Teachers Day Poem in Hindi | शिक्षक दिवस पर कविता हिंदी में

By | सितम्बर 3, 2022
Teachers Day Poem in Hindi

Teachers Day Poem in Hindi:- शिक्षक दिवस एक महत्वपूर्ण त्यौहार है, जिस दिन हम भारत के सभी शिक्षकों को सम्मान देने के लिए अलग-अलग प्रकार के समारोह का आयोजन स्कूल कॉलेज और विश्वविद्यालय में करते है। भारत में शिक्षक दिवस का पावन त्यौहार हर साल 5 सितंबर को हमारे दूसरे राष्ट्रपति डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जन्म दिवस पर मनाया जाता है। इस साल शिक्षक दिवस 5 सितंबर 2022 को भारत के सभी कॉलेज स्कूल और विश्वविद्यालय समेत अन्य स्थानों पर शिक्षक के सम्मान के रूप में मनाया जाएगा। अगर आप शिक्षक दिवस के पावन अवसर पर शिक्षक दिवस पर कविता ढूंढ रहे हैं तो आज इस लेख में उसके बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी दी गई है। 

शिक्षक दिवस के दिन अपने शिक्षकों को सम्मान देने के लिए अलग-अलग प्रकार के समारोह का आयोजन किया जाता है जिसमें शिक्षक दिवस पर कविता, निबंध और अन्य प्रस्तुति पेश की जाती है। अगर आप भी शिक्षक दिवस के अवसर पर कविता सुनाना चाहते हैं तो नीचे दी गई कविताओं की सूची को पढ़ें।

 

Welcome Writer YouTube
Welcome Writer

Teachers Day Poem in Hindi

त्यौहार का नामTeacher’s Day (शिक्षक दिवस 2022)
कब मानते है5 सितंबर 2022
कैसे मनाते हैअपने शिक्षकों को सम्मान देने के लिए अलग-अलग प्रकार के समारोह का आयोजन किया जाता है
क्यों मनाते हैडॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जन्म दिवस पर शिक्षकों को सम्मान देने के लिए
कब से मनाया जा रहा है5 सितंबर 1962 से
Teachers Day 2022Links
डॉ. राधाकृष्णन सर्वपल्ली का जीवन परिचयClick Here
 शिक्षक दिवस पर शायरी हिंदी मेंClick Here
शिक्षक दिवस पर कविता हिंदी मेंClick Here
शिक्षक दिवस पर भाषण हिंदी मेंClick Here
शिक्षक दिवस पर निबंध हिंदी मेंClick Here
टीचर्स डे स्टेट्स Click Here
 शिक्षक दिवस कोट्स हिंदीClick Here
टीचर्स डे कब, क्यों, कैसे मनाया जाता हैंClick Here

टीचर्स डे पर कविता हिंदी में

5 सितंबर को मनाए जाने वाले शिक्षक दिवस के लिए कुछ बेहतरीन कविता नीचे प्रस्तुत की गई है जिसका इस्तेमाल आप किसी भी शिक्षा समारोह में कर सकते हैं –

READ  Raksha Bandhan 2022 | राखी बांधने का मुहूर्त

रोज सुबह मिलते है इनसे,

क्या हमको करना है ये बतलाते है।

ले के तस्वीरें इन्सानों की,

सही गलत का भेद हमें ये बतलाते है।

कभी ड़ांट तो कभी प्यार से,

कितना कुछ हमको ये समझाते है।

है भविष्य देश का जिन में,

उनका सबका भविष्य ये बनाते है।

है रगं कई इस जीवन में,

रगों की दुनिया से पहचान, ये करवाते है।

खो ना जाये भीड़ में कहीं हम,

हम को हम से ही ये मिलवाते है।

हार हार के फिर लड़ना ही जीत है सच्ची,

ऐसा एहसास ये हमको करवाते है।

कोशिश करते रहना हर पल,

जीवन का अर्थ हमें ये बतलाते है।

देते है नेक मज़िल भी हमें,

राह भी बेहत्तर हमे ये दिखलाते है।

देते है ज्ञान जीवन का,

काम यही सब है इनका,

ये शिक्षक कहलाते है,

ये शिक्षक कहलाते है।।

गुरु आपकी ये अमृत वाणी हमेशा मुझको याद रहे,

जो अच्छा है जो बुरा है उसकी हम पहचान करे।

मार्ग मिले चाहे जैसा भी उसका हम सम्मान करे,

दीप जले या अंगारे हो पाठ तुम्हारा याद रहे।

अच्छाई और बुराई का जब भी हम चुनाव करे,

गुरु आपकी ये अमृत वाणी हमेशा मुझको याद रहे।

My Teacher

विद्या देते दान गुरूजी।

हर लेते अज्ञान गुरूजी।।

अक्षर अक्षर हमें सिखाते।

शब्द शब्द का अर्थ बताते।

कभी प्यार से कभी डाँट से,

हमको देते ज्ञान गुरूजी।।

जोड़ घटाना गुणा बताते।

प्रश्न गणित के हल करवाते।।

हर गलती को ठीक कराते,

पकड़ हमारे कान गुरूजी।।

धरती का भूगोल बताते।

इतिहासों की कथा सुनाते।।

क्या कब क्यों कैसे होता है,

समझाते विज्ञान गुरूजी।।

खेल खिलाते गीत गवाते।

कभी पढ़ाते कभी लिखाते।।

अच्छे और बुरे की हमको,

करवाते पहचान गुरूजी।।

Poem on Teacher’s Day

शिक्षक दिवस के पावन अवसर पर अगर आप कविता की तलाश कर रहे हैं तो नीचे दी गई कविताओं के सूची में से किसी एक कविता का चयन करें – 

READ  Azadi ka amrit mahotsav 2022 | इस वर्ष आजादी का अमृत महोत्सव क्यों हैं खास

सुन्दर सुर सजाने को साज बनाता हूँ

नौसिखिये परिंदों को बाज बनाता हूँ।

चुपचाप सुनता हूँ शिकायतें सबकी

तब दुनिया बदलने की आवाज बनाता हूँ.

समंदर तो परखता है हौंसले कश्तियों के

और मैं डूबती कश्तियों को जहाज बनाता हूँ,

बनाए चाहे चांद पे कोई बुर्ज ए खलीफा

अरे मैं तो कच्ची ईंटों से ही ताज बनाता हूँ।

ज्ञान का दीपक वो जलाते हैं,

माता पिता के बाद वो आते हैं।

माता देती हैं हमको जीवन,

पिता करते हैं हमारी सुरक्षा,

लेकिन जो जीवन को सजाते हैं,

वही हमारे शिक्षक कहलाते है।|

शिक्षक बिना न ज्ञान है,

शिक्षक बिना न मान है,

हमारा जीवन सफल बनाते हैं,

ज्ञान का दीपक वो जलाते हैं।|

जीवन संघर्षो से लड़ना शिक्षक हमे बताते हैं।

सत्य न्याय के पथ पे चलना शिक्षक हमे बताते हैं

ज्ञान का दीपक वो जलाते हैं, माता पिता के बाद वो आते हैं

Teachers Day Motivational Poem

सर को कैसे याद पहाड़े?

सर को कैसे याद गणित?

यह सोचती है दीपाली

यही सोचता है सुमित।।

सर को याद पूरी भूगोल

कैसे पता कि पृथ्वी गोल?

मोटी किताबें वे पढ़ जाते?

हम तो थोड़े में थक जाते।।

तभी बोला यह गोपाल

जिसके बड़े-बड़े थे बाल

सर भी कभी तो कच्चे थे

हम जैसे ही बच्चे थे।।

पढ़-लिखकर सब हुआ कमाल

यूँ ही सीखे सभी सवाल

सचमुच के जादूगर हैं

इसीलिए तो वो सर हैं।।

Teacher Day par Kavita

शिक्षक दिवस के पावन अवसर पर अलग-अलग स्कूल कॉलेज विश्वविद्यालय में कविता समारोह आयोजित किया जाता है अगर आप ऐसे ही किसी समारोह में अपने शिक्षक के लिए एक सम्मानजनक कविता पेश करना चाहते हैं तो नीचे दी गई कविताओं की सूची को ध्यानपूर्वक पढ़ें – 

READ  Gandhi Jayanti 2022 | गांधी जयंती से जुड़ी अहम जानकारी

गुरु आपकी ये अमृत वाणी

हमेशा मुझको याद रहे।

जो अच्छा है जो बुरा है

उसकी हम पहचान करे।

मार्ग मिले चाहे जैसा भी

उसका हम सम्मान करे।

दीप जले या अँगारे हो

पाठ तुम्हारा याद रहे।

अच्छाई और बुराई का

जब भी हम चुनाव करे।

गुरु आपकी ये अमृत वाणी

हमेशा मुझको याद रहे।।

Love my Best Teacher

दीपक सा जलता है गुरु

फैलाने ज्ञान का प्रकाश

न भूख उसे किसी दौलत की

न कोई लालच न आस

उसे चाहिए, हमारी उपलब्धिेयां

उंचाईयां,

जहां हम जब खड़े होकर

उनकी तरफ देखें पलटकर

तो गौरव से उठ जाए सर उनका

हो जाए सीना चौड़ा

हर वक्त साथ चलता है गुरु

करता हममें गुणों की तलाश

फिर तराशता है शिद्दत से

और बना देता है सबसे खास

उसे नहीं चाहिए कोई वाहवाही

बस रोकता है वह गुणों की तबाही

और सहेजता है हममें

एक नेक और काबिल इंसान को

Teachers Day Poem in Hindi FAQ’s

Q. शिक्षक दिवस क्यों मनाते हैं?

शिक्षक दिवस का पावन त्यौहार हमारे पहले उपराष्ट्रपति और दूसरे राष्ट्रपति डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जन्म दिवस के रुप में मनाया जाता है इस दिन भारत के सभी शिक्षकों को सम्मान दिया जाता है। 

Q. शिक्षक दिवस कब मनाया जाता है?

इस साल शिक्षक दिवस 5 सितंबर 2022 को मनाया जा रहा है भारत में हर साल 5 सितंबर का दिन भारत के शिक्षकों को समर्पित किया गया है। 

Q. शिक्षक दिवस कब से मनाया जा रहा है?

शिक्षक दिवस 5 सितंबर 1962 से मनाया जा रहा है।

Q. शिक्षक दिवस कैसे मनाते हैं?

शिक्षक दिवस के दिन हम अपने शिक्षकों को सम्मान देने के लिए अलग-अलग प्रकार के समारोह का आयोजन करते हैं और उसमें हर छात्र छात्रा अपनी तरफ से अपने शिक्षकों के लिए अलग-अलग प्रकार की प्रस्तुति पेश करता है और बड़े ही हर्षोल्लास के साथ इस त्यौहार को पूरे भारतवर्ष में मनाया जाता है।

निष्कर्ष

आज इस लेख में हमने शिक्षक दिवस पर कविता और शिक्षक दिवस से जुड़े कुछ अन्य जानकारियों को आपके समक्ष साझा किया है। आप आने वाले शिक्षक दिवस के दिन अपनी बेहतरीन प्रस्तुति से लोगों का दिल जीत सके। अगर इस लेख में दी गई कविताओं का इस्तेमाल आप अपने शिक्षक दिवस के समारोह के दिन कर रहे हैं और इससे आपको लाभ मिलता है तो अपने सुझाव विचार या किसी भी प्रकार के प्रश्न को कमेंट में पूछना ना भूलें। 

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.