बाबा रामदेव जी आरती | Baba Ramdev ji ki Aarti Lyrics MP3 Download PDF

बाबा रामदेव जी की आरती संकलित की है जो आप बाबा रामदेव जयंती के मौके पर गा सकते हैं। इसके साथ ही हमारा यह लेख कई बिंदूओ के आधार पर तैयार किया गया है जिसमें आपको आरती की पीडीएफ से लेकर , आरती डाउनलोड करने और आरती के लिरिक्स तक कि सुविधा मिलेगी। इस लेख में हमने जिन पॉइन्ट्स को एड किया है जैसे कि बाबा रामदेवजी आरती | Baba Ramdev Ji Ki Aarti, बाबा रामदेव जी की आरती डाउनलोड,बाबा रामदेव जी की आरती PDF | Ramdev ji ki Aarti PDF,ramdev baba aarti lyrics | बाबा रामदेव जी की आरती lyrics,Shri Ramdev Ji Ki Aarti | श्री रामदेव जी की आरती,picham dhara su mhara pirji padhariya lyrics
By | September 17, 2023
Follow Us: Google News

बाबा रामदेव जी आरती: Baba Ramdev ji ki Aarti Lyrics MP3 Download PDF:- बाबा रामदेवजी एक लोक देवता है , जिनकी पूजा ना सिर्फ  राजस्थान में बल्कि पूरे भारत में की जाती हैं। बाबा रामदेव राजस्थान राज्य में विद्यमान थे।हर साल भादवा माह के शुक्ल पक्ष की दूतिया के दिन बाबा रामदेव जयंती बड़े ही धूमधाम के साथ मनाई जाती हैं। वहीं राजस्थान में भादवा मेले का भी आयोजन किया जाता हैं। गौरतलब है कि बाबा रामदेव जी 14वीं शताब्दी का राजपूत शासक था, जिसके बारे में कहा जाता है कि उसके पास आश्चर्यजनक शक्तियां थीं, जिसने अपना जीवन पराधीन और वंचित लोगों की किलेबंदी और हिंदू पुनरुत्थानवाद के लिए समर्पित कर दिया, जिन पर हमलावरों ने हमला कर दिया था। आज कई सांप्रदायिक समूहों द्वारा उनका सम्मान किया जाता है। उनके भक्त उन्हें भगवान विष्णु का अवतार मानते हैं।हम आपको बता दें कि बाबा रामदेव जी के अनुयायी ना सिर्फ हिंदू बल्कि मुस्लिम भी है, यहीं कारण है जो हर समुदाय के लोग इनकी जयंती मनाते हैं। बाबा रामदेव जी कि जयंती को बड़े धूमधाम के साथ मनाया जाता हैं।

इस दिन बाबा रामदेव जी की लोगों द्वारा विधि अनुसार पूजा की जाती हैं और आरती गायन के साथ पूजा की समाप्ति होती है। अगर आप बाबा रामदेव जी की जयंती के मौके पर पूजा करना चाहते है और समझ नहीं पा रहे है कि उनकी आरती कहां से पाएं तो हमारा यह लेख बहुत काम आएंगा आपके। हमने इस लेख में बाबा रामदेव जी की आरती संकलित की है जो आप बाबा रामदेव जयंती के मौके पर गा सकते हैं। इसके साथ ही हमारा यह लेख कई बिंदूओ के आधार पर तैयार किया गया है जिसमें आपको आरती की पीडीएफ से लेकर , आरती डाउनलोड करने और आरती के लिरिक्स तक कि सुविधा मिलेगी। इस लेख में हमने जिन पॉइन्ट्स को एड किया है जैसे कि बाबा रामदेवजी आरती | Baba Ramdev Ji Ki Aarti, बाबा रामदेव जी की आरती डाउनलोड,बाबा रामदेव जी की आरती PDF | Ramdev ji ki Aarti PDF,ramdev baba aarti lyrics | बाबा रामदेव जी की आरती lyrics,Shri Ramdev Ji Ki Aarti | श्री रामदेव जी की आरती,picham dhara su mhara pirji padhariya lyrics | पिछम धरासू मारा पीरजी पधारिया mp3 सॉन्ग। इस लेख को अंत तक पढे और बाबा रामदेव जी की आरती अपने परिजनों के साथ साझा करें।

See also  National Epilepsy Day 2023 | राष्ट्रीय मिर्गी दिवस कब व क्यों मनाया जाता है? जाने इतिहास, महत्व और थीम के बारें में

बाबा रामदेवजी आरती | Baba Ramdev Ji Ki Aarti

जय अजमल लाला प्रभु, जय अजमल लाला ।।

भक्‍त काज कलयुग में लीनो अवतारा, जय अजमल लाल ।।

जय अजमल लाला प्रभु………….

अश्‍वनकी अवसारी शोभीत केशरीया जामा ।

शीस तुर्रा हद शोभीत हाथ लीया भाला ।।

जय अजमल लाला प्रभु………….

डुब्‍त जहाज तीराई भैरव दैत्‍य मारा ।

कृष्‍णकला भयभजन राम रूणेचा वाला ।।

जय अजमल लाला प्रभु………….

अंधन को प्रभु नेत्र देत है सु संपती माया ।

कानन कुंडल झील मील गल पुष्‍पनमाल ।।

जय अजमल लाला प्रभु………….

कोढी जय करूणा कर आवे होंय दुखीत काया ।

शरणागत प्रभु तोरी भक्‍तन सुन दाया ।।

जय अजमल लाला प्रभु………….

आरती रामदेव जी की नर नारी गावे ।

कटे पाप जन्‍म-जन्‍म के मोंक्षां पद पावे ।।

जय अजमल लाला प्रभु………….

जय अजमल लाला प्रभु, जय अजमल लाला ।

भक्‍त काज कलयुग में लीनो अवतारा, जय अजमल लाल ।।

जय अजमल लाला प्रभु………….

Download PDF:

आरती(Aarti)-2 

लाल गालों से ढकी अलखधनी की आरती,
नर नाकलंग की आरती को लाल गालों से ढंकना चाहिए।
कंकुने रे केसर हरिणी पर केसर छिड़का जाता है।
रामदेवपीर आरती गीत

उस युग में प्रह्लादजी का द्वार टूट गया था,
प्रह्लादराय पाँच करोड़ तक पहुँचने वाले पहले व्यक्ति थे
सोना करो पत धानी और सोना करो थाल
नारा नकलांगीराय सोना केरा की गद्दी पर बैठे। अलखधनी की आरती…..

बीज युग में शुरू हुआ हरिश्चंद्र का द्वार,
सात कोटि सिद्ध्य रे सतवादी हरिश्चन्द्र राय
रूपा करो पत धानी संग रूपा करो थाल
रूपा केरा सिंघासना नार नकलांगीराय अलखधनी की आरती….

तीसरे युग में युधिष्ठिर का द्वार खुला
नौ कोटि सिद्ध जो ने राजा युधिष्ठिरराय
त्रम्बा करो पात हरिने त्रम्बा करो थल
त्रंबा की गद्दी पर विराजे नारा नकलांगीराय अलखधानी…..

चौथे युग में बलिराजा का द्वार खुला
बारह कोटि सिद्ध जो ने बलिराजाराय।
माटी करो पात धानी और मति करो थाल
पते रे पदर्य बावा नर नाकलंगीराय अलखधनी की आरती…

See also  न्यू ईयर पर कविता हिंदी में | New Year Poem in Hindi (कक्षा-3 से कक्षा- 8 तक)

Download PDF:

बाबा रामदेव जी की आरती डाउनलोड | Peer Baba Ramdev Aarti Download

Baba Ramdev Aarti in Hindi: इस पॉइन्ट के जरिए हम आपको बाबा रामदेव जी की आरती डाउनलोड करने की सुविधा प्रदान कर रहे है। दरअसल हमे आरती डाउनलोड करने की जरुरत पढ़ जाती है पर हमने समझ नहीं आता है कि इसे हम कहां से डाउनलोड करें। आपकी इस समस्या को देखते हुए हम आपके लिए आरती डाउनलोड करने की सुविधा लेकर आएं हैं।

इन्हें भी पढ़ें:- Other Article Peer Baba Ramdev:-

1.पीर बाबा रामदेव जयंती कब व क्यों मनाई जाती है?
2.बाबा रामदेव जयंती की हार्दिक शुभकामनाएं | बाबा रामदेव जयंती बधाई सन्देश |
3.लोक देवता बाबा रामदेव जी का जीवन परिचय | (जन्म कथा, पुराना इतिहास)

बाबा रामदेव जी की आरती पीडीऍफ़ | Ramdev ji Ki Aarti PDF

हमारे बाबा रामदेव जी की आरती PDF | Ramdev ji ki aarti PDF पॉइन्ट के जरिए आपको बाबा रामदेव जी की आरती की पीडीएफ उपलब्ध करवा रहे है। बाबा रामदेव की पूजा करते वक्त उनकी आरती गायन होता है, जिसको ध्यान देते हुए हम आपके लिए आरती पीडीएफ में लेकर आएं है जो आप डाउनलोड कर सकते है और अपने परिजनों के साथ साझा कर सकते हैं।

Ramdev Baba Aarti lyrics | बाबा रामदेव जी की आरती लिरिक्स

|| बाबा रामदेव जी की आरती ||

ॐ जय श्री रामादे स्वामी जय श्री रामादे।

पिता तुम्हारे अजमल मैया मेनादे।।

ओउम जय श्री रामादे ………….

रूप मनोहर जिसका घोड़े असवारी।

कर में सोहे भाला मुक्तामणि धारी।।

ओउम जय श्री रामादे ………….

विष्णु रूप तुम स्वामी कलियुग अवतारी।

सुरनर मुनिजन ध्यावे जावे बलिहारी।।

ओउम जय श्री रामादे ………….

दुख दलजी का तुमने भर में टारा।

सरजीवन भाण को तुमने कर डारा।।

ओउम जय श्री रामादे ………….

नाव सेठ की तारी दानव को मारा।

पल में कीना तुमने सरवर को खारा।।

ओउम जय श्री रामादे ………….

See also  Hemkund Sahib Yatra 2023 | हेमकुंड साहिब के कपाट कब खुल रहे हैं? यात्रा कैसे करें श्री हेमकुंड साहिब का इतिहास, मान्यता

Shri Ramdev Ji Ki Aarti | श्री रामदेव जी की आरती

जय श्री रामदेव अवतारी, कलयुग में धणी आप पधारे ।

सतयुग में बाबा विष्‍णु बन आए, मधु-कटैभ को मार गिराये

ब्रह्मा जी को आप ऊबारो, देव श्री कहलाये ।।

जय श्री रामदेव अवतारी ……………….

त्रेता में बाबा राम बन आए, रावण को मार गिराये

महाबीर की आप उबारो, पुरूषोत्‍तम कहलाये ।।

जय श्री रामदेव अवतारी ……………….

द्वापर में बाबा कृष्‍ण बन आए, कंस को मार गिराये

सुदामा को आप उबारो, वासुदेव कहलाये ।।

जय श्री रामदेव अवतारी ……………….

कलयुग में बाबा रामदेव बन आए, भैरों-राकस को मार गिराये

बोहिता बनिए को आप उबारो, रामपीर कहलाये ।।

जय श्री रामदेव अवतारी ……………….

माता मैनादे पिता अजमाल जी, बाबा संग में डाली आये

देबो साबो पुत्र थारे, नेतली कहलाये ।।

जय श्री रामदेव अवतारी ……………….

श्री रामपीर की आरती, जो कोई नर गाये

जन्‍म-जन्‍म के कष्‍ट मिटे, भव सागर तर जाये ।।

जय श्री रामदेव अवतारी ……………….

गरू नरसिंह पाण्‍डे शरणे – ”बाबा”, प्रकाश पाण्‍डे गाये

प्रेमनगर में मन्दिर तिहारा, गढ़ सिरसा कहलाये ।।

जय श्री रामदेव अवतारी, कलयुग में धणी आप पधारे ।

Picham Dhara Su Mhara Pirji Padhariya lyrics | पिछम धरासू मारा पीरजी पधारिया MP3 सॉन्ग

|| बाबा रामदेव जी की आरती ||

पिछम धरां सूं म्हारा पीर जी पधारिया।

घर अजमल अवतार लियो |

लाछां सुगणा करे थारी आरती।

हरजी भाटी चंवर ढोले।

पिछम धरां सूं म्हारा पीर जी पधारिया।

गंगा जमुना बहे सरस्वती।

रामदेव बाबो स्नान करे।

लाछां सुगणा करे थारी आरती।

हरजी भाटी चंवर ढोले।

पिछम धरां सूं म्हारा पीर जी पधारिया।

घिरत मिठाई बाबा चढे थारे चूरमो

धूपारी महकार पङे

लाछां सुगणा करे थारी आरती।

हरजी भाटी चंवर ढोले।

पिछम धरां सूं म्हारा पीर जी पधारिया।

ढोल नगाङा बाबा नोबत बाजे

झालर री झणकार पङे

लाछां सुगणा करे थारी आरती।

हरजी भाटी चंवर ढोले।

पिछम धरां सूं म्हारा पीर जी पधारिया।

दूर-दूर सूं आवे थारे जातरो

दरगा आगे बाबा नीवण करे।

लाछां सुगणा करे थारी आरती।

हरजी भाटी चंवर ढोले।

पिछम धरां सूं म्हारा पीर जी पधारिया।

हरी सरणे भाटी हरजी बोले।

नवों रे खण्डों मे निसान घुरे।

लाछां सुगणा करे थारी आरती।

हरजी भाटी चंवर ढोले।

पिछम धरां सूं म्हारा पीर जी पधारिया।

jai baba ramdev pir

|| जै बाबा रामदेव् ||

इस ब्लॉग पोस्ट पर आपका कीमती समय देने के लिए धन्यवाद। इसी प्रकार के बेहतरीन सूचनाप्रद एवं ज्ञानवर्धक लेख easyhindi.in पर पढ़ते रहने के लिए इस वेबसाइट को बुकमार्क कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *