यूपी किसान श्रमिक योजना 2022 | UP Kisan Shramik Yojana

UP Kisan Shramik Yojana 2022

उत्तर प्रदेश की वर्तमान योगी आदित्यनाथ सरकार श्रमिकों और किसानों को विकसित करने के हमेशा ही पक्ष में रही है। उत्तर प्रदेश सरकार (Government of Uttar Pradesh) यूपी के जो किसान सीमांत एवं लघु श्रेणी में आते हैं। उन्हें विशेष योजनाओं से लाभान्वित करने हेतु उत्कृष्ट कदम उठाने में पीछे नहीं है।  “यूपी किसान श्रमिक योजना” (UP Kisan Shramik Yojana 2022) के माध्यम से सभी किसानों तथा श्रमिक कार्ड धारक श्रमिकों को ₹2000 की आर्थिक सहायता के रूप में दिए जा रहे हैं। उत्तर प्रदेश के जो किसान पहले से पंजीकृत और श्रमिक कार्ड धारक हैं। उन्हें ₹500 की किस्त 4 महीने के अंतराल में सीधे बैंक खाते में ट्रांसफर किए जाएंगे। इसी के साथ राज्य की आशा कार्यकर्ताओं को भी योजना में शामिल कर ₹2000 की आर्थिक मदद पहुंचाई जाएगी।

क्या है? यूपी किसान श्रमिक योजना 2022 | What is? UP Kisan Shramik Yojana 2022

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के आर्थिक रूप से कमजोर किसान जो सीमांत एवं लघु लघु श्रेणी में आते हैं। ऐसे कामगार जो श्रमिक विभाग में रजिस्टर्ड हैं और श्रमिक कार्ड (UP Shramik Card ) धारक हैं। उन्हें उत्तर प्रदेश की वर्तमान योगी आदित्यनाथ सरकार द्वारा “प्रधानमंत्री सम्मान निधि योजना” की तर्ज पर आर्थिक रूप से सहायता देने का निर्णय किया है। इस दौरान उत्तर प्रदेश सरकार ₹2000 कि 4 किस्तों के अंतराल में किसान, श्रमिक और आशा कार्यकर्ताओं के खाते में ₹500 ट्रांसफर कर रही है। यह क़िस्त उत्तर प्रदेश के सभी किसानों को दिसंबर, जनवरी, फरवरी, और मार्च महीने में मिलेगी। राज्य के वे सभी किसान  जो प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत रजिस्टर्ड हैं। जो श्रमिक उत्तर प्रदेश श्रमिक कार्ड से जुड़े हुए हैं। उन्हें योजना का सीधा लाभ दिया जाएगा।

See also  यूपी जन्म प्रमाण पत्र ऑनलाइन आवेदन करें | UP Birth Certificate Registration and Download

यूपी किसान श्रमिक योजना पर एक नजर

UP Kisan Shramik Scheme के माध्यम से सरकार का मुख्य लक्ष्य 6 करोड़ असंगठित श्रमिकों और किसानों को आर्थिक लाभ प्रदान करना है। जिसमें से अभी तक राज्य के 2.45 करोड़ श्रमिकों द्वारा योजना में रजिस्ट्रेशन किया जा चुका है। अन्य योजना से 24 करोड़ श्रमिक किसान श्रेणी से जुड़े हुए हैं। इन सभी  किसान श्रमिकों तथा आशा कार्यकर्ताओं महिलाओं को इस योजना में लाभान्वित हेतु चुना जाएगा। यूपी में लगभग 2.2 लाख आशा कार्यकर्ता है। जिनमें से दिए जाने वाले भत्ते में ₹500 की राशि सीधे बैंक खाते में ट्रांसफर की जाएगी। इस योजना के अंतर्गत आशा कार्यकर्ताओं को पंजीकरण करना आवश्यक होगा।

यूपी किसान योजना की विशेषता एवं लाभ | Features and Benefits of UP Kisan Yojana

  • इस योजना के तहत सरकार लघु एवं सीमान्त किसानों और श्रमिकों को दो-दो हजार रूपये की 4 किश्त हर महीने में 500 रूपये के रूप में जारी करेगी।
  • योजना के तहत जारी की जाने वाली राशि लाभार्थियों के खातों में DBT के माध्यम से ट्रांसफर की जाएगी।
  • राज्य के 6 करोड़ से अधिक असंगठित क्षेत्रों में कार्यरत श्रमिकों को योजना का लाभ प्रदान किया जा सकेगा।
  • योजना के तहत राज्य के श्रमिकों, किसानों के साथ-साथ आशा कार्यकर्ताओं को भी योजना में शामिल किया जायेगा।
  • किसान श्रमिक योजना के माध्यम से लाभार्थियों को पीएम सुरक्षा बीमा योजना के तहत 2 लाख रूपये के बीमा का लाभ भी प्राप्त हो सकेगा।

यूपी किसान श्रमिक योजना आवेदन प्रक्रिया | UP Kisan Shramik Yojana Application Process

उक्त पंक्तियों के माध्यम से आप योजना की विभिन्न जानकारी प्राप्त कर ही चुके होंगे। साथ ही आपको यह जानकर खुशी होगी कि उत्तर प्रदेश के श्रमिकों, किसानों को इस योजना के अंतर्गत किसी प्रकार के आवेदन की आवश्यकता नहीं है। जो किसान पहले से किसान सम्मान निधि योजना से जुड़े हुए हैं तथा जो उत्तर प्रदेश श्रमिक कार्ड बनवा चुके हैं। ऐसे किसान, श्रमिकों को इस योजना के अंतर्गत सीधा लाभ दिया जाएगा। उत्तर प्रदेश सरकार के पास पर्याप्त जानकारी के आधार पर सीधे बैंक खातों में आर्थिक मदद ट्रांसफर की जाएगी। इसलिए किसान श्रमिकों को किसी प्रकार की आवेदन की आवश्यकता नहीं है।

See also  RTE UP Admission 2022-23 | Apply UP RTE 2022-23 | उत्तर प्रदेश आरटीई ऑनलाइन एडमिशन शुरू | जाने पात्रता, आयु सीमा, ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया |

 इसी बीच उत्तर प्रदेश की आशा कार्यकर्ताओं को इस योजना के अंतर्गत आवेदन करने की आवश्यकता होगी। इसीलिए अपने नजदीकी ग्राहक सेवा केंद्र के माध्यम से अपना पंजीकरण योजना के अंतर्गत अवश्य करवाएं।

FAQ’s UP Kisan Shramik Yojana 2022

Q.   यूपी किसान श्रमिक योजना क्या है?

Ans. उत्तर प्रदेश किसान श्रमिक योजना के अंतर्गत राज्य के आर्थिक वर्ग से कमजोर तथा लघु एवं सीमांत श्रेणी के किसान श्रमिकों को ₹2000 की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। यह सहायता किसानों को दिसंबर जनवरी फरवरी और मार्च महीने में ₹500 किस्त के तौर पर उपलब्ध करवाई जाएगी।

Q.  यूपी किसान श्रमिक योजना के लिए कैसे आवेदन करें?

Ans.  यूपी किसान श्रमिक योजना के लिए किसान श्रमिकों को किसी प्रकार के आवेदन की आवश्यकता नहीं है। जो किसान प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना से जुड़े हुए हैं तथा जो किसान श्रमिक कार्ड बनवा चुके हैं। उन्हें सीधा फायदा  दिया जाएगा।

Q.   यूपी किसान श्रमिक योजना में कौन से किसान आवेदन कर सकते हैं?

Ans. उत्तर प्रदेश किसान श्रमिक योजना राज्य के किस लघु एवं सीमांत किसान श्रेणी के अंतर्गत शुरू की गई है। इसलिए इस योजना के लिए केवल उत्तर प्रदेश के लघु एवं सीमांत किसान ही आवेदन कर सकते हैं। जो किसान पहले से किसान सम्मान निधि योजना में पंजीकृत हैं तथा जो श्रमिक कार्ड धारक किसान है। उन्हें इस योजना का लाभ दिया जाएगा।

इस ब्लॉग पोस्ट पर आपका कीमती समय देने के लिए धन्यवाद। इसी प्रकार के बेहतरीन सूचनाप्रद एवं ज्ञानवर्धक लेख easyhindi.in पर पढ़ते रहने के लिए इस वेबसाइट को बुकमार्क कर सकते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Optimized with PageSpeed Ninja