ads

विश्व स्वास्थ्य दिवस पर निबंध | World Health Day Essay in Hindi | World Health Day Hindi Essay PDF Download

विश्व स्वास्थ्य दिवस निबंध के विषय पर हिंदी निबंध लिखना एक बहुत ही महत्वपूर्ण कार्य है। यह दिवस हर साल 7 अप्रैल को मनाया जाता है। इस दिन स्वास्थ्य के बारे में जागरूकता फैलाई जाती है और स्वस्थ जीवन जीने के महत्व को लोगों को समझाया जाता है। इस लेख में विश्व स्वास्थ्य दिवस हिंदी निबंध पीडीएफ भी उपलब्ध है।
By | February 5, 2024
Follow Us: Google News

World Health Day Essay in Hindi: पूरे विश्व में 7 अप्रैल को विश्व स्वास्थ्य दिवस (World health Day) मनाया जाता है। पूरे विश्व में पहली बार 1950 में विश्व स्वास्थ्य दिवस मनाया गया था। इस दिवस का मनाने का मुख्य उद्देश्य लोगों को स्वास्थ्य के प्रति जागृत करना होता है। जैसे कि आप लोगों को पता है वर्तमान समय में लोग अपने कार्य में इतने व्यस्त हो गए हैं कि वह अपने शरीर का सही रूप से ध्यान नहीं रख पाते हैं जिसके कारण वह कई प्रकार के बीमारियों से ग्रसित हो जाते हैं और इन बीमारियों का सुचारू रूप से उपचार नहीं होने से मृत्यु भी हो जाता है। इसलिए पूरे विश्व के लोगों को स्वास्थ के महत्व को समझाते हुए प्रत्येक वर्ष 7 अप्रैल को विश्व स्वास्थ्य दिवस मनाया जाता है। विश्व स्वास्थ्य दिवस के दिन विश्व के कई देशों में कई प्रकार के कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है इन कार्यक्रमों के द्वारा लोगों को स्वास्थ के प्रति देखभाल करने के लिए जागृत किया जाता है। विश्व स्वास्थ्य दिवस के उपलक्ष में स्कूलों एवं कॉलेज में विश्व स्वास्थ्य दिवस पर निबंध लिखने की प्रतियोगिता रखी जाती है।

यदि आप लोग भी एक विद्यार्थी है और विश्व स्वास्थ्य दिवस पर निबंध की जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो हम आपके लिए इस आर्टिकल के माध्यम से World Health Day Essay in Hindi | विश्व स्वास्थ्य दिवस पर निबंध,विश्व स्वास्थ्य दिवस पर निबंध 500 शब्दों में| World Health Day Essay in Hindi 500 Word, Paragraph On World Health Day 100 Words संबंधित जानकारी विस्तार पूर्वक प्रदान कर रहे हैं। इसलिए आप लोग इस आर्टिकल को अंत तक पढ़े।

World Health Day Essay in Hindi | विश्व स्वास्थ्य दिवस पर निबंध

आर्टिकल का नामविश्व स्वास्थ्य दिवस पर निबंध 2024
आर्टिकल का प्रकारनिबंध
साल2024
विश्व स्वास्थ्य दिवस 2024 कब मनाया जाएगा7 अप्रैल को
विश्व स्वास्थ्य दिवस कहां मनाया जाएगापूरे विश्व में
विश्व स्वास्थ्य दिवस का शुरुआत कब हुआ था1950 से
विश्व स्वास्थ्य संगठन की स्थापना1948
विश्व स्वास्थ्य दिवस मनाने का मुख्य उद्देश्यलोगों को स्वस्थ के प्रति जागृत करना

Also Read: महावीर जयंती पर निबंध PDF | Mahavir Jayanti Essay in Hindi

विश्व स्वास्थ्य दिवस पर निबंध हिंदी में (200 शब्दों में) | Short Essay on World Health Day in Hindi

हर साल विश्व स्वास्थ्य दिवस 7 अप्रैल को विश्व स्तर पर मनाया जाता है। सन 1948 में विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने पहली विश्व स्वास्थ्य सभा का आयोजन किया था। यह वह विधानसभा है जो अपने 194 सदस्य राज्यों के स्वास्थ्य मंत्रियों का गठन करती है। यह सभा दुनिया की सबसे ऊंची स्वास्थ्य नीतियों को तय करती है। विश्व स्वास्थ्य सभा ने वैश्विक स्वास्थ्य के लिए एक दिन समर्पित करने का निर्णय लिया था। इस तरह से  विश्व स्वास्थ्य दिवस मनाने का विचार आया जो वर्ष 1950 से प्रत्येक वर्ष 7 अप्रैल को मनाया जाता है।डब्ल्यूएचओ हर साल इस दिन को मनाने के लिए विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन करता है। दुनिया के विभिन्न हिस्सों में विभिन्न संगठनों और संस्थानों द्वारा कई अन्य बड़े और छोटे कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। यह स्वास्थ्य के महत्व के बारे में जागरूकता फैलाने का दिन है। विभिन्न आयोजनों और गतिविधियों के माध्यम से, ये संस्थाएँ और संगठन यह संदेश देते हैं कि स्वास्थ्य पहले आता है और बाकि चीजें बाद में। यह अत्यंत महत्वपूर्ण है और अन्य सभी कार्यों और गतिविधियों को तभी कुशलता से पूरा किया जा सकता है जब हम अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखेंगें और खुद भी स्वस्थ्य रहेंगे और अपनों को भी स्वस्थ रखेंगे।।

विश्व स्वास्थ्य दिवस का इतिहास 1948 से शुरू होता है, जब विश्व स्वास्थ्य संगठन ने विभिन्न स्वास्थ्य मामलों से संबंधित महत्वपूर्ण निर्णय लेने के लिए दुनिया भर के प्रमुख चिकित्सकों को शामिल करने की आवश्यकता जरुरी समझी। इस उद्देश्य के लिए इसने 1948 में विश्व स्वास्थ्य सभा का आयोजन किया। यह पहली विश्व स्वास्थ्य सभा थी और इसमें 194 सदस्य देश शामिल थे। WHO अपने सदस्य राज्यों द्वारा शासित होता है जिन्हें दुनिया की सर्वोच्च स्वास्थ्य नीति सेटिंग बॉडी बनाने के लिए चुना गया है। सदस्य राज्यों के स्वास्थ्य मंत्री इस निकाय का एक हिस्सा हैं। यह पहली विश्व स्वास्थ्य सभा के दौरान वैश्विक स्वास्थ्य के लिए एक विशेष दिन समर्पित करने का प्रस्ताव रखा गया था। सभी सदस्य राज्यों ने सहमति व्यक्त की कि यह एक अच्छा विचार था और 7 अप्रैल को विश्व स्वास्थ्य दिवस के रूप में घोषित किया गया। यह 1950 से हर वर्ष मनाया जाता है।

विश्व स्वास्थ्य दिवस की आवश्यकता दुनिया भर में बीमारियों और बीमारियों की बढ़ती संख्या के कारण महसूस की गई थी। संसार के विभिन्न भागों में समय-समय पर असंख्य संक्रामक रोग उत्पन्न होते हैं और महामारी की तरह फैलते हैं। इससे लोगों में दहशत पैदा होती है और मीडिया इस डर को हवा देता है। विश्व स्वास्थ्य दिवस पर आयोजित गतिविधियों के माध्यम से लोगों को विभिन्न बीमारियों और उनसे बचने और उनके प्रबंधन के तरीकों के बारे में जागरूक किया जाता है। प्रत्येक विश्व स्वास्थ्य दिवस के लिए एक थीम निर्धारित की जाती है। विषय एक विशेष स्वास्थ्य चिंता को शामिल करता है। विश्व स्वास्थ्य दिवस की गतिविधियाँ चुनी हुई थीम के इर्द-गिर्द घूमती हैं।सामान्य तौर पर स्वास्थ्य के महत्व को इंगित करने के लिए गतिविधियाँ भी आयोजित की जाती हैं। लोगों को अपनी आधुनिक गतिहीन जीवन शैली को छोड़ने और एक स्वस्थ जीवन शैली का चयन करने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है, जिसमें स्वस्थ आहार और व्यायाम शामिल है।इन दिनों लोग इस तेजी से भागती जिंदगी में अच्छे स्वास्थ्य के महत्व और सुनिश्चित करने के बारे में चर्चा करने के लिए सोशल मीडिया का सहारा लेते हैं। वे सोशल मीडिया और अन्य प्लेटफॉर्म पर इस तरह के अभियान चलाकर दूसरों को प्रोत्साहित करते हैं।

See also  आतंकवाद विरोधी दिवस पर निबंध 2023| Essay on Anti Terrorism Day in Hindi | Speech On Anti Terrorism Day

Also read: Rajasthan Diwas Essay in Hindi | राजस्थान दिवस पर निबंध हिंदी PDF

विश्व स्वास्थ्य दिवस पर निबंध 500 शब्दों में | World health Day Essay in Hindi 500 Word

परिचय

जैसे-जैसे लोग इन दिनों स्वास्थ्य के प्रति जागरूक हो रहे हैं, विश्व स्वास्थ्य दिवस की लोकप्रियता बढ़ रही है और इस दिन आयोजित होने वाले कार्यक्रमों की लोकप्रियता भी बढ़ रही है। विश्व स्वास्थ्य दिवस 7 अप्रैल को दुनिया भर में मनाया जाता है। यह स्वस्थ जीवन जीने की भावना स्थापित करता है।

विश्व स्वास्थ्य दिवस समारोह: विशेष गतिविधियाँ

विश्व स्वास्थ्य सभा प्रत्येक वर्ष विश्व स्वास्थ्य दिवस के लिए एक विशिष्ट विषय तय करती है। विश्व स्वास्थ्य दिवस पर लोगों को उस वर्ष कवर किए गए विशिष्ट विषय और सामान्य रूप से स्वास्थ्य के महत्व के बारे में जागरूक करने के लिए विभिन्न गतिविधियाँ आयोजित की जाती हैं।

विश्व स्वास्थ्य दिवस समारोह के एक भाग के रूप में, लोगों को विभिन्न स्वास्थ्य समस्याओं से बचने और स्वस्थ जीवन जीने के तरीके को समझने में मदद करने के लिए विभिन्न कार्यक्रम और गतिविधियाँ आयोजित की जाती हैं। विभिन्न बीमारियों से लड़ने वालों की मदद के लिए प्रदर्शन और भाषण भी दिए जाते हैं ताकि उन्हें इससे निपटने में मदद मिल सके। ये भाषण मरीजों और उनके परिवार के सदस्यों को प्रेरित और प्रोत्साहित करने के लिए दिए जाते हैं ताकि उन्हें पता चल सके कि वे अपनी लड़ाई में अकेले नहीं हैं। जनता तक पहुंचने के लिए इन बिंदुओं को दिलचस्प तरीके से प्रस्तुत करने के लिए नाटकों का आयोजन किया जाता है और खेल खेले जाते हैं।

बच्चे हमारा भविष्य हैं और उन्हें स्वस्थ जीवन शैली जीने के बारे में विशेष रूप से जागरूक किया जाना चाहिए। यही कारण है कि दुनिया भर के कई स्कूल और कॉलेज विश्व स्वास्थ्य दिवस मनाने का निश्चय करते हैं। बच्चों को सरल और आसान तरीके से स्वास्थ्य बनाए रखने के महत्व के बारे में सीखने में मदद करने के लिए स्कूलों में भाषण, खेल, प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता और अन्य गतिविधियाँ आयोजित की जाती हैं। निबंध लेखन और वाद-विवाद प्रतियोगिताएं भी आयोजित की जाती हैं। छात्र इन आयोजनों में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेते हैं।

विश्व स्वास्थ्य दिवस समारोह: अच्छे स्वास्थ्य पर जोर दें

विश्व स्वास्थ्य दिवस समारोह का हिस्सा बनने वाली विभिन्न गतिविधियों के माध्यम से, एक संपूर्ण जीवन जीने के लिए स्वस्थ जीवन शैली का पालन करने की आवश्यकता पर जोर दिया जाता है। इन घटनाओं और गतिविधियों की मुख्य झलकियाँ इस प्रकार हैं:

जंक फूड से बचें: आधुनिक समय में, हमें हर चीज तुरंत और रेडीमेड चाहिए होती है और इसलिए हम ऐसे फास्ट फूड के आदी हो गए हैं जो आसानी से खाया जा सकता है और स्वाद में भी अच्छा होता है। विश्व स्वास्थ्य दिवस की गतिविधियाँ विशेष रूप से जंक फूड को छोड़ने और स्वस्थ भोजन विकल्पों पर स्विच करने की आवश्यकता पर जोर देती हैं।

गतिहीन जीवनशैली छोड़ें: आज हमारी नौकरियां ऐसी हैं कि हमें घंटों लैपटॉप के सामने बैठे रहना पड़ता है। घर वापस जाने के बाद भी हम अपने टेलीविजन स्क्रीन या मोबाइल से चिपके रहते हैं। बच्चे भी टीवी और टैबलेट से चिपके नजर आते हैं। यह विभिन्न बीमारियों का मूल कारण है। बच्चों को घर पर बैठने के बजाय क्रिकेट, फुटबॉल और बैडमिंटन जैसे आउटडोर खेलों में शामिल होना चाहिए। वयस्कों को भी शारीरिक गतिविधियों जैसे दौड़ना, जॉगिंग, साइकिल चलाना आदि में शामिल होना चाहिए। यह हमारे शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य दोनों के लिए अच्छा है।

निष्कर्ष:

आजकल लोग अपने काम में इतना मशगूल हो गए हैं कि सेहत पीछे छूट गई है। विश्व स्वास्थ्य दिवस हमारे स्वास्थ्य को हमारी प्राथमिकता बनाने के महत्व को उजागर करने के लिए मनाया जाता है। हम अपने जीवन के अन्य पहलुओं को तभी कुशलता से संभाल पाएंगे जब हम स्वस्थ होंगे।

Vishwa Svasthya Diwas Par Nibhand कैसे लिखे | Essay on World Health Day

इस बिंदू के जरिए हम आपको बताएंगे कि क्या क्या पॉइन्ट जोड कर आप बहतरीन विश्व स्वास्थ्य दिवस पर निबंध लिख सकते है। विद्यार्थी चाहे किसी भी कक्षा का क्यो ना हो पर कुछ विषय ऐसे आ जाते है जहां वह दुविधा में पड़ जाता है कि निबंध कैसे लिख। कई बार बढ़े भी विश्व स्वास्थ्य दिवस पर निबंध (Vishwa Svasthya Diwas Par Nibhand) कैसे लिखे समझ नहीं पाते है, आपकी इसी परेशानी को देखते हुए हमने निबंध तैयार किया है जो कि इस प्रकार है-

प्रस्तावना

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) की स्थापना 7 अप्रैल 1948 को हुई थी। पूरे विश्व में सफल जीवन के लिए स्वास्थ्य के महत्व को समझते हुए विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) की स्थापना के दिन 7 अप्रैल को विश्व स्वास्थ्य दिवस मनाया जाता है। विश्व स्वास्थ्य दिवस विश्व स्तर पर मनाया जाने वाला स्वास्थ्य जागरूकता दिवस है। कहा जाता है कि स्वास्थ्य ही जीवन है, लेकिन आज की व्यस्त और तनाव भरी जिंदगी में मनुष्य अपने स्वास्थ्य पर पूरा ध्यान नहीं दे पाता है। व्यस्त जीवनशैली, काम और तनाव के कारण मानव स्वास्थ्य पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ रहा है। स्वास्थ्य के महत्व के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए हर साल विश्व स्वास्थ्य दिवस मनाया जाता है। इस दिन लोगों को अपने स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करने का संदेश दिया जाता है और सरकार को स्वस्थ नीतियां बनाने के लिए प्रेरित किया जाता है।

See also  नेशनल पैरेंट्स डे पर निबंध | Essay On National Parents Day in Hindi (कक्षा 1 से 10 के लिए निबंध)

यह स्वास्थ्य के मुद्दों के बारे में जागरूकता बढ़ाने और लोगों को बेहतर स्वास्थ्य के लिए कार्रवाई करने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए एक वैश्विक पर्यवेक्षण है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) एक स्वस्थ जीवन शैली, बीमारी की रोकथाम और सार्वभौमिक स्वास्थ्य देखभाल पहुंच को बढ़ावा देने के लिए इस दिन का आयोजन करता है। इस निबंध में हम विश्व स्वास्थ्य दिवस के इतिहास, महत्व और महत्वपूर्ण तथ्यों पर चर्चा करेंगे।

विश्व स्वास्थ्य दिवस का इतिहास

विश्व दिवस का इतिहास 1948 तक का माना जाता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने विभिन्न स्वास्थ्य मामलों से संबंधित महत्वपूर्ण निर्णय लेने के लिए दुनिया भर के प्रमुख चिकित्सकों को शामिल करने की आवश्यकता महसूस की थी। इसने इस उद्देश्य के लिए 1948 में विश्व स्वास्थ्य सभा का आयोजन किया। यह पहली विश्व स्वास्थ्य सभा थी और इसमें 194 सदस्य राष्ट्र  शामिल हुए थे। WHO इसके सदस्य राज्यों द्वारा शासित होता है, जिन्हें दुनिया की सर्वोच्च स्वास्थ्य नीति-निर्धारण संस्था बनाने के लिए चुना गया है। सदस्य राज्यों के स्वास्थ्य मंत्री इस निकाय का एक हिस्सा हैं। विश्व स्वास्थ्य सभा के दौरान पहली बार विश्व स्वास्थ्य के लिए एक विशेष दिन समर्पित करने का प्रस्ताव रखा गया था। सभी सदस्य राज्यों ने सहमति व्यक्त की कि यह एक अच्छा विचार था और 7 अप्रैल को विश्व स्वास्थ्य दिवस के रूप में घोषित किया गया था। विश्व स्वास्थ्य दिवस की आवश्यकता दुनिया भर में बीमारियों की बढ़ती संख्या के कारण महसूस की गई थी। अनेक संक्रामक रोग विश्व के विभिन्न भागों में हर समय फैलते हैं और महामारियों को जन्म देते हैं। इससे लोगों में दहशत है। विश्व स्वास्थ्य दिवस पर आयोजित गतिविधियों के माध्यम से लोगों को विभिन्न बीमारियों और उनसे बचने के उपायों के बारे में जागरूक किया जाता है।

विश्व स्वास्थ्य दिवस का उद्देश्य

विश्व स्वास्थ्य संगठन दुनिया भर के लोगों के स्वास्थ्य के स्तर में सुधार के लिए हर साल 7 अप्रैल को विश्व स्वास्थ्य दिवस मनाता है।इस दिन को मनाने के पीछे का विचार यह है कि हर इंसान को सस्ती दर पर अच्छी स्वास्थ्य सुविधाएं मिल सकते। दुनियाभर में करोड़ों लोग कई भयानक बीमारियों के शिकार हैं। अतः रोगों की रोकथाम एवं उचित व्यवस्था आदि विषयों पर चर्चा एवं जागरूकता भी स्वास्थ्य दिवस के मुख्य उद्देश्य के रूप में सम्मिलित है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार शारीरिक, मानसिक और सामाजिक रूप से स्वस्थ होना ही मानव स्वास्थ्य की परिभाषा है। मच्छरों के प्रकोप को रोकने के लिए विभिन्न क्षेत्रों में एंटी-लार्वा और कीटनाशकों का छिड़काव किया जाता है। संक्रामक रोगों से बचाव के लिए लोगों को जागरूक किया जा रहा है। वेक्टर जनित रोगों से बचाव के लिए इस दिन जिला और ब्लॉक स्तर पर जागरूकता अभियान चलाए जाते हैं।

विश्व स्वास्थ्य दिवस का महत्व

कुछ लोगों के लिए अच्छा स्वास्थ्य, बीमारी की अनुपस्थिति हो सकता है। दूसरों के लिए यह संतुलित आहार का पालन करना या स्वस्थ जीवन शैली जीना हो सकता है। वास्तव में अच्छा स्वास्थ्य कई कारकों से बना होता है। जैसा कि डब्ल्यूएचओ द्वारा परिभाषित किया गया है कि यह ‘पूर्ण शारीरिक, मानसिक और सामाजिक कल्याण की स्थिति है।’ स्वास्थ्य जो हर साल सार्वभौमिक चिंता का विषय है। यह सार्वजनिक स्वास्थ्य के मुद्दों में रुचि रखने वाले विभिन्न सरकारों और गैर-सरकारी संगठनों द्वारा दुनिया भर में मान्यता प्राप्त है। दो साल पहले फैली कोविड-19 महामारी ने दुनिया भर में मानव जीवन के लिए सबसे बड़ा खतरा पैदा कर दिया था जो आज भी खतरा बना हुआ है। इसने सार्वजनिक स्वास्थ्य को भी ऐसी चुनौती दी है जैसी पहले कभी नहीं थी। महामारी के कारण होने वाला आर्थिक और सामाजिक व्यवधान विनाशकारी है क्योंकि इसने हाल के स्वास्थ्य क्षेत्र को कम कर दिया है और अधिक लोगों को गरीबी में धकेल दिया है, जिसके परिणामस्वरूप खाद्य असुरक्षा हुई है और पूरी स्वास्थ्य प्रणाली बाधित हो गई है। विश्व स्वास्थ्य दिवस हमें ऐसी स्थितियों के बारे में सोचने और इस दुनिया को सभी के लिए एक बेहतर और स्वस्थ जगह में बदलने के लिए कदम उठाने का अवसर देता है।

विश्व स्वास्थ्य दिवस पर होने वाली गतिविधियाँ:

  • वैश्विक स्तर पर यह दिन स्वास्थ्य से जुड़े सभी मुद्दों को लक्षित करता है और इसके लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा सालाना आधार पर कई कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं।
  • यह दुनिया भर में सभी प्रतिभागी देशों, गैर सरकारी संगठनों और अन्य संगठनों की सरकार द्वारा मनाया जाता है।
  • विभिन्न देशों के स्वास्थ्य अधिकारी दुनिया भर में स्वास्थ्य के मुद्दों पर समर्थन देने के अपने संकल्प के साथ समारोह में भाग लेते हैं।
  • यह WHO की स्थापना के बारे में लोगों को याद दिलाने और दुनिया में प्रमुख स्वास्थ्य मुद्दों के बारे में लोगों में जागरूकता फैलाने का काम करता है।
  • WHO ने विकासशील देशों में चिकनपॉक्स, पोलियो, चेचक, टीबी, कुष्ठ रोग आदि जैसे विभिन्न गंभीर स्वास्थ्य मुद्दों के उन्मूलन पर काम किया है।
See also  महाशिवरात्रि पर निबंध हिंदी में | Mahashivratri Essay in Hindi | Shivratri Nibandh PDF 2023

उपसंहार:

एक स्वस्थ दुनिया का विजन कोई दूर का सपना नहीं है, यह साक्ष्य-आधारित स्वास्थ्य शिक्षा और स्वास्थ्य के मुद्दों पर जागरूकता के साथ प्राप्त किया जा सकता है। यह सपना तभी साकार हो सकता है जब स्कूल, कॉलेज, समुदाय, स्वास्थ्य केंद्र और स्वयंसेवक जैसे संगठन, साथ ही निजी और सार्वजनिक संगठन इसके बारे में जानकारी फैलाने और इसके लिए काम करने के लिए एक साथ आएं। साथ ही हमें मानवीय गतिविधियों के कारण जलवायु परिवर्तन और पर्यावरणीय गिरावट के बारे में भी सोचना चाहिए क्योंकि यह भी हमारे स्वास्थ्य पर असर डालता है। यह उनके नकारात्मक प्रभावों को कम करने और सभी के लिए एक स्वस्थ जीवन सुनिश्चित करने के लिए कदम उठाने का समय है।ऐसा कहा जाता है कि अच्छा स्वास्थ्य बढ़ती दुनिया की आवश्यकताओं के अनुसार काम करने की बेहतर क्षमता प्रदान करता है और इसलिए यह बहुत महत्वपूर्ण है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) की नींव इस सिद्धांत पर रखी गई थी कि सभी मनुष्य स्वास्थ्य के उच्चतम संभव स्तर पर अपने अधिकार का एहसास करें। “सभी के लिए स्वास्थ्य” का नारा सात दशक से अधिक पुराना है और एक मार्गदर्शक दृष्टि के रूप में काम करता है। 

Also read: Ram Navami Essay in Hindi | रामनवमी पर निबंध PDF | राम नवमी का इतिहास जाने

विश्व स्वास्थ्य दिवस पर निबंध PDF | Download World Health Day Hindi Essay PDF 

विश्व स्वास्थ्य दिवस पर निबंध हम आपको PDF में भी पेश कर रहे है (World Health Day Hindi Essay PDF) जो आप डाउनलोड कर के कभी भी पढ़ सकते है। क्योंकि ज्ञान को जितना आर्जित किया जाए उतनी कम होता है। इसलिए इस लेख में हम आपको Vishwa Svasthya Diwas Par Nibhand PDF दे रहे है जो आप कभी भी कहीं भी डाउन लोड कर के पढ़ सकते हैं। 

Mahavir Jayanti Essay PDF Download | विश्व स्वास्थ्य दिवस पर निबंध

Paragraph On World Health Day (100 Words)

चिकित्सा क्षेत्र में अथक परिश्रम करने वाले हर व्यक्ति के योगदान को स्वीकार करने के लिए विश्व स्वास्थ्य दिवस मनाया जाता है। हमारे डॉक्टरों, सर्जनों, नर्सों और दाइयों ने इस दुनिया के लोगों की सेवा के लिए अपना जीवन समर्पित कर दिया है। वे हमारी देखभाल करके और बीमारियों को ठीक करके हमें स्वस्थ और बीमारियों से सुरक्षित रहने में मदद करते हैं।

वैश्विक स्तर पर स्वास्थ्य स्थितियों में सुधार के लिए संयुक्त राष्ट्र संगठन के बैनर तले 7 अप्रैल 1948 को विश्व स्वास्थ्य संगठन की स्थापना की गई थी। WHO ने मिलकर चेचक जैसी कई घातक बीमारियों को पूरी तरह खत्म कर दिया है। विश्व स्वास्थ्य दिवस स्वस्थ रहने के महत्व को स्वीकार करता है और दुनिया को महत्वपूर्ण संदेश देता है।

विश्व स्वास्थ्य दिवस पर 10 लाइन | 10 Lines of World Health Day Essay in Hindi 

  • 7 अप्रैल में पूरी दुनिया द्वारा विश्व स्वास्थ्य दिवस मनाया जाता है।
  • इसी दिन विश्व स्वास्थ्य संगठन(WHO) की स्थापना का हुई थी।
  • हर साल इस दिन एक विषय को आधार बनाकर पूरा कार्यक्रम आयोजित किया जाता है।
  • सन 1950 में विश्व स्वास्थ्य दिवस मनाने की शुरुआत में हुई थी।
  • इन दिन को मनाने के पीछे का मुख्य उद्देश्य लोगों को स्वास्थ्य के महत्व के बारे में जागरूक करना है।
  • विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा इस दिन  विभिन्न कार्यक्रमों और सेमिनार का आयोजन किया जाता है।
  • दुनिया भर की सरकारें, गैर सरकारी संगठन और स्वास्थ्य पेशेवर इस दिन का समर्थन करते हुए कई तरह के आयोजन आयोजित करते है।
  • इस दिन देश और दुनिया में लोग स्कूलों और कॉलेजों में कई कार्यक्रम आयोजित करते हैं।
  • विश्व स्वास्थ दिवस का दिन यह भी सुनिश्चित करता है कि सभी के लिए सर्वोत्तम उपचार उपलब्ध होना चाहिए।
  • नि:शुल्क शिविर और जांच का आयोजन विश्व स्वास्थ्य दिवस के अवसर पर किया जाता है।

Also read: Bihar Diwas Essay in Hindi | बिहार दिवस पर निबंध PDF | बिहार का इतिहास

FAQs: World Health Day Hindi Essay

Q.हर साल विश्व स्वास्थ्य दिवस कब मनाया जाता है ?

Ans. हर साल विश्व स्वास्थ्य दिवस 7 अप्रेल को मनाया जाता है।

Q. विश्व स्वास्थ्य दिवस किस का प्रतीक है?

Ans.7 अप्रैल को मनाया जाने वाला विश्व स्वास्थ्य दिवस WHO की स्थापना की वर्षगांठ का प्रतीक है।

Q.साल 2024 में मनाए जाने वाला विश्व स्वास्थ्य दिवस की थीम क्या है?

Ans.साल 2024 में मनाए जाने वाला विश्व स्वास्थ्य दिवस की थीम 75 years of improving public health हैं।

Q.साल 2024 में WHO की कौन सी वर्ष गांठ मनाी जाएगी?

Ans.साल 2024 में WHO की 75 वीं वर्ष गांठ मनाी जाएगी।

Q.विश्व स्वास्थ्य दिवस क्यों मनाया जाता है?

Ans.विश्व स्वास्थ्य दिवस WHO (विश्व स्वास्थ्य संगठन) के स्थापना दिवस पर मनाया जाता है। इस दिन का मुख्य उद्देश्य अच्छे स्वास्थ्य के महत्व के बारे में वैश्विक जागरूकता फैलाना है।

Q. विश्व स्वास्थ्य संगठन का स्थापना कब हुआ था?

Ans.विश्व स्वास्थ्य संगठन का स्थापना सन 1948 में हुआ था।

Q. विश्व स्वास्थ्य दिवस पहली बार कब मनाया गया था?

Ans. स्वास्थ्य दिवस पहली बार सन 1950 में मनाया गया था।

Q.विश्व स्वास्थ्य दिवस का मुख्य उद्देश्य क्या है?

Ans. विश्व स्वास्थ्य दिवस का मुख्य उद्देश्य लोगों को स्वास्थ्य के प्रति जागृत करना होता है।

इस ब्लॉग पोस्ट पर आपका कीमती समय देने के लिए धन्यवाद। इसी प्रकार के बेहतरीन सूचनाप्रद एवं ज्ञानवर्धक लेख easyhindi.in पर पढ़ते रहने के लिए इस वेबसाइट को बुकमार्क कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *