामना करना पड़ा और दूसरे आसपास का वातावरण प्रदूषण मुक्त रहे I

FAQ’s Jeevan Hariyali Yojana Bihar

Q.जल जीवन हरियाली योजना की आधिकारिक वेबसाइट क्या है ?

Ans.जल जीवन हरियाली योजना से संबंधित आधिकारिक वेबसाइट dbtagriculture.bihar.gov.in है। इस वेबसाइट पर विजिट कर  आप योजना के बारे में सभी प्रकार के जानकारी हासिल कर सकते हैं I

Q.Jal Jeevan Hariyali Yojana क्या है ?

Ans.जल जीवन हरियाली योजना बिहार सरकार के द्वारा शुरू की गई एक जन हितकारी योजना है जिसके अंतर्गत बिहार के वातावरण को प्रदूषित मुक्त रखने के लिए अधिक पेड़ लगाने के लिए लोगों को प्रोत्साहित करना इसके अलावा किसानों को पानी की किल्लत का सामना करना पड़ेगा उसके लिए उन्हें तालाब और कुएं बनाने के लिए आर्थिक मदद पहुंचाना ही योजना का प्रमुख लक्ष्य है I

READ  बिहार में विकलांग प्रमाण पत्र कैसे बनाये | Apply Disability Certificate Bihar

Q.योजना की शुरुवात कब और किसके द्वारा की गयी?

Ans.बिहार राज्य के माननीय मुख्यमंत्री नितीश कुमार द्वारा 26.10.2019 में जल जीवन हरियाली योजना को शुरू करवाया गया है।

Q.जल जीवन योजना को शुरू करवाने का क्या उद्देश्य है?

Ans. जल जीवन हरियाली योजना का प्रमुख उद्देश्य वातावरण को प्रदूषित होने से बचाना है इसके अलावा किसानों को विशेष तौर पर पानी की किल्लत का सामना करना पड़ता है ऐसे में उनकी समस्याओं को दूर करने के लिए भी जल जीवन हरियाली योजना के अंतर्गत तालाब और कुएं बनाए जाएंगे ताकि उन में बारिश के पानी स्टोर कर  सिंचाई की व्यवस्था करना है I

इस ब्लॉग पोस्ट पर आपका कीमती समय देने के लिए धन्यवाद। इसी प्रकार के बेहतरीन सूचनाप्रद एवं ज्ञानवर्धक लेख easyhindi.in पर पढ़ते रहने के लिए इस वेबसाइट को बुकमार्क कर सकते हैं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *