National Cancer Awareness Day 2023 | राष्ट्रीय कैंसर जागरूकता दिवस कब व क्यों मनाया जाता है? जाने इतिहास, महत्व, थीम और जुड़े फैक्ट्स

National Cancer Awareness Day 2023

राष्ट्रीय कैंसर जागरूकता दिवस 2023 : भारत में हर साल 7 नवंबर के  दिन राष्ट्रीय कैंसर जागरूकता दिवस  (National Cancer Awareness Day) मनाया जाता हैं। इसके माध्यम से लोगों को कैंसर बीमारी के प्रति जागरूक किया जाता हैं। जैसा कि आप लोग जानते हैं कि कैंसर एक घातक बीमारी हैं। प्रत्येक साल  कैंसर बीमारी के कारण लाखों लोगों ना  सिर्फ भारत भारत में बल्कि पूरी दुनिया में काल के गाल में समा जाते हैविश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के अनुसार कैंसर दुनिया की दूसरी घातक बीमारी हैं। पूरे दुनिया में 1 करोड़ 80 लाख लोग कैंसर बीमारी से पीड़ित हैं। इस बीमारी के रोगी के बचने की संभावना लगभग ना के बराबर होती हैं। ऐसे में लोगों को इस बीमारी के प्रति जागृत करने के उद्देश्य से ही भारत में  राष्ट्रीय कैंसर जागरूकता दिवस मनाया जाता हैं।

आज के आर्टिकल में हम आपको National Cancer Awareness Day 2023 से जुड़ी जानकारी शेयर करेंगे जैसे कि  इसको मानने की शुरुआत कब हुई, इस दिन का क्या महत्व है, इस दिवस का इतिहास क्या है और भी बहुत कुछ। अगर आप नेशन कैंसर अवेयरनेस-डे के बारे में सभी जरूरी जानकारी पाना चाहते है तो इस लेख को आखिर तक पढ़ना बिलकुल मिस न करें। 

राष्ट्रीय कैंसर जागरूकता दिवस क्या है? What is National Cancer Awareness Day 

राष्ट्रीय कैंसर जागरूकता दिवस राष्ट्रीय स्तर पर मनाएं जाने वाला स्वास्थ्य संबंधित एक महत्वपूर्ण दिवस हैं। इसके माध्यम से लोगों को कैंसर बीमारी के प्रति जागरूक किया जाता हैं। जैसा कि आप लोगों को पता है कि कैंसर एक बहुत ही गंभीर और घातक बीमारी हैं। इस बीमारी के कारण भारत में प्रत्येक साल 13 लाख लोगों की मौत होती हैं। ऐसे में राष्ट्रीय स्तर पर  कैंसर दिवस मानने से कैंसर बीमारी के प्रति लोग जागरूक हो पाएंगे। राष्ट्रीय कैंसर जागरूकता दिवस के दिन भारत में विभिन्न प्रकार के कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। जिसमें लोगों को कैंसर बीमारी से जुड़ी सभी आवश्यक जानकारी उपलब्ध करवाई जाती हैं।

यह भी पढ़ें:- विश्व रेडियोग्राफी दिवस क्या है, कब व क्यों मनाया जाता है?

राष्ट्रीय कैंसर जागरूकता दिवस क्यों मनाया जाता है? Why National Cancer Awareness Day is Celebrated

राष्ट्रीय कैंसर जागरूकता दिवस को मनाने के पीछे सबसे प्रमुख वजह है कि लोगों को कैंसर जैसी घातक बीमारी से सचेत और जागृत करना हैं। ताकि इस गंभीर और खतरनाक बीमारी से बचा जा सकें। कैंसर पीड़ित मरीजों को मोटिवेट और प्रोत्साहित करना इसके लिए  नो हेयर सेल्फी (No Hair Selfie). अभियान की शुरुआत की गई है। जिसमें लोग अपने बाल कटवाएंगे और सोशल मीडिया पर उन्हें शेयर करेंगे ताकि कैंसर से पीड़ित व्यक्ति को मोटिवेशन मिले। आप लोगों  कि जानकारी के लिए बता दें कि  जब कैंसर बीमारी का कीमोथेरेपी शुरू होती है तो कैंसर रोगी के बाल चले जाते है। जिसके कारण वह अपने आप को समाज से काफी अलग समझते हैं। उनकी इस सोच को बदलने के लिए ही No Hair Selfie अभियान को शुरू किया गया हैं। ताकि उनका मनोबल हमेशा बना रहे हैं। ताकि कैंसर जैसी बीमारी से लड़ने में उन्हें शक्ति मिल सकें |

See also  क्रिसमस डे की कहानी हिंदी में | Christmas Day Story in Hindi

राष्ट्रीय कैंसर जागरूकता दिवस का इतिहास क्या है? National Cancer Awareness Day History

अगर आपके मन में सवाल आ रहा है कि   राष्ट्रीय कैंसर जागरूकता दिवस का इतिहास क्या है? तो हम  बता दे कि सबसे पहले राष्ट्रीय कैंसर जागरूकता दिवस की शुरुआत स्वास्थ्य और कल्याण मंत्रालय के मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन द्वारा 2014 में की गई थी । इस दिवस को भारत में मनाने का प्रमुख मकसद लोगों में कैंसर बीमारी के प्रति अवेयरनेस  फैलाना  हैं।  देश में कैंसर की बीमारी का उपचार अच्छी तरह से हो सके इसके लिए 1975 में राष्ट्रीय कैंसर नियंत्रण कार्यक्रम शुरू किया गया था । ताकि कैंसर जैसी बीमारी पर नियंत्रित किया जा सकें। कैंसर  बीमारी में देखा गया है कि दो तिहाई मामलों में बीमारी का पता सबसे आखिरी चरण में जाकर लगता हैं।  यही वजह है कि इस बीमारी को दुनिया का दूसरा सबसे Deadly Diseases घोषित किया गया हैं।

राष्ट्रीय कैंसर जागरूकता दिवस के पीछे की कहानी ? National Cancer Awareness Day Story

 राष्ट्रीय कैंसर दिवस भारत में कैंसर बीमारी के प्रति लोगों को जागरूक करने के उद्देश्य से मनाया जाता है। लेकिन इस दिवस को मनाने के पीछे की कहानी भी काफी मोटिवेशन से परिपूर्ण हैं। राष्ट्रीय कैंसर जागरूकता दिवस 7 नवंबर को नोबल पुरस्कार विजेता वैज्ञानिक मैडम क्यूरी जयंती के दिन पर भारत में मनाया जाता हैं। उनका जन्म पोलैंड में 1867 में  हुआ था।  उन्होंने रेडियम और पोलोनियम की खोज की थी। जो कैंसर  बीमारी में उपचार के लिए इस्तेमाल होता हैं। इसके अलावा उन्होंने कैंसर के इलाज के लिए न्यूक्लियर एनर्जी और रेडियोथैरेपी का भी आविष्कार किया था।

राष्ट्रीय कैंसर जागरूकता दिवस का महत्व? Significance of National Cancer Awareness Day

राष्ट्रीय कैंसर जागरूकता दिवस के माध्यम से लोगों को कैंसर के बारे में शिक्षित और सचेत किया जाएगा। ताकि लोग आसानी से कैंसर के कारण लक्षण और  निदान और उपचार के बारे में भी उनको जानकारी मिल सकें 

See also  Women's Day 2023 | महिला दिवस कब मनाया जाता हैं? | अंतराष्ट्रीय महिला दिवस क्यों मनाया जाता हैं?

कैंसर के जोखिम कारकों को कम करना:

राष्ट्रीय कैंसर जागरूकता दिवस के द्वारा कैंसर के जो भी कारक हैं’ उससे संबंधित बातें उन्हें बताई जाती हैं। इसके अलावा लोग किस प्रकार स्वस्थ जीवन शैली अनुसरण कर कैंसर बचा जा सकता है’ उसके बारे में भी आपको जानकारी प्रदान की जाएगी।

कैंसर के उपचार के बारे में जागरूकता बढ़ाना

कैंसर के उपचार के बारे में लोगों  जागरूक किया जाता है ताकि लोग आसानी से जान सके कि कैंसर के उपचार करने के कौन-कौन से तरीके और ऑप्शन है हैं। जिसके द्वारा  कैंसर बीमारी का इलाज किया जा सकता हैं।

भारत में कैंसर मरीज के आकंड़े | Statistics of Cancer Patients in India

  • देश का दूसरा सबसे कम आबादी वाला राज्य मिजोरम में कैंसर रोगियों की संख्या सबसे कम हैं।
  • इंटरनेशनल मेडिकल जनरल लैन्सेट’ के मुताबिक 67% महिलाओं कैंसर जैसी घातक बीमारी से बचाया जा सकता हैं। 
  • यदि समय रहते कैंसर बीमारी के रोगियों का इलाज अगर सही तरीके से किया जाए तो उनकी जान बच सकती हैं। वहीं 
  • नेशनल फैमली हेल्थ सर्वे 2019-21 के मुताबिक भारत में 30 से 49 आयु वर्ष की सिर्फ 0.9 फीसदी महिलाएं ऐसी हैं, जो जीवन में कभी भी ब्रेस्ट कैंसर स्क्रीनिंग  प्रक्रिया से गुजरी हैं।
  • भारत में सर्वाइकल कैंसर का आंकड़ा  आंकड़ा 1.9 फीसदी है।
  • भारत के महिलाओं में  सर्वाइकल कैंसर के मामले सबसे अधिक देखे गए हैं
  • भारत में कैंसर जैसी घातक बीमारी महिलाओं के मौत का कारण बन रही  हैं।
  • भारत में 2020 में कैंसर से 7.70 लाख मौत हुईं।
  • भारत में महिलाओं को ब्रेस्ट कैंसर अधिक हो रहा है जो उनके मौत का प्रमुख कारण हैं।

