Teachers Day Poem in Hindi | शिक्षक दिवस पर कविता

शिक्षक दिवस पर कविता | Teacher Day Poem in Hindi

Teachers Day Poem in Hindi:- शिक्षक दिवस एक महत्वपूर्ण त्यौहार है, जिस दिन हम भारत के सभी शिक्षकों को सम्मान देने के लिए अलग-अलग प्रकार के समारोह का आयोजन स्कूल कॉलेज और विश्वविद्यालय में करते है। भारत में शिक्षक दिवस का पावन त्यौहार हर साल 5 सितंबर को हमारे दूसरे राष्ट्रपति डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जन्म दिवस पर मनाया जाता है। इस साल शिक्षक दिवस 5 सितंबर 2023 को भारत के सभी कॉलेज स्कूल और विश्वविद्यालय समेत अन्य स्थानों पर शिक्षक के सम्मान के रूप में मनाया जाएगा। अगर आप शिक्षक दिवस के पावन अवसर पर शिक्षक दिवस पर कविता (Teacher Day Poem) ढूंढ रहे हैं तो आज इस लेख में उसके बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी दी गई है। 

शिक्षक दिवस के दिन अपने शिक्षकों को सम्मान देने के लिए अलग-अलग प्रकार के समारोह का आयोजन किया जाता है जिसमें Teacher Day Kavita (शिक्षक दिवस पर कविता), निबंध और अन्य प्रस्तुति पेश की जाती है। अगर आप भी शिक्षक दिवस के अवसर पर कविता सुनाना चाहते हैं तो नीचे दी गई कविताओं की सूची को पढ़ें।

Teachers Day Poem in Hindi- Overview

त्यौहार का नामTeacher’s Day (शिक्षक दिवस 2024)
कब मानते है5 सितंबर 2024
कैसे मनाते हैअपने शिक्षकों को सम्मान देने के लिए अलग-अलग प्रकार के समारोह का आयोजन किया जाता है
क्यों मनाते हैडॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जन्म दिवस पर शिक्षकों को सम्मान देने के लिए
कब से मनाया जा रहा है5 सितंबर 1962 से

शिक्षक दिवस पर कविता हिंदी में | Teacher Day Poem in Hindi

5 सितंबर को मनाए जाने वाले शिक्षक दिवस के लिए कुछ बेहतरीन कविता नीचे प्रस्तुत की गई है जिसका इस्तेमाल आप किसी भी शिक्षा समारोह में कर सकते हैं –

रोज सुबह मिलते है इनसे,
क्या हमको करना है ये बतलाते है।
ले के तस्वीरें इन्सानों की,
सही गलत का भेद हमें ये बतलाते है।
कभी ड़ांट तो कभी प्यार से,
कितना कुछ हमको ये समझाते है।
है भविष्य देश का जिन में,
उनका सबका भविष्य ये बनाते है।
है रगं कई इस जीवन में,
रगों की दुनिया से पहचान, ये करवाते है।
खो ना जाये भीड़ में कहीं हम,
हम को हम से ही ये मिलवाते है।
हार हार के फिर लड़ना ही जीत है सच्ची,
ऐसा एहसास ये हमको करवाते है।
कोशिश करते रहना हर पल,
जीवन का अर्थ हमें ये बतलाते है।
देते है नेक मज़िल भी हमें,
राह भी बेहत्तर हमे ये दिखलाते है।
देते है ज्ञान जीवन का,
काम यही सब है इनका,
ये शिक्षक कहलाते है,
ये शिक्षक कहलाते है।।

शिक्षक दिवस | Poem on Teacher in Hindi

Teachers Day 2024Links
डॉ. राधाकृष्णन सर्वपल्ली का जीवन परिचयClick Here
 शिक्षक दिवस पर शायरी हिंदी मेंClick Here
शिक्षक दिवस पर कविता हिंदी मेंClick Here
शिक्षक दिवस पर भाषण हिंदी मेंClick Here
शिक्षक दिवस पर निबंध हिंदी मेंClick Here
टीचर्स डे स्टेट्स Click Here
शिक्षक दिवस कोट्स Click Here
टीचर्स डे कब, क्यों, कैसे मनाया जाता हैं?Click Here

गुरु आपकी ये अमृत वाणी हमेशा मुझको याद रहे,
जो अच्छा है जो बुरा है उसकी हम पहचान करे।
मार्ग मिले चाहे जैसा भी उसका हम सम्मान करे,
दीप जले या अंगारे हो पाठ तुम्हारा याद रहे।
अच्छाई और बुराई का जब भी हम चुनाव करे,
गुरु आपकी ये अमृत वाणी हमेशा मुझको याद रहे।

My Teacher

विद्या देते दान गुरूजी।
हर लेते अज्ञान गुरूजी।।
अक्षर अक्षर हमें सिखाते।
शब्द शब्द का अर्थ बताते।
कभी प्यार से कभी डाँट से,
हमको देते ज्ञान गुरूजी।।
जोड़ घटाना गुणा बताते।
प्रश्न गणित के हल करवाते।।
हर गलती को ठीक कराते,
पकड़ हमारे कान गुरूजी।।
धरती का भूगोल बताते।
इतिहासों की कथा सुनाते।।
क्या कब क्यों कैसे होता है,
समझाते विज्ञान गुरूजी।।
खेल खिलाते गीत गवाते।
कभी पढ़ाते कभी लिखाते।।
अच्छे और बुरे की हमको,
करवाते पहचान गुरूजी।।

Also Read: Teacher’s Day 2023 | जानिए शिक्षक दिवस कब, क्यों, कैसे मनाया जाता हैं?

टीचर्स डे पर कविता छोटी सी | Short Poem on Teachers Day in Hindi

शिक्षक दिवस 2023 5 सितंबर को मनाया जाएगा, टीचर्स डे पर कविता छोटी सी हम आपको इस लेख में उपलब्ध करा रहे हैं। यह दिन हममें से लगभग सभी के लिए शिक्षक से जुड़ी कई यादें ताजा करता है। हमारे प्यारे शिक्षकों के सम्मान में मनाया जाने वाला यह दिन जिन्होंने हमें अपने ज्ञान, प्यार, डांट-फटकार और दंड से आकार दिया, अविस्मरणीय है। बच्चों के रूप में हम अच्छे कपड़े पहनते हैं, कार्ड बनाते हैं और अपने शिक्षकों के लिए फूल लाते हैं। कुछ लोग उन्हें प्रभावित करने के लिए कपकेक और उपहार भी देते हैं।अनजान लोगों के लिए यह दिन मूल रूप से भारत के दूसरे राष्ट्रपति डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन की याद में मनाया जाता है, जो एक उत्कृष्ट शिक्षक थेकविता पढ़ाना एक बहुत ही फायदेमंद अनुभव हो सकता है, और यह जानकर ख़ुशी होती है कि कविता के कुछ सबसे बड़े नामों ने शिक्षकों को श्रद्धांजलि दी है। इससे हमारे स्कूली दिनों की यादें ताजा हो जाती हैं। इस लेख में हमने कई पॉइन्ट्स जोड़े है जैसे कि टीचर्स डे पर कविता छोटी सी | Short Poem on Teachers Day in Hindi,शिक्षक दिवस पर कविता,poem for teachers day in hindi,teacher day par kavita hindi mein,poem on teachers day in hindi | poems on teachers day in hindi,teacher day poem in hindi | गुरु पर कविता हिंदी में,teachers day poems in hindi।इस लेख को पूरा पढ़े और अच्छी और सरल भाषा में लिखित कविता का लाभ लें।

See also  गणेश चतुर्थी निबंध हिंदी में | Ganesh Chaturthi Essay in Hindi

शिक्षक दिवस पर कविता | Teacher Day Poem

आदर्शों की मिसाल बनकर,
बाल जीवन संवारता शिक्षक |

सदाबहार फूल-सा खिलकर,
महकता और महकाता शिक्षक ||

नित नए प्रेरक आयाम लेकर
हर पल भव्य बनाता शिक्षक |

संचित ज्ञान का धन हमें देकर,
खुशियां खूब मनाता शिक्षक ||

पाप व लालच से डरने की,
धार्मिक सीख सिखाता शिक्षक |

देश के लिए मर मिटने की,
बलिदानी राह दिखाता शिक्षक ||

प्रकाशपुंज का आधार बनकर,
कर्तव्य अपना निभाता शिक्षक |

प्रेम सरिता की बनकर धारा,
नैया पार लगाता शिक्षक ||

वैसे तो हर पेशे का हमारे समुदाय में एक विशिष्ट स्थान है, लेकिन शिक्षक हमारे समाज के हर पहलू में योगदान देते हैं। वह एक बच्चें के भविष्य का निर्माण करते है जो आगे चल कर देश की सेवा करता हैं। वे कक्षा के माहौल की रूपरेखा तैयार करते हैं और बच्चों को दुनिया के अच्छे नागरिक बनने के लिए प्रशिक्षित करते हुए उन्हें सलाह देते हैं और पढ़ाते हैं। आधुनिक समय में प्रगति के लिए एक मजबूत सूचना आधार और समझ और विश्लेषण की अच्छी क्षमताएं महत्वपूर्ण हैं। ऐसे में शिक्षकों के इस योगदान को समझते हुए हम इस पॉइन्ट के जरिए आपके साथ शिक्षक दिवस पर कविता शेयर कर रहे हैं।

Also Read: कृष्ण जन्माष्टमी स्टेटस 2023

Poem on Teachers Day in Hindi

विद्या देते दान गुरूजी”

विद्या देते दान गुरूजी ।
हर लेते अज्ञान गुरूजी ॥

अक्षर अक्षर हमें सिखाते ।
शब्द शब्द का अर्थ बताते ।
कभी प्यार से कभी डाँट से,
हमको देते ज्ञान गुरूजी ॥

जोड़ घटाना गुणा बताते ।
प्रश्न गणित के हल करवाते ॥
हर गलती को ठीक कराते,
पकड़ हमारे कान गुरूजी ॥

धरती का भूगोल बताते ।
इतिहासों की कथा सुनाते ॥
क्या कब क्यों कैसे होता है,
समझाते विज्ञान गुरूजी ॥

खेल खिलाते गीत गवाते ।
कभी पढ़ाते कभी लिखाते ॥
अच्छे और बुरे की हमको,
करवाते पहचान गुरूजी ॥

हर छात्र चाहता है कि वह अपने प्रिय शिक्षक के लिए शिक्षक दिवस के मौके पर कविता सुनाएं। इस पॉइन्ट में हम आपको poem for teachers day in hindi प्रोवाइड कर रहे है ,जो आप अपने प्रिय शिक्षक के साथ शेयर कर सकते हैं। इसके साथ ही इन पोयम से आप उनको इस खास मौके पर स्पेशल भी फील करवा सकते हैं।

See also  World Heritage Day 2023 कब हैं? जानिए विश्व विरासत दिवस का इतिहास, महत्व, थीम और अवलोकन

Teacher Day Par Kavita Hindi Mein

हीरों से भरी दुनिया में ऐसे लोग भी हैं जो दिमाग को आकार देने और युवा आत्माओं को प्रेरित करने के लिए अथक प्रयास करते हैं। वे शिक्षा के गुमनाम चैंपियन, ज्ञान के प्रकाश स्तंभ और मार्गदर्शन के स्तंभ हैं। जी हाँ, हम बात कर रहे हैं शिक्षकों की! जैसा कि हम उनके अमूल्य योगदान का जश्न मनाते हैं, कविता के अलावा अपना आभार व्यक्त करने का इससे बेहतर तरीका क्या हो सकता है? इस पॉइन्ट में हम आपके लिए teacher day par kavita hindi mein लेकर आएं है जो शिक्षकों के लिए प्रेरणादायक कविताओं का एक संग्रह हैं, जो इन उल्लेखनीय व्यक्तियों की सराहना के सार को खूबसूरती से दर्शाता है।

“गुरु आपकी ये अमृत वाणी”

गुरु आपकी ये अमृत वाणी
हमेशा मुझको याद रहे।
जो अच्छा है जो बुरा है
उसकी हम पहचान करे।
मार्ग मिले चाहे जैसा भी
उसका हम सम्मान करे।
दीप जले या अँगारे हो
पाठ तुम्हारा याद रहे।
अच्छाई और बुराई का
जब भी हम चुनाव करे।
गुरु आपकी ये अमृत वाणी
हमेशा मुझको याद रहे।।

सुजाता मिश्रा

Poem on Teachers Day in Hindi

शिक्षक हमारे समाज के गुमनाम नायक हैं, जो युवा दिमागों को आकार देने और भावी पीढ़ी को ढालने के लिए अथक प्रयास कर रहे हैं। वे निस्वार्थ भाव से अपने छात्रों को ज्ञान देने, सलाह देने और प्रेरित करने के लिए हर संभव प्रयास करते हैं। इन उल्लेखनीय व्यक्तियों के सम्मान में हमने प्रेरणादायक कविताओं का एक संग्रह संकलित किया है जो शिक्षकों की अमूल्य सकारात्मक भूमिका का जश्न मनाते हैं और हमारी हार्दिक प्रशंसा व्यक्त करते हैं।

See also  Navratri Vart 2023 | व्रत के नियम, व्रत विधि, कथा, व्रत पारण विधि

“गुरु को प्रणाम”

5 सितंबर शिक्षक दिवस पर,
करें गुरू का गान।
ज्ञान चक्षु को खोल हमारे,
मिटा दिया अज्ञान।।

जला ज्ञान का दीप हमारा,
मार्ग किया आसान।
अंतर्मन को सहला सहला,
गढ़ें नया इंसान।।

गुरू आज्ञा शिरोधार्य हो,
रखें उनका मान।
अपना जीवन धन्य बना लें,
लें उनका वरदान।।

धरती पर ही स्वर्ग बना लें,
गुरू का करके ध्यान।
अर्पित हो गुरू चरणों में जीवन,
ऐसे कर लें काम।।

भेदभाव और ऊंच-नीच का,
रहने न दें नाम।
ऐसे गुरु को आज करें ह म,
कोटि-कोटि प्रणाम।।

गुरु पर कविता हिंदी में

शिक्षक हमारे दिल और दिमाग में एक विशेष स्थान रखते हैं, जो हमारे जीवन को गहराई से आकार देते हैं। शिक्षा के प्रति उनका समर्पण, ज्ञान और जुनून उन्हें सच्चा नायक बनाता है। यहां शिक्षकों और शिक्षण के बारे में सबसे अच्छी कविताएं हैं, जो हमारे जीवन पर उनके प्रभाव का सार दर्शाती हैं।

“शिक्षक दिवस पर कविता”

आदर्शों की मिसाल बनकर,
बाल जीवन संवारता शिक्षक।

सदाबहार फूल-सा खिलकर,
महकता और महकाता शिक्षक।

नित नए प्रेरक आयाम लेकर,
हर पल भव्य बनता शिक्षक।

संचित ज्ञान का धन हमें देकर,
खुशियां खूब मनाता शिक्षक।

पाप व लालच से डरने की,
धर्मीय सीख सिखाता शिक्षक।

देश के लिए मर मिटने की,
बलिदानी राह दिखता शिक्षक।

प्रकाशपुंज का आधार बनकर,
कराव्या अपना निभाता शिक्षक।

प्रेम सरिता की बनकर धारा,
नैया पार लगता शिक्षक।

Teachers Day Poems | शिक्षक पर कविता

शिक्षक दिवस शिक्षाविदों द्वारा समाज में किए गए योगदान को श्रद्धांजलि देने के प्रतीक के रूप में जाना जाता है। अपने शिक्षकों के प्रति अपने प्यार और कृतज्ञता को व्यक्त करने का सबसे आम तरीका कविताओं के माध्यम से है, जो व्यक्तियों के चेहरे पर एक विस्तृत मुस्कान लाएगा। जो अपने विद्यार्थियों को बहुमूल्य रत्नों में ढालते हैं।

“Shikshak Diwas par kavita”

सुन्दर सुर सजाने को साज बनाता हूँ
नौसिखिये परिंदों को बाज बनाता हूँ।
चुपचाप सुनता हूँ शिकायतें सबकी
तब दुनिया बदलने की आवाज बनाता हूँ.
समंदर तो परखता है हौंसले कश्तियों के
और मैं डूबती कश्तियों को जहाज बनाता हूँ,
बनाए चाहे चांद पे कोई बुर्ज ए खलीफा
अरे मैं तो कच्ची ईंटों से ही ताज बनाता हूँ।।

Poem On Teacher’s Day | Teacher Day Poetry

शिक्षक दिवस के पावन अवसर पर अगर आप कविता की तलाश कर रहे हैं तो नीचे दी गई कविताओं के सूची में से किसी एक कविता का चयन करें – 

सुन्दर सुर सजाने को साज बनाता हूँ
नौसिखिये परिंदों को बाज बनाता हूँ।
चुपचाप सुनता हूँ शिकायतें सबकी
तब दुनिया बदलने की आवाज बनाता हूँ.
समंदर तो परखता है हौंसले कश्तियों के
और मैं डूबती कश्तियों को जहाज बनाता हूँ,
बनाए चाहे चांद पे कोई बुर्ज ए खलीफा
अरे मैं तो कच्ची ईंटों से ही ताज बनाता हूँ।

ज्ञान का दीपक वो जलाते हैं,
माता पिता के बाद वो आते हैं।
माता देती हैं हमको जीवन,
पिता करते हैं हमारी सुरक्षा,
लेकिन जो जीवन को सजाते हैं,
वही हमारे शिक्षक कहलाते है।|
शिक्षक बिना न ज्ञान है,
शिक्षक बिना न मान है,
हमारा जीवन सफल बनाते हैं,
ज्ञान का दीपक वो जलाते हैं।|
जीवन संघर्षो से लड़ना शिक्षक हमे बताते हैं।
सत्य न्याय के पथ पे चलना शिक्षक हमे बताते हैं
ज्ञान का दीपक वो जलाते हैं, माता पिता के बाद वो आते हैं

Teachers Day Motivational Poem | Poem on Teacher in Hindi

सर को कैसे याद पहाड़े?
सर को कैसे याद गणित?
यह सोचती है दीपाली
यही सोचता है सुमित।।
सर को याद पूरी भूगोल
कैसे पता कि पृथ्वी गोल?
मोटी किताबें वे पढ़ जाते?
हम तो थोड़े में थक जाते।।
तभी बोला यह गोपाल
जिसके बड़े-बड़े थे बाल
सर भी कभी तो कच्चे थे
हम जैसे ही बच्चे थे।।
पढ़-लिखकर सब हुआ कमाल
यूँ ही सीखे सभी सवाल
सचमुच के जादूगर हैं
इसीलिए तो वो सर हैं।।

Teacher Day Par Kavita

शिक्षक दिवस (Teacher Day Poem) के पावन अवसर पर अलग-अलग स्कूल कॉलेज विश्वविद्यालय में कविता समारोह आयोजित किया जाता है अगर आप ऐसे ही किसी समारोह में अपने शिक्षक के लिए एक सम्मानजनक कविता पेश करना चाहते हैं तो नीचे दी गई कविताओं की सूची को ध्यानपूर्वक पढ़ें – 

गुरु आपकी ये अमृत वाणी
हमेशा मुझको याद रहे।
जो अच्छा है जो बुरा है
उसकी हम पहचान करे।
मार्ग मिले चाहे जैसा भी
उसका हम सम्मान करे।
दीप जले या अँगारे हो
पाठ तुम्हारा याद रहे।
अच्छाई और बुराई का
जब भी हम चुनाव करे।
गुरु आपकी ये अमृत वाणी
हमेशा मुझको याद रहे।।

Love my Best Teacher

दीपक सा जलता है गुरु
फैलाने ज्ञान का प्रकाश
न भूख उसे किसी दौलत की
न कोई लालच न आस
उसे चाहिए, हमारी उपलब्धिेयां
उंचाईयां,
जहां हम जब खड़े होकर
उनकी तरफ देखें पलटकर
तो गौरव से उठ जाए सर उनका
हो जाए सीना चौड़ा
हर वक्त साथ चलता है गुरु
करता हममें गुणों की तलाश
फिर तराशता है शिद्दत से
और बना देता है सबसे खास
उसे नहीं चाहिए कोई वाहवाही
बस रोकता है वह गुणों की तबाही
और सहेजता है हममें
एक नेक और काबिल इंसान को

FAQ’s on Teachers Day Poem in Hindi

Q. शिक्षक दिवस क्यों मनाते हैं?

शिक्षक दिवस का पावन त्यौहार हमारे पहले उपराष्ट्रपति और दूसरे राष्ट्रपति डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जन्म दिवस के रुप में मनाया जाता है इस दिन भारत के सभी शिक्षकों को सम्मान दिया जाता है। 

Q. शिक्षक दिवस कब मनाया जाता है?

इस साल शिक्षक दिवस 5 सितंबर 2024 को मनाया जा रहा है भारत में हर साल 5 सितंबर का दिन भारत के शिक्षकों को समर्पित किया गया है। 

Q. शिक्षक दिवस कब से मनाया जा रहा है?

शिक्षक दिवस 5 सितंबर 1962 से मनाया जा रहा है।

Q. शिक्षक दिवस कैसे मनाते हैं?

शिक्षक दिवस के दिन हम अपने शिक्षकों को सम्मान देने के लिए अलग-अलग प्रकार के समारोह का आयोजन करते हैं और उसमें हर छात्र छात्रा अपनी तरफ से अपने शिक्षकों के लिए अलग-अलग प्रकार की प्रस्तुति पेश करता है और बड़े ही हर्षोल्लास के साथ इस त्यौहार को पूरे भारतवर्ष में मनाया जाता है।

निष्कर्ष

आज इस लेख में हमने शिक्षक दिवस पर कविता और शिक्षक दिवस से जुड़े कुछ अन्य जानकारियों को आपके समक्ष साझा किया है। आप आने वाले शिक्षक दिवस के दिन अपनी बेहतरीन प्रस्तुति से लोगों का दिल जीत सके। अगर इस लेख में दी गई कविताओं का इस्तेमाल आप अपने शिक्षक दिवस के समारोह के दिन कर रहे हैं और इससे आपको लाभ मिलता है तो अपने सुझाव विचार या किसी भी प्रकार के प्रश्न को कमेंट में पूछना ना भूलें। 

इस ब्लॉग पोस्ट पर आपका कीमती समय देने के लिए धन्यवाद। इसी प्रकार के बेहतरीन सूचनाप्रद एवं ज्ञानवर्धक लेख easyhindi.in पर पढ़ते रहने के लिए इस वेबसाइट को बुकमार्क कर सकते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Optimized with PageSpeed Ninja