Hindi Diwas Speech in Hindi | हिंदी दिवस पर भाषण हिंदी में

By | सितम्बर 12, 2022
Hindi Diwas Speech in Hindi

Hindi Diwas Speech in Hindi:- हम सब जानते हैं कि भारत में हिंदी दिवस बड़े हर्षोल्लास के साथ 14 सितंबर को हर साल मनाया जाता है। इस दिन संस्थानों के द्वारा अलग-अलग प्रकार के समारोह आयोजित किए जाते है। इस समारोह में हिंदी दिवस पर कविता और हिंदी दिवस पर भाषण प्रस्तुत किए जाते है। अगर आप हिंदी दिवस पर भाषण हिंदी में ढूंढ रहे हैं तो आज के लेख में इससे जुड़ी विस्तारपूर्वक जानकारी सरल शब्दों में साझा की गई है।

हिंदी दिवस के अवसर पर हिंदी भाषा की जागरूकता को फैलाने और हिंदी साहित्य के प्रचार-प्रसार पर होना चाहिए . हम आपको ऐसा ही एक खूबसूरत भाषण प्रस्तुत करने जा रहे है जिसका इस्तेमाल आप अपनी सुविधा के अनुसार कभी भी कर सकते है। 

Hindi Diwas Speech in Hindi

दिवस Hindi Day 2022
कब मनाया जाता है14 सितंबर 2022
कैसे मनाया जाता हैएक समारोह के जरिए हिंदी और हिंदी साहित्य का प्रचार प्रसार कर के
क्यों मनाया जाता हैपूरे भारतवर्ष में हिंदी और हिंदी साहित्य के प्रचार प्रसार करने के लिए
Hindi Day (Diwas) 2022Others Links
हिंदी दिवस कब, क्यों, कैसे, मनाया जाता हैंClick Here
हिंदी दिवस पर कोट्स हिंदी मेंClick Here
हिंदी दिवस पर शायरी हिंदी मेंClick Here
हिंदी दिवस पर निबंध हिंदी मेंClick Here
हिंदी दिवस पर कविता हिंदी मेंClick Here
 हिंदी दिवस पर भाषण हिंदी मेंClick Here
हिंदी दिवस स्टेटस 2022Click Here
हिंदी दिवस थीम क्या हैंClick Here
Hindi Diwas

Hindi Diwas Speech For Teachers

सभी आदरणीय अतिथि गण को मेरा नमस्कार, आज हिंदी दिवस के शुभ अवसर पर मुझे भाषण प्रस्तुत करने का मौका देने के लिए मैं आप सबका आभारी हूं।

हम सब जानते हैं, कि पूरे भारतवर्ष में कई दशकों से हिंदी दिवस मनाने की परंपरा चली आ रही है। हर साल 14 सितंबर को हम हिंदी दिवस बड़े ही हर्षोल्लास के साथ मनाते है। यह दिन हिंदी भाषा के प्रति जागरूकता फैलाने और हिंदी साहित्य के प्रचार-प्रसार के लिए महत्वपूर्ण है। 1949 में हिंदी को राज्य भाषा घोषित की गई थी, इसका कारण था कि हिंदी भाषा भारत में सबसे अधिक बोली जाती है। एक राज्य भाषा मुख्य रूप से भारत के केंद्र सरकार की भाषा को दर्शाता है। इसके बाद कुछ सालों तक यह विवाद रहा कि भारत में अलग-अलग प्रकार के राज्य है जहां अलग-अलग प्रकार की भाषा बोली जाती है तो केवल हिंदी को राष्ट्रभाषा या राज्य भाषा का महत्व क्यों दिया गया है? 

Hindi Day Speech

Speech on Hindi Day 2022

हालांकि कुछ सालों तक चले इस विवाद में यह स्पष्ट हुआ कि भारत में सबसे अधिक हिंदी भाषा बोली जाती है और हिंदी भाषा भारत के लगभग हर क्षेत्र में समझी जाती है। इसके बाद हिंदी भाषा को एक महत्वपूर्ण राष्ट्रभाषा का दर्जा दिया गया। 14 सितंबर 1953 को हिंदी भाषा को पूरे भारतवर्ष में प्रचलित करने पर हिंदी साहित्य के महत्व को हर किसी को समझाने के लिए हिंदी दिवस की परंपरा शुरू की गई। 14 सितंबर 1953 से लेकर आज तक हर साल हम इस दिन हिंदी दिवस का त्यौहार मनाते है। हिंदी दिवस मनाने के पीछे का मुख्य मकसद भारत में हिंदी भाषा का प्रचार प्रसार और हिंदी साहित्य के प्रचार प्रसार से जुड़ा है।

READ  Independence Day Speech in Hindi | स्वतंत्रता दिवस पर भाषण

Hindi Diwas Par Bashan

इस दिन हिंदी साहित्य में अतुलनीय काम करने वाले साहित्यकारों को सरकार की तरफ से विभिन्न प्रकार के पुरस्कार से सम्मानित किया जाता है। हिंदी दिवस के अवसर पर हम हिंदी भाषा के प्रचार प्रसार के लिए एकजुट होकर अलग-अलग प्रकार के समारोह का आयोजन करते हैं और लोगों को हिंदी साहित्य की गरिमा के बारे में बताते है। हिंदी दिवस के दिन हम हिंदी साहित्यकारों के बारे में बात करते है। चाहे बात गोस्वामी तुलसीदास के राम चरित्र मानस की हो या प्रेमचंद के द्वारा लिखे गए बेहतरीन उपन्यासों की हर जगह हिंदी भाषा में अपना खूबसूरत चमत्कार दिखाया है जो लोगों के हृदय पर तुरंत काबू कर लेता है। हिंदी एक आदम भाषा है जय भारत कई सालों से इस्तेमाल किया जा रहा है। वर्तमान समय में हिंदी भाषा पूरे विश्व में तीसरी सबसे अधिक बोले जाने वाली भाषा है इससे यह मालूम चलता है कि हिंदी कितनी प्रचलित और प्रतिष्ठित भाषा है। ना जाने कोई सालों के इतिहास को संजोकर संस्कृत भाषा से प्रेरणा लेकर धीरे-धीरे हिंदी हमारी मातृभाषा के रूप में आई है।

1917 में महात्मा गांधी ने गुजरात में हुए एक शिक्षा सम्मेलन में भाषण देते हुए हिंदी के महत्व पर प्रकाश डाला था और उन्होंने उस वक्त ही इस भाषा को भारत की राष्ट्रभाषा बनाने के बारे में बताया। हमारे राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के अनुसार हिंदी भाषा का इस्तेमाल विज्ञान, संचार, राजनीति, अर्थशास्त्र, स्वास्थ्य, जैसे अलग-अलग क्षेत्र में होना चाहिए। मगर दुर्भाग्यवश भारत में हिंदी भाषा का महत्व काफी कम हो गया है यहां लोग हिंदी भाषा से अधिक अंग्रेजी भाषा को महत्व देने लगे है। भाषा की दृष्टि से हर भाषा महत्वपूर्ण है मगर हिंदी हमारी मातृभाषा है जिसे पूरे भारत में हर वर्ग के लोगों के द्वारा समझा जाता है तो पूरे देश में एकता लाने और हर किसी को एकजुट करने के लिए हिंदी दिवस बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

हालांकि बीते कुछ सालों में इंटरनेट का युग शुरू होने की वजह से हिंदी भाषा का इस्तेमाल काफी तीव्रता से बड़ा है। धीरे-धीरे हिंदी साहित्य को वह स्थान मिलना शुरू हुआ है जो उसे मिलना चाहिए। इसी तरह हिंदी दिवस के रूप में हम हर साल त्यौहार को बड़े हर्षोल्लास के साथ मनाएंगे और हिंदी भाषा के प्रति जागरूकता को तीव्र करेंगे।

READ  Agrasen Jayanti 2022 | महाराजा अग्रसेन जयंती कब हैं, कैसे व क्यों मनाई जाती हैं

Hindi Diwas Speech in Hindi PDF

Hindi Diwas Speech in Hindi For Students

मेरे आदरणीय प्रधानाध्यापक और अन्य शिक्षक गण के साथ साथ मेरे सभी प्यारे सहपाठियों को मेरा सुप्रभात। मेरा नाम (अपना नाम) है, और मुझे आज हिंदी दिवस के अवसर पर भाषण प्रस्तुत करने का अवसर प्राप्त हुआ है जिसके लिए मैं आप सब का आभार प्रकट करना चाहता हूं।

साथियों जैसा कि हम सब जानते हैं हर साल हिंदी दिवस 14 सितंबर को पूरे भारतवर्ष में मनाया जाता है। इस प्रथा को 1953 में शुरू किया गया था हिंदी दिवस मनाने का मकसद देश में हिंदी भाषा के प्रति जागरुकता और हिंदी साहित्य के प्रचार-प्रसार का है। अनादि काल से भारत अपनी विविध संस्कृति विभिन्न धर्म समुदाय और जाति की वजह से जाना जाता है। भारत विश्व का एकमात्र ऐसा देश है जहां इतने प्रकार के धर्म जाति रंग-रूप और अलग अलग संस्कृति के लोग एक साथ मिलकर रहते है। मगर इन सभी लोगों को भारत देश के रूप में पूरे विश्व भर में चिन्हित किया जाता है जहां देश के सरकार का एक मुख्य भाषा होना चाहिए था। इसी वजह से 14 सितंबर 1949 को हिंदी भाषा भारत की राज्य भाषा बनती है।

इसी के साथ कुछ लोगों के बीच यह विवाद शुरु होता है कि अगर भारत में अलग-अलग समुदाय और अलग-अलग जाति के लोग रहते हैं तो केवल हिंदी को राजभाषा का दर्जा क्यों दिया जा रहा है। कुछ सालों तक चले इस विवाद के बाद सरकार इस नतीजे पर पहुंचती है कि भारत में सबसे अधिक हिंदी भाषा बोली जाती है और हिंदी भाषा एक ऐसी भाषा है जिसे पूरे भारतवर्ष में समझा जा सकता है। इस वजह से हिंदी भाषा को भारत की राष्ट्रभाषा घोषित की जाती है और हिंदी भाषा के प्रचार-प्रसार साथी हिंदी साहित्य से जुड़े साहित्यकारों को उनका उचित सम्मान दिलाने के लिए 14 सितंबर 1953 से हिंदी दिवस की शुरुआत की जाती है।

Hindi Day Speech in Hindi

हिंदी एक बहुत ही खूबसूरत भाषा है, जिसमें शब्दों को बनाने और अपनी बात को लोगों के समक्ष रखने का अंदाज किसी के भी दिल को मोह लेता है। मगर वर्तमान समय में भारत में हिंदी से अधिक महत्व अंग्रेजी को दिया जा रहा है इस वजह से भारत की राष्ट्रभाषा को वह दर्जा नहीं मिल पाता है जिसकी वह हकदार है। इसी कारण से हिंदी भाषा और हिंदी साहित्य को पूरे भारतवर्ष में फैलाने के लिए उचित तरीके से इसका प्रचार-प्रसार करने के लिए हिंदी दिवस का त्यौहार हर साल पूरे भारतवर्ष में मनाया जाता है। हिंदी दिवस के इस पावन अवसर पर अलग-अलग जगहों पर समारोह का आयोजन किया जाता है जिसमें हिंदी साहित्य और हिंदी भाषा पर बात की जाती है। केंद्र सरकार की तरफ से भी हिंदी दिवस के अवसर पर हिंदी साहित्य से जुड़े साहित्यकारों को विभिन्न प्रकार के पुरस्कार से सम्मानित किया जाता है।

READ  Gantantra diwas 2022 | गणतंत्र दिवस पर निबंध हिंदी में | गणतंत्र दिवस 2022 पर निबंध | Gantantra Diwas par Nibandh | गणतंत्र दिवस पर निबंध हिंदी में 100 शब्द | 10 lines on republic day in hindi

वर्तमान समय में इंटरनेट का युग आ चुका है, जिस वजह से हिंदी भाषा का महत्व बड़ी तेजी से बढ़ा है और लोग हिंदी साहित्य की तरफ बढ़ रहे है। हम उम्मीद करते हैं इस तरह हिंदी दिवस के दिन अलग-अलग प्रकार के आयोजन करने से लोग हिंदी भाषा के प्रति आकर्षित होंगे और हिंदी साहित्य का पूरे भारतवर्ष में प्रचार-प्रसार हो पाएगा इसी के साथ हिंदी दिवस की शुभकामनाएं देते हुए मैं अपने हिंदी दिवस के इस भाषण को समाप्त करने की इजाजत चाहता हूं।

Hindi Day Speech in Hindi PDF

हिंदी दिवस पर भाषण कैसे दें

अगर आप हिंदी दिवस के पावन अवसर पर भाषण देना चाहते हैं तो नीचे दिए गए निर्देशों का आदेश अनुसार पालन करें – 

  • सबसे पहले सभा में उपस्थित सभी जनों को अपने तरीके से अपना सम्मान प्रकट करें।
  • उसके बाद हिंदी भाषा के बारे में जानकारी देते हुए हिंदी दिवस किस तरह हिंदी भाषा से जुड़ा हुआ है और कब इसे मनाया जाता है इसके बारे में बताएं।
  • इसके बाद हिंदी दिवस के इतिहास पर रोशनी डालें कि आखिर हिंदी दिवस की शुरुआत कब हुई और किस तरह हिंदी भाषा के लिए यह एक महत्वपूर्ण त्योहार है।
  • इसके बाद हिंदी दिवस क्यों और कैसे मनाया जाता है इसके बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी दें।
  • अंत में हिंदी दिवस से क्या परिणाम नजर आते हैं और आपके विचार हिंदी दिवस के प्रति क्या है इसके बारे में बताते हुए अपने भाषण को समाप्त करें।

हिंदी दिवस के अवसर पर कुछ आवश्यक प्रश्न (FAQ)

Q. हिंदी दिवस कब मनाया जाता है?

हिंदी दिवस का पावन त्यौहार हर साल 14 सितंबर को मनाया जाता है।

Q. हिंदी दिवस मनाने की क्या प्रक्रिया है?

हिंदी दिवस के अवसर पर अलग-अलग जगहों पर समारोह आयोजित करवाया जाता है जिसमें हिंदी भाषा और हिंदी साहित्य के बारे में जानकारी दी जाती है। इसके अलावा हिंदी दिवस के अवसर पर सरकार की तरफ से हिंदी साहित्यकारों को पुरस्कार से सम्मानित भी किया जाता है।

Q. हिंदी दिवस कब से मनाया जा रहा है?

हिंदी दिवस का त्यौहार है 14 सितंबर 1953 से मनाया जा रहा है।

Q. हिंदी भारत की राष्ट्रभाषा कब घोषित की गई थी?

हिंदी को 14 सितंबर 1949 को भारत की राष्ट्रभाषा घोषित की गई थी।

Q. हिंदी दिवस क्यों मनाते हैं?

हिंदी दिवस का त्यौहार हिंदी भाषा और हिंदी साहित्य के प्रचार-प्रसार के लिए मनाया जाता है।

निष्कर्ष

आज इस लेख में हमने आपको हिंदी दिवस पर भाषण हिंदी में प्रस्तुत किया है। आप यह समझ गए होंगे कि हिंदी दिवस किस प्रकार भारत के लिए एक महत्वपूर्ण त्योहार है और हिंदी दिवस किस तरह हिंदी भाषा और हिंदी साहित्य के प्रचार प्रसार के लिए आवश्यक है अगर इस लेख में आप हिंदी दिवस के बारे में अच्छे से समझ पाए हैं तो इसे अपने मित्रों के साथ साझा करें साथी अपने सुझाव विचार या किसी भी प्रकार के प्रश्न कमेंट में पूछना ना भूलें।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.