Subrata Roy Sahara Biography: सुब्रत रॉय की जीवनी, जानें इनके जन्म से लेकर निधन तक की कहानी

Subrata Roy Biography

Subrata Roy Sahara Biography : सहारा ग्रुप के मालिक सुब्रत राय का 75 साल की उम्र में देहांत हो गया हैं। सुब्रत राय काफी दिनों से बीमार चल रहे थे। उनको मुंबई बेन हॉस्पिटल में एडमिट करवाया गया था। जहां पर दिल का दौरा पड़ने से उनकी मृत्यु हो गई ।  सुब्रत राय भारत के एक सफल बिजनेसमैन थे उनके द्वारा सहारा ग्रुप की स्थापना की गई थी। रॉय ने खुदरा, रियल एस्टेट और वित्तीय सेवा क्षेत्रों में  एक बहुत बड़ा व्यापारिक साम्राज्य स्थापित किया था।  हालांकि सहारा ग्रुप दिवालिया होने के कारण उनके ऊपर कई प्रकार के आर्थिक मामले भी दर्ज किए गए थे, जिसके कारण सुब्रत राय को जेल भी जाना पड़ा था।  उन्होंने केवल ₹2000 से सहारा ग्रुप की शुरुआत की थी और उसके बाद इस कंपनी को अर्बन खरगोन में उन्होंने तब्दील कर दिया था। ऐसे में सभी लोग उनके निजी जीवन के बारे में जानना चाहते हैं कि सुब्रत राय कौन है? सुब्रत रॉय का प्रारंभिक जीवन और शिक्षा’ सुब्रत रॉय परिवार| Subrata Roy Family सुब्रत रॉय का करियर | Subrata Roy Career सुब्रत रॉय की शादी और बच्चें सुब्रत रॉय और सहारा इंडिया सुब्रत रॉय के विवाद  इत्यादि के बारे में जानना चाहते हैं, इसलिए आज के आर्टिकल में  Subrata roy Jeevan Parichay से जुड़ी जानकारी आपके साथ शेयर करेंगे आप हमारा आर्टिकल को पूरा पढ़ें। 

Subrata roy Biography Overview

नामसुब्रत रॉय सहारा
जन्मदिन10 जून 1948
उम्र75 साल (मृत्यु के समय )
जन्म स्थानअररिया,बिहार
मृत्यु की तारीख14 नवंबर 2023
मृत्यु का स्थानमुंबई ,महाराष्ट्र
होमटाउनअररिया,बिहार
शिक्षामैकेनिकल इंजीनियरिंग
स्कूल का नामहोली चाइल्ड स्कूल ,कोलकाता
कॉलेज का नामराज्य तकनीकी संस्थान, गोरखपुर
राशिमीन राशि
गृहनगरअररिया,बिहार
नागरिकताभारतीय
धर्महिन्दू धर्म
लम्बाई5 फीट 8 इंच
वैवाहिक स्थितिशादीशुदा
आंखो का रंगकाला
पेशासहारा इंडिया परिवार के संस्थापक और अध्यक्ष
कुल संपत्ति11 अरब डॉलर के लगभग

कौन थे सुब्रत रॉय ?

सुब्रतो राय सहारा परिवार के संस्थापक और अध्यक्ष माने जाते हैं और Fraud  के आरोप में कई सालों जेल में सजा काट रहे थे। कई दिनों से उनकी शारीरिक स्थिति भी बहुत ज्यादा खराब थी, जिसके कारण उन्हें अस्पताल में भर्ती भी करवाया गया था। सुब्रतो राय कैंसर जैसे बीमारी के रोगी थे। इसके लिए उनका इलाज भी चला रहा था। लेकिन 14 नवंबर 2023 को हार्ट अटैक आने से उनकी मृत्यु हो गई। हम आपको बता दें कि  सुब्रत राय 2012 में भारत के धनवान व्यक्तियों में से एक थे।

सुब्रत रॉय का प्रारंभिक जीवन और शिक्षा

सुब्रत रॉय सहारा का जन्म 10 जून 1948 को बिहार के अररिया में  हुआ था। लेकिन नौकरी के तलाश में उनके पिताजी गोरखपुर आ गए थे। गोरखपुर में तुर्कमानपुर इलाके में  अपने माता-पिता और भाई बहनों के साथ रहा करते थे। उन्होंने अपनी प्राथमिक शिक्षा कोलकाता के होली चाइल्ड स्कूल से पूरी की थी। बचपन से ही सुब्रत राय पढ़ाई में मेधावी थे। उनका दिमाग तकनीकी क्षेत्र में बहुत ही अच्छा था। इसलिए उन्होंने मैकेनिकल इंजीनियर में  डिग्री हासिल की थी। इसके बाद 1978 में अपना पहला बिजनेस गोरखपुर शहर में  शुरू किया था। 

See also  Ram Mandir Donation: आपका बटुआ- राममंदिर जैसी संस्था को दान पर टैक्स छूट: 2000 से ज्यादा कैश डोनेशन पर छूट नहीं, दान से ऐसे बचाएं टैक्स

सुब्रत रॉय परिवार| Subrata roy Family

पिताश्री. छवि रॉय
मातास्वर्गीय श्री सुधीर चंद्र रॉय
पत्नीस्वप्ना रॉय
बच्चेबेटे – सुशांतो रॉय और सीमांतो रॉय

सुब्रत रॉय का करियर | Subrata roy Career

सुब्रत रॉय( Subrata Roy) ने जब अपने इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी कर ली तो उनका सपना नौकरी करने का था। लेकिन अचानक उनके पिता के देहांत के बाद उनके ऊपर परिवार की आर्थिक जिम्मेदारी आ गई, जिसे पूरा करने के लिए  उन्होंने स्कूटर पर नमकीन बेचने का काम शुरू किया। उन्होंने अपने नमकीन का नाम जया रखा था। उनका नमकीन का बिजनेस काफी सफल रहा था।  जिसे उन्होंने अधिक पैसे भी कमाए थे। इस दौरान उन्होंने देखा कि किस प्रकार भारत का गरीब  दिन रात मेहनत करता है, लेकिन उसमें से कुछ भी पैसा Save नहीं कर पता है। क्योंकि उसके पास पैसा बचता ही नहीं हैं।  ऐसे में उनके मन में एक ऐसा फाइनेंशियल बिजनेस आइडिया आया इसके बाद  Sahara Group  स्थापना हुई।

 सुब्रत रॉय की शादी और बच्चें

सुब्रत राय ने  स्वप्ना रॉय (Swapna Roy) से शादी की थी और उनका एक बेटा भी है, जिसका नाम  सुशांतो रॉय (Sushanto Roy)  हैं। जिसने यूरोपीय देश रिपब्लिक ऑफ मैसेडोनिया (Macedonia) की नागरिकता ले ली ताकि उसे कानूनी प्रक्रिया का सामना करना पड़े। ऐसे में भारत में सुब्रत राय के जितने भी संपत्ति है उसे संभालने वाला कोई भी व्यक्ति नहीं हैं।

सुब्रत रॉय और सहारा इंडिया

सहारा इंडिया की  स्थापना सुब्रत राय ने 1978 में की थी। जहां पर उन्होंने गोरखपुर में एक छोटा सा ऑफिस खोला और सबसे पहले 42 लोगों के पैसे अपने कंपनी में उन्होंने जमा किए। उनका vision  था कि यदि कोई व्यक्ति उनके फाइनेंशियल कंपनी में ₹1 भी जमा करें, तो उसे दुगना रिटर्न दिया जाए। ताकि वह अपने सभी सपने को पूरा कर सकें। उनका यहा बिजनेस बिजनेस मॉडल लोगों को काफी पसंद आया और अधिकांश लोग उनके कंपनी में पैसा जमा करने लगे। उनके कंपनी के अधिकांश कस्टमर ऐसे लोग थे जो मजदूरी का काम करते थे। सुब्रत रॉय सहारा के नेतृत्व में  देश भर में 1,707 सहारा क्षेत्रीय दफ्तर खोले गए । इसके द्वारा कंपनी ने 6.1 करोड़ जमाकर्ताओं सेवा प्रदान किया था और कंपनी की टोटल वैल्यू $10 बिलियन से अधिक है।  इसके बाद सहारा ग्रुप में दूसरे क्षेत्र में भी अपना बिजनेस विस्तारित करना शुरू कर दिया सहारा ग्रुप  वित्तीय सेवाएं , निर्माण, मास मीडिया, खुदरा बिक्री ,आईटी सेवाएं और आउटसोर्सिंग हॉस्पिटैलिटी , स्वास्थ्य देखभाल, शिक्षा ,ऑटोमोबाइल जैसे क्षेत्रों में बिजनेस करती थी। सहारा ग्रुप को स्थापित करने में सुब्रत राय की भूमिका काफी अहम थी।

See also  गुरु तेग बहादुर का जीवन परिचय | Guru Tech Bahadur Biography in Hindi

सुब्रत रॉय के  के विवाद

सुब्रत राय का जीवन विवादों के साथ जुड़ा रहा हैं।  उन सभी का विवरण हम आपको नीचे दे रहे हैं, आईए जानते हैं

●      सहारा कंपनी  के द्वारा कई प्रकार की स्कीम चलाई गई थी, जिसमें लोगों ने अच्छा खासा पैसा निवेश किया था। लेकिन कंपनी के ऊपर आरोप है कि उसने लोगों के पैसे हड़प लिए हैं और उनके पैसे वापस करने में कंपनी आनाकानी कर रही हैं। जिसके कारण कोर्ट ने 4 मार्च 2014 को सुब्रत रॉय को जेल भेज दिया था।  इसके फल स्वरु उन्हें दो साल तक तिहाड़ जेल में रहना पड़ा था।

●      कोर्ट के द्वारा उन्हें आदेश जारी किया गया कि वह उन सभी निवेशों के पैसे वापस करें। जिन्होंने उनके यहां पैसे जमा किए थे। इस आदेश में कुल मिलाकर 24 हजार करोड़ रुपये ब्याज समेत पैसे वापस करने थे। इसकी वजह से सुब्रत रॉय की निजी जिंदगी के साथ-साथ उनका कारोबार भी बुरी तरह प्रभावित हुआ।  2016 में उन्हें पैरोल पर छोड़ा गया था, क्योंकि उनके मां का देहांत हो गया था उसके बाद दोबारा उन्हें जेल जाना पड़ा था।

●      सेबी ने 2011  सहारा इंडिया कंपनी को नियमों का उल्लंघन करने का आरोपी पाया गया, इसके बाद सेबी के द्वारा सहारा इंडिया रियल एस्टेट कॉरपोरेशन लिमिटेड (एसआईआरईसीएल) और सहारा हाउसिंग इन्वेस्टमेंट कॉरपोरेशन लिमिटेड (एसएचआईसीएल) को निवेशकों  जो भी पैसे कंपनी ने लिया था उसे वापस करने का आदेश जारी किया गया । इसके बाद कंपनी सुप्रीम कोर्ट गई लेकिन सुप्रीम कोर्ट में उसे कोई राहत नहीं मिली।  सुप्रीम कोर्ट ने 31 अगस्त 2012 को सेबी आदेश को जारी रखा और कहा कि कंपनी को निवेशकों के पैसे  15 प्रतिशत ब्याज के साथ वापस करना होगा।

 सुब्रत रॉय Net Worth

सुब्रतो राय के पास कुल मिलाकर 11 अरब डॉलर की संपत्ति है इसके अलावा भी उनके पास और भी ज्यादा पैसा हैं’ लेकिन उसके बारे में कोई जानकारी अभी तक इंटरनेट पर उपलब्ध नहीं है क्योंकि कई ऐसी संपत्तियों हैं जो बेनामी है उनके कोई भी रिकॉर्ड इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के पास नहीं हैं।

सुब्रत रॉय Awards

●      बाबा-ए-रोजगार पुरस्कार (1992)

●      उद्यम श्री पुरस्कार से उन्हें 1994 में सम्मानित किया गया

●       कर्मवीर सम्मान  1995 में मिला

●       राष्ट्रीय नागरिक पुरस्कार 2001

●       सर्वश्रेष्ठ उद्योगपति पुरस्कार 2002

●       बिजनेसमैन ऑफ द ईयर अवार्ड 2002

●       ग्लोबल लीडरशिप अवार्ड 2004

●       आईटीए – टीवी आइकन ऑफ द ईयर 2007

●       विशिष्ट राष्ट्रीय उड़ान सम्मान 2010 में सुब्रत राय को प्राप्त हुआ

See also  दिवाली पर सूर्य ग्रहण कब है? दीपावली कैसे मनाई जाएगी

●       रोटरी इंटरनेशनल द्वारा उत्कृष्टता के लिए व्यावसायिक पुरस्कार 2010 में उनको दिया गया

●      लंदन में पॉवरब्रांड्स हॉल ऑफ फेम अवार्ड्स में बिजनेस आइकन ऑफ द ईयर पुरस्कार 2011 में उनको मिला था

●      ईस्ट लंदन विश्वविद्यालय से बिजनेस लीडरशिप में मानद डॉक्टरेट 2013 में दिया गया

●       डी. लिट की मानद उपाधि ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय, दरभंगा द्वारा

●      भारतीय टेलीविजन अकादमी पुरस्कार द्वारा जनरल जूरी पुरस्कार

Unknown Facts about Subrata roy

●      उनके कर्मचारी उन्हें सहाराश्री कहकर बुलाते थे और जब वे वहां से गुजरते थे तो उन सभी को ‘सहारा प्रणाम’ कहना पड़ता था। उन्हें अपने सीने पर हाथ रख कर उन्हें विशेष सलाम भी करना होगा.

●      एक बार उन्होंने देश भर से आए 11 लाख कर्मचारियों के साथ एक बेहद बड़ी रैली आयोजित की थी। उन्होंने राष्ट्रगान गाया और अन्य गतिविधियाँ कीं जो आमतौर पर केवल धार्मिक समारोहों में देखी जाती हैं।

●      जांच के दौरान, उन्होंने सेबी को अपने काम को और अधिक कठिन बनाने के लिए आधी रात को 127 ट्रकों में 5 करोड़ दस्तावेज़ (ज्यादातर नकली) भेजे।

●      उन्होंने सहारा के उपाध्यक्ष राजीव बजाज को आदेश दिया कि वह अपने बालों का रंग अपने बालों के रंग जैसा काला कर लें।

●      उन्होंने अपने पैसे से 101 आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के के महिलाओं की शादी करवाई हैं।

●      सुब्रत राय अपने कर्मचारियों का विशेष ध्यान रखते थे

सुब्रत रॉय की मृत्यु

सुब्रत राय की मृत्यु 14 नवंबर 2023 को  75 साल की उम्र में हार्ट अटैक आने के कारण हो गई हैं। इसके अलावा सुब्रत राय कैंसर मधुमेह और उच्च रक्तचाप जैसी बीमारियों के रोगी थे।  सुब्रत राय के मृत्यु पर कई प्रमुख राजनेताओं और बिजनेस जगत के लोगों ने गहरा संवेदन व्यक्त किया हैं।

समरी-

उम्मीद करता हूं कि हमारे द्वारा लिखा गया आर्टिकल सुब्रत राय का जीवन परिचय आपको पसंद आया होगा ऐसे में आर्टिकल से संबंधित आपका कोई भी सुझाव या प्रश्न है तो आप हमारे कमेंट सेक्शन में आकर दर्ज के लिए उसका उत्तर हम आपको जरूर देंगे और ऐसे में अगर आप बायोग्राफी संबंधित आर्टिकल आर्टिकल पढ़ना पसंद करते हैं तो आप हमारे वेबसाइट को Book Mark  कर ले जैसे ही कोई नई पोस्ट Published किया जाएगा उसकी जानकारी आपको नोटिफिकेशन के माध्यम से दे दिया जाएगा तब तक के लिए धन्यवाद और मिलते हैं अगले आर्टिकल में

FAQ’s सुब्रत राय का जीवन परिचय

Q. सुब्रत राय अपने बिजनेस करियर की शुरुआत कितने पैसे निवेश करके की थी?

Ans. सुब्रत राय ने ने अपने बिजनेस करियर की शुरुआत ₹2000 से की थी।

Q. सुब्रत राय किस जुर्म में गिरफ्तार किया गया है?

Ans. सुब्रत राय को वित्तीय फ्रॉड करने के जुर्म में गिरफ्तार किया गया है।

Q. सुब्रत राय की पत्नी का क्या नाम है?

सुब्रत राय के पत्नी का नाम स्वप्ना रॉय। मान जाता हैं।

Q. सुब्रत राय के माता पिता का क्या नाम है?

Ans. पिता का नाम सुधीर चंद्र रॉय और माता का नाम छवि रॉय है।

इस ब्लॉग पोस्ट पर आपका कीमती समय देने के लिए धन्यवाद। इसी प्रकार के बेहतरीन सूचनाप्रद एवं ज्ञानवर्धक लेख easyhindi.in पर पढ़ते रहने के लिए इस वेबसाइट को बुकमार्क कर सकते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Optimized with PageSpeed Ninja