भारत में कैंसर से होने वाली मौत | Cancer Deaths in India

भारत में प्रत्येक साल कैंसर से 7 लाख 84 हजार लोगों की मौत होती है और प्रत्येक दिन 159 लोग कैंसर बीमारी से मरते हैं। इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर) के द्वारा जारी की गई रिपोर्ट के अनुसार 2020 में राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में कैंसर के अनुमानित मामले 2020 में 13. 92 लाख मामले सामने आए थे। 2021 में बढ़कर य 14.26 लाख हुए और फिर 2022 में बढ़कर 14.61 लाख पर पहुंच गए थे | 2020 में भारत में कैंसर के कारण अनुमानित मृत्यु दर 7.70 लाख दर्ज की गई हैं। अगर 2021 की बात करें  7.89 लाख और 2022 में बढ़कर 8.8 लाख हो गई थी। 2023 के आंकड़े भी काफी डरावने वाले है जिसके data अभी तक जारी नहीं किए गए हैं।  जैसे ही जानकारी आती है हम आपको अपडेट करेंगे।

See also  Valmiki Jayanti 2023: महर्षि वाल्मीकि जयंती कब? जानें रामायण के रचियता का इतिहास

राष्ट्रीय कैंसर जागरूकता दिवस से जुड़े अनकहें फैक्ट्स | Untold facts Related to National Cancer Awareness Day

  • भारत में हर 8 मिनट में एक महिला की सर्वाइकल कैंसर से मौत हो जाती है।
  • भारत में महिलाओं में ब्रेस्ट कैंसर सबसे अधिक देखा गया है, जिसके अनुसार ब्रेस्ट कैंसर से पीड़ित दो महिलाओं में से एक महिला की मृत्यु निश्चित होती हैं।
  • तंबाकू के कारण 3500 से अधिक लोगों की मृत्यु होती हैं।
  • तंबाकू के सेवन के कारण 2018 में पुरुषों और महिलाओं में 3,17,928 मौतों (लगभग) के लिए जिम्मेदार है।
  • विश्व संगठन के अनुसार पूरी दुनिया में अनुमान है कि लगभग 2.25 मिलियन लोग कैंसर रोग से पीड़ित हैं।
  •  हर साल 11,57,294 लाख से ज्यादा नए कैंसर मामले सामने आते हैं।
  • 2018 में  जारी किए गए डाटा के मुताबिक कैंसर से कुल: 7,84,821 लोग मृत्यु को प्राप्त हुए है पुरुष: 4,13,519 महिलाएँ: 3,71,302
  • 2018 में, 75 वर्ष की आयु से पहले कैंसर से मरने का जोखिम पुरुषों में 7.34% और महिलाओं में 6.28% हैं।

Summary:-

उम्मीद करता हूं कि हमारे द्वारा लिखा गया।आर्टिकल National Cancer Awareness Day आपको पसंद आएगा। ऐसे में आर्टिकल संबंधित कोई भी सुझाव या प्रश्न है तो आप हमारे कमेंट सेक्शन में आकर दर्ज कर सकते हैं ,उसका उत्तर हम आपको जरूर देंगे तब तक के लिए धन्यवाद और मिलते हैं अगले आर्टिकल में:- 

FAQ’s: National Cancer Awareness Day 2023

Q. राष्ट्रीय कैंसर जागरूकता दिवस का मनाया जाता है? 

Ans. राष्ट्रीय कैंसर जागरूकता दिवस हर साल 7 नवंबर को मनाया जाता है।

Q राष्ट्रीय कैंसर जागरूकता दिवस का उद्देश्य क्या है?

Ans. National Cancer Awareness Day in Hindi का उद्देश्य कैंसर के बारे में  जागरूक करना ताकि लोग इस गंभीर बीमारी से बच सकें

Q. कैंसर शब्द की उत्पत्ति किसने की?

Ans कैंसर शब्द की उत्पत्ति का श्रेय यूनानी चिकित्सक हिप्पोक्रेट्स (460-370 ईसा पूर्व) को दिया जाता है।  चिकित्सा विज्ञान का फादर कहा जाता हैं।

Q.कैंसर के शुरुआती लक्षण क्या होते हैं?

Ans.

  •  वजन कम होना,
  •  बुखार
  •  भूख में कमी, 
  • हड्डियों में दर्द,
  •  खांसी या मुंह से खून आना। 

Q. कैंसर का इलाज क्या है?

Ans.  सर्जरी , रेडिएशन थेरेपी या कीमोथेरेपी , हार्मोन थेरेपी और इम्यूनोथेरेपी ,सर्जिकल ट्रीटमेंट और नॉन- सर्जिकल ट्रीटमेंट

इस ब्लॉग पोस्ट पर आपका कीमती समय देने के लिए धन्यवाद। इसी प्रकार के बेहतरीन सूचनाप्रद एवं ज्ञानवर्धक लेख easyhindi.in पर पढ़ते रहने के लिए इस वेबसाइट को बुकमार्क कर सकते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Optimized with PageSpeed Ninja