ads

राष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण दिवस कब मनाया जाता है?National Energy Conservation Day 2023

By | दिसम्बर 4, 2023

National Energy Conservation Day:- जैसा कि आप लोग जानते हैं कि आज दुनिया में तेजी के साथ जनसंख्या बढ़ रही है l  ऐसे में जितने प्रकृतिक संसाधन है I  उसका तेजी के साथ लोगों के द्वारा इस्तेमाल हो रहा है I ऐसे में अगर प्रकृतिक संसाधन के विकल्प की तलाश नहीं करेंगे तो आने वाले दिनों में मानव जीवन खतरे में पड़ जाएगा? क्योंकि जब प्रकृतिक संसाधन से चलने वाले ऊर्जा के स्रोत समाप्त हो जाएंगे तो हमारा दैनिक जीवन उसे बहुत ज्यादा बाधित हो जाएगा I इसलिए हमें ऊर्जा संरक्षण पर ध्यान देना होगा . यही वजह है कि लोगों को ऊर्जा को कैसे बचाना है I उसका संरक्षण कैसे करना है I इन सब बातों के लिए 14 दिसंबर को राष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण दिवस भारत में हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है I

ताकि हम ऊर्जा को बचा सके क्योंकि जब ऊर्जा बचेगी तभी जाकर मानव जीवन का अस्तित्व इस पृथ्वी पर बना रहेगा I ऐसे में आप लोगों के मन में सवाल आता है कि राष्ट्रीय ऊर्जा शिक्षा दिवस कब है, क्यों मनाया जाता है कैसे मनाया जाता है ऊर्जा संरक्षण का महत्व क्या है ऐसे तमाम सवाल अगर आपके मन में आ रहे हैं और आप उनके जवाब नहीं जानते हैं तो हमारे साथ आर्टिकल पर बने रहे हैं चलिए शुरू करते हैं-

यह भी पढ़ें:-संविधान दिवस कब, क्यों, कैसे मनाया जाता है?

National Energy Conservation Day 2023- Overview

आर्टिकल का प्रकारमहत्वपूर्ण दिवस
आर्टिकल का नामराष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण दिवस
साल2023
मनाया जाएगा14 दिसंबर को
कहां मनाया जाएगापूरे भारतवर्ष में
क्यों मनाया जाता हैलोगों को ऊर्जा संरक्षण के संबंध में जागृत करने के लिए

राष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण दिवस कब मनाया जाता है?

राष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण दिवस 14 दिसंबर को भारत में हर्षोल्लास और धूमधाम के साथ मनाया जाता है I इस दिन विभिन्न प्रकार के पर्यावरण संबंधित कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं I जिसमें लोगों को जागरूक किया जाता है कि ऊर्जा का संरक्षण करना आवश्यक क्यों है और ऊर्जा का इस्तेमाल आप कैसे करें ताकि हम ऊर्जा को बर्बाद होने से बचा सके I

READ  Kisan Diwas 2022 | किसान दिवस कब और कैसे मनाया जाता है

यह भी पढ़ें:- राष्ट्रीय प्रदूषण नियंत्रण दिवस, 2023 में कब है, कैसे मनाया जायेगा, थीम क्या है?

राष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण दिवस क्या हैं? Rashtriya Urja Sanrakshan Diwas

ऊर्जा संरक्षण दिवस एक प्रकार का उर्जा संबंधित दिवस है जिसमें लोगों को इस बात के बारे में जागृत करने का काम किया जाता है कि आप कैसे उर्जा का संरक्षण कर सकते हैं और आप ऊर्जा का इस्तेमाल कैसे करेंगे कि उसकी बर्बादी को हम रोक पाए उसकी प्रमुख बजा है कि अगर आप उर्जा का बिना मतलब दुरुपयोग करेंगे तो ऊर्जा का जो भंडारे व समुचित रूप से बर्बाद हो जाएगा और ऐसे में इस पृथ्वी पर मानव जाति का स्थिति समाप्त हो जाएगा

इसलिए हमें ऊर्जा को बचाना है ताकि हमारे आने वाली भाभी पीढ़ी भी ऊर्जा का इस्तेमाल कर सके क्योंकि अगर हम अपने आने वाली पीढ़ी के बारे में नहीं सोचेंगे तो यकीन मानिए कि आने वाली पीढ़ी ऊर्जा के उपयोग से वंचित रह जाएगी और जिसका परिणाम यह होगा उस समय पृथ्वी पर चारों तरफ हाहाकार मच जाएगा और जितने भी पशु जंतु और मनुष्य हैं उनका जीवन समाप्त हो जाएगा I इसीलिए इन सब चीजों को रोकने के लिए देश में 14 दिसंबर को राष्ट्रीय शिक्षा दिवस मनाया जाता है |

राष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण दिवस क्यों मनाया जाता हैं? 

राष्ट्रीय ऊर्जा शिक्षण दिवस क्यों मनाया जाता है आपके मन में सो रहा है तो हम आपको बता दें कि 2001 में भारत में ऊर्जा संरक्षण अधिनियम को लागू किया गया I जिसका उद्देश्य आम जनता में संरक्षण और ऊर्जा दक्षता के महत्व के बारे में लोगों में जागरूकता फैलाना था I ताकि लोग समझ सके कि उर्जा  बचाना हमारे लिए जरूरी क्यों है ? इस दिन का सरकार ऊर्जा दक्षता और संरक्षण में भारत की उपलब्धियों को आम जनता के बीच प्रदर्शित करना है। ऊर्जा संरक्षण का मतलब होता है कि उपलब्ध साधनों का ऐसे तरीके से इस्तेमाल करना ताकि ऊर्जा की बर्बादी को रोका जा सके I इस दिन पूरे देश में चर्चा सम्मेलन वाद विवाद और प्रतियोगिताओं जैसे कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं ताकि लोगों को ऊर्जा संरक्षण से संबंधित चीजों के बारे में तेजी से जागरूक किया जा सके I

READ  गणेश चतुर्थी निबंध हिंदी में | Ganesh Chaturthi Essay in Hindi

यह भी पढ़ें:- विश्व एड्स दिवस

राष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण दिवस कैसे मनाया जाता हैं?

पूरे भारत में राष्ट्रीय ऊर्जा दिवस को प्रभावशाली और सफल बनाने के लिए विभिन्न प्रकार के कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं जिसमें सरकार और दूसरे प्रकार के संगठन के प्रतिनिधि सम्मिलित होकर राष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण दिवस के ऊपर अपने विचार को रखते हैं इसके अलावा लोगों को कैसे अधिक से अधिक ऊर्जा संरक्षण के बारे में जागरूक किया जा सके उसकी रणनीति का निर्धारण किया जाता है I ताकि भारत सरकार के ऊर्जा संबंधी जितने भी हैं मंत्रालय हैं उनको दिशा निर्देश जारी किया जा सके कि उन्हें किस प्रकार उर्जा के दिशा में काम करना है. कई जगहों पर संगठनों के छात्रों या सदस्यों द्वारा ऊर्जा संरक्षण दिवस पर स्कूल, राज्य, क्षेत्रीय या राष्ट्रीय स्तर पर विभिन्न चित्रकला प्रतियोगिताएँ आयोजित की जाती है. इसमें सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले छात्रों को भारतीय ऊर्जा संरक्षण मंत्रालय के द्वारा पुरस्कृत किया जाता है I

ऊर्जा संरक्षण का महत्व Important of National Energy Conservation Day

हमारे जीवन में ऊर्जा संरक्षण का बहुत बात है क्योंकि ऊर्जा संरक्षण करने से हम अपने भविष्य को सुरक्षित और उज्जवल बना सकते हैं I इसके अलावा पर्यावरण प्रदूषण मुक्त भी रहता है I जिससे हमें एक स्वास्थ्य जीवन जीने में मदद मिलती है सबसे प्रमुख बातें कि अगर आप ऊर्जा सरक्षण की आदत डालेंगे तो आने वाले पीढ़ी को भी ऊर्जा का इस्तेमाल करने का अवसर प्राप्त होगा क्योंकि अगर इसी तरह हम लोग ऊर्जा का दुरुपयोग करते रहे तो 1 दिन पृथ्वी से पूरी तरह से उर्जा का समाप्त हो जाएगा और ऐसे में आने वाले भावी पीढ़ी का जीवन खतरे में पड़ जाएगा इसलिए हमें भावी पीढ़ी के लिए ऊर्जा संरक्षण करना होगा I बड़े बुजुर्गों के द्वारा एक कहावत का जाती थी जो बहुत ही सत्य है कहावत है –

READ  Sardar Vallabhbhai Patel Jayanti | सरदार पटेल जयंती कब, क्यों मनाई जाती हैं? Sardar Patel Status, Famous, Quotes, Wishes in Hindi

पृथ्वी, जल और वायु हमारे माता-पिता से प्राप्त हमारे लिए एक उपहार नहीं है बल्कि हमारे बच्चों के लिए कर्ज़ है” इसलिए ऊर्जा संरक्षण का ना हमारा परम कर्तव्य है I अगर आप ऊर्जा का संरक्षण करते हैं तो आप अपने देश के बहुमूल्य मुद्रा की भी बचत करेंगे क्योंकि अगर किसी देश में ऊर्जा के संकट आती है तो उस देश की अर्थव्यवस्था काफी खराब हो जाती है I 

FAQ’s National Energy Conservation Day 2023

Q.ऊर्जा संरक्षण दिवस कब मनाया जाता है?

Ans.ऊर्जा संरक्षण दिवस14 दिसंबर को मनाया जाता है।

Q.राष्ट्रीय ऊर्जा दिवस क्यों मनाया जाता है?

Ans.2 राष्ट्रीय ऊर्जा दिवस मनाने का मुख्य उद्देश्य आम जनता के बीच ऊर्जा दक्षता और संरक्षण में भारत सरकार के द्वारा किए गए कामों की उपलब्धि को जनता के सामने प्रस्तुत करना है और साथ में उन्हें जागरूक भी करना है

Q. राष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण अधिनियम कब पारित किया गया?

Ans. राष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण अधिनियम 2001 में पारित किया गया उसके बाद से ही भारत में 14 दिसंबर को राष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण  दिवस मनाने की परंपरा शुरू हुई I

इस ब्लॉग पोस्ट पर आपका कीमती समय देने के लिए धन्यवाद। इसी प्रकार के बेहतरीन सूचनाप्रद एवं ज्ञानवर्धक लेख easyhindi.in पर पढ़ते रहने के लिए इस वेबसाइट को बुकमार्क कर सकते हैं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *