ads

Dussehra 2023 | दशहरा कब हैं, पूजा, महत्व, रावण दहन मुहूर्त

By | अक्टूबर 24, 2023
Follow Us: Google News

Dussehra 2023:- इस साल 24 अक्टूबर को देश भर में विजयदशमी यानी कि दशहरा का त्योहार मनाया जाएगा। दशहरा का त्यौहार हमें रामायण के समय में वापस ले जाता है और हमें भगवान राम और राक्षस राजा रावण के बीच हुए पौराणिक युद्ध की याद दिलाता है। खैर, दशहरा सिर्फ बुराई पर अच्छाई के उत्सव के बारे में नहीं है, बल्कि यह शरद नवरात्रि के अंत का भी प्रतीक है। राक्षस राजा रावण के पुतले को जलाने के साथ-साथ आप कुछ ज्योतिषीय सुझावों और अनुष्ठानों का पालन करके इस त्योहार का अधिकतम लाभ उठा सकते हैं। इस त्योहार का महत्व अलग-अलग राज्यों में अलग-अलग होता है। यदि आप देश के उत्तरी राज्यों में जाएं, तो आपको लोग भगवान राम का सम्मान करके और दशहरा रावण, मेघनाद और कुंभकरण के पुतले को जलाकर त्योहार मनाते हुए पाएंगे।

जबकि देश के पश्चिमी हिस्सों, जैसे पश्चिम बंगाल, झारखंड या बिहार में, महिषासुर पर मां दुर्गा की जीत का सम्मान करने के लिए इस त्योहार को दुर्गा पूजा या विजयदशमी 2023 के रूप में मनाया जाता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि सबसे दिलचस्प बात क्या है? दशहरा उत्सव 2023 का विषय या महत्व एक ही है: अधर्म  पर धर्म की जीत, मतलब बुराई पर अच्छाई की जीत।इस लेख में हम आपको दशहरा 2023 के बारे में सभी जानकारी पेश करने जा रहे है जैसे कि दशहरा कब है? | Dussehra 2023 दशहरा कब है? | Dussehra 2023,दशहरा पूजा कब है? रावण दहन | Ravana Dahan रावण दहन कब होगा? Ravana Dahan Kab Hoga दशहरा रावण दहन मुहूर्त दशहरा रावण दहन मेला | Dussehra Ravana Mela, दशहरा का महत्व | Dussera Mahatav,दशहरा क्यों मनाया जाता है?

Dussehra 2023-Overview

त्यौहार का नामDussehra
कब है24 अक्टूबर 2023 
कैसे मनाते हैरावण दहन करके मनाया जाता है?
कब मनाते हैहर साल भाद्रपद महीने के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा अवधि में

दशहरा कब है? Dussehra Kab Hai

हिंदू धर्म में दशहरा का त्यौहार हर साल भाद्रपद महीने के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा अवधि में मनाया जाता है। इस साल यह प्रतिपदा 15 अक्टूबर सितंबर से शुरू हो रही है जिस वजह से नवरात्रि का त्यौहार 15 अक्टूबर से 24  अक्टूबर तक मनाया जाएगा इस नवरात्रि के त्यौहार का आखरी दिन विजयादशमी के नाम से जाना जाता है। ऐसी मान्यता है कि इस दिन भगवान विष्णु के अवतार श्री राम ने लंका पति रावण का वध किया था और उसके अत्याचार से धरती को मुक्त किया था।

इस वजह से हर साल नवरात्रि के आखिरी दिन दशमी या विजयादशमी के दिन रावण का पुतला जलाया जाता है और बड़े ही हर्षोल्लास के साथ दशहरा का त्यौहार मनाया जाता है। दशहरा मुख्य रूप से नवरात्रि के आखिरी दिन को कहा जाता है जिस वजह से हम यह कह सकते हैं कि यह साल दशहरा 15 अक्टूबर को मनाया जाएगा। 15 अक्टूबर या नवरात्रि के आखिरी दिन होने वाले दशहरा के त्यौहार में अलग-अलग जगहों पर रावण की मूर्ति जलाई जाती है मां दुर्गा और राम की पूजा की जाती है।

READ  अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस पर निबंध | Essay On International Girl Child Day in Hindi (कक्षा-3 से 10 के लिए)
Dussehra Festival 2023Similar Content
दशहरा कब हैं, पूजा, महत्व, रावण दहन मुहूर्तClick Here
विजय दशमी 2023Click Here
दशहरा पर निबंधClick Here
Happy Vijayadashami QuotesClick Here

दशहरा पूजा कब है? Dussehra Puja Kab Hai

Dussehra Puja हर साल दशहरा के दिन किया जाता है। दशहरा पूजा बहुत ही बेहतरीन तरीके से मनाई जाती है। जैसा कि हम जानते हैं इस साल Dussehra 2023 का त्यौहार 24 अक्टूबर तक मनाया जाएगा इसमें 23 अक्टूबर को नवमी है मगर इस साल आश्विन मास के शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि की शुरुआत 23 अक्टूबर को शाम 05 बजकर 44 मिनट से हो रही है। इसके साथ ही यह समाप्त 24 अक्टूबर को दोपहर 03 बजकर 14 मिनट पर होगी। उदया तिथि 24 अक्टूबर को प्राप्त हो रही है, इसलिए दशहरा यानी विजयादशमी का पर्व 24 अक्टूबर को मनाया जाएगा। 

Happy Vijayadashami

दशहरा क्यों मनाया जाता है? Dussehra Kyu Manaya Jata Hai

हिंदू धर्म में ऐसी पौराणिक मान्यता है कि दशहरा के दिन ही भगवान राम ने रावण का वध किया था जिस वजह से यह दिन अच्छाई की बुराई पर जीत को दर्शाता है। दशहरे का त्यौहार इस बात का संकेत है कि जीवन में सत्य और अच्छाई की हमेशा जीत होती है।दशहरा का त्यौहार 24 अक्टूबर को मनाया जाएगा भारत के विभिन्न जगहों पर रावण दहन किया जाएगा। रावण का पुतला जलाकर हम इस दिन को बड़े ही बेहतरीन तरीके से मनाते है। दशहरा का त्यौहार सत्य की जीत को दर्शाता है, बड़े हर्षोल्लास के साथ रावण और महिषासुर के वध के दिन को हम आपके खत्म होने के दिन की तरह मनाते हैं।

दशहरा का महत्व | Dussera Mahatva

हिंदू धर्म में दशहरा का बहुत महत्व है क्योंकि इस दिन भगवान राम ने रावण का वध किया था और मां दुर्गा ने महिषासुर का वध किया था। इस दिन लगभग सभी बुरी शक्तियां खत्म हो जाती है और हर जगह भगवान का वास होता है।

  • हर साल अश्वनी माह के शुक्ल पक्ष में मनाए जाने वाले दशहरा का महत्व रावण और महिषासुर के वध की वजह से काफी अधिक है।
  • दशहरे के दिन रावण दहन होता है जिसका मेला बहुत बड़े पैमाने पर आयोजित किया जाता है।
  • इस धन धरती से सभी राक्षसों का अंत हुआ था इस वजह से दशहरा का महत्व काफी अधिक है।
  • दशहरा का त्योहार पूरे विश्व में सभी हिंदू धर्म का पालन करने वाले लोगों के द्वारा बड़े हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है।
  • दशहरा का त्यौहार पूरे 10 दिनों तक चलता है जिसमें शुरू के 9 दिन को नवरात्रि कहा जाता है और दसवें दिन को दशहरा कहा जाता है यह बहुत ही सावधानी से करने वाला त्यौहार है इस वजह से इसका महत्व सबसे अधिक है।
READ  विश्व पर्यावरण दिवस | World Environment Day in Hindi 2023 | जानें थीम, महत्व और इतिहास

रावण दहन कब होगा? Ravana Dahan Kab Hoga

हिंदू पंचांग के अनुसार दशहरा का त्यौहार विजयादशमी के दिन मनाया जाता है इस दिन नवरात्रि के 9 दिन और दशहरे के दिन दशहरे का त्यौहार मनाया जाता है। दशहरे का त्यौहार अश्विन माह के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि को मनाया जाता है। इस साल दशमी 23 अक्टूबर शाम 5 जबकर 44 मिनट पर शुरू हो जाएगा मगर 24 अक्टूबर दोपहर 3:14 बजे तक दशमी का दशहरा मुहूर्त रहेगा।

दशहरा रावण दहन 24 अक्टूबर को किया जाएगा, इस दिन रावण दहन कभी भी किया जा सकता है। रावण को जलाने यानी कि पटाखे और रोशनी की बात की जा रही है जो अंधेरे में ज्यादा अच्छा लगता है इस वजह से रावण दहन का शुभ समारोह शाम के बाद आयोजित किया जाता है। इस साल दशहरा रावण दहन बड़े हर्षोल्लास के साथ 24 अक्टूबर को मनाया जाएगा।

रावण दहन कब होगा? Ravana Dahan Kab Hoga

हिंदू पंचांग के अनुसार दशहरा का त्यौहार विजयादशमी के दिन मनाया जाता है इस दिन नवरात्रि के 9 दिन और दशहरे के दिन दशहरे का त्यौहार मनाया जाता है। दशहरे का त्यौहार अश्विन माह के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि को मनाया जाता है। इस साल दशमी 4 अक्टूबर दोपहर 2:21 पर शुरू हो जाएगा मगर 5 अक्टूबर दोपहर 12:00 बजे तक दशमी का दशहरा मुहूर्त रहेगा।

दशहरा रावण दहन 5 अक्टूबर को किया जाएगा, इस दिन रावण दहन कभी भी किया जा सकता है। रावण को जलाने यानी कि पटाखे और रोशनी की बात की जा रही है जो अंधेरे में ज्यादा अच्छा लगता है इस वजह से रावण दहन का शुभ समारोह शाम के बाद आयोजित किया जाता है। इस साल दशहरा रावण दहन बड़े हर्षोल्लास के साथ 24 अक्टूबर को मनाया जाएगा।

दशहरा रावण दहन मुहूर्त | Ravana Dahan Muhurat

रावण दहन हर साल शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा अवधि के दसवें दिन को मनाया जाता है। नवरात्रि के दसवें दिन को दशहरा कहा जाता है। इस साल नवरात्रि का त्योहार 15 अक्टूब से 24 अक्टूबर तक मनाया जाएगा जिसमें नवमी 23 अक्टूबर को समाप्त हो रहा है मगर दशमी 23 अक्टूबर को शाम 5:00 बजे से शुरू हो जा रहा है। यही कारण है कि 23 अक्टूबर और 23 अक्टूबर के बीच दशहरा के त्यौहार को लेकर काफी असमंजस चल रहा है।

READ  Raksha Bandhan Kab Hai 2023 | रक्षाबंधन शुभ मुहूर्त, पूजन विधि मंत्र और पौराणिक कथा जानें

मगर हम आपको बता दें कि 23 अक्टूबर को शाम 5 बजकर 44 मिनट से जो दशमी शुरू हो रही है वह 24 अक्टूबर दोपहर 3 बजकर 15 मिनट तक रहने वाली है। रावण दहन का त्यौहार शाम को मनाया जाता है और 24 अक्टूबर आखिरी दिन है यही कारण है कि भारत के अधिकांश क्षेत्र में 24 अक्टूबर को रावण दहन के रूप में मनाया जाएगा। इस वजह से दशहरा रावण दहन मुहूर्त 24 अक्टूबर रखा गया है।दशहरे के दिन प्रदोष काल में रावण दहन करना सबसे शुभ होता है. विजयादशमी के दिन शाम 5 बजकर 43 मिनट से लेकर करीब ढाई घंटे तक रावण दहन का शुभ मुहूर्त रहेगा.

दशहरा रावण दहन मेला | Dussehra Ravana Mela

रावण दहन का मेला पूरे भारतवर्ष में बड़े हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है। हिंदू धर्म में दशहरा बहुत बड़ा त्यौहार होता है जिस वजह से बड़े हर्षोल्लास के साथ रावण दहन का मेला आयोजित किया जाता है। रावण दहन में रावण के बहुत बड़े पुतले को पटाखे से सजाकर आग से जला दिया जाता है जो जलता हुआ बहुत ही खूबसूरत लगता है यह नजारा शाम का होता है और शाम के वक्त दशहरा का बहुत बड़ा मेला आयोजित किया जाता है।

अगर आप दशहरा रावण दहन मेला को लेकर काफी इच्छुक है और इस दिन को बड़े ही हर्षोल्लास के साथ मनाना चाहते हैं तो रावण दहन का बेहतरीन त्यौहार 24 अक्टूबर को आप अपने घर के आस-पास देख सकते है। 24 अक्टूबर को आप भारत के विभिन्न क्षेत्र में विभिन्न झूले और स्वादिष्ट व्यंजन का लुफ्त उठाते हुए भिन्न प्रकार के लोग मिल जाएंगे। यूपी बिहार और बंगाल में मुख्य रूप से दशहरा रावण दहन का मेला बहुत बड़े पैमाने पर आयोजित किया जाता है।

Dussehra 2023 FAQ’s

Q. दशहरा कब है?

दशहरा का त्यौहार 24 अक्टूबर 2023 को मनाया जाएगा।

Q. दशहरा क्यों मनाया जाता है?

दशहरे का त्यौहार बड़े हर्षोल्लास के साथ रावण और महिषासुर के वध की खुशी में मनाया जाता है। 

Q. दशहरा का त्यौहार कैसे मनाया जाता है?

दशहरा का त्यौहार बड़े पैमाने पर विभिन्न प्रकार के मेला और पूजा आयोजित करके मनाया जाता है।

Q. रावण दहन कब किया जाएगा?

इस साल दशहरा के पावन अवसर पर रावण दहन 24 अक्टूबर को शाम के वक्त किया जाएगा भारत के विभिन्न क्षेत्र में रावण की बड़ी-बड़ी मूर्तियां बनाई जाएगी और उसे पटाखों के साथ जलाया जाएगा। 

निष्कर्ष

आज इसलिए हमने आपको Dussehra 2023 से जुड़ी विस्तार पूर्वक जानकारी सरल शब्दों में समझाई है। हमने आपको दशहरा से जुड़ी जानकारी में यह समझाने का प्रयास किया कि दशहरा का त्यौहार कैसे मनाया जाता है और किस तरह दशहरा के त्यौहार के लिए लोग तैयारियां कर रहे है। अगर हमारे द्वारा बताई गई जानकारियों को पढ़ने के बाद आप दशहरा के त्यौहार के बारे में सब कुछ समझ पाए हैं तो इसे अपने मित्रों के साथ साझा करें साथी अपने सुझाव और विचार कमेंट में बताना ना भूले।

इस ब्लॉग पोस्ट पर आपका कीमती समय देने के लिए धन्यवाद। इसी प्रकार के बेहतरीन सूचनाप्रद एवं ज्ञानवर्धक लेख easyhindi.in पर पढ़ते रहने के लिए इस वेबसाइट को बुकमार्क कर सकते हैं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *