National Epilepsy Day 2023 | राष्ट्रीय मिर्गी दिवस कब व क्यों मनाया जाता है? जाने इतिहास, महत्व और थीम के बारें में

National Epilepsy Day 2023

National Epilepsy Day 2023: राष्ट्रीय मिर्गी दिवस जिसे हम लोग इंग्लिश में National Epilepsy Day  के नाम से जानते हैं यह प्रत्येक वर्ष 17 नवंबर को मनाया जाता है। मिर्गी रोग के विषय में जागरूकता पैदा करने के उद्देश्य से  मिर्गी फाउंडेशन (Epilepsy Foundation) ने इस दिवस कि स्थापना की है। दरअसल,मिर्गी  मस्तिक संबंधित रोग होता है। मनुष्य के मस्तिष्क  के गतिविधि में अचानक असामान्य हो जाने से दौरे पड़ते है। मिर्गी का रोग किसी को भी हो सकता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के अनुसार पूरे विश्व में 50 मिलियन लोग इस रोग से ग्रसित है, जिनमें से 80% लोग विकासशील देशों से संबंध रखते हैं। यदि आप लोग विद्यार्थी है तो परीक्षा के दृष्टिकोण से यह एक महत्वपूर्ण विषय है। इस आर्टिकल के माध्यम से राष्ट्रीय मिर्गी दिवस कब मनाया जाता है? राष्ट्रीय मिर्गी दिवस का इतिहास क्या है ? राष्ट्रीय मिर्गी दिवस का महत्व क्या है? राष्ट्रीय मिर्गी दिवस का थीम 2023 क्या है? संबंधित प्रश्न की जानकारी आप लोग को विस्तार पूर्वक प्रदान करेंगे, जिसके लिए आप लोगों को इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ना पड़ेगा।

राष्ट्रीय मिर्गी दिवस क्या है? What is National Epilepsy Day

National Epilepsy Day Kya Hai: हर साल लोगों को मिर्गी रोग संबंधित विषयों पर जागरूकता फैलाने के उद्देश्य से मिर्गी संगठन (Epilepsy Foundation) के द्वारा  राष्ट्रीय मिर्गी दिवस कि स्थापना की गई थी, जिसके फलस्वरुप हम लोग प्रत्येक वर्ष 17 नवंबर को राष्ट्रीय मिर्गी दिवस मनाते हैं। इस राष्ट्रीय मिर्गी दिवस के दिन जगह-जगह राष्ट्रीय मिर्गी कैंप एवं कार्यक्रम का आयोजन किया जाता है। इस राष्ट्रीय मिर्गी दिवस के दिन हेल्थ एक्सपेक्ट (Health Expert) एवं डॉक्टर (Doctor) को राष्ट्रीय मिर्गी दिवस कार्यक्रम में आमंत्रित किया जाता है। जिससे लोग मिर्गी संबंधित जानकारी को प्राप्त कर सकें। मिर्गी क्या बीमारी होती है? यह किसी भी वर्ग के लोगों को हो सकता है। यह बीमारी सीधे हमारे दिमाग पर आक्रमण करती है, जिससे मनुष्य बेहोश हो सकता है या दौरा की समस्या से जूझना पड़ता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार पूरे विश्व में 50 मिलियन लोग इस बीमारी से ग्रसित है, जिसमें से हमारे देश भारत में लगभग 10 मिलियन लोग इस बीमारी से ग्रसित है। इसी वजह से भारत के लोगों को  मिर्गी रोग से बचाव करने के लिए जागृत करना काफी जरूरी है ।

See also  Saraswati Puja Muhurat 2024 | सरस्वती पूजा शुभ मुहूर्त व विधि जाने

इन्हें भी पढ़ें:- इस साल विश्व मधुमेह दिवस कब मनाया जाएगा? जानें इसका इतिहास, महत्व, थीम के बारे में

क्यों मनाया जाता है राष्ट्रीय मिर्गी दिवस | Why National Epilepsy Day

राष्ट्रीय मिर्गी दिवस 2023 क्यों मनाया जाता है? यह प्रश्न हम लोगों में से कई लोगों के मन में होगा तो हम आप लोगों को इस आर्टिकल के माध्यम से जानकारी दे दें कि पूरे विश्व में 50 मिलियन लोग मिर्गी रोग से ग्रसित है। जिसमें से हमारा देश भारत के 10 मिलियन लोग मिर्गी रोग के शिकार है। इसलिए मिर्गी रोग की रोकथाम करने के लिए लोगों के अंदर  मिर्गी रोग के प्रति जागरूकता पैदा करने के लिए राष्ट्रीय मिर्गी दिवस मनाया जाता है। इस राष्ट्रीय मिर्गी दिवस के दिन हमारे देश में विभिन्न क्षेत्रों में कई प्रकार के कार्यक्रम आयोजन किये जाते है। इन कार्यक्रमों के द्वारा लोगों को मिर्गी रोग संबंधित ज्ञान प्रदान किया जाता है और लोगों के अंदर इस रोग से संबंधित डर को निकाला जाता है।

राष्ट्रीय मिर्गी दिवस कब मनाया जाता है? When National Epilepsy Day is Celebrated

राष्ट्रीय मिर्गी दिवस हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी 17 नवंबर को मनाया जाएगा। राष्ट्रीय मिर्गी दिवस की स्थापना मिर्गी फाउंडेशन ऑफ इंडिया (Epilepsy Foundation of India) के द्वारा की गई थी। इस संगठन का गठन मुंबई में स्थित डॉ निर्मल सूर्या के द्वारा सन 2009 द्वारा गठित किया गया था। राष्ट्रीय मिर्गी दिवस का शुरुआत पहली बार 2015 में हुई थी।

राष्ट्रीय मिर्गी दिवस का इतिहास | National Epilepsy Day History

राष्ट्रीय मिर्गी दिवस की स्थापना देश में मिर्गी रोग विषय पर  लोगों के अंदर जागरूकता बढ़ाने के उद्देश्य से एपिलेप्सी फाउंडेशन ऑफ इंडिया (Epilepsy Foundation Of India) के द्वारा की गई थी। इस संगठन का मुख्य उद्देश्य मिर्गी रोग से पीड़ित लोगों की सहायता करना होता है। इसके साथ ही लोगों के अंदर मिर्गी रोग संबंधित डर  को खत्म करने के लिए उनके अंदर जागरूकता पैदा करना होता है। एपिलेप्सी फाउंडेशन ऑफ इंडिया (Epilepsy Foundation Of India) का गठन मुंबई में स्थित डॉ निर्मल सूर्या के द्वारा सन 2009 में गठित किया गया था। यह संगठन एक गैर लाभकारी चैरिटी संगठन है।

See also  International Picnic Day | अंतरराष्ट्रीय पिकनिक दिवस 2023 | इतिहास, थीम, महत्व (History, Theme, Importance)

इन्हें भी पढ़ें:- विश्व उपयोगिता दिवस कब मनाया जाता है? जाने इतिहास, महत्व और थीम के बारें में

राष्ट्रीय मिर्गी दिवस का महत्व | National Epilepsy Day Significance

राष्ट्रीय मिर्गी दिवस का महत्व बहुत ज्यादा है। यह दिन लोगों के अंदर मिर्गी रोग संबंधित विषय पर जागरूकता पैदा करता है। राष्ट्रीय मिर्गी दिवस के अंतर्गत लोगों को मिर्गी रोग संबंधित उपचारों के विषय में जानकारी प्रदान करना होता है। राष्ट्रीय मिर्गी दिवस के दिन गांव एवं शहरों में नि:शुल्क जरूरी दवाइयां वितरित की जाती है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) मिर्गी रोग से ग्रसित लोगों को शराब एवं अन्य नशे के चीजों से दूर रहने की सलाह देते हैं, ताकि उनका इलाज अच्छी तरह से हो सके। राष्ट्रीय मिर्गी दिवस के दिन लोगों को मिर्गी रोग से बचने के लिए कई प्रकार के कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है।

मिर्गी का लक्षण (symptoms of Epilepsy)

  • शरीर में अकड़न
  • हाथ और पैर में झुनझुनी
  • मुंह से झाग निकलना
  • बेहोशी आना
  • चक्कर आना

मिर्गी के कारण(Epilepsy Causes)

  • जन्मजात लक्षण
  • मस्तिक में इन्फेक्शन होना
  • मस्तिक पर चोट लगा
  • लंबे समय तक तेज बुखार रहना
  • ब्रेन स्ट्रोक

मिर्गी (Epilepsy) एक प्रकार का मस्तिष्क संबंधित रोग है अर्थात समय रहते हुए अगर हम लोग इसका इलाज कराएंगे तो इस रोग से हम लोग मुक्त हो सकते हैं। और साथ ही साथ सरकार के अभियान में शामिल होकर इलाज संबंधित लाभ को उठाना चाहिए।

राष्ट्रीय मिर्गी दिवस 2023 थीम | National Epilepsy Day Theme

राष्ट्रीय मिर्गी दिवस ( National Epilepsy Day Theme) 2023 का थीम ‘Stigma’ है। एक बार राष्ट्रीय मिर्गी दिवस थीम 2023 प्रकाशित हो जाने के बाद इसे राष्ट्रीय मिर्गी दिवस 2023 मिर्गी पृष्ठ पर अपडेट कर दिया जाएगा।

See also  Vishva Cancer Divas 2024 | विश्व कैंसर दिवस कब व कैसे मनाया जाता है?

निष्कर्ष:-

उम्मीद करता हूं कि हमारे द्वारा लिखा गया आर्टिकल ‘National Epilepsy Day 2023 : कब मनाया जाता है राष्ट्रीय मिर्गी दिवस  , जाने इसके इतिहास, महत्व और थीम के बारें में’ संबंधित जानकारी विस्तार पूर्वक प्रदान की गई है, जो आप लोगों को काफी पसंद आया होगा। ऐसे में आप लोग हमारे आर्टिकल संबंधित कोई प्रश्न एवं सुझाव है तो आप लोग हमारे कमेंट बॉक्स में आकर अपने प्रश्नों को पूछ सकते हैं। हम आप लोगों के प्रश्नों का जवाब जरूर देंगे।

FAQs: National Epilepsy Day 2023

Q.राष्ट्रीय मिर्गी दिवस कब मनाया जाता है?

A.राष्ट्रीय मिर्गी दिवस प्रत्येक वर्ष 17 नवंबर को मनाया जाता है।

Q.राष्ट्रीय मिर्गी दिवस का स्थापना किसने किया?

Ans.राष्ट्रीय मिर्गी दिवस का स्थापना मिर्गी फाउंडेशन ऑफ इंडिया( Epilepsy Foundation Of India) ने किया।

Q.मिर्गी के लक्षण क्या है?

Ans.मिर्गी के निम्नलिखित लक्षण है:-

  • शरीर में अकड़न
  • हाथ और पैर में झुनझुनी
  • मुंह से झाग निकलना
  • बेहोशी आना
  • चक्कर आना

Q.राष्ट्रीय मिर्गी दिवस पहली बार कब मनाया गया था

Ans.राष्ट्रीय मिर्गी दिवस पहली बार सन 2015 में मनाया गया था |

इस ब्लॉग पोस्ट पर आपका कीमती समय देने के लिए धन्यवाद। इसी प्रकार के बेहतरीन सूचनाप्रद एवं ज्ञानवर्धक लेख easyhindi.in पर पढ़ते रहने के लिए इस वेबसाइट को बुकमार्क कर सकते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Optimized with PageSpeed Ninja