करवा चौथ पर चांद को अर्घ्य कैसे दे | जानिए अर्घ्य की सही विधि

Happy Karva Chauth

करवा चौथ पर चांद को अर्घ्य कैसे दे:- जैसा कि आप लोग जानते हैं कि आज यानी 13 अक्टूबर करवा चौथ का पवित्र त्यौहार है . इस दिन भारतीय नारी अपने पति की लंबी उम्र के लिए निर्जला व्रत का पालन करेगी और रात को चांद देखकर अपने करवा चौथ व्रत पूरा करेंगे ऐसे में आपके मन में सवाल आता होगा कि आखिर में करवा चौथ के दिन चांद को अर्घ्य क्यों दिया जाता है? उसका सही समय क्या होता है? और उसकी विधि क्या है? अगर आप इसके बारे में नहीं जानते हैं तो हम आपसे निवेदन करेंगे कि हमारे पोस्ट पर आखिर तक बनी रहे हैं चलिए शुरू करते हैं-

करवा चौथ के दिन चांद को अर्घ्य क्यों दिया जाता हैं?

चंद्रमा सभी प्रकार के औषधियों के स्वामी हैं . इसलिए करवा चौथ के दिन महिलाएं चंद्रमा को देख क व्रत पूरा करते हैं .चंद्र पूजन से दीर्घ आयु और पति-पत्नी के बीच प्रेम में वृद्धि होती है। चंद्रमा मन का भी कारक ग्रह है और स्त्रियों का मन चंचल होता है . इसलिए उनकी चंचलता को समाप्त करने के लिए चंद्र देव की पूजा की जाती है . क्योंकि चंद्रदेव उसे प्राप्त आशीर्वाद से उनके पति की उम्र लंबी होती है I

चांद को अर्घ्य देने का समय

शाम 07 बजकर 54 मिनट से 08 बजकर 12 मिनट तक।

See also  World Water Day 2023 Theme | क्या है विश्व जल दिवस 2023 की थीम | जानिए विश्व जल दिवस का इतिहास, महत्त्व

चांद को अर्घ्य देने की विधि

सबसे पहले आपको चांदी/ ताम्बें के पात्र में स्वच्छ जल थोड़ा व थोड़ा सा दूध मिलाकर चंद्रमा को अर्घ्य दे। यह क्रिया चंद्रोदय के समय करनी होती हैं।. ऐसा करने से आपके मन में जितने प्रकार की नकारात्मक विचार हैं .उसका निवारण हो जाएगा और . पति के स्वस्थ मजबूत होगा ताकि आपके पति की उम्र लंबी हो सके I इसके अलावा इस दिन महिलाएं करवाचौथ से जुड़ी हुई पुराणिक कथा भी सुनते हैं I

Karva Chauth

इस ब्लॉग पोस्ट पर आपका कीमती समय देने के लिए धन्यवाद। इसी प्रकार के बेहतरीन सूचनाप्रद एवं ज्ञानवर्धक लेख easyhindi.in पर पढ़ते रहने के लिए इस वेबसाइट को बुकमार्क कर सकते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Optimized with PageSpeed Ninja