बाल दिवस पर भाषण हिंदी में | Children’s Day Speech in Hindi

By | नवम्बर 25, 2022
Children's Day Speech in Hindi

Children’s Day Speech In Hindi:- जैसा कि आप लोग जानते हैं कि 14 नवंबर को भारत में बाल दिवस हर्षोल्लास और धूमधाम के साथ मनाया जाएगा I बाल दिवस पंडित जवाहरलाल नेहरू के जन्मदिन के उपलक्ष में मनाया जाता है इसकी प्रमुख वजह है कि नेहरू जी बच्चों से बहुत ज्यादा प्यार करते हैं और बच्चे उन्हें प्यार से चाचा नेहरू कहा करते थे I ऐसे में 1964 में उनकी मृत्यु हुई तब उस समय के तत्कालीन सरकार ने इस बात की घोषणा की कि 14 नवंबर को आप भारत में Bal Diwas के रूप में मनाया जाएगा I तभी से भारत में बाल दिवस 14 नवंबर को मनाया जाए लगा बाल दिवस के दिन देश के अंदर विभिन्न प्रकार के सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं . जिसमें छोटे बच्चे सम्मिलित होते हैं ताकि उनका मानसिक और बौद्धिक विकास किया जा सके ऐसे में अगर आप 1 छात्र हैं और बाल दिवस पर अपना भाषण स्कूल में प्रस्तुत करना चाहते हैं लेकिन आपको समझ में नहीं आ रहा है कि आप बाल दिवस पर भाषण हिंदी में कैसे देंगे तो हम आपसे निवेदन करेंगे कि हमारे आर्टिकल पर आखिर तक बने रहे हैं चलिए शुरू करते हैं-

Children’s Day (Bal Diwas)Similar Content
बाल दिवस कब मनाया जाता है? इतिहास व महत्व जानेClick Here
बाल दिवस पर भाषण हिंदी मेंClick Here
बाल दिवस पर स्टेटस, शायरी, कोट्सClick Here
बाल दिवस पर कविता हिंदी मेंClick Here
बाल दिवस पर निबंध हिंदी मेंClick Here
बाल दिवस पर कहानीClick Here
बाल दिवस पर गीत Click Here

Children’s day speech in Hindi

नमस्कार, प्रधान अध्यापक और हमारे प्यारे सहपाठियों बड़े हर्ष की बात है कि हम सभी लोग बाल दिवस के पावन अवसर पर बाल दिवस मनाने के लिए इकट्ठा हुए हैं मेरे लिए गर्व की बात है कि मुझे बाल दिवस के ऊपर भाषण प्रस्तुत करने का अवसर दिया गया है मैं बाल दिवस के इस अवसर पर अपने विचार रखना चाहता/चाहती हूँ। बच्चे देश और समाज दोनों का भविष्य होते हैं ऐसे में बाल दिवस महापर्व हर्षोल्लास के साथ मनाना पूर्व प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू जी को हमारी सच्ची श्रद्धांजलि है I हम पूरे जीवन भर माता-पिता, शिक्षकों और अन्य संबंधियों के जीवन में बच्चों की भागीदारी और योगदान को नजअंदाज नहीं कर सकते। बच्चे सभी के द्वारा पसंद यह जाते हैं और उनसे सभी का बच्चों से विशेष लगाव  होता है बिना बच्चे के जीवन नीरस और बेकार है I ऐसा कहा जाता है कि भगवान को अगर आप पृथ्वी पर खोज रहे हैं तो आप बच्चे में उनका प्रतिबिंब देख सकते हैं बाल दिवस पूरे विश्व में धूमधाम के साथ मनाया जाता है सबसे बड़ी बात है कि बाल दिवस मना कर हम उन बच्चों को भी सच्ची श्रद्धांजलि दे रहे हैं जिनकी मृत्यु कम उम्र में हो गई I

READ  PM Kisan 12th Kist | पीएम किसान योजना की 12वीं किस्त जल्द होगी जारी

बाल दिवस विभिन्न देशों में अलग-अलग तिथियों को मनाया जाता है हालांकि भारत में बाल दिवस 14 नवंबर को मनाया जाता है 14 नवंबर को भारत के पूर्व प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू जी का जन्म हुआ था उनको बच्चों से खास प्यार और लगाव था जिसके कारण बच्चे उन्हें चाचा नेहरू भी कहा करते थे बच्चों के प्रति उनके प्यार और स्नेह को देखते हुए जब 1964 में उनकी मृत्यु हुई तब उस समय के सरकार ने इस बात की घोषणा की कि पंडित जवाहरलाल नेहरू के जन्मदिन को अब भारत में बाल दिवस के रूप में मनाया जाएगा और तभी से बाल दिवस मनाने की परंपरा भारत में शुरू हुई और जो आज तक कायम है और आने वाले भविष्य में भी इसी तरह बाल दिवस को भारत में मनाया जाएगा I बाल दिवस उत्साह और उल्लास के साथ मनाया जाता है यह बच्चों का दिन होता है इस दिन बच्चों के लिए भिन्न प्रकार के प्रतियोगिता और कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं जिनमें बच्चे सम्मिलित होकर अपना मानसिक और बौद्धिक विकास करते हैं और साथ में इन प्रतियोगिता में अच्छा प्रदर्शन करने वाले छोटे बच्चों को पुरस्कृत भी किया जाता इस दिन का उत्सव बच्चों के प्रति हमारी प्रतिबद्धता को नवीनीकृत करने की याद दिलाता है, जिसमें बच्चों का कल्याण, उचित स्वास्थ्य, देखभाल, शिक्षा, आदि शामिल है। बच्चों को चाचा नेहरू के आदर्शों पर चलने के लिए प्रेरित किया जाता है I

आर्टिकल का प्रकारभाषण (Bal Diwas Par Speech)
आर्टिकल का नामबाल दिवस पर भाषण
साल2022
कब मनाया जाएगा14 नवंबर को
क्यों मनाया जाएगापंडित जवाहरलाल नेहरू के जन्मदिन के उपलक्ष में
विश्व में कब मनाया जाता है20 नवंबर को
बाल दिवस मनाने का प्रमुख उद्देश्यबच्चों के अधिकार और भविष्य को सुरक्षित करना

Bal Duwas Par Bhashan

बच्चों को किसी भी मजबूत राष्ट्र की नींव.को मजबूत करने में अपनी अहम भूमिका निभाते हैं I छोटे बच्चे किसी भी देश का भविष्य होते हैं क्योंकि आने वाले दिनों में भविष्य की बागडोर उनके हाथों में होगी इसलिए छोटे बच्चों का समुचित विकास हो उसकी जिम्मेदारी हमारे ऊपर है और साथ में उनका चरित्र आदर्श हो उसके लिए भी हम सबको मिलकर प्रयास करना होगा तभी जाकर बच्चों का चरित्र आदर्श और उच्चतम हो पाएगा तभी जाकर हमारा देश महान बनेगा I इसके अलावा बाल दिवस के माध्यम से बच्चों को उनके अधिकारों के प्रति जागरूक करने का भी काम किया जाता है छोटे बच्चों को हमें निम्नलिखित अधिकार प्राप्त होने चाहिए जिसका विवरण हम नीचे जा रहे हैं

  •  माता पिता मटका के द्वारा उन्हें उचित देखभाल और सभी प्रकार के बुनियादी सुविधा मिलनी चाहिए
  • उन्हें उचित भोजन कपड़े इत्यादि प्रदान करना प्रत्येक माता-पिता का कर्तव्य है
  • बच्चों को स्वास्थ्य वर्धक और स्वच्छ वातावरण देना ताकि वह अपने आप को सुरक्षित महसूस करें
  •  उचित और अच्छे स्तर की शिक्षा मिलनी चाहिए।
  • विकलांग होने की स्थिति में उनके उचित देखरेख और भी ज्यादा करना होगा ताकि विकलांग बच्चे अपने आप को असहाय ना समझे
READ  कृष्ण जन्माष्टमी 2022 | Happy Krishna Janmashtami | जन्माष्टमी कब है, क्यों मनाई जाती हैं, महत्व, कथा, इतिहास जाने

मैं अपना भाषण समाप्त करने से पहले आपसे अनुरोध करूंगा कि छोटे बच्चों का भविष्य आपके हाथों में है इसलिए उनके विकास के लिए आपको निरंतर काम करना होगा तभी जाकर बच्चों का भविष्य सुरक्षित और उज्जवल बन पाएगा I मैं अपने भाषण का समाप्ति  एक छोटे से कथन के माध्यम से करूंगा ” आज के बच्चे कल का भविष्य

Children’s day par Bhashan Hindi me

आदरणीय महानुभाव, प्रधानाचार्य जी, अध्यापक व अध्यापिकाएं और मेरे सहपाठियों को सुप्रभात। जैसा कि हम सभी जानते हैं कि हम यहाँ स्वतंत्र भारत के पहले प्रधानमंत्री के जन्मदिन अर्थात् बाल दिवस को मनाने के लिए इकट्ठा हुये हैं। मैं इस महान उत्सव को अपने लिए, यादगार उत्सव बनाने के लिए बाल दिवस पर भाषण देना चाहती/चाहती हूँ। हर साल 14 नवम्बर को, पूरे देश के विद्यालयों और कॉलेजों में बाल दिवस के रुप में मनाया जाता है। 14 नवम्बर जवाहर लाल नेहरु का जन्म दिवस है।

उनका जन्म दिन बाल दिवस के रुप में इसलिए मनाया जाता है क्योंकि वह बच्चों से बहुत प्यार और स्नेह करते थे। उन्होंने अपने पूरे जीवनभर बच्चों को बहुत महत्व दिया और वह उनसे बात करना भी बहुत पसंद करते थे। वह हमेशा बच्चों के बीच घीरे हुए हुए  रहते थे और उनसे वार्तालाप करना पंडित जवाहर नेहरू को बहुत ज्यादा पसंद

यह दिन कैबिनेट मंत्रियों और उच्च अधिकारियों के साथ कुछ अन्य महत्वपूर्ण इस दिन एक जगह इकट्ठा होकर इस महान नेता को पुष्प अर्पित कर कर सच्ची श्रद्धांजलि देते हैं इसके अलावा उस दिन विभिन्न प्रकार सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं इसके अलावा इस दिन प्रार्थना सभा का भी आयोजन किया जाता है जिसमें विभिन्न प्रकार के आध्यात्मिक गायन गाया जाता है मैं चाचा नेहरु के निस्वार्थ बलिदान, और उनके द्वारा देश के हित के लिए किए गए कार्य के प्रति में अपनी सच्ची श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं इस दिन स्कूल और कॉलेजों में काफी उत्साह के साथ बाल दिवस मनाया जाता है स्कूलों में विशेष तौर पर कई प्रकार के कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं जैसे वाद-विवाद निबंध पत्र लेखन सामान्य ज्ञान फैंसी ड्रेस कंपटीशन नाटक इत्यादि इन सभी में अच्छा प्रदर्शन करने वाले छात्रों को पुरस्कार दिया जाता है ताकि छोटे बच्चों में शुरुआती दिनों से ही देशभक्ति की भावना को जागृत कर उनका आदर्श चरित्र हम निर्मित कर सके I

पं. जवाहर लाल नेहरु के बारे में, भाषण सुनने के लिए भारी संख्या में छात्रों की भीड़ इकट्ठा होती है पंडित जवाहरलाल नेहरू ने अपने पूरे जीवन में छात्रों को राष्ट्र के प्रति अपना कर्तव्य कैसे निभा करना है उसकी प्रेरणा उन्होंने लगातार दिया वह हमेशा बच्चों को अपनी मातृभूमि के लिए साहसिक कार्य करने और बलिदान देने के लिए प्रेरित करते थे। बाल दिवस के दिन पर केवल बच्चों को नहीं अपितु हमें भी भी पंडित नेहरू जी के जीवन को ध्यान से पढ़ना चाहिए ताकि आप उनके आदर्श और विचारधारा को अपने अंदर आत्मसात कर सके तभी जाकर राष्ट्र निर्माण में आप अपनी भूमिका मजबूती के साथ निभा पाएंगे

READ  गणेश चतुर्थी स्टेट्स हिंदी | Ganesh Chaturthi Status in Hindi

मैं अपने भाषण की समाप्ति जवाहरलाल नेहरू के द्वारा बच्चों के विषय में दिए गए कथन के माध्यम से करूंगा उन्होंने कहा था कि

बाल दिवस पर भाषण PDF children’s day speech pdf in hindi

बाल दिवस संबंधित भाषण का पीडीएफ अगर आप प्राप्त करना चाहते हैं तो हम आपको उसका लिंक नीचे दे रहे हैं जहां पर जाकर आप इसे आसानी से डाउनलोड कर सकते उसका लिंक हम आपको नीचे दे रहे हैं जो इस प्रकार है-

बाल दिवस पर भाषण कैसे दे

बाल दिवस पर आप भाषण देना चाहते हैं लेकिन आपको समझ में नहीं आ रहा कि भाषण की शुरुआत कैसे करें तो हम आपको निम्न नीचे कुछ पॉइंट के माध्यम से बताएंगे कि आप अपने भाषण की शुरुआत कैसे कर सकते हैं

सबसे पहले आपको स्टेज पर जाना है और जब आप स्टेज पर पहुंचेंगे तो आपके अंदर आत्मविश्वास की भावना दिखाई पढ़नी चाहिए आप बिल्कुल ना घबराए और भाषण को बड़े ही आराम और इस पोस्ट के साथ शुरू करें भाषण की शुरुआत आदरणीय प्रधानाचार्य जी, शिक्षकों और मेरे प्यारे दोस्तों आप सभी को मेरा नमस्कार… शब्द के माध्यम से करेंगे ताकि आप लोग जानते हैं कि हम लोग बाल दिवस के पावन अवसर एक जगह इकट्ठा हुए हैं बाल दिवस को मनाने के लिए और बाल दिवस क्यों मनाया जाता है इसके बारे में अगर आप नहीं जानते हैं तो मैं आपको बता दूं बाल दिवस 14 नवंबर को पंडित जवाहरलाल नेहरू के जन्मदिन के उपलक्ष में मनाया जाता है यह उनको हमारी सच्ची श्रद्धांजलि होती है जैसा कि आप लोग जानते हैं कि पंडित जवाहरलाल नेहरू का जन्म 14 नवंबर 1889 को इलाहाबाद में हुआ था इस प्रकार, हम उनकी जयंती को भारत में बाल दिवस के रूप में मनाते हैं। भारत के स्वतंत्रता संग्राम में उनकी भूमिका महत्वपूर्ण थी जब देश आजाद हुआ तो देश के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू पहने और दो बार उन्होंने भारत का कार्यभार प्रधानमंत्री के तौर पर संभाला था पंडित नेहरू बच्चों को बहुत ज्यादा प्यार करते थे और उनका लगाओ भी बहुत ज्यादा था जिसके कारण बच्चे उन्हें प्यार से चाचा नेहरू कहा करते थे उन्होंने बच्चों के लिए कई प्रकार के जन कल्याणकारी कार्य किए थे I

चाचा नेहरू ने बच्चों के बारे में एक महत्वपूर्ण कथन कहा था उन्होंने कहा था कि आज के बच्चे कल का भारत बनाएंगे जिस तरह हम उन्हें लाएंगे वह देश के भविष्य को पारित करेंगे मैं अपने भाषण का समापन आप लोगों को बाल दिवस की हार्दिक शुभकामना देकर करूंगा

आप सभी को धन्यवाद।

FAQ’s Children’s Day Speech in Hindi

Q; बाल दिवस कब मनाया जाएगा?

Ans: 14 नवंबर को बाल दिवस मनाया जाएगा?

Q: अंतरराष्ट्रीय बाल दिवस कब मनाया जाता है?

Ans: राष्ट्रीय बाल दिवस 20 नवंबर को मनाया जाता है I

Q: बच्चे पंडित नेहरू को प्यार से क्या कहते थे?

Ans: पंडित नेहरू को बच्चे प्यासे चाचा नेहरू कहा करते थे I

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *