Makar Sankranti Shayari : पढ़े और अपनों को भेजे मकर संक्रांति शायरी हिंदी में 2024

Makar Sankranti Shayari

Makar Sankranti Shayari : मकर संक्रांति (Makar Sankranti) सनातन धर्म मानने वाले लोगों का एक पवित्र त्यौहार है। प्रत्येक साल मकर संक्रांति 14 या 15 जनवरी को पूरे भारतवर्ष में विभिन्न रीति रिवाज और  और अलग-अलग नाम के अनुसार मनाया जाता हैं। 2024 में मकर संक्रांति 15 जनवरी सोमवार को मनाया जाएगा I भारतीय माह में यह त्योहार माघ माह में आता हैं। मकर संक्रांति सर्दियों के जाने और गर्मियों के आने का संकेत है। भारत के पड़ोसी देश नेपाल में मकर संक्रांति को  माघे संक्रांति भी कहा जाता हैं। मकर संक्रांति के दिन सभी लोग गंगा में स्नान करते हैं, उसके उपरांत भगवान सूर्य देव की पूजा आराधना करते हैं। ऐसी मान्यता है कि मकर संक्रांति के दिन यदि आप जरूरतमंदों और गरीबों को  कपड़े या कंबल दान करते हैं तो आपको पुण्य की प्राप्ति होगी। 

हिंदू पुराणों में इस बात का उल्लेख है कि जो भी व्यक्ति मकर संक्रांति में अपना शरीर त्यागता है, उसे जीवन मृत्यु के चक्र से मुक्ति मिल जाती हैं। ऐसे में मकर संक्रांति के पावन त्यौहार पर यदि आप अपने दोस्तों या परिजनों को Makar Sankranti Shayari भेजना चाहते हैं, लेकिन आपको समझ में नहीं आ रहा है कि आप किस प्रकार से अपने दोस्तों या परिवार वालों को Makar Sankranti Shayari व्हाट्सएप या फेसबुक के माध्यम से शेयर करें। तो आज के लेख में हम आपके लिए Makar Sankranti Ke Status Makar Sankranti ki Shubhkamnaye in Hindi, Makar Sankranti New Shayari का बेहतरीन कलेक्शन आपके साथ साझा करेंगे आप हमारे साथ आर्टिकल पर बने रहिएगा चलिए जानते हैं:-

Also Read: मकर संक्रांति शुभ मुहूर्त

Makar Sankranti Shayari in Hindi 2024

मकर संक्रांति हिंदू का एक प्रमुख्य त्योहार है।अंग्रजी केलेंडर (English Calender) के हिसाब से मकर संक्रांति (Makar Sankranti) हिंदूओं का सबसे पहला त्योहार है। मकर संक्रांति का त्योहार पूरे India में बड़े धूमधाम से मनाया जाता है। पूरे भारत में मकर संक्रांति का त्योहार अलग अलग नाम से मनाया जाता है। मकर संक्रांति साल 2023 में 15 जनवरी के दिन मनाया जाएगा। मकर संक्रांति के दिन सूर्य भगवान (Lord Sun) की पूजा की जाती है।

Titleमकर संक्रांति शायरी
लेख टाइपआर्टिकल
साल2024
मकर संक्रांति कब है15 जनवरी
मकर संक्राति के देवसूर्य देव
मकर संक्रांति दिनरविवार
अंतर्राष्ट्रीय काइट्स फैस्टिवल कहां मनाया जाता हैगुजरात
अंतर्राष्ट्रीय काइट्स फैस्टिवल कब शुरु होगा6 जनवरी
अंतर्राष्ट्रीय काइट्स फैस्टिवल कब तक मनाया जाएगा15 जनवरी

Also Read: Makar Sankranti Songs

संक्रांति की शुभकामनाएं कोट्स | Sankranti Wishes Quotes 

मुंगफली की खुशबू

और गुड़ की मिठास

दिलों में खुशी और अपनो का प्यार,

मुबारक हो आपको

मकर संक्रांति का त्यौहार!

हैप्पी संक्रांति 2024

सूरज की राशि बदलेगी

बहुतों की किस्मत बदलेगी

यह साल का पहला पर्व होगा

जो बस खुशियों से भरा होगा

हैप्पी संक्रांति 2024

काट ना सके कभी कोई पतंग आपकी

टूटे ना कभी डोर विश्वास की

छू लो आप ज़िन्दगी की सारी कामयाबी

जैसे पतंग छूती है ऊंचाइयां आसमान की।

हैप्पी मकर संक्रांति 2024

मंदिर की घंटी, आरती की थाली

नदी के किनारे सूरज की लाली

ज़िन्दगी में आए खुशियों की बहार

आपको मुबारक हो आपको मकर संक्रांति का त्यौहार!

हैप्पी मकर संक्रांति 2024 !

दिल को धडकन से पहले

दोस्तों को दोस्ती से पहले

प्यार को मोहब्बत से पहले

ख़ुशी को गम से पहले

आपको कुछ दिन पहले

मकर संक्रांति की शुभकामनाएं सबसे पहले!

हैप्पी संक्रांति 2024 !

बासमती चावल और उड़द की दाल

घी की महकती खुशबू हो और आम का अचार

दही बड़े की सुगंध के साथ हो अपनों का प्यार

मुबारक हो आप सभी को खिचड़ी का यह त्यौहार!

मकर संक्रांति की शुभकामनाएं!

मिठे मिठे गुड़ में मिल गया TiL 

उड़ी पतंग और खिल गया DiL

चलो मिलकर बांटे खुशियां संग!

हैप्पी संक्रांति 2024!

त्यौहार नहीं होता है अपना पराया,

त्यौहार वही जिसे सबने मनाया,

तो मिला के गुड़ में तिल,

पतंग संग उड़ जाने दो दिल,

हैप्पी मकर संक्रांति! 

गंगा-यमुना के तट पर उमड़ा जन सैलाब,

भगवान सूर्य का आशीर्वाद,

यही है मकर संक्रांति के पर्व का उल्लास।

मकर संक्रांति की हार्दिक शुभकामनाएं!

Also Read: मकर संक्रांति पर दान क्यों करते हैं?

मकर संक्रांति के स्टेटस | Makar Sankranti Ke Status

जीवन में बढ़े मिठास, रिश्तों में बढ़े प्यार,
मुबारक हो आपको मकर संक्रांति का त्यौहार.

मीठी बोली, मीठी जुबान,
मकर संक्रांति का यही हैं पैगाम.
Happy Makar Sankranti

जब सूरज मकर राशि में आता है,
तो बहुत लोगो के दुःख-दर्द मिटाता है.
हैप्पी मकर संक्रांति 2024

गंगा-यमुना के तट पर उमड़ा जन सैलाब,

और सूर्यदेव का आशीर्वाद,

यही है मकर संक्रांति पर्व का उल्लास।

मकर संक्रांति की ढेरों शुभकामनाएं!

मंदिर की घंटी, पूजा की थाली,

नदी के किनारे सूरज की लाली,

जिंदगी में आए खुशियों की हरियाली

आपको मुबारक हो संक्रांत का त्यौहार

मकर संक्रांति शायरी हिंदी में (Makar Sankranti)

आप पर सूर्य देवता के आशीर्वाद की
कृपा बनी रहे और आपका जीवन
खुशी की अनन्त सूर्य किरणों से भर जाए!बाजरे की रोटी,
कैरी का आचार,
आपकी खुशी,
अपनों का प्यार,
मुबारक हो आपको,
मकर संक्रांति का त्यौहार।

तन में मस्ती मन में उमंग देकर सबको
अपनापन गुड में जैसे मीठापन होकर
साथ हम उड़ायें पतंग
और भर ले आकाश में अपने रंग

काट ना सके कभी कोई पतंग आप की
टूटे ना कभी डोर आपके विश्वास की
छु लो आप ज़िन्दगी की सारी कामयाबी
जैसे पतंग छूती है ऊंचाईया आसमान की
मकर संक्रांति की हार्दिक शुभकामनायें

है प्यारा यह पर्व हमारा,
नया दिन और नया उजियारा,
मिट जाये सब क्लेश दिलों से,
मकर संक्रांति पर यही सन्देश है हमारा।

मंदिर की घंटी, आरती की थाली,
नदी के किनारे सुरज की लाली,
जिंदगी में आये खुशियों की बहार,
आपको मुबारक हो पतंगों का त्योंहार..!!

सभी लोगों को मिले सन्मति,
आज है मकर संक्रांति,
मित्रों उठ गया है दिनकर,
चलो उडाये पतंग मिलकर

कागज अपनी किस्मत से उड़ती है,
और पतंग अपनी काबिलियत से,
इसलिए किस्मत साथ दे या न दे,
पर काबिलियत हमेशा साथ देती है,
काबिल बनो, कामयाबी पीछे दौड़ेगी।

सपनों को लेकर मन में
उड़ायेंगे पतंग आसमान में
ऐसी भरेगी उड़ान मेरी पतंग
जो भर देगी जीवन में खुशियों की तरंग

काट ना सके कभी कोई पतंग आप की,
टूटे ना कभी डोर आपके विश्वास की,
छु लो आप जिंदगी की सारी कामयाबी
जैसे पतंग छूती है ऊँचाइयाँ आसमान की
मकर संक्रांति की हार्दिक शुभकमाएँ!

धूम-धूम धक-धक धूम-धूम धक
उड़ायेंगे पतंग मिलकर हम सब
चिंटू मन्नू जल्दी आ जाओ
तिल्ली के लड्डू गब- गब खा जाओ
लूटेंगे खूब पतंगे मांजा इस बार
आया हैं मकर संक्रांति का त्यौहार 

मकर संक्रांति का त्यौहार सबने
अपनाया पंजाबी, हिन्दू, मुस्लिम,
सीख ईसाई सबने मिलकर मनाया,
गुड और तिल के पकवान को सबने
खाया बच्चों ने खूब पतंग को उड़ाया
Happy Makar Sankranti सबने दिल से दोहराया.

मकर संक्रांति हिंदी शायरी में | Makar Sankranti in Hindi Shayari 

खुले आसमां में जमीं से बात ना करो,
जी लो जिंदगी खुशी की आस ना करो,
हर त्यौहार में कम से कम ना भुला करो,
फोन से ना सही मैसेज से ही
संक्रांति विश किया करो।

पुराना साल जाता है
नया साल आता है साथ आप संक्रांति
की खुशिया लता है
भगवान आप को वो खुशिया दे
जो आप का दिल चाहता है..!!

मीठे गुड में मिल गया तील,
उडी पतंग और खिल गया दिल,
हर पल सुख और हर दिन शांति,
आपके लिए हैप्पी हो मकर संक्रांति का दिन।

गुल को गुलशन मुबारक हो चाँद
को चांदनी मुबारक हो शायर को
शायरी मुबारक हो
और हमारी तरफ से आप को

खुले आसमां में जमीं से बात ना करो,
जी लो जिंदगी खुशी की आस ना करो,
हर त्यौहार में कम से कम ना भुला करो,
फोन से ना सही मैसेज से ही
संक्रांति विश किया करो।

पुराना साल जाता है
नया साल आता है साथ आप संक्रांति
की खुशिया लता है
भगवान आप को वो खुशिया दे
जो आप का दिल चाहता है

मीठे गुड में मिल गया तील,
उडी पतंग और खिल गया दिल,
हर पल सुख और हर दिन शांति,
आपके लिए हैप्पी हो मकर संक्रांति का दिन।

मकर संक्रांति शायरी हिंदी में | Makar Sankranti Shayari in Hindi 

काट न सके कोई पतंग आपकी टूटे न
कभी डोर विश्वास की छू लें आप जिंदगी
की सारी कामयाबी जैसे पतंग छूती है
ऊंचाई आसमान की। Wish you a very Happy Makar Sankranti

त्यौहार नहीं होता है अपना पराया,
त्योहार वही जिसे सबने मनाया,
तो मिला के गुढ़ में तिल,
पतंगन संग उड़ जाने दो दिल,
हैप्पी मकर संक्रांति 

भूल मत जाना मे कांई समझायो
वरना सर्दी लग जाएगी भायो
काल ख़ूब तिला रा लड्डू खायो
मकर संक्रांति की शुभकामनायें

तन में मस्ती, मान में उमंग, देखकर सबका
अपनापन, गुड़ में जैसे मीठापन.
हो कर साथ हम उड़ाएंगे पतंग,
और भर लें आकाश में अपने रंग…
हैप्पी मकर संक्रांति

कागज अपनी किस्मत से उड़ती है,
और पतंग अपनी काबिलियत से,
इसलिए किस्मत साथ दे या न दे,
पर काबिलियत हमेशा साथ देती है,
काबिल बनो, कामयाबी पीछे दौड़ेगी।

सभी लोगों को मिले सन्मति,
आज है मकर संक्रांति,
मित्रों उठ गया है दिनकर,
चलो उडाये पतंग मिलकर

मंदिर की घंटी, आरती की थाली,
नदी के किनारे सुरज की लाली,
जिंदगी में आये खुशियों की बहार,
आपको मुबारक हो पतंगों का त्योंहार..

है प्यारा यह पर्व हमारा,
नया दिन और नया उजियारा,
मिट जाये सब क्लेश दिलों से,
मकर संक्रांति पर यही सन्देश है हमारा।

काट ना सके कभी कोई पतंग आप की
टूटे ना कभी डोर आपके विश्वास की
छु लो आप ज़िन्दगी की सारी कामयाबी
जैसे पतंग छूती है ऊंचाईया आसमान की
मकर संक्रांति की हार्दिक शुभकामनायें

तन में मस्ती मन में उमंग देकर सबको
अपनापन गुड में जैसे मीठापन होकर
साथ हम उड़ायें पतंग
और भर ले आकाश में अपने रंग

आप पर सूर्य देवता के आशीर्वाद की
कृपा बनी रहे और आपका जीवन
खुशी की अनन्त सूर्य किरणों से भर जाए!

बाजरे की रोटी,
कैरी का आचार,
आपकी खुशी,
अपनों का प्यार,
मुबारक हो आपको,
मकर संक्रांति का त्यौहार।

मीठे गुड में मिल गये तिल उडी पतंग
और खिल गये दिल हर दिन सुख और
हर पल शांति मुबारक हो
आपको ये मकरसंक्रांति

बंदे हैं हम देश के,
हम पर किसका ज़ोर?
मकर संक्रान्ति में उड़े,
पतंगे चारो और
लंच में खाएं फिरनी गोल,
अपना मांझा खुद सूतने,
आज हम चले छत की और,
हैप्पी मकर सक्रांति 

खुले आसमां में जमीं से बात ना करो,
जी लो जिंदगी खुशी की आस ना करो,
हर त्यौहार में कम से कम ना भुला करो,
फोन से ना सही मैसेज से ही
संक्रांति विश किया करो।

पुराना साल जाता है
नया साल आता है साथ आप संक्रांति
की खुशिया लता है
भगवान आप को वो खुशिया दे
जो आप का दिल चाहता है

मीठे गुड में मिल गया तील,
उडी पतंग और खिल गया दिल,
हर पल सुख और हर दिन शांति,
आपके लिए हैप्पी हो मकर संक्रांति का दिन।

गुल को गुलशन मुबारक हो चाँद
को चांदनी मुबारक हो शायर को
शायरी मुबारक हो
और हमारी तरफ से आप को

ठण्ड की एक सुबह पड़ेगा हमे नहाना
क्यों की संक्रांति का पर्व कर देगा मौसम सुहाना
कही पतंग कही दही चुरा कही खिचड़ी
सब कुछ का है मिल कर ख़ुशी मनना
हैप्पी सक्रांति

हर पतंग जानती है
अंत में कचरे मे जाना है
लेकिन उसके पहले हमें
आसमान छूकर दिखाना है
” बस ज़िंदगी भी यही चाहती है “

तन में मस्ती मन में उमंग चलो सारे
एक संग आज उड़ायें आकाश
में पतंग उछाले हवा में संक्रांति के रंग |

पल पल सुनहरे फूल खिले,
कभी ना हो कांटों का सामना,
जिंदगी आपकी खुशियों से भरी रहे,
संक्रांति पर हमारी यही शुभकामना
Happy Makar Sankranti

बंदे है हम देश के हम पर किसका जोर,
मकर संक्रांति में उड़े पतंग चारों और,

तिल पकवानों की मिठास जिंदगी में भरिये
पतंगों की तरह आकाश में बुलंदी पाइये
और अपनी मेहनत की डोर
से बुलंदी को संभाल के रखिये
आपको मकर संक्रांति की शुभकामनायें

सूरज की राशि बदलेगी बहुतों की किस्मत
बदलेगी यह साल का पहला पर्व होगा
जब हम सब मिलकर खुशियाँ मनायेगें अपार

ख़ुशी का है यह मौसम,
गुड और टिल का है यह मौसम,
पतंग उड़ाने का है यह मौसम,
शांति और समृद्धि का है यह मौसम मीठी बोली, मीठी जुबान
मकर संक्रांति का यही पैगाम
मकर संक्रांति की शुभकामनायें

सर्दी की इस सुबह पड़ेगा हमे नहाना
मकरसक्रांति का पर्व कर देगा मोसम
सुहाना दिन भर पतंग हमें है
उड़ाना कहीं गुड कही तिल के
लड्डू मिल कर हमें है खाना

जैसे सूर्योदय के होते ही अंधकार दूर हो जाता है
वैसे ही मन की प्रसन्नता से सारी बाधाएँ शांत हो जाती हैं
सभी को मकरसंक्राँति की हार्दिक शुभकामनाएँ

बेसन की रोटी निम्बू का आचार
दोस्तों की खुसी अपनों का प्यार सावन
की बरसात किसी का इंतजार मुबाक हो आपको

ऊँची पतंग से मेरी ऊँची उड़ान होंगी।
इस जहाँ में मेरे लिए मंजिले तमाम होंगी।
जब भी आसमान की और देखोगे तुम दोस्तों।
तुम्हारे ही हाथों मेरी डोर के साथ जान होंगी।
तिल्ली भी पीली और गुड़ में मिठास होंगी।
मकर सक्रांति पर्व पर मेरी तरफ से बधाइयाँ बार बार होंगी

हैप्पी मकर संक्रांति शायरी | Happy Makar Sankranti Shayari 

पूर्णिमा का चाँद रंगों की डोली
चाँद से उसकी चांदनी बोली
खुशियों से भरे आपकी झोली
मुबारक हो आप को रंग बिरंगी
‘पतंग वाली ‘ “मकर संक्रांति”
हैप्पी संक्रांति

इससे पहले की संक्रांति की शाम हो जाये,
मेरा सन्देश ओंरों की तरह आम हो जाये,
और सभी मोबाइल नेटवर्क जाम हो जाये,
आप सभी को मकर संक्रांति की शुभकामनाएं 

मकर संक्रांति की शुभकामनाएं | Makar Sankranti Wishes

देख पतंगों का ये दौर एक बार फिर यादो के पंख लग गए पंच  लड़ाते – लड़ाते हंसीना से मेरे नैन लड़ गए होश आया – तो इश्क की पतंगे उड़ाना छोड़ दी पतंग के साथ – साथ माझे ने भी यह ख्याल भी तोड़  दिया है 

“उड़ाने का शौक तो हमे भी था  पतंगों को,पक्षियों को उड़ते देख, मैने अपने सौख समेट लिए तिल – गुड़ मिठास कहा अब लोग कहते हैं मकर संक्रांति का त्यौहार अब तो बस नाम के लिए आते हैं 

दीपक में अगर नूर ना होता  ये दिल इतना कभी मजबूर ना होता  संक्रांति के दिन आपके घर आ जाते  अगर आपका घर, दूर ना होता जर्रे – जर्रे पर निगाहें करम है। इस मकर संक्रांति ऊपर वाले का यही पैगाम हैं। 

“मुंगफली की खुशबू  गुड़ की मिठास और दिलो में अपनो का प्यार  थोड़ी सी मस्ती  पर्वो के आने की तैयारी  तो मिला के गुड़ में तिल  पतंग  के संग उड़ जाने दो अपना दिल  

पुराना साल जाता है। तभी तो नया साल आता है। अपने साथ संक्रांति की ढेर सारी खुशिया लाता है। साल के पहले त्यौहार से हो रहा है शुरुआत, पतंग जैसी हो यही हमारी शुभकामनाए है..!! 

“खुशिया देखा तो पूछने लगा  ये जमाना, आसमा भी देखो हमारी खुशियो से जल उठा ओस की बुंदे भी चमक उठी , ना जाने क्या बात है। हमारी पतंग  और माझे की जोर में जमाने को देखो हमारी पतंग को माझे से एक बार फिर अलग करने चली..!!

“पिछले साल की बात इस साल कहा, अपनो का प्यार और साथ कहा  अब तो इन्टर नेट का हो गया ये जमाना, साथ ना सही VIDEO CALL पर ही खुश होता है आज का नया जमाना, SMS आता है अब तो सबका मुबारक हो सभी को मकर संक्रांति त्यौहार यही जानता है जमाना 

“खुशिया बिखर गई तिल की तरह मिठाईयो  अब मिठास कहा रास्ते भी अब तो नाम के हो गये  जब से इन्टर नेट का हुआ जमाना  नया साल आ गया साथ वो संक्रांति का त्यौहार लाया, चलो अब सब मिलकर मनाते हैं। ख्यालो में ही सही हसी – खुशी सबको गले लगाते है..!!

“पल – पल समय बदलता है  जीवन के हर रंग रूप के साथ  इस बार कि मकर संक्रांति का यह पर्व शदा ही याद रहेगी खुशिया बट जाएगी 

“खुले आसमा से यू जमीन से बात ना करो त्यौहारों की शुरुआत हो गई   उसी खुशी में हमे तो ना भूलो  परछाइयों से पीछा क्यू छुड़ाते हो  अपने रिश्तो में मिठास तो घोरो जी 

मकर संक्रांति कोट्स | Makar Sankranti Quotes

ठण्ड की एक सुबह पड़ेगा हमे नहाना
क्यों की संक्रांति का पर्व कर देगा मौसम सुहाना
कही पतंग कही दही चुरा कही खिचड़ी
सब कुछ का है मिल कर ख़ुशी मनना
हैप्पी सक्रांत

“यादें अक्सर होती है सताने के लिए,
कोई रूठ जाता है फिर मान जाने के लिए
रिश्ते निभाना कोई मुश्किल तो नही,
बस दिलो में प्यार चाहिए उसे निभाने के लिए!!!

मकर संक्रांति के दिन
आपके जीवन का अंधेरा छंट जाए
एवं ज्ञान और प्रकाश से
आपका जीवन उज्ज्वल हो जाए।
Happy Makar Sankranti

पूर्णिमा का ‘चाँद, रंगों की ‘डोली’.
चाँद से उसकी चांदनी बोली
खुशियो से भरे आपकी ‘झोली
मुबारक हो आप को रंग बिरंगी
‘पतंग वाली ’ मकर संक्रांति
हैप्पी संक्रांति ……

मकर संक्रांति का त्यौहार सबने
अपनाया पंजाबी, हिन्दू, मुस्लिम,
सीख ईसाई सबने मिलकर मनाया,
गुड और तिल के पकवान को सबने
खाया बच्चों ने खूब पतंग को उड़ाया
Happy Makar Sankranti
सबने दिल से दोहराया.

इस वर्ष की मकर संक्रांति,
आपके लिए हो तिल लड्डू जैसी मीठी !
मिले कामयाबी पतंग जैसी उँची,
इसी कामना वाली मकर संक्राति !!

बिन बादल बरसात नहीं होती,
सूरज के उगे बिना दिन की शुरुआत नहीं होती!
हम जानते है हमारे बिना विश की आप की
कोई त्यौहार शुरुआत नहीं होती,
आप सभी को मकर संक्रांति की हार्दिक

त्यौहार नहीं होता अपना पराया
त्यौहार है वही जिसे सबने मनाया
तो मिला के गुड़ में तिल
पतंग संग उड़ जाने दो दिल
हैप्पी मकर संक्रांति 2024

 मंदिर की घंटी, पूजा की थाली
नदी के किनारे, सूरज की लाली
जिंदगी में आये खुशियों की हरियाली
आपको मुबारक हो संक्रांति का त्यौहार

 बचपन में वो धूम मचाना, मौज मनाना
यारो के साथ पतंगे उड़ाना
बहुत सही था यार वो ज़माना
मकर संक्रांति की हार्दिक शुभकामनायें

नजर सदा हों ऊँची, सिखाती है पतंग..
इस संक्रांति में हमें,
काम, क्रोध, लोभ, मोह एवं अहंकार जैसी
पतंगों को भी काटने चाहिए..

मकर संक्रांति पर्व | Makar Sankranti Festival

मकर संक्रांति वह त्योहार है जिसे प्रमुख रूप से हिंदू समुदाय द्वारा बड़े हर्ष और उल्लास के साथ मनाया जाता है। यह हर साल 14 जनवरी को मनाया जाता है  हालांकि  सौर चक्र के आधार पर यह 15 जनवरी को भी मनाया मनाया जा सकता है । लोग सुबह नदियों में पवित्र स्नान करके और हिंदू पौराणिक कथाओं के अनुसार सूर्य को प्रार्थना करके इस त्योहार को मनाते हैं। ऐसा माना जाता है कि मकर संक्रांति पर गंगा नदी में स्नान करने से हमारे सभी पाप धुल जाते हैं और मोक्ष की प्राप्ति होती है। लोग तिल और गुड़ से बनी मिठाइयाँ खाकर मौसम के उत्सव का आनंद लेते हैं। लोग, विशेषकर बच्चे, अपने दोस्तों और परिवार के सदस्यों के साथ पतंग उड़ाकर इस अवसर का आनंद लेते हैं।

See also  गांधी जयंती स्टेटस 2023 | Gandhi Jayanti Status Hindi

मकर संक्रांति स्टेटस हिंदी में | Makar Sankranti Status in Hindi 

तिलकुट की खुशबू

दही-चिवड़ा की बहार,

मुबारक हो आपको

नया साल का पहला त्योहार।

Happy Makar Sankranti

तन में मस्ती, मान में उमंग,

देखकर सबका अपनापन,

गुड़ में जैसे मीठापन,

हो कर साथ हम उड़ाएंगे पतंग,

और भर लें आकाश में अपने रंग…

हैप्पी मकर संक्रांति

पूर्णिमा का ‘चाँद, रंगों की ‘डोली,’.

चाँद से उसकी चांदनी बोली। 

खुशियों से भरे आपकी झोली.

 मुबारक हो आप को रंग बिरंगी‘पतंग वाली,

हैप्पी संक्रांति।

गंगा-यमुना के तट पर उमड़ा जन सैलाब,

और भगवान सूर्य का आशीर्वाद,यही है मकर संक्रांति के पर्व का उल्लास।मकर संक्रांति की शुभकामनाएं।

जैसे ही हम 2024 का स्वागत करते हैं, आइए आकाश में पतंगों की तरह ऊंची उड़ान भरें। सभी को आनंदमय और समृद्ध मकर संक्रांति की शुभकामनाएँ! 

मकर संक्रांति 2024 का त्योहार आपके जीवन को गर्मजोशी, आनंद और प्रचुरता से भर दे। मकर संक्रांति की शुभकामनाएँ!

पतंग पर शायरी (Shayari On Kites)

नीले- नीले आसमां में
उड़ती रंग बिरंगी पतंगे
जैसे नीले-नीले सागर में
तैरती रंग बिरंगी मछलियाँ
मस्त मानेगा संक्रांति का त्यौहार
जब साथ  होंगे मौहल्ले के यार

मंदिर की घंटी, पुजा की थाली,
नदी के किनारे सूरज की लाली,
जिंदगी में आए खुशियों की हरियाली
आपको मुबारक हो संक्रांत का त्यौहार।

तिल गुड़ को मिलाते हैं
स्वादिष्ट लड्डू बनाते हैं
हैप्पी संक्रांति कह कह कर
एक दूजे को खिलाते हैं

मकर संक्रांति की शुभकामनाएं हिंदी में | Makar Sankranti Ki Shubhkamnaye in Hindi

मेरे सभी मित्रों भाइयों एवं बहनों को,
मकर संक्रांति की दिल की गहराइयों से हार्दिक शुभकामनाएं ।।

भगवान सूर्य देव और प्रकृति की उपासना के पावन पर्व #मकर_संक्रांति की हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं। यह त्योहार आपके जीवन में खुशी, समृद्धि और शांति लाये, यही कामना करता हूं। #MakarSankranti 2024

तिल हम हैं और गुड़ आप,
मिठाई हम हैं और मिठास आप,
साल के पहले त्यौहार से हो रही है शुरुवात,
आपको हमारी तरफ से ढेरों बधाई और शुभकामनाएं।

काट ना सके कभी कोई पतंग आपकी,
टूटे ना कभी डोर आपके विश्वास की,
छू लों आप जिंदगी के सारे कामयाबी,
जैसे पतंग छूती है ऊंचाइयां आसमान की..
मकर संक्रांति की हार्दिक शुभकामनाएं! Happy Makar Sankranti

उत्तरायण का सूर्य आपके स्वप्नों को नयी ऊष्मा प्रदान करे।
आपके यश एवं कीर्ति में उत्तरोत्तर वृद्धि हो।आप परिजनों सहित स्वस्थ रहें,दीर्घायु हों,
यही कामना है।

हम समाज में एकता,अखंडता और समरसता कर सशक्त भारत के निर्माण में सहयोगी बनें।
आप सभी को #मकर_संक्रांति की हार्दिक शुभकामनाएँ।

पूर्व में बीहू ,पश्चिम में उत्तरायण,
उत्तर में लोहड़ी, दक्षिण में भोगी पोंगल,
पर्व एक परंतु नाम अनेक
यही भारत की एकता-अखंडता यही भारत की संस्कृति है।
#मकर_संक्रांति के पावन पर्व की अनंत शुभकामनाएं।।

हैप्पी संक्रांति हिंदी में | Happy Sankranti in Hindi

खुशियाँ छा गई चारों और
बो मारा बो काटा का शोर
जब उडी पतंग आसमान की और
मकर सक्रांति की शुभकामनायें

सक्रांति हो खुशियों वाली तुम्हारी
और ये खुशियाँ हो प्यारी प्यारी
एक पतंग हमारी और से भी उड़ाना
अगर आये याद तुम्हे हमारी
मकर सक्रांति की शुभकामनायें

मेरी ईश्वर से यही कामना है की
इस सक्रांति आप कामयाबी की नई
ऊंचाईयों को प्राप्त करें
मकर सक्रांति की शुभकामनायें

सूर्य देव का आशीर्वाद हो
तिल के लड्डू जैसी मिठास हो
आपके जीवन में नहीं हो कोई दुःख
यह सक्रांति आपके लिए इतनी खास हैं। मकर सक्रांति की शुभकामनायें

पतंग उड़ायेंगे , लड्डू बाटेंगे
मिलकर मनाएंगे सक्रांति
आपके जीवन सदा रहे सुख शांति
मकर सक्रांति की शुभकामनायें

मकर संक्रांकि की शायरी | Makar Sankranti Per Shayari

सजने लगी है आरती की थाली…
मंदिर में बजने लगी हैं घंटियां और सजने लगी हैं
आरती की थाली सूर्य की रोशन किरणों के
साथ अब तो सुनाई देती है एक ही बोली.
मकर संक्रांति की शुभकामनाएं

तिल हम हैं और गुड़ आप,
मिठाई हम हैं और मिठास आप,
साल के पहले त्योहार से हो रही है शुरुआत

सजने लगी है आरती की थाली…
मंदिर में बजने लगी हैं घंटियां और सजने लगी हैं
आरती की थाली सूर्य की रोशन किरणों के
साथ अब तो सुनाई देती है एक ही बोली.
मकर संक्रांति की शुभकामनाएं

तिल हम हैं और गुड़ आप,
मिठाई हम हैं और मिठास आप,
साल के पहले त्योहार से हो रही है शुरुआत

तिल हम है और गुड़ हो आप,
मिठाई हम है और मिठास हो आप,
इस साल के पहले त्योहार से हो रही अब शुरुआत…
आपको और आपके परिवार को
हैप्पी मकर संक्रांति

उगता हुआ सूरज दुआ दे आपको
खिलता हुआ फूल खुशबू दे आपको
हम तो कुछ देने के काबिल नहीं हैं
देने वाला हजार खुशियां दे आपको
मकर संक्रांति की आपको
हार्दिक शुभकामनायें

उगता हुआ सूरज दुआ दे आपको
खिलता हुआ फूल खुशबू दे आपको
हम तो कुछ देने के काबिल नहीं हैं
देने वाला हजार खुशियां दे आपको
मकर संक्रांति की आपको
हार्दिक शुभकामनायें

प्रेम रतन धन पायो
सर्दी को मौसम आयो
दो दिन मे एक बार नहायो
गरम पानी से नहायो
स्वेटर पहन कर घर के बाहर जायो
खूब गज़क मूफली खायो
रजाई के बाहर मत आयो
भूल मत जाना मे कांई समझायो
वरना सर्दी लग जाएगी भायो
काल ख़ूब तिला रा लड्डू खायो
मकर संक्रांति की शुभकामनायें

तन में मस्ती, मान में उमंग, देखकर सबका
अपनापन, गुड़ में जैसे मीठापन.
हो कर साथ हम उड़ाएंगे पतंग,
और भर लें आकाश में अपने रंग…
हैप्पी मकर संक्रांति

मकर संक्रांति का स्टेटस | Makar Sankranti Per New Whatsapp Status

पतंगें ऊंची उड़ें और दिल खुश रहें। सभी को जीवंत मकर संक्रांति 2024 की शुभकामनाएं!

इस मकर संक्रांति पर गुड़ की मिठास और सूरज की गर्मी आपके जीवन को समृद्ध बनाए। शुभ 2024!

यह मकर संक्रांति है जो 2024 में नई शुरुआत और नई उम्मीदें लेकर आएगी। आप सभी को सुख और समृद्धि की शुभकामनाएं!

2024 का पहला त्योहार आशा और उत्साह के साथ मना रहा हूं। सभी को मकर संक्रांति की शुभकामनाएँ!

कामना है कि फसल उत्सव अच्छे समय और मुस्कुराहट से भरे वर्ष की शुरूआत करे। मकर संक्रांति 2024 की शुभकामनाएँ!

आइए इस मकर संक्रांति पर जीवन की खुशी और सूरज की गर्मी का जश्न मनाएं। सभी को आनंदमय 2024 की शुभकामनाएँ!

जैसे ही सूर्य उत्तर की ओर अपनी यात्रा शुरू करता है, वह आपके जीवन को सफलता और गौरव से रोशन करे। मकर संक्रांति 2024 की शुभकामनाएँ!

मकर संक्रांति की भावना को अपनाते हुए, आइए इस वर्ष को सकारात्मक ऊर्जा और खुशियों से भरें। सभी को शानदार 2024 की शुभकामनाएँ!

मकर संक्रांति की हार्दिक शुभकामनाएं

मंदिर में बजने लगी है घंटियाँ
और सजने लगी है आरती की थाली
सूर्य की रोशन किरणों के साथ
अब तो सुनाई देती है एक ही बोली
मकरसंक्रांति की हार्दिक शुभकामनाए।

त्यौहार नहीं होता अपना पराया
त्यौहार है वही जिसे सबने मनाया
तो मिला के गुड़ में तिल
पतंग संग उड़ जाने दो दिल
हैप्पी मकर संक्रांति 2024

हर पतंग जानती है,
अंत में कचरे में जाना है
लेकिन उससे पहले हमें,
आसमान छूकर दिखाना है।

तन में मस्ती, मन में उमंग
देकर सबको अपनापन
गुड में जैसे मीठापन
होकर साथ हम उड़ाएं पतंग
और भर ले आकाश में अपने रंग

खुले आसमान में जमी से बात न करो..
ज़ी लो ज़िंदगी ख़ुशी का आस न करो..
हर त्यौहार में कम से कम हमे न भूला करो..
फ़ोन से न सही मैसेज से ही संक्राति विश किया करो !!

मंदिर की घंटी, पूजा की थाली
नदी के किनारे, सूरज की लाली
जिंदगी में आये खुशियों की हरियाली
आपको मुबारक हो संक्रांति का त्यौहार

सर्दी की इस सुबह पड़ेगा हमे नहाना
मकर सक्रांति का पर्व कर देगा मोसम सुहाना
दिन भर पतंग हमें है उड़ाना
कहीं गुड कही तिल के लड्डू मिल कर हमें है खाना

मीठे गुड में मिल गए तिल,
उडी पतंग और खिल गए दिल,
हर पल सुख और हर दिन शांति,
आप सबके लिए लाये मकर संक्रांति

पुराना साल जाता है नया साल आता है
साथ आप संक्रांति की खुशिया लता है
 भगवान आप को वो खुशिया दे जो आप का दिल चाहता है

Happy Sankranti 2024 Shayari

पल पल सुनहरे फूल खिले,
कभी न हो काँटों से सामना,
जिंदगी आपकी खुशियो से भरी रहे,
यही है संक्रांति पर हमारी शुभकामना!

सभी लोगों को मिले सन्मति,
आज है मकर संक्रांति,
मित्रों उठ गया है दिनकर,
चलो उडाये पतंग मिलकर!!

मकर संक्रांति की हार्दिक शुभकामनाएं शायरी

बचपन में वो धूम मचाना, मौज मनाना
यारो के साथ पतंगे उड़ाना
बहुत सही था यार वो ज़माना
मकर संक्रांति की हार्दिक शुभकामनायें

मंदिर की घंटी आरती की थाली
नदी के किनारे सूरज की लाली
ज़िन्दगी में आये खुशियों की बहार
मुबारक हो आपको मकरसंक्रांति का यह त्यौहार!!

बिन बादल बरसात नहीं होती,
सूरज के उगे बिना दिन की शुरुआत नहीं होती!
हम जानते है हमारे बिना विश की आप की
कोई त्यौहार शुरुआत नहीं होती,
आप सभी को मकर संक्रांति की हार्दिक शुभ कामना

काट ना सके कभी कोई पतंग आपकी
टूटे ना कभी डोर आपके विश्वास की
छु लो आप ज़िन्दगी की सारी कामयाबी
जैसे पतंग छूती है ऊंचाईया आसमान की

Makar Sankranti 2024 Shayari Image

तिल हम है और गुड़ हो आप,
मिठाई हम है और मिठास हो आप,
इस साल के पहले त्योहार से हो रही अब शुरुआत…
आपको और आपके परिवार को
हैप्पी मकर संक्रांति

दिल में है छायी मस्ती
मन में भरी है उमंग
उड़ती हैं पतंगें रंग बिरंगी
आसमान में छाया मकर संक्रांति का रंग !!

मुंगफली की खुश्बु और गुड़ की मिठास,
दिलों में खुशी और अपनो का प्यार,
मुबारक हो आपको
मकर संक्रांति का त्योंहार

Conclusion:

उम्मीद करता हूं कि हमारे द्वारा लिखा गया आर्टिकल आपको पसंद आएगा आर्टिकल संबंधित अगर आपका कोई भी सुझाव या प्रश्न है तो आप हमारे कमेंट सेक्शन में जाकर पूछ सकते हैं उसका उत्तर हम आपको जरूर देंगे तब तक के लिए धन्यवाद और मिलते हैं अगले आर्टिकल में..!!

See also  विजयादशमी के दौरान हम क्या करते हैं? और भारत के किन राज्यों में दशहरा सबसे लोकप्रिय है? (What Do We Do During Vijayadashami? And in Which States of India is Dussehra Most Popular?)

FAQ’s: मकर संक्रांति शायरी (Makar Sankranti Shayari)

Q. मकर संक्रांति 2024 में कब मनाया जाएगा?

Ans. मकर संक्रांति 2024 में 15 जनवरी सोमवार को मनाया जाएगा |

Q. हम मकर संक्रांति क्यों मनाते हैं?

Ans. हम मकर संक्रांति तब मनाते हैं जब सूर्य मकर राशि में प्रवेश करता है। साथ ही, दिन बड़ा होने लगा और रात छोटी  होने लगती है 

Q. दक्षिण भारत में मकर संक्रांति को क्या कहते हैं? 

Ans . दक्षिण भारत में मकर संक्रांति को पोंगल कहा जाता हैं। 

Q. 2024 में उत्तरण कब है?

Ans. वैदिक पंचांग के अनुसार, ग्रहों के राजा सूर्य देव शनि की राशि मकर में 15 जनवरी 2024 को 02:54 एएम पर प्रवेश करेंगे. उस समय सूर्य की मकर संक्रांति होगी |

Q. मकर संक्रांति को उत्तरायन के नाम से कहां मनाया जाता है ?
Ans. गुजरात और राजस्थान में मकर संक्रांति को उत्तारायन के नाम से जाना जाता है।

Q. मकर संक्रांति के दिन किस चीज़ की सबसे ज्यादा महत्वता है ?
Ans. दान करने का महत्व मकर संक्रांति में सबसे ज्यादा होता है।

Q. मकर संक्रांति को उत्तरायण किस राज्य में कहा जाता है ?

Ans. राजस्थान और गुजरात में मकर संक्रांति को उत्तराय़ण कहा जाता है।

Q. पतंग उड़ाने की शुरुआत कब हुई थी ?

Ans. 2800 साल पहले पतंग उड़ाने की शुरुआत हुई थी

इस ब्लॉग पोस्ट पर आपका कीमती समय देने के लिए धन्यवाद। इसी प्रकार के बेहतरीन सूचनाप्रद एवं ज्ञानवर्धक लेख easyhindi.in पर पढ़ते रहने के लिए इस वेबसाइट को बुकमार्क कर सकते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Optimized with PageSpeed Ninja