राजस्थान: राजीव गांधी कृषक साथी सहायता योजना 2022 | Rajiv Gandhi Krishak Sathi Sahayata Yojana

By | नवम्बर 1, 2022
Rajiv Gandhi Krishak Sathi Sahayata Yojana

अगर आपने राजस्थान कृषक साथी योजना 2022, किसान जीवन कल्याण योजना या राजीव गांधी कृषक साथी सहायता योजना के बारे में सुना है तो आप को बता देना चाहते हैं कि यह सभी अलग-अलग नाम एक योजना को ही संबोधित करते है वर्तमान समय में इस योजना को Rajiv Gandhi Krishak Sathi Sahayata Yojana के नाम से जाना जाता है और राजस्थान सरकार के तरफ से किसान और खेत में काम करने वाले कृषक मजदूर को दुर्घटना या मृत्यु होने पर आर्थिक सहायता प्रदान करने का कार्य करती है।

वर्तमान समय में राजस्थान राज्य में काम करने वाले किसानों और खेतिहर मजदूरों के लिए यह एक बहुत ही लाभदायक योजना है इस योजना के तहत खेत या मंडी जाते जाते वक्त किसी भी तरह से अगर किसान के साथ कोई दुर्घटना हो जाती है और उसे चोट लगती है या उसकी मृत्यु हो जाती है तो सरकार की तरफ से आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है इस योजना का लाभ बहुत सारे खेतिहर मजदूर और किसान उठा रहे है। अगर आप राजस्थान निवासी है तो आपको राजीव गांधी कृषक साथी सहायता योजना के बारे में जानकारी होनी चाहिए जिसके बारे में विस्तार पूर्वक आज के लेख में बताने का प्रयास किया गया है।     

राजीव गांधी कृषक साथी सहायता योजना क्या है

Rajiv Gandhi Krishak Sathi Sahayata Yojana – आज के कुछ साल पहले जब किसान खेत जाता था या खेत से मंडी ज्यादा था आप तो जानवरों के द्वारा वहां पर हमला हो जाता था जिससे किसानों को काफी अधिक परेशानी का सामना करना पड़ता था धीरे-धीरे किसानों को बहुत तकलीफ होने लगी। तब जाकर 1994 में राजस्थान कृषक साथी योजना की शुरुआत की गई, इसमें किसान के चोट लगने या गंभीर रूप से घायल होने पर परिवार को आर्थिक सहायता दी जाती थी

इस योजना में भी कुछ बदलाव करना पड़ा और उसके बाद 2004 में किसान जीवन कल्याण योजना के नाम के साथ इस योजना को दोबारा शुरू किया गया। अंत में 9 दिसंबर 2009 किसान के साथ-साथ खेतिहर मजदूरों को भी इस योजना में शामिल किया गया और गंभीर रूप से घायल तथा मृत्यु होने की स्थिति में ₹5000 से ₹200000 तक की आर्थिक सहायता को जोड़ा गया जो इस योजना को पहले से ज्यादा बेहतर बनाता है और उस वक्त इस योजना का नाम राजीव गांधी कृषक साथी योजना किया गया।

READ  राजस्थान फ्री मोबाइल योजना 2022 | Digital Sewa Yojana Rajasthan

राजस्थान के किसानों के लिए यह योजना एक प्रचलित लाभदायक योजना है जिसे परिभाषित करते हुए हम कह सकते हैं कि सरकार के द्वारा एक योजना चलाई जा रही है जिसमें किसान या खेतिहर मजदूर जो खेत में किसी भी तरीके से काम करता हो वह खेत जाते वक्त या मंडी जाते वक्त काम के दौरान घायल गंभीर रूप से घायल या मृत्यु को प्राप्त होता है तो परिस्थिति के अनुसार सरकार के तरफ से ₹5000 से ₹200000 तक की आर्थिक सहायता उसके परिवार को दी जाएगी जिसे राजीव गांधी कृषक साथी सहायता योजना के नाम से जाना जाता है। 

Rajiv Gandhi Krishak Sathi Sahayata Yojana के लाभ

यह एक महत्वपूर्ण योजना है जिसका लाभ राजस्थान के किसान और खेतिहर मजदूर उठा रहे है, इस प्रचलित योजना का मुख्य रूप से क्या लाभ है और आपको किस तरह की सुविधा मिलेगी इसके बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी नीचे दी गई है – 

  • किसानों को खेती करने में अलग-अलग तरह की परेशानी होती थी जैसे खेत बोते वक्त बिच्छू या अन्य किट का हमला, पानी की बोरिंग से लगने वाला करंट या मंडी जाते वक्त किसी प्रकार की रोड दुर्घटना, इस योजना के तहत इन सभी दुर्घटनाओं से राहत मिलती है।
  • खेती बहुत ही मेहनत का काम है जिसमें दुर्घटना होने पर अंगभंग या मृत्यु होने की संभावना होती है मगर सरकार इस योजना के जरिए किसानों के काम को सुरक्षा देने की कोशिश कर रही है।
  • इस योजना के जरिए किसानों को सरकार की तरफ से ₹5000 से ₹200000 की आर्थिक सहायता दी जाती है जिसका वह अपनी सुविधा के अनुसार इस्तेमाल कर सकते हैं। 

राजीव गांधी कृषक साथी सहायता योजना के लिए आवेदन कैसे करें

अगर ऊपर बताई गई सभी जानकारियों को पढ़ने के बाद आप इस योजना के लिए आवेदन करना चाहते है, तो नीचे बताए गए निर्देशों का आदेश अनुसार पालन करें – 

READ  चिरंजीवी योजना हेल्थ पैकेज विवरण | 1597 हेल्थ पैकेज

Step 1 – दुर्घटना होते ही FIR करवाएं

इस योजना का लाभ आपको तब मिलेगा जब दुर्घटना के बारे में अपने नजदीकी पुलिस स्टेशन में अपना F.I.R. करवाया होगा। इसलिए अगर किसी किसान के साथ किसी भी तरह की दुर्घटना होती है चाहे वह खेती करते वक्त किसी जानवर का हमला हो या गलती से किसी उपकरण से हुआ दुर्घटना आपको हर परिस्थिति में अपना FIR पुलिस स्टेशन में जाकर करवाना है।

FIR करवाने में किसी भी तरह का शुल्क नहीं लगता आपको अपने नजदीकी पुलिस स्टेशन में दुर्घटना होते ही f.i.r. करवानी है और उसकी कॉपी अपने पास रखनी है।

Step 2 – मेडिकल रिपोर्ट और पोस्टमार्टम को भी इखट्टा करे

अगर आप अपने दुर्घटना का एफआईआर करवा लेते है, तो उसके बाद अपने दुर्घटना का मेडिकल रिपोर्ट तैयार करे इसके अलावा अगर किसान की मृत्यु होती है तो पोस्टमार्टम रिपोर्ट भी हासिल करें आप किसी भी स्थानीय हॉस्पिटल से छोटी मोटी दुर्घटना की मेडिकल रिपोर्ट हासिल कर सकते है। किसी विषम परिस्थिति में अगर किसान की मृत्यु हो जाती है तो पोस्टमार्टम रिपोर्ट को भी अवश्य हासिल करें।

FIR और मेडिकल रिपोर्ट या पोस्टमार्टम रिपोर्ट का फोटोकॉपी करवाले और उन सबको एक साथ रखें।

Step 3 – मंडी विभाग में जमा करवाएं

किसान अपनी सारी फसल को मंडी में ले जाकर बेचता है सरकार मंडी को संचालित करने के लिए मंडी विभाग का गठन करती है आप अपने गांव में पता कर सकते हैं कि मंडी विभाग कहां है इसके अलावा ऑनलाइन भी पता कर सकते हैं मंडी विभाग के बारे में और अपने FIR और मेडिकल रिपोर्ट या पोस्टमार्टम रिपोर्ट के फोटो कॉपी को मंडी विभाग में ले जाकर जमा करवाएं। 

यह बहुत ही आवश्यक दस्तावेज है जिन्हें आप मंडी विभाग के कार्यालय में जाकर जमा करवाएंगे तो यह सत्यापित होगा कि किसान को किस तरह की चोट आई है और चोट के आधार पर सरकार के तरफ से आर्थिक सहायता दी जाएगी। 

READ  Rajasthan RTE  School Lottery Result 2022 ऑनलाइन देखें @rajpsp.nic.in

Step 4 – आर्थिक सहायता का लाभ उठाएं

ऊपर बताई गई सभी जानकारियों का निर्देश अनुसार पालन करने के बाद आप सरकार की तरफ से दी जाने वाली आर्थिक सहायता पा सकेंगे जब आप सभी आवश्यक दस्तावेज को मंडी कार्यालय में जमा करवा देंगे तब आपको कुछ भी करने की आवश्यकता नहीं है इसके आगे की कार्रवाई अपने आप कार्यालय के लोगों के द्वारा की जाएगी।

सरकार की तरफ से आर्थिक सहायता आने में कुछ वक्त लग सकता है पर आप के बताए गए पते पर सरकार के द्वारा पैसा पहुंचा दिया जाएगा इसके अलावा अगर आप अपना बैंक अकाउंट और बैंक से जुड़ी कुछ अन्य जानकारियों को साझा किए होंगे तो सीधे बैंक अकाउंट में पैसा भेज दिया जाएगा।

निष्कर्ष

आज के लेख में हमने आपको यह बताने का प्रयास किया की Rajiv Gandhi Krishak Sathi Sahayata Yojana क्या है, आप इस योजना के लिए कैसे आवेदन कर सकते है, और इस योजना में आपको किस तरह का लाभ दिया जाएगा। अगर ऊपर बताए गए निर्देशों का सही तरीके से आप पालन करते हैं और सभी आवश्यक दस्तावेज जमा कर पाते हैं तो सरकार के तरफ से अंग भंग या चोट के आधार पर ₹5000 से ₹200000 की राशि किसान के परिवार को दी जाएगी जिसमें छोटे-मोटे चोट के लिए ₹5000 और मृत्यु के वक्त ₹200000 अगर इस योजना को समझने में आपको किसी प्रकार की समस्या होती है या राजीव गांधी कृषक साथी योजना का लाभ लेने के बारे में आप कुछ सवालों के असमंजस में फंसे हैं तो कमेंट करके बता सकते हैं हमारी टीम इसके ऊपर तुरंत एक्शन लेगी।

अगर इस लेख के जरिए आप राजीव गांधी कृषक साथी योजना राजस्थान के बारे में सब कुछ समझ पाए हैं तो इसे अपने मित्रों के साथ भी साझा करें साथ ही अपने सुझावों विचार या किसी भी प्रकार के प्रश्नों को कमेंट में पूछना ना भूले हम आपके सभी प्रकार के सवाल का तुरंत निराकरण करेंगे। 

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *