स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध | Swachh Bharat Abhiyan Essay in Hindi

By | जनवरी 2, 2023
Swachh Bharat Abhiyan Essay

Swachh Bharat Abhiyan Essay in Hindi:- स्वच्छ भारत अभियान को स्वच्छ भारत मिशन,यह सभी पिछड़े वैधानिक कस्बों को साफ करने के लिए भारत सरकार द्वारा चलाया गया एक राष्ट्रीय स्तर का अभियान है। इस अभियान में शौचालयों का निर्माण, ग्रामीण क्षेत्रों में स्वच्छता कार्यक्रमों को बढ़ावा देना, देश को आगे ले जाने के लिए गलियों, सड़कों की सफाई और देश के बुनियादी ढांचे को बदलना शामिल है। यह अभियान 2 अक्टूबर 2014 को राजघाट, नई दिल्ली में महात्मा गांधी की 145 वीं जयंती पर प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा आधिकारिक तौर पर शुरू किया गया था। इस लेख में हम आपको स्वच्छ भारत अभियान निबंध प्रस्तुत करेंगे जिसके जरिए आपको इस मिशन की सारी जानकारियां मुहैया कराई जाएगी।स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध , Swachh Bharat Abhiyan Essay in Hindi, स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध 500 शब्दों में,स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध pdf,स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध 1000 शब्द,स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध 100 शब्दों में,स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध 300 शब्द,स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध 250 शब्दों में,स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध 150 शब्द,स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध pdf download,स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध 10 लाइन,स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध लिखें।

Swachh Bharat Abhiyan Essay in Hindi 

टाइटलस्वच्छ भारत अभियान निबंध
लेख प्रकारनिबंध
स्वच्छ भारत अभियान शुरुआत2 अक्टूबर 2014
स्वच्छ भारत अभियान कौन सी सरकार पहल हैकेंद्रीय सरकार
स्वच्छ भारत अभियान भारत की कौन सी सीटी में शुरु किया गयादिल्ली
स्वच्छ भारत अभियान किसके द्वारा लॉंच किया गयाप्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी
साल2023
देश का सबसे स्वच्छ शहरइंदौर

स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध 1000 शब्द

मनुष्य की पहचान स्वच्छता से ही होती है। हर मनुष्य अपने शरीर को, कपड़ों को और घर के आसपास के माहौल को साफ सुथरा रखना चाहता है। मनुष्य ही नहीं बल्कि पशु-पक्षी भी सफाई का ध्यान रखते हैं। चिड़िया अपने घोसले में बीट नहीं करती है और कुत्ता भी अपने स्थान पर बैठता है, तो वह भी उस जगह को अपनी पूंछ से बुहार लेता है। 

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी भी क्लीन इंडिया का सपना देखते थे। उन्हीं के सपने को संदेश रूप में लेकर पीएम नरेंद्र मोदी ने देशभर में स्वच्छ भारत अभियान का शुभारम्भ 2 अक्टूबर 2014 को गांधी जयंती के अवसर पर किया था। प्रधानमंत्री ने शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों को गंदगी से मुक्त करने का संदेश दिया गया है। 

READ  Essay on Internet in Hindi | इंटरनेट पर निबंध हिंदी में

स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध लिखें

पवित्रता- भारतीय संस्कृति में पवित्रता ही स्वच्छता का पर्याय बताया गया है। धर्म व संस्कृति में लोगों को पवित्रता अपनाने का उपदेश दिया गया है। तन की पवित्रता तो जरूरी है ही इसके साथ ही मन की स्वच्छता का भी हमें खयाल रखना चाहिए। मन में उठ रहे बुरे विचारों को हटाकर उन्हें स्वच्छ बनाना चाहिए। मंदिर-मस्जिदों को पवित्र बनाए रखने का अर्थ उनको अंदर और बाहर की गंदगी से मुक्त करके साफ बनाना है। 

स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध 100 शब्दों में

  • सार्वजनिक स्थानों की स्वच्छता 

अक्सर देखा जाता है कि भारत में सार्वजनिक स्थानों की स्वच्छता के प्रति उपेक्षा देखी जाती है। इसकी एक वजह तो लोगों की निर्धनता है और कुछ लोगों का अज्ञान है। कई लोग घर का कूड़ा बाहर रोड पर फेक देते हैं। हमारे मन में यही सोच रहती है कि यह काम तो नगरनिगम या पालिका का है। विदेशों में स्वच्छता – स्वच्छता प्रेम के संबंध में विदेशी हमसे आगे हैं। वे अपने नगर और शहरों को गंदा नहीं करते हैं। कूड़े को कूड़ेदान में ही फेकते हैं।

स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध pdf

  • राष्ट्रीय स्वच्छता अभियान 

हमारे प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने भारत को स्वच्छ रखने का जिम्मा उठाया है। उन्होंने अपने हाथों से झाड़ू पकड़कर सार्वजनिक जगहों की सफाई करके स्वच्छता अभियान की शुरुआत की । इस अभियान को जनता के जीवन में उतारने की जरूरत होती है। यदि ऐसा नहीं होता है, तो यह सिर्फ अखबारों में छपने वाली खबर ही रह जाएगी। हमारे देश में पहले भी कई महान पुरुषों ने अपने आचरण से स्वच्छा के उदाहरण प्रस्तुत किए हैं। महात्मा गांधी स्वयं अपने आश्रम की सफाई करते थे। प्रसिध्द कहानीकार मुंशी प्रेमचंद्र भी घर की सफाई करते थे। 

स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध 300 शब्द

  • स्वच्छता की प्रेरणा 
  • राष्ट्रीय स्वच्छता का अभियान लोगों को प्रेरित और प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से चलाया गया है। किसी काम की प्रेरणा दो प्रकार से दी जाती है, एक पुरस्कार देकर और दूसरी अवहेलना के लिए दंड देकर। भारत का जनसंख्या नियंत्रण अभियान भी पुरस्कार पर आधारित होने की वजह से सफल नहीं हो सका है। स्वच्छता अभियान को अधिक सफलता मिलना संदिग्ध है। इन दोनों आंदोलनों की सफलता के लिए उन्हें दंड की व्यवस्था से जोड़ना भी जरूरी है। सड़क पर कूड़ा फेकने, गंदा करने, थूकने, मल-मूत्र आदि पर दंड का प्रावधान करना जरूरी है। स्वच्छता के प्रति लोगों को जागरुक भी करना चाहिए। उनको समझाया जाना चाहिए कि उनको स्वास्थ्य का स्वच्छता से गहरा संबंध है। स्वच्छता को बढ़ावा देने वालों का सम्मान किया जाना चाहिए।  
READ  स्वामी विवेकानंद पर निबंध हिंदी में | Swami Vivekananda Essay in Hindi

स्वच्छ अभियान का उद्देश्य

हमारे देश में शहरों के आसपास की कच्ची बस्तियों में, गांवों में आज भी कई पुरुष-महिलाओं को घर के बाहर शौंच के लिए जाना पड़ता है। आज भी कई लोगों के घर पर शौचालय नहीं बनी है, जबकि पीए ने हर घर शौचालय के लिए एक योजना भई चलाई थी। इसके अलावा स्कूलों में भी पेयजल और शौचालयों की कमी है। इससे खुले में शौच करने से गंदगी बढ़ती है तथा पेयजल के साथ ही वातावरण भी गंदा होता है। गंदगी की वजह से लोगों की सेहत खराब होती है और कई तरह की बीमारियों से जूझना पड़ता है। वर्तमान में देश को लगभग ग्यारह करोड़ शौचालयों की आवश्यकता है।

स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध 250 शब्दों में

  • स्वच्छ भारत अभियान रैंकिंग 

 स्वच्छ भारत अभियान के तहत सरकार शहरों को रैंकिंग प्रदान करती है। इसके लिए सरकार ने कुछ नियम भी निर्धारित किए हैं। जैसे – सूखा कचड़ा अलग और गीले कचड़े को अलग कूड़ेदान में डालना, दोनों तरह के कचरे का निष्पादन भी अलग करना । इस प्रतियोगिता में जो शहर सबसे साफ सुथरा होता है, उसे नंबर वन की पोजीशन पर रखा जाता है। नंबर वन की रेस हर शहर की लगी रहती है। जो यह स्थान पा लेता है, उस शहर की वाहवाही और सम्मान तो होता ही है, साथ ही उचित राशि इनाम के तौर पर भी दी जाती है। मध्यप्रदेश का इंदौर शहर लगातार चौथी साल साफ-सफाई में नंबर वन की पोजीशन पर बना हुआ है। अब देखना होगा कि पांचवी बार कौन यह बाजी मारता है। 

READ  मेरा परिवार पर निबंध हिंदी में | My Family Essay in Hindi 2023

स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध 500 शब्दों में

  • स्वच्छता अभियान एप 

 स्वच्छ भारत अभियान के तहत एक स्वच्छता ऐप जारी किया गया है। इस ऐप को आप प्ले स्टोर से आसानी से इंस्टॉल करके अपने आस-पास की जगह को स्वच्छ बनाए रखने में सहायता कर सकते हैं। अगर आपको किसी जगह पर गंदगी दिखती है तो इस ऐप के जरिए आप गंदे स्थान की फोटो अधिकारियों के पास भेज सकते हैं। जीपीएस सिस्टम लगे होने से संदर्भ अधिकारियों तक लोकेशन खुद ही पहुंच जाएगा और वे नियत समय में आकर उस जगह की सफाई कर देंगे। 

स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध 150 शब्द

  • जागरुकता में वृध्दि 

 स्वच्छ भारत अभियान अपने उद्देश्य में अभी तक पूरी तरह से सफल तो नहीं हुआ है, लेकिन लोगों में सफाई के लिए एक जागरुकता की लहर पैदा जरूर कर दी है। मध्यप्रदेश का इंदौर शहर इस मामले में काफी आगे निकल गया है। इंदौर लगातार चौथी साल भारत का सबसे स्वच्छ शहर बना हुआ है। 2014 से इस अभियान की शुरुआत हुई और 2019 तक पूरे भारत को स्वच्छ बनाना था, लेकिन अभी भी काफी प्रयास की जरूरत है। सिर्फ सरकारी प्रयास से यह काम मुमकिन नहीं, बल्कि इसके लिए लोगों की तरफ से पहल करना जरूरी है। हर वर्ग को सफाई के इस अभियान में साथ आना होगा, तभी यह कारगार सिध्द होगा। इस अभियान की सराहना पूरे विश्व भर में हुई है, इससे भारत का सर भी गर्व से ऊंचा हुआ है। 

स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध pdf download

इस अभियान से सबसे बड़ा फायदा स्वास्थ्य के क्षेत्रों में होगा। लोगों को बीमारियों से मुक्ति मिलेगी, दवाइयों पर फालतू का खर्च नहीं करना पड़ेगा। देश की छवि पूरी दुनिया में उभरेगी, प्रदूषण एकदम घट जाएगा और पेयजल भी शुध्द होगा।

FAQ’s Swachh Bharat Abhiyan Essay

Q. स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत कब हुई ?

Ans. 2 अक्टूबर 2014 से स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत हुई।

Q. स्वच्छ भारत अभियान से क्या होगग ? 

Ans. भारत स्वच्छ और देशवासी स्वस्थ्य होंगे।

Q.  स्वच्छ भारत अभियान कब तक चलेगा ? 

Ans. वैसे तो इसका लक्ष्य 2019 तक रखा गया था, लेकिन यह एक सतत प्रक्रिया है।

Q.  स्वच्छ शहर का पता कैसे चलता है ?

Ans. इसका पता अधिकारी शहर की गुणवत्ता के आधार पर पॉइंट जारी करता है, फिर रैंकिंग जारी की जाती है।

इस ब्लॉग पोस्ट पर आपका कीमती समय देने के लिए धन्यवाद। इसी प्रकार के बेहतरीन सूचनाप्रद एवं ज्ञानवर्धक लेख easyhindi.in पर पढ़ते रहने के लिए इस वेबसाइट को बुकमार्क कर सकते हैं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *