शरद यादव का जीवन परिचय | Sharad Yadav Biography in Hindi, Age, Political Career, Family, Son, Daughter

By | जनवरी 13, 2023
Sharad Yadav Biography

Sharad Yadav Biography in Hindi:- शरद यादव भारत के जाने-माने राजनेताओं में से एक है भारतीय राजनीतिक उनका स्थान उच्च स्तर के राजनीतिक नेताओं में किया जाता है I ऐसे में काफी दुखद समाचार आ रहा है कि शरद यादव अब हमारे बीच नहीं हैं . गुरुग्राम के फोर्टिस अस्पताल में गुरुवार की शाम (12 January 2023) आखरी सांस ली ऐसे में लोगों के मन में उत्सुकता बढ़ जाती है कि शरद यादव कौन थे? (Who is Sharad Yadav) परिवार शरद यादव प्रारंभिक जीवन परिचय राजनीतिक सफर, राजनीतिक उपलब्धि और सोशल मीडिया लिंक अगर आप इनके बारे में कुछ भी नहीं जानते हैं . तो हम आपसे निवेदन करेंगे कि हमारे साथ आर्टिकल पर आकर तक बने रहें चलिए शुरू करते हैं-

तेजस्वी यादव का मोबाइल नंबर क्या है

मनोज तिवारी का जीवन परिचय 

किरण बेदी का जीवन परिचय

सुखविंदर सिंह सुक्खू का जीवन परिचय

Sharad Yadav Biography in Hindi

नाम (Name)शरद यादव
जन्म तारीख (Date Of Birth)1 जुलाई 1947
जन्म स्थान (Place)बंदाई गांव, होशंगाबाद, मध्यप्रदेश
मृत्यु की तारीख (Date of Death)12 जनवरी 2023
मृत्यु का कारण (Deathकार्डियक अरेस्ट
शिक्षा (Educational Qualificationसिविल इंजीनियर
कॉलेज (College)जबलपुर इंजीनियरिंग कॉलेज, रॉबर्टसन कॉलेज जबलपुर
राजनीतिक दल (Political Party)जनता दल
सांसद, राज्य सभा (Member of Parliament, Rajya Sabha)3
लोकसभा सांसद (Lok Sabha MP)4

शरद यादव कौन थे? Who Sharad Yadav

शरद यादव जाने-माने राजनेता और पार्टी जनता दल (यूनाइटेड) के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष रह चुके हैं सात बार लोकसभा के लिए और तीन बार जनता दल से राज्यसभा के सदस्य के लिए चुने गये. साल 2003 में गठन के बाद से साल 2016 तक जनता दल (यूनाइटेड) के पहले अध्यक्ष रह चुके हैं इसके अलावा  कई बार जेल भी गए. पहली बार साल 1974 में जेपी आंदोलन के दौरान आंदोलन में सम्मिलित हुए और आंदोलन समाप्त होने के बाद जब आम चुनाव हुए तो उस चुनाव में उन्होंने मध्य प्रदेश की जबलपुर लोकसभा सीट से चुनाव लड़ा और जीत दर्ज की. साल 1977 में एक बार फिर उसी सीट से चुनाव जीतकर संसद पहुंचे. ऐसे में 75 साल की उम्र में उनकी मृत्यु हो चुकी है जो काफी दुखद समाचार है I

READ  हजरत अली का जन्मदिन 2023 | Hazrat Ali Birthday

शरद यादव का परिवार | Sharad Yadav Family

पिता का नाम ( Sharad Yadav Father Name)नंद किशोर यादव
माता का नाम ( Sharad Yadav Mother Name) 
पत्नी का नाम ( Sharad Yadav Wife  Name)रेखा यादव
बेटे का नाम ( Sharad Yadav Son Name)सुभाषिनी राजा राव
बेटी का नाम ( Sharad Yadav Daughter Name)शांतनु
दामाद का नाम ( Sharad Yadav  son-in-law’s name)राज कमल राव

शरद यादव का प्रारम्भिक जीवन परिचय | Sharad Yadav Biography

शरद यादव का जन्म मध्य प्रदेश के होशंगाबाद के एक छोटे से गांव अखमाऊ में 1 जुलाई 1947 को एक किसान परिवार में हुआ. बचपन से ही पढ़ाई लिखाई में काफी तेज थे इनके घर की आर्थिक स्थिति बहुत ही खराब थी लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी और इन्होंने अपनी प्रारंभिक शिक्षा अपने गांव के स्कूल से प्राप्त की इसके बाद उन्होंने हायर सेकेंडरी इटारसी के हायर सेकेंडरी स्कूल से पूरा किया 1964 में जबलपुर के साइंस कॉलेज से बीएससी और साल 1970 में कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग जबलपुर से इंजीनियरिंग की डिग्री प्राप्त की. पढ़ाई लिखाई में काफी तेज होने के कारण इन्हें गोल्ड मेडल भी दिया गया था I

शरद यादव का राजनितिक सफर | Sharad Yadav Political Career

  • इन्होंने अपना राजनीतिक कैरियर 1971 में कॉलेज के दिनों में ही शुरू हो गया था. जब पहली बार जबलपुर इंजीनियरिंग कॉलेज में छात्र संघ के प्रसीडेंट चुने गए.
  • जेपी आंदोलन में उन्होंने भाग लिया और 1974 में उन्होंने जबलपुर से लोकसभा उपचुनाव में जीत हासिल की और 27 साल की उम्र में सांसद बने.
  •  साल 1977 में इसी सीट से एक बार फिर जीतकर सांसद बने.
  •  1986 में राज्यसभा के लिए चुने और सांसद बने.
  •  साल 1989 में बजाज छोड़कर उत्तर प्रदेश चले गए उत्तर प्रदेश की बदायूं लोकसभा सीट से चुनाव लड़े. और तीसरी बार संसद चुने गये.
  • शरद यादव ने 90 के दशक के अंत में अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में केंद्रीय मंत्री के रूप में काम किया।
  • वर्ष 1989 में वीपी सिंह सरकार में कपड़ा एवं खाद्य प्रसंस्करण मंत्री बने थे.
  • साल 1991 से लेकर 2014 तक लगातार 23 साल बिहार की मधेपुरा लोकसभा सीट से सांसद रहे
  • साल 1995 में उन्हें  जनता दल पार्टी का एग्जीक्यूटिव चेयरमैन नियुक्त किया गया.
  •  साल 1996 में पांचवीं बार लोकसभा सीट का इलेक्शन जीतकर संसद बने.
  • साल 1997 में जनता दल के नेशनल प्रेसिडेंट बने।
  •  साल 1998 में भारत के पूर्व रेल मंत्री जॉर्ज फर्नांडीस की सहायता से जनता दल यूनाइटेड पार्टी की स्थापना की
  • शरद साल 1999 में सिविल एविएशन मिनिस्टर बन गए
  •  साल 2001 में केंद्रीय श्रम मंत्रालय में कैबिनेट मिनिस्टर बनाए गए.
  • वर्ष 2004 में एक बार फिर राज्यसभा के सदस्य चुने गए.
  • साल 2009 में एक बार फिर संसद बने.
  •  साल 2014 में मधेपुरा सीट से चुनाव लड़ा और उनके सामने जन अधिकार पार्टी के नेता पप्पू यादव थे और पप्पू यादव ने शारद को मात देते हुए जीत दर्ज की।
READ  संदीप माहेश्वरी का जीवन परिचय | Sandeep Maheshwari Biography in Hindi

शरद यादव की राजनितिक उपलब्धियां | Sharad Yadav Political Achievement

शरद यादव के राजनीतिक उपलब्धि के बारे में बात करें तो उनके जीवन की सबसे बड़ी उपलब्धि यह है कि भारतीय राजनीतिक मे पहले ऐसे राजनेता है जिन्होंने 3 राज्यों से चुनाव लड़ा और तीनों में उनको जीत हासिल हुई I उन्होंने सबसे पहले मध्य प्रदेश से लोकसभा का चुनाव लड़ा जिसमें उनको जीत हासिल हुई उसके बाद बदांयू सीट और बिहार की मधेपुरा सीट से भी वहां पर भी उनको जीत हासिल की I  इसके अलावा 4 बार  लोकसभा के सांसद और 3 बार राज्यसभा के सांसद रह चुके हैं   I  कई अहम मंत्रालय में मंत्री के रूप में भी काम कर चुके हैं इसलिए हम कह सकते हैं कि शरद पावर ने अपने राजनीतिक जीवन में वह सभी उपलब्धियां हासिल की जो कि एक राजनेता हासिल करना चाहता है I

Sharad Yadav Social media links

Twitterclick here
Instagramclick here
Facebookclick here

FAQ’s Sharad Yadav Biography in Hindi

Q. शरद यादव का जन्म कहाँ हुआ था?

Ans : बंदाई गांव, होशंगाबाद, मध्यप्रदेश

Q : शरद यादव का जन्म कब हुआ था?

Ans : 1 जुलाई 1947

Q : शरद यादव का निधन कब हुआ?

Ans : 12 जनवरी 2023 को

Q : शरद यादव का निधन कहाँ हुआ?

Ans : गुरुग्राम के फोर्टिस अस्पताल में

Q : शरद यादव का निधन के समय उम्र कितनी थी?

Ans : 75 साल

Q : शरद यादव की एजुकेशन क्या थी

Ans : सिविल इंजीनियरिंग

Q : शरद यादव के कितने बच्चे हैं

Ans : एक बेटा और के बेटी

Q : शरद यादव का गोत्र क्या है

Ans : बुंदेला

Q : शरद यादव की शादी कब हुई थी

Ans : 15 फरवरी 1989

READ  Vineeta Singh Biography in Hindi | विनीता सिंह का जीवन परिचय

Q : शरद यादव की बेटी का क्या नाम है?

Ans : सुभाषिनी राजा राव

Q : शरद यादव की बेटे का क्या नाम है?

Ans : शांतनु

इस ब्लॉग पोस्ट पर आपका कीमती समय देने के लिए धन्यवाद। इसी प्रकार के बेहतरीन सूचनाप्रद एवं ज्ञानवर्धक लेख easyhindi.in पर पढ़ते रहने के लिए इस वेबसाइट को बुकमार्क कर सकते हैं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *