15 अगस्त पर देशभक्ति कविता | Independence day poem in Hindi

By | अगस्त 10, 2022
independence day poem

15 अगस्त पर देशभक्ति कविता:- 15 अगस्त साल का सबसे महत्वपूर्ण दिन है क्योंकि इस पावन अवसर पर भारत देश अंग्रेज साम्राज्य से आजाद हुआ था। उस वक्त हमारे स्वतंत्रता सेनानी अपने प्राणों की आहुति देकर इस देश को अंग्रेजों से आजाद किया था। अपनी भावनाओं को व्यक्त करने का सबसे अच्छा जरिया हमेशा से कविताएं रही है। वैसे तो अपने देश प्रेम को दर्शाने का कोई खास तरीका नहीं बना मगर देशभक्ति शायरी, 15 अगस्त स्टेटस, निबंध, कविताओं के माध्यम से लोग अक्सर अपने देश प्रेम को दर्शाने का प्रयास करते हैं. इसी प्रक्रिया को आगे बढ़ाते हुए आज के लेख में 15 अगस्त पर देशभक्ति कविता (Independence day poem in Hindi) आपके समक्ष प्रस्तुत की जा रही है। अगर आप अपने स्कूल कॉलेज का कार्यालय में देश के ऊपर कोई कविता सुनाना चाहते हैं तो इस लेख में दिए गए कविताओं के संस्करण में से किसी कविता का इस्तेमाल करें।

15 अगस्त पर बहुत सारी खूबसूरत कविताएं लिखी गई है। आजादी का दिन हर एक देशवासी के लिए इतना खूबसूरत दिन है कि कविताओं की लाइन लग गई है। मगर अपनी सुविधा के अनुसार हमने कुछ महत्वपूर्ण कविताओं की सूची आपके समक्ष प्रस्तुत करने का प्रयास किया है। नीचे दिए गए देशभक्ति कविता पर आपके क्या विचार हैं उन्हें प्रकट करना ना भूलें।

Independence day poem in Hindi

त्योहार का नामस्वतंत्रता दिवस
कब मनाया जाएगाहर साल 15 अगस्त को
देश आजाद कब हुआ था15 अगस्त 1947
कैसे मनाया जायेगालाल किला पर प्रधानमंत्री के द्वारा झंडारोहण, उसके बाद परेड और झांकी 
15 अगस्त की देशभक्ति शायरीClick Here
15 अगस्त पर देशभक्ति कविताClick Here
15 अगस्त पर निबंध हिंदी मेंClick Here
आजादी का अमृत महोत्सव पर निबंधClick Here
Independence Day StatusClick Here
Independence Day Speech in Hindi Click Here
Azadi Ka Amrit Mahotsav 2022Click Here

स्वतंत्रता दिवस पर वीर रस की कविता | Poem Video

15 अगस्त की देशभक्ति कविता

15 अगस्त को आजादी का दिन है, जिस दिन हर एक स्वतंत्रता सेनानी का बलिदान सफल हुआ था। इस पावन अवसर पर बहुत सारे लेखकों ने देश के नाम कुछ महत्वपूर्ण कविताओं को लिखा है जिन की सूची नीचे दी गई है, उन्हें पढ़े – 

हम नन्हें-मुन्ने हैं बच्चे,

आजादी का मतलब नहीं है समझते।

इस दिन पर स्कूल में तिरंगा है फहराते,

गाकर अपना राष्ट्रगान फिर हम,

तिरंगे का सम्मान है करते,

कुछ देशभक्ति की झांकियों से

दर्शकों को मोहित है करते

हम नन्हें-मुन्ने हैं बच्चे,

आजादी का अर्थ सिर्फ यही है समझते।

वक्ता अपने भाषणों में,

न जाने क्या-क्या है कहते,

उनके अन्तिम शब्दों पर,

बस हम तो ताली है बजाते।

हम नन्हें-मुन्ने है बच्चे,

आजादी का अर्थ सिर्फ इतना ही है समझते।

विद्यालय में सभा की समाप्ति पर,

गुलदाना है बाँटा जाता,

भारत माता की जय के साथ,

स्कूल का अवकाश है हो जाता,

शिक्षकों का डाँट का डर,

इस दिन न हमको है सताता,

छुट्टी के बाद पतंगबाजी का,

लुफ्त बहुत ही है आता,

हम नन्हें-मुन्ने हैं बच्चे,

बस इतना ही है समझते,

आजादी के अवसर पर हम,

खुल कर बहुत ही मस्ती है करते।।

भारत माता की जय

स्वतंत्रता दिवस 2022 कविता | Independence day poem in Hindi

हम बच्चे हँसते गाते हैं,

हम आगे बढ़ते जाते हैं।

पथ पर बिखरे कंकड़ काँटे,

हम चुन चुन दूर हटाते हैं।

आयें कितनी भी बाधाएँ,

हम कभी नही घबराते हैं।

धन दौलत से ऊपर उठ कर,

सपनों के महल बनाते हैं।

हम खुशी बाँटते दुनिया को,

हम हँसते और हँसाते हैं।

सारे जग में सबसे अच्छे,

हम भारतीय कहलाते हैं।

15th August Poem in Hindi

हम बच्चे हँसते गाते हैं,

हम आगे बढ़ते जाते हैं।

पथ पर बिखरे कंकड़ काँटे,

हम चुन चुन दूर हटाते हैं।

आयें कितनी भी बाधाएँ,

हम कभी नही घबराते हैं।

धन दौलत से ऊपर उठ कर,

सपनों के महल बनाते हैं।

हम खुशी बाँटते दुनिया को,

हम हँसते और हँसाते हैं।

सारे जग में सबसे अच्छे,

हम भारतीय कहलाते है।

15 अगस्त पर कविता हिंदी में

अगर आप हिंदी में 15 अगस्त पर कोई खूबसूरत कविता ढूंढ रहे हैं तो हमने आपकी परेशानी का समाधान ना सरल शब्दों में प्रस्तुत किया है। 15 अगस्त के पावन अवसर पर आपके समक्ष कुछ बहुत ही खूबसूरत कविताओं की सूची नीचे प्रस्तुत की गई है उनमें से आपको कौन सी कविता पसंद आती है, हमे जरूर बताए। 

ये कैसी आज़ादी है,

हर तरफ बर्बादी है,

कही दंगे तो कही फसाद है,

कही जात पात तो कही,

छुवा छूत की बीमारी है|

हर जगह नफरत ही नफरत,

तो कही दहशत के अंगारे है,

क्या नेता क्या वर्दी वाले,

सभी इसके भागीदारी है.

हाँ मैं इस देश का वाशी हूँ,

इस मिट्टी का कर्ज चुकाऊंगा,

जीने का दम रखता हूँ,

तो इसके लिए मरकर भी दिखलाऊंगा,

नजर उठा के देखना ऐ दुश्मन मेरे देश को,

मरूंगा मैं जरूर पर तुझे मारकर ही मरूंगा,

कसम मुझे इस मिट्टी की,

कुछ ऐसा मैं कर जाऊंगा,

हाँ मैं इस देश का वाशी हूँ,

इस माटी का कर्ज चुकाऊंगा।

आजादी की खुली हवा में,

हम निकले सीना तान के,

हम बच्चे हिंदुस्तान के,

हम जिस मिट्टी के अंकुर है,

उसकी शान निराली है,

उसके खेतों में सोना,

बागों में हरियाली है,

धन दौलत से ज्यादा ऊँचे,

रिश्ते माँ संतान के,

हम बच्चे हिंदुस्तान के,

हवा हमारी धुप हमारी,

नीर हमारा पावन है,

तन मन जिसके सौ बसंत से,

मन हरियाला सावन है,

भारत माँ के बेटे बेटी,

जीते है हम शान से,

हम बच्चे हिंदुस्तान के,

सत्य अहिंसा पर आधारित,

मौलिक धर्म हमारा है,

परहित सच्चा धर्म है भाई,

यही हमारा नारा है,

पथ कोई हो विधि कोई हो,

बलिहारी भगवन के,

हम बच्चे हिंदुस्तान के,

आजादी की खुली हवा में,

हम निकले सीना तन के,

हम बच्चे हिंदुस्तान के,

हम बच्चे हिन्दुस्थान के।

निष्कर्ष

आज इस लेख में हमने आपको स्वतंत्रता दिवस पर देशभक्ति कविता प्रस्तुत की उम्मीद करते हैं इसे पढ़ने के बाद आप देश के प्रति ज्यादा श्रद्धा भाव से खुद को समर्पित कर पा रहे होंगे। हर कोई भारत देश के लिए मरने को तैयार है मगर यह कविताएं हि हैं जो हमारे रगों में उबाल पैदा करती हैं। अगर इस लेख में बताई गई कुछ बेहतरीन कविताओं को पढ़कर आपके 15 अगस्त पर देशभक्ति कविता की खोज समाप्त हो पाई है तो इसे अपने मित्रों के साथ साझा करें साथ ही अपने सुझावों विचार या देश भक्ति पर 2 लाइन नीचे अवश्य लिखें। 

READ   जानिए शिवाजी जयंती का महत्व | छत्रपति शिवाजी कैसे बने महान | छत्रपति शिवाजी महाराज जयंती | Chhatrapati Shivaji Jayanti 2022

People Also Search:- Independence day poem in Hindi | poem on independence day in hindi | school independence day poem in hindi | short poem on independence day in hindi | poem for independence day in hindi | 15 अगस्त पर कविता बोलने के लिए | 15 अगस्त पर कविता बोलने के लिए | 15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस पर कविता | 15 अगस्त पर कविता हिंदी में | short poem on 15 august in hindi | simple short poem on 15 august in hindi | 15 august poem in hindi | 15 august 2022 poem in hindi

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.