Political Activities Ender Year 2023 | साल 2023 में हुई राजनैतिक गतिविधियां

By | December 15, 2023
Follow Us: Google News

साल 2023 में हुई राजनैतिक गतिविधियां:- सन 2023 में भारत देश में कई प्रकार की राजनीतिक गतिविधियां देखने को मिली है। 2023 में भारत देश में राजनीतिक क्षेत्र में कई प्रकार के परिवर्तन देखने को मिला। 2023 राजनीतिक क्षेत्र के नेता एक दूसरे का विरोध करते हुए देखा गए। तो भारतीय राजनीतिक में कई प्रकार की घटनाएं 2023 में घटित हुई। जैसे कि आप लोगों को पता है 2023 समाप्ति के अंतिम चरण में है और 2024 का आगमन होने वाला है ऐसे में लोगों साल 2023 में घटित राजनीतिक गतिविधियां की जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं। शिक्षा के साथ संबंध रखने वाले विद्यार्थियों के लिए भी यह जानकारी होना काफी आवश्यक है कि 2023 में क्या-क्या राजनीतिक गतिविधियां हुई है क्योंकि यह आप लोगों का शिक्षा संबंधित विषय बन सकता है।

आईए जानते हैं कि 2023 में हुई राजनैतिक गतिविधियां क्या-क्या है संबंधी जानकारी विस्तार पूर्वक इस आर्टिकल में प्रदान की जाएगी इसलिए आप लोग इस आर्टिकल को अंत तक पढ़े।

Also read: CM Rajasthan Bhajan Lal Sharma Biography in Hindi

WFI अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया।

भारतीय कृषि संघ के अध्यक्ष बृजभूषण सिंह पर महिलाएं पहलवानों ने यौन शोषण का आरोप लगाया था उनका मन कहना था कि बृजभूषण शरण सिंह उनका यौन शोषण करते हैं जिसके लिए बृजभूषण सिंह पर दिल्ली पुलिस ने FIR भी दर्ज करवाई थी इसके अलावा महिला पहलवानों ने दिल्ली के इंडिया गेट पर आंदोलन भी किया था। हालांकि आंदोलन को पुलिस के द्वारा समाप्त कर दिया गया और आज के तारीख में बृजभूषण सिंह का मामला कोर्ट में लंबित है। ऐसे में देखना होगा कि उनके मामले में कोर्ट के द्वारा कब फैसला सुनाया जाता है ।

यह भी पढ़ें:- साल 2023 के खत्म होने से पहले कर लें यह काम

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसौदिया की गिरफ्तारी को शराब नीति मामले में केंद्रीय जांच ब्यूरो ने गिरफ्तार 

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसौदिया को 2021-22 शराब घोटाले के मामले में 19 फरवरी 2023 को सीबीआई में गिरफ्तार कर लिया था। इनकी गिरफ्तारी आईपीसी की धारा 120-B (आपराधिक साजिश), 477-A (धोखाधड़ी करने का इरादा) और भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की धारा-7 के तहत हुई है। सूत्रों के अनुसार यह खबर मिली है कि मनीष सिसौदिया से सीबीआई के द्वारा शराब घोटाले के मामले में पूछताछ के दौरान इनके खिलाफ कई प्रकार के सबूत को रखा गया था, जिसमें से कुछ दस्तावेज डिजिटल सबूत (Digital Evidence) थे, इन सबूत पर मनीष सिसौदिया किसी प्रकार के जवाब नहीं दे सके इतना ही नहीं बल्कि इन्हें सबूत मिटाने के आरोपी भी पाया गया था। और इस प्रकार भारतीय जनता पार्टी और दिल्ली आम आदमी पार्टी के बीच राजनीतिक गतिविधियां बढ़ गई। 

गिरफ्तारी के बाद मनीष सिसौदिया और सत्येन्द्र जैन का इस्तीफा

Manish Sisodia and Satyendra Jain after arrest

शराब मामले के घोटाला में मनीष सिसौदिया कि गिरफ्तारी के खिलाफ कोर्ट से राहत नहीं मिलने के कारण मनीष सिसोदिया ने दिल्ली सरकार से अपना इस्तीफा दे दिया। वहीं मनीष सिसौदिया के साथ ही मनी लॉन्ड्रिंग मामले में गिरफ्तार सत्येंद्र जैन ने भी दिल्ली सरकार को अपना इस्तीफा सौंप दिया। गिरफ्तारी के बाद ही मनीष सिसौदिया और सत्येंद्र जैन का इस्तीफा इसलिए देना पड़ा क्योंकि अन्ना आंदोलन से निकली आम आदमी पार्टी का सबसे बड़ा मुद्दा भ्रष्टाचार ही था। आम आदमी पार्टी इसी मुद्दे के आधार पर पिछले 10 साल में राष्ट्रीय पार्टी बन गई। आम आदमी पार्टी के शुरुआती गठन के समय जब कोई दूसरी पार्टी के ऊपर आरोप लगता था तो आम आदमी पार्टी उससे इस्तीफा मांगती थी। ऐसे में जब आम आदमी पार्टी के दो नेता भ्रष्टाचार के मामला में फंसे तो अरविंद केजरीवाल के सरकार पर सवाल उठने लगे थे ऐसे में इन दोनों के इस्तीफा के बाद आम आदमी पार्टी को कुछ हद तक राहत प्राप्त हुई।

See also  Navratri Puja 2023 | नवरात्री पूजा विधि, स्थापना मुहूर्त, पूजा मंत्र, आरती

राहुल गांधी को लोकसभा में संसद सदस्य के रूप में अयोग्य घोषित 

भारतीय संविधान के अनुच्छेद 102 (1) और जन प्रतिनिधित्व अधिनियम, 1951 के तहत केरल के वायनाड लोकसभा सीट के सांसद राहुल गांधी को सजा सुनाई गई दिन 23 मार्च 2023 से अयोग्य घोषित कर दिया गया था। इससे पहले राहुल गांधी को सूरत के एक अदालत में असल पुराना एक आपराधिक महान हानि के मामले में 2 साल की सजा सुनाई थी। राहुल गांधी को जिस बयान के कारण 2 साल की सजा हुई थी और साथ ही साथ अयोग्य करार कर दिया गया था ।वह 2019 का लोकसभा चुनाव के दौरान ‘मोदी सरनेम’को लेकर एक टिप्पणी किए थे इसमें उन्होंने ललित मोदी ,नीरव मोदी एवं अन्य का नाम लेते हुए कहा था कि ‘कैसे सभी चोरों का सरनेम मोदी है?’ इसके बाद उनके इस बयान के कारण भाजपा के एक नेता पूर्णेश मोदी ने मानहानि का मुक़दमा राहुल गांधी खिलाफ दर्ज कराया था।

मणिपुर हिंसा (Manipur Violence)

मणिपुर में 4 मई 2023 को मैतई समुदाय को जनजाति दर्ज देने की मांग के विरोध में निकाली गई रैली के दौरान हिंसा भड़की थी। और इस प्रकार मणिपुर में दो समुदाय के बीच हिंसक झड़प पूरे मणिपुर में तनाव का स्थिति बना दिया था। दरअसल यह तनाव दो समुदायों के बीच जमीन एवं आरक्षण एवं अफीम का लड़ाई था। इस हिंसा में 175 से अधिक लोगो की मृत्यु हुआ है और हजारों की संख्या में लोग घायल हुए है। इसी तनाव के बीच कुछ ऐसे वीडियो सामने आए थे जिसने पूरे देश को शर्मासार कर दिया था। इस वीडियो में कुकी समुदाय की दो महिलाओं को नग्न अवस्था में रास्ते पर घूमाते हुए दिखाई जा रहा था। इस घटना की प्रधानमंत्री मोदी जी ने काफी निंदा किए थे और उन्होंने कहा था कि इसके दोषियों को कभी भी किसी भी हालत में छोडा़ नहीं जाएगा।

See also  UP Board Result 2023 :  12वीं में महोबा के  शुभ छपरा ने तो 10 वीं में सीतापुर की प्रियांशी सोनी ने बजाया अपने नाम का डंका, बने प्रदेश टॉपर

कर्नाटक विधान सभा चुनाव 2023 कांग्रेस की जीत

कर्नाटक में विधानसभा चुनाव 10 मई 2023 को हुआ था जिसका नतीजा 13 मई को घोषित किया गया था। जिसमें कांग्रेस ने काफी बड़ी जीत हासिल करके बीजेपी से सत्ता छीन ली थी। कर्नाटक विधानसभा के सभी 224 सीटों पर मतदान हुआ था जिसमें किसी भी पार्टी को सरकार बनाने के लिए 113 सीटों की जरूरत था। इस विधानसभा चुनाव में कांग्रेस 224 सीटों में से 135 सीट हासिल करके भारी बहुमत के साथ जीत दर्ज की थी। जबकि कर्नाटक विधानसभा चुनाव में बीजेपी को 66, जनता दल (सेक्युलर) 19 सीट हासिल हुआ था। कर्नाटक विधानसभा चुनाव में वोट शेयर की बात करें तो कांग्रेस पार्टी को 42.88%, बीजेपी पार्टी को 36%,जनता दल (सेक्युलर) को 13.29% वोट प्राप्त हुआ था। कांग्रेस की कर्नाटक विधानसभा 2023 चुनाव का जीत 1989 चुनाव के बाद से वोट शेयर एवं सीटों के अनुसार सबसे बड़ी जीत बन गई है। इस चुनाव के परिणाम के बाद कर्नाटक के लिए कांग्रेस के सिद्धारमैया मुख्यमंत्री चुना गया है।

आगामी आम चुनाव में एनडीए के खिलाफ लड़ने के लिए 26 पार्टियां ने किया I.N.D.I.A गठबंधन 

देश में होने वाला अगला लोकसभा चुनाव के लिए सत्ता पक्ष और विपक्षी दलों चुनावी बिगुल फूंक दिया है। अर्थात बीजेपी को सत्ता से हटाने के लिए विपक्षी दलो ने एक नया मोर्चा खोल दिया है। 18 जुलाई 2023 बेंगलुरु में कांग्रेस की अगुवाई में एक नया मोर्चा बना जिसमें देश की 26 पार्टियां एक साथ एकजुट होकर महागठबंधन का घोषणा करते हुए गठबंधन का नाम INDIA (Indian National Developmental Inclusive Alliance) दिया गया है। जबकि भाजपा ने दिल्ली में एनडीए (NDA) शक्ति प्रदर्शन करते हुए 38 नए दलों का एनडीए में स्वागत किया है।

नरेंद्र मोदी की सरकार ने I.N.D.I.A गठबंधन द्वारा पेश अविश्वास प्रस्ताव जीता

विपक्षी दलों के द्वारा मोदी सरकार के खिलाफ 26 जुलाई को लोकसभा में अविश्वास पत्र पेश किया गया था उसके बाद लोकसभा में आप अविश्वास पत्र को लेकर आपकी चर्चा हुआ इसके बाद विपक्षी दलों का विश्वास पात्र गिर गया और मोदी सरकार की जीत हुई। इससे पहले मोदी सरकार ने लोकसभा में चर्चा करते हुए I.N.D.I.A गठबंधन को घमंडिया गठबंधन कहा। इसी के साथ राहुल गांधी पर जमकर निशान साधा। मोदी जी ने मणिपुर का हिंसा का जिक्र करते हुए देश को आश्वासन दिया कि मणिपुर में शांति व्यवस्था जल्दी ठीक हो जाएगा। सूत्रों के अनुसार अविश्वास पत्र पेश होने के 3 दिन के बाद ही खत्म हो गई थी।

यह भी पढ़ें:- Rajasthan CM List | राजस्थान के मुख्यमंत्री, नाम और कार्यकाल (1949 – 2023) 

विधानसभा चुनाव 2023 | मध्यप्रदेष, राजस्थान, छत्तीसगढ़, मिजोरम विधानसभा चुनाव नतीजा

Assembly Elections 2023 : विधानसभा चुनाव 2023 में मध्य प्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़, मिजोरम राज्यों में मतदान हुआ था जिनमें से मध्य प्रदेश राजस्थान और छत्तीसगढ़ राज्य का चुनावी परिणाम 3 दिसंबर 2023 को जारी कर दिया गया है। जबकि मिजोरम का एक दिन के बाद अर्थात 4 दिसंबर 2023 को जारी कर दिया गया था। इन चार राज्यों में से बीजेपी को तीन राज्यों में बंपर जीत हासिल हुई जबकि मिजोरम में जेड पीएम को बहुमत प्राप्त हुआ था। विधानसभा चुनाव 2023 में इन राज्यों में बीजेपी ने अपने सांसद एवं केंद्रीय मंत्री को टिकट दिया था। भारतीय जनता पार्टी ने मध्य प्रदेश एवं राजस्थान में 7-7 जबकि छत्तीसगढ़ में 4 मौजूदा संसद को चुनावी मैदान में उतरा था। मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में 230 सीटों में से बीजेपी ने 163 सीट पर जीत दर्ज की है वहीं कांग्रेस को 66 सीट प्राप्त हुआ है एवं अन्य को एक सीट प्राप्त हुआ था। राजस्थान विधानसभा चुनाव में 199 सीटों में से बीजेपी ने 115 सीटों पर जीत दर्ज की है वहीं कांग्रेस को 69 एवं अन्य को 13 सीट प्राप्त हुआ था। छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव में 90 सीटों में से बीजेपी को 54, कांग्रेस को 35 एवं अन्य को एक सीट प्राप्त हुआ था। मिजोरम विधानसभा चुनाव में 40 सीटों में से जेडपीएम को 27 सीट ,एमएनएफ 10 सीटों, बीजेपी को 2 सीट  एवं कांग्रेस को केवल 1 सीट प्राप्त हुआ था।

See also  श्री महावीर पंचांग 2024 | Mahavir Panchang PDF डाउनलोड करें? Google Play पर ऐप्लिकेशन

यह भी पढ़ें:- चुनाव आचार संहिता? कब और क्यों लागू होते हैं

निष्कर्ष:

उम्मीद करता हूं कि हमारे द्वारा लिखा गया आर्टिकल साल 2023 में हुई राजनैतिक गतिविधियां संबंधी जानकारी विस्तार पूर्वक प्रदान की गई है जो आप लोगों को काफी पसंद आया होगा ऐसे में आप हमारे आर्टिकल संबंधित कोई प्रश्न एवं सुझाव है तो आप लोग हमारे कमेंट बॉक्स में आकर अपने प्रश्नों को पूछ सकते हैं हम आपके प्रश्नों का जवाब जरूर देंगे।

FAQ’s: Political Activities Year 2023

Q दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसौदिया कि मामला में गिरफ्तार किया गया था।

Ans. दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया को शराब मामले की घोटाले में गिरफ्तार किया गया था।

Q.विधानसभा चुनाव 2023 में भारतीय जनता पार्टी किन-किन राज्यों में चुनाव जीती है?

Ans.विधानसभा चुनाव 2023 में भारतीय जनता पार्टी मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ ,राजस्थान राज्य में चुनाव जीती है।

Q.मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास पत्र पेश 2023 में कब पेश किया गया था।

Ans.मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास पत्र पेश 2023, 26 जुलाई को पेश किया गया था।

Q.कर्नाटक विधानसभा चुनाव 2023 किस पार्टी ने जीता था?

Ans.कर्नाटक विधानसभा चुनाव 2023 कांग्रेस पार्टी ने जीता था।

Q.राहुल गांधी को लोकसभा में संसद सदस्य के रूप में अयोग्य घोषित किया गया था?

Ans.राहुल गांधी को लोकसभा में संसद सदस्य के रूप में अयोग्य घोषित  23 मार्च 2023 को किया गया था।

इस ब्लॉग पोस्ट पर आपका कीमती समय देने के लिए धन्यवाद। इसी प्रकार के बेहतरीन सूचनाप्रद एवं ज्ञानवर्धक लेख easyhindi.in पर पढ़ते रहने के लिए इस वेबसाइट को बुकमार्क कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *