गणेश चतुर्थी पर कविता | Ganesh Chaturthi Poem in Hindi

By | अगस्त 29, 2022
Ganesh Chaturthi Poem

Ganesh Chaturthi Poem in Hindi:- गणेश चतुर्थी एक भाग्य त्योहार के रूप में पूरे भारतवर्ष में बड़े ही हर्षोल्लास के साथ प्रत्येक वर्ष मनाया जाता है। इस त्यौहार को और रोचक बनाने के लिए लोग विभिन्न प्रकार के कविता और शायरी से लोगों को शुभकामनाएं बांटते हैं अगर आप गणेश चतुर्थी पर कविता ढूंढ रहे हैं ताकि अपने सगे संबंधी और सोशल मीडिया पर साझा कर सकें तो इसमें हमने कुछ बेहतरीन कविता की सूची नीचे प्रस्तुत की है।

आपको बता दें कि इस साल गणेश चतुर्थी का त्योहार 31 अगस्त 2022 को मनाया जाएगा। इस दिन शाम 3:23 पर भगवान गणेश की पूजा करने का शुभ मुहूर्त बताया गया है। अगर आप इस गणेश चतुर्थी कुछ बेहतरीन कविता अपने सोशल मीडिया स्टेटस पर साझा करना चाहते हैं तो नीचे दी गई कविताओं की सूची को एक बार अवश्य देखें।

Ganesh Chaturthi 2022

Ganesh Chaturthi Poem 2022

त्यौहार का नामगणेश चतुर्थी 2022
कब है ये त्योहार31 अगस्त 2022
कौन मनाते है भगवान गणेश के जन्मोत्सव के रुप में मनाते हैं
कैसे मनाते हैभगवान गणेश की मूर्ति की स्थापना की जाती है उसकी आरती की जाती है और व्रत रखा जाता है
कहां मानते हैपूरे भारतवर्ष में हिंदू धर्म का पालन करने वाले लोगों के द्वारा मनाया जाता है, मुख्य रूप से महाराष्ट्र में
Ganesh Chaturthi 2022Links
Ganesh Chaturthi Quotes in HindiClick Here
गणेश चतुर्थी क्यों मनाया जाता हैClick Here
गणेश चतुर्थी पर कविताClick Here
गणेश चतुर्थी स्टेटस हिंदी | Ganesh Chaturthi StatusClick Here
गणेश चतुर्थी शायरी | Ganesh Chaturthi Shayari in HindiClick Here
गणेश चतुर्थी निबंध हिंदी मेंClick Here
गणेश चतुर्थी कब है पूजा, मुहूर्त, विधि, व्रत कथाClick Here

गणेश चतुर्थी कविता

Ganesh Chaturthi Kavita Hindi:- हम सब जानते हैं कि गणेश चतुर्थी का त्योहार भगवान ने गणेश के जन्म उत्सव के रूप में मनाया जाता है। भगवान गणेश के भक्त गाना इन्हें विघ्नहर्ता के नाम से पुकारते हैं इसलिए इनके जन्म उत्सव बड़े भव्य तरीके से मेला का आयोजन किया जाता है और बेहतरीन तरीके से खुसियां मनाई जाति है।

READ  Essay on Hindi Diwas in Hindi | हिंदी दिवस पर निबंध हिंदी में

हे गौरी के लाल,

देवलोक के तुम सरताज!

सुन ले गणेश मेरी पुकार,

प्रभु कर दे मेरी नैया पार!

Hindi Poem on Ganesh Chaturthi

रिद्धि-सिद्धि के तुम हो दाता,

दीन दुखियों के भाग्य विधाता!

तुझमें ज्ञान-सागर अपार,

प्रभु कर दे मेरी नैया पार!

कितना रूप राग रंग

कुसुमित जीवन उमंग!

अर्ध्य सभ्य भी जग में

मिलती है प्रति पग में!

Ganesh Chaturthi Poem

श्री गणपति का उत्सव,

नारी नर का मधुरव!

श्रद्धा विश्वास का

आशा उल्लास का

दृश्य एक अभिनव!

युवक नव युवती सुघर

नयनों से रहे निखर

हाव भाव सुरुचि चाव

स्वाभिमान अपनाव

संयम संभ्रम के कर!

कुसमय! विप्लव का डर!

आवे यदि जो अवसर

तो कोई हो तत्पर

कह सकेगा वचन प्रीत,

‘मारो मत मृत्यु भीत,

पशु हैं रहते लड़कर!

मानव जीवन पुनीत,

मृत्यु नहीं हार जीत,

रहना सब को भू पर!’

कह सकेगा साहस भर

देह का नहीं यह रण,

मन का यह संघर्षण!

‘आओ, स्थितियों से लड़ें

साथ साथ आगे बढ़ें

भेद मिटेंगे निश्वय

एक्य की होगी जय!

‘जीवन का यह विकास,

आ रहे मनुज पास!

उठता उर से रव है,–

एक हम मानव हैं

भिन्न हम दानव हैं!’

Ganesh chaturthi poem in Hindi

गणपति जी हैं सबके प्यारे,

शिव गौरा के राजदुलारे,

भोली और प्यारी सी सूरत,

सवारी बने हैं उनकी, मूषक

मोदक उनको बहुत हैं भाते,

बड़े प्यार और चाव से खाते,

देवों में वह देव हमारे,

सबसे पहले उनकी पूजा करते हैं सारे,

रिद्धि सिद्धि के हैं दाता,

हम सबके वह भाग्यविधाता,

जो उनकी पूजा है करते,

गणपति उनके विघ्न है हरते,

गणेश चतुर्तिथि जब भी आये,

बड़े प्यार से सब हैं मनायें,

जिनके घर गणेशा जाते,

मंगल ही मंगल सब होता,

दुःख संताप मिटते हैं सारे।

Ganesh Chaturthi Kavita

जय बोलो जय बोलो

गणपति बप्पा की जय बोलो।

सिद्ध विनायक संकट हारी

विघ्नेश्वर शुभ मंगलकारी

सबके प्रिय सबके हितकारी

द्वार दया का खोलो

जय बोलो जय बोलो

पारवती के राज दुलारे

शिवजी की आंखों के तारे

गणपति बप्पा प्यारे प्यारे

द्वार दया का खोलो

जय बोलो जय बोलो।

शंकर पूत भवानी जाये

गणपति तुम सबके मन भाये

तुमने सबके कष्ट मिटाये

द्वार दया का खोलो

जय बोलो जयबोलो

जो भी द्वार तुम्हारे आता

खाली हाथ कभी ना जाता

तू है सबका भाग्य विधाता

द्वार दया का खोलो

जय बोलो जय बोलो

गणपति बप्पा की जय बोलो

FAQ’s Ganesh Chaturthi Poem

Q. गणेश चतुर्थी का त्योहार कब मनाया जाता है?

गणेश चतुर्थी का पावन त्यौहार हर साल भाद्रपद महीने के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि को मनाया जाता है।

READ  Agrasen Jayanti 2022 | महाराजा अग्रसेन जयंती कब हैं, कैसे व क्यों मनाई जाती हैं

Q. गणेश चतुर्थी इस साल कब है?

इस साल गणेश चतुर्थी का त्योहार 31 अगस्त 2022 को पूरे भारतवर्ष में बड़े हर्षोल्लास के साथ मनाया जाएगा।

Q. गणेश चतुर्थी के दिन क्या करना चाहिए?

गणेश चतुर्थी के दिन भगवान गणेश की आरती करने के बाद भगवान गणेश के नियमित मंत्र का उच्चारण कुछ देर तक करना चाहिए इससे भगवान गणेश की असीम कृपा भक्तों पर बनती है।

Q. भगवान गणेश किस चीज के देवता है?

भगवान गणेश जी ने विघ्नहर्ता भी कहा जाता है उन्हें बुद्धि विवेक और तर्क का देवता माना जाता है। 

निष्कर्ष

इस लेख में हमने आपको बताया कि गणेश चतुर्थी ओए हम क्या है और गणेश चतुर्थी पर कविता (Ganesh Chaturthi Poem) की एक संक्षिप्त सूची नीचे प्रस्तुत की गई जिसका इस्तेमाल करके आप अपने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर लोगों को आकर्षित कर पाएंग। हमने इस लेख में आपको गणेश चतुर्थी 2022 से जुड़े कुछ बेहतरीन कविता के बारे में बताया है अगर आपको वह कविता पसंद है तो इसे अपने मित्रों के साथ साझा करें साथ ही अपने सुझावों विचार या किसी भी प्रकार के प्रश्न को कमेंट में पूछना ना भूलें। 

One thought on “गणेश चतुर्थी पर कविता | Ganesh Chaturthi Poem in Hindi

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.