मकर संक्रांति शायरी हिंदी में | Makar Sankranti Shayari

By | जनवरी 12, 2023
Makar Sankranti Shayari

Makar Sankranti Shayari:- का त्योहार आने वाला है। मकर संक्रांति के दिन शुभकामनाएं भेजने का सिलसिला एक दिन पहले ही शुरु हो जाता है। क्या आप भी मकर संक्रांति के दिन अपने दोस्तों को त्योहार की शुभकामनाएं भेजना चाहते है। क्यों ना इस बार सिर्फ शुभकामनाएं ही नहीं आप उन्हें इस त्योहार पर मकर संक्रांति शायरी (Makar Sankranti Shayari) भेज कर बधाई दें। पर सवाल ये उठता हैं कि आपको मकर संक्रांति शायरी (Makar Sankrani Shayari 2023) कहां मिलेगी। खेर इस बार से आप बेफिक्र रहिए। हम आपको इस लेख के जरिए एक से बढ़कर एक मकर संक्रांति की शायरियां (Makar Sankranti) के साथ मकर संक्रांति शायरी हिंदी में (Makar Sankranti Shayari in Hindi) और पतंग पर शायरी (Shayari on Kites) उपलब्ध कराएंगे कि आपको खुद भी उन्हें पढ़ने में मजा आएगा साथ ही आप इससे अपने दोस्तों को भेजे बगैर रह नहीं पाएंगे।

Makar Sankranti Shayari 2023

Happy Makar Sankranti 2023Similar Content
मकर संक्रांति कब व क्यों मनाई जाती हैयहाँ क्लिक करें
मकर संक्रांति शुभ मुहूर्त 2023यहाँ क्लिक करें
मकर संक्रांति पर निबंधयहाँ क्लिक करें
Kite festival 2023यहाँ क्लिक करें
मकर संक्रांति शायरीयहाँ क्लिक करें
मकर संक्रांति की हार्दिक शुभकामनाएँयहाँ क्लिक करें
मकर संक्रांति वाहन क्या हैयहाँ क्लिक करें
मकर संक्रांति पर दान क्यों करते हैंयहाँ क्लिक करें
मकर संक्रांति के गीतयहाँ क्लिक करें

Makar Sankranti shayari in Hindi 2023

मकर संक्रांति हिंदू का एक प्रमुख्य त्योहार है। अंग्रजी केलेंडर (English Colander) के हिसाब से मकर संक्रांति (Makar Sankranti) हिंदूओं का सबसे पहला त्योहार है। मकर संक्रांति का त्योहार पूरे India में बड़े धूमधाम से मनाया जाता है। पूरे भारत में मकर संक्रांति का त्योहार अलग अलग नाम से मनाया जाता है। मकर संक्रांति साल 2023 में 15 जनवरी के दिन मनाया जाएगा। मकर संक्रांति के दिन सूर्य भगवान (Lord Sun) की पूजा की जाती है।

READ  Teachers Day Shayari in Hindi | शिक्षक दिवस पर शायरी हिंदी में
टाइटलमकर संक्रांति शायरी
लेख टाइपआर्टिकल
साल2023
मकर संक्रांति कब है15 जनवरी
मकर संक्राति के देवसूर्य देव
मकर संक्रांति दिनरविवार
अंतर्राष्ट्रीय काइट्स फैस्टिवल कहां मनाया जाता हैगुजरात
अंतर्राष्ट्रीय काइट्स फैस्टिवल कब शुरु होगा6 जनवरी
अंतर्राष्ट्रीय काइट्स फैस्टिवल कब तक मनाया जाएगा15 जनवरी

मकर संक्रांति शायरी हिंदी में

सपनों को लेकर मन में
उड़ायेंगे पतंग आसमान में
ऐसी भरेगी उड़ान मेरी पतंग
जो भर देगी जीवन में खुशियों की तरंग

काट ना सके कभी कोई पतंग आप की,
टूटे ना कभी डोर आपके विश्वास की,
छु लो आप जिंदगी की सारी कामयाबी
जैसे पतंग छूती है ऊँचाइयाँ आसमान की
मकर संक्रांति की हार्दिक शुभकमाएँ!

धूम-धूम धक-धक धूम-धूम धक
उड़ायेंगे पतंग मिलकर हम सब
चिंटू मन्नू जल्दी आ जाओ
तिल्ली के लड्डू गब- गब खा जाओ
लूटेंगे खूब पतंगे मांजा इस बार
आया हैं मकर संक्रांति का त्यौहार 

मकर संक्रांति का त्यौहार सबने
अपनाया पंजाबी, हिन्दू, मुस्लिम,
सीख ईसाई सबने मिलकर मनाया,
गुड और तिल के पकवान को सबने
खाया बच्चों ने खूब पतंग को उड़ाया
Happy Makar Sankranti सबने दिल से दोहराया.

पतंग पर शायरी | Shayari on Kites

नीले- नीले आसमां में
उड़ती रंग बिरंगी पतंगे
जैसे नीले-नीले सागर में
तैरती रंग बिरंगी मछलियाँ
मस्त मानेगा संक्रांति का त्यौहार
जब साथ  होंगे मौहल्ले के यार

मंदिर की घंटी, पुजा की थाली,
नदी के किनारे सूरज की लाली,
जिंदगी में आए खुशियों की हरियाली
आपको मुबारक हो संक्रांत का त्यौहार।

तिल गुड़ को मिलाते हैं
स्वादिष्ट लड्डू बनाते हैं
हैप्पी संक्रांति कह कह कर
एक दूजे को खिलाते हैं

शायरी मकर संक्रांति की हार्दिक शुभकामनाएं

मंदिर में बजने लगी है घंटियाँ
और सजने लगी है आरती की थाली
सूर्य की रोशन किरणों के साथ
अब तो सुनाई देती है एक ही बोली
मकरसंक्रांति की हार्दिक शुभकामनाए।

त्यौहार नहीं होता अपना पराया
त्यौहार है वही जिसे सबने मनाया
तो मिला के गुड़ में तिल
पतंग संग उड़ जाने दो दिल
हैप्पी मकर संक्रांति 2023

हर पतंग जानती है,
अंत में कचरे में जाना है
लेकिन उससे पहले हमें,
आसमान छूकर दिखाना है।

तन में मस्ती, मन में उमंग
देकर सबको अपनापन
गुड में जैसे मीठापन
होकर साथ हम उड़ाएं पतंग
और भर ले आकाश में अपने रंग

खुले आसमान में जमी से बात न करो..
ज़ी लो ज़िंदगी ख़ुशी का आस न करो..
हर त्यौहार में कम से कम हमे न भूला करो..
फ़ोन से न सही मैसेज से ही संक्राति विश किया करो !!

मंदिर की घंटी, पूजा की थाली
नदी के किनारे, सूरज की लाली
जिंदगी में आये खुशियों की हरियाली
आपको मुबारक हो संक्रांति का त्यौहार

सर्दी की इस सुबह पड़ेगा हमे नहाना
मकरसक्रांति का पर्व कर देगा मोसम सुहाना
दिन भर पतंग हमें है उड़ाना
कहीं गुड कही तिल के लड्डू मिल कर हमें है खाना

मीठे गुड में मिल गए तिल,
उडी पतंग और खिल गए दिल,
हर पल सुख और हर दिन शांति,
आप सबके लिए लाये मकर संक्रांति

पुराना साल जाता है नया साल आता है
साथ आप संक्रांति की खुशिया लता है
 भगवान आप को वो खुशिया दे जो आप का दिल चाहता है

Happy Sankranti 2023 Shayari

पल पल सुनहरे फूल खिले,
कभी न हो काँटों से सामना,
जिंदगी आपकी खुशियो से भरी रहे,
यही है संक्रांति पर हमारी शुभकामना!

सभी लोगों को मिले सन्मति,
आज है मकर संक्रांति,
मित्रों उठ गया है दिनकर,
चलो उडाये पतंग मिलकर!!

मकर संक्रांति की हार्दिक शुभकामनाएं शायरी

बचपन में वो धूम मचाना, मौज मनाना
यारो के साथ पतंगे उड़ाना
बहुत सही था यार वो ज़माना
मकर संक्रांति की हार्दिक शुभकामनायें

मंदिर की घंटी आरती की थाली
नदी के किनारे सूरज की लाली
ज़िन्दगी में आये खुशियों की बहार
मुबारक हो आपको मकरसंक्रांति का यह त्यौहार!!

बिन बादल बरसात नहीं होती,
सूरज के उगे बिना दिन की शुरुआत नहीं होती!
हम जानते है हमारे बिना विश की आप की
कोई त्यौहार शुरुआत नहीं होती,
आप सभी को मकर संक्रांति की हार्दिक शुभ कामना

काट ना सके कभी कोई पतंग आपकी
टूटे ना कभी डोर आपके विश्वास की
छु लो आप ज़िन्दगी की सारी कामयाबी
जैसे पतंग छूती है ऊंचाईया आसमान की

Makar Sankranti 2023 Shayari Image

तिल हम है और गुड़ हो आप,
मिठाई हम है और मिठास हो आप,
इस साल के पहले त्योहार से हो रही अब शुरुआत…
आपको और आपके परिवार को
हैप्पी मकर संक्रांति

दिल में है छायी मस्ती
मन में भरी है उमंग
उड़ती हैं पतंगें रंग बिरंगी
आसमान में छाया मकर संक्रांति का रंग!!

मुंगफली की खुश्बु और गुड़ की मिठास,
दिलों में खुशी और अपनो का प्यार,
मुबारक हो आपको
मकर संक्रांति का त्योंहार

मकर संक्रांति शायरी FAQ

Q. मकर संक्रांति को उत्तरायन के नाम से कहां मनाया जाता है ?
Ans. गुजरात और राजस्थान में मकर संक्रांति को उत्तारायन के नाम से जाना जाता है।

READ  International Girl Child Day 2022 | अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस कब, क्यों और कैसे मनाया जाता हैं

Q. मकर संक्रांति के दिन किस चीज़ की सबसे ज्यादा महत्वता है ?
Ans. दान करने का महत्व मकर संक्रांति में सबसे ज्यादा होता है।

Q. मकर संक्रांति को उत्तरायण किस राज्य में कहा जाता है ?

Ans. राजस्थान और गुजरात में मकर संक्रांति को उत्तराय़ण कहा जाता है।

Q. पतंग उड़ाने की शुरुआत कब हुई थी ?

Ans. 2800 साल पहले पतंग उड़ाने की शुरुआत हुई थी

इस ब्लॉग पोस्ट पर आपका कीमती समय देने के लिए धन्यवाद। इसी प्रकार के बेहतरीन सूचनाप्रद एवं ज्ञानवर्धक लेख easyhindi.in पर पढ़ते रहने के लिए इस वेबसाइट को बुकमार्क कर सकते हैं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *