महेश नवमी 2023 | Mahesh Navmi Quotes| महेश नवमी पूजा तारीख व समय | महेश नवमी की हार्दिक शुभकामनाएं |

महेश नवमी 2023: 29 मई को पूरे देश में बड़े जोरो शोरो से मनाई जाएगी। महेश नवमी  खासकर महेश्वरी समाज द्वारा मनाई जाती है। महेश भगवान भोलनाथ का नाम है और यह नवमी भगवान शिव को समर्पित है और इस दिन भक्तों द्वारा अपने महादेव कि आराधना की जाती हैं। हम आपको बता दें कि महेश नवमी को हिंदू भक्तों के लिए सबसे शुभ दिनों में से एक माना जाता है। महेश नवमी ज्येष्ठ मास के शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि को मनाई जाती है जिसे नवमी तिथि भी कहा जाता है।महेश जयंती या तो मई के अंत में आती है या तो जून के महीने में आती है क्योंकि हिंदू कैलेंडर के अनुसार ज्येष्ठ माह इसी समय पड़ता हैं। महेश नवमी ज्येष्ठ माह  में शुक्ल पक्ष की नवमी (नौवें दिन) को पड़ती है। त्योहार मुख्य रूप से भगवान शिव के भक्तों द्वारा मनाया जाता है। उन्हें लोकप्रिय रूप से कई अन्य नामों से जाना जाता है, जिनमें से एक महेश है। यह नाम भगवान शिव के प्रति अत्यधिक भक्ति का प्रतीक है क्योंकि ऐसा माना जाता है कि इस दिन वह पहली बार अपने भक्तों के सामने प्रकट हुए थे। इस लेख में हम आपको इस नवमी से जुड़ी कई और जानकारियां उपलब्ध कराने जा रहे है जैसे कि महेश नवमी 2023 | महेश नवमी की हार्दिक शुभकामनाएं,महेश नवमी 2023,महेश जयंती का महत्व,महेश जयंती के अनुष्ठान,महेश नवमी की हार्दिक शुभकामनाएं,Mahesh Navami quotes in Hindi, Mahesh Navmi Hardik Shubhkamnaye, महेश जयंती के शुभकामना संदेश। इस लेख को पूरा पढ़े और इस त्योहार के बारे में सब कुछ जानें।

महेश नवमी 2023 | Mahesh Navmi in Hindi

टॉपिकमहेश नवमी 2023
लेख प्रकारआर्टिकल
साल2023
महेश नवमी 202329 मई
वारसोमवार
तिथिज्येष्ठ माह शुक्ल पक्ष नवमी
अवर्तीहर साल
किसकी पूजा होती हैभगवान शिव
धर्महिंदू
कहां मनाई जाती हैभारत

Also Read: विश्व दूरसंचार और सूचना समाज दिवस पर निबंध 2023

महेश जयंती का महत्व | Importance Of Mahesh Jayanti

यह दिन उन लोगों के लिए महत्वपूर्ण है जो माता-पिता बनना चाहते हैं, खासकर महिलाएं। यह माहेश्वरी समुदाय के लिए भी एक महत्वपूर्ण अवसर है क्योंकि ऐसा माना जाता है कि यह महेश नवमी थी जब महेश्वरी समुदाय अस्तित्व में आया था।इस दिन रात भर विभिन्न यज्ञ और मंत्रोच्चार किए जाते हैं। भगवान शिव की विशेष झांकी और उनके चित्र भक्तों के घरों में लगे रहते हैं। भगवान शिव के बड़े-बड़े चित्र उनके भक्तों के विभिन्न घरों में ले जाए जाते हैं। उनके नाम पर प्रार्थना की जाती है और उनकी बातें और प्रशंसा सड़कों पर सुनी जा सकती है। भगवान का विषेश अभिषेक किया जाता है और उन्हें देवी पार्वती के साथ इस दिन मंदिरों में भव्य रूप से सजाया जाता है।इस दिन संध्या फैरी निकाली जाती है और जब चित्र सड़कों से वापस आते हैं, तो मंदिर परिसर में भजन संध्या होती है और अंत में प्रत्येक भक्त को प्रसाद चढ़ाया जाता है। इस तरह के कोई विशिष्ट प्रकार के अनुष्ठान नहीं हैं जो इस दिन किए जा रहे हैं। लोग इस त्योहार को भगवान शिव और देवी पार्वती के प्रति अत्यंत समर्पण और विश्वास के साथ मनाते हैं। ऐसी विशेष मान्यता है कि इस दिन संतान की कामना करने वाली महिलाएं इस दिन विशेष पूजा करती हैं और भगवान शिव उनकी मनोकामना पूरी करते हैं। मंदिरों में ही नहीं, यज्ञ और प्रार्थना भी कई लोगों द्वारा अपने निवास स्थान पर भी की जाती है। यह त्योहार भगवान शिव की परम भक्ति का प्रतीक है क्योंकि उन्हें सुख और समृद्धि का अग्रदूत माना जाता है।

See also  नेशनल डॉक्टर्स डे 2023 पर निबंध | National Doctors Day Essay in Hindi

Also read: विश्व तंबाकू निषेध दिवस पर निबंध 2023

महेश जयंती के अनुष्ठान | Mahesh Navmi 2023

इस शुभ दिन पर, भगवान शिव और देवी पार्वती को दूध और पवित्र जल से स्नान कराया जाता है, अधिमानतः गंगाजल (गंगाजल) की कुछ बूंदों से।शिवलिंग पर बिल्व पत्र (बाले-पत्र) और फूल चढ़ाए जाते हैं।भगवान शिव की पूजा करते समय, ढोल बजाए जाते हैं, जैसे एक भगवान अपने त्रिशूल को धारण करते हैं। कुछ भक्तों का यह भी मानना है कि यदि कमल का फूल अर्पित किया जाता है, तो देवी पार्वती पूजा करने वाले को उसकी इच्छा की सभी सामग्री प्रदान करती हैं।महेश नवमी के अनुष्ठान कुछ इस प्रकार हैं-

  • भक्त सुबह जल्दी उठकर तैयार हो जाते हैं और मंदिरों को फूलों से सजाना शुरू कर देते हैं।ऐसा माना जाता है कि अगर इस दिन नवविवाहित जोड़ा साथ में अगर शिव पार्वती की पूजा करते है तो भगवान बहुत खुश होते है और उनका जीवन खुशियों से भर देते हैं।
  • रात भर भक्तों द्वारा विशेष भगवान शिव मंत्रों का जाप किया जाता है। इसके अलावा, विशेष झांकी जिसमें भगवान शिव के चित्र भक्तों के घरों में ले जाए जाते हैं। इस दौरान मंत्रोच्चारण किया जाता है।
  • भक्तों के आवास पर यज्ञ भी किए जाते हैं। इस दिन रुद्राभिषेक भी किया जाता है, यह महेश नवमी का महत्वपूर्ण अनुष्ठान है।
  • मंदिरों में भजन संध्या का आयोजन किया जाता है, आरती की जाती है और फिर पूजा की रस्म पूरी होने के बाद भक्तों को प्रसाद वितरित किया जाता है।

महेश नवमी की हार्दिक शुभकामनाएं | Mahesh navmi Quotes

बसे बड़ा तेरा दरबार है, तू ही सब का पालनहार है
सजा दे या माफी महादेव, तू ही हमारी सरकार है….हर हर महादेव
महेश नवमी के पावन पर्व पर हार्दिक शुभकामनाएं

महेश नवमी की हार्दिक बधाई ! माहेश्वरी वंशोत्पत्ति दिवस “महेश नवमी” के पावन पर्व पर आपको एवं आपके परिवारजनों को हार्दिक शुभकामनाएं ! आपका जीवन मंगलमय हो!

कर्ता करे न कर सकै,शिव करै सो होय। तीन लोक नौ खंड में,महादेव से बड़ा न कोय…

काल का भी उस पर क्या आघात हो …. जिस बंदे पर महादेव का हाथ हो..!!

मेरे महादेव तुम्हारे बिना मैं शून्य हूँ,
तुम साथ हो महाकाल तो में अनंत हूँ,
जय श्री त्रिकालनाथ महाकाल….

महेश नवमी के पर हार्दिक शुभकामनाएं

कैसे कह दूँ कि मेरी, हर दुआ बेअसर हो गई…. मैं जब जब भी रोया, मेरे महादेव को खबर हो गई ।।

Also Read: राष्ट्रीय भाई दिवस 2023

See also  टीचर्स डे स्टेट्स 2023 | शिक्षक दिवस पर व्हाट्सएप स्टेटस | Teachers Day Status in Hindi

Mahesh Navami Quotes in Hindi | महेश नवमी कोट्स

महेश जिनका नाम है, कैलाश जिनका धाम है,

ऐसे भोलेनाथ को, हमारा प्रणाम है,

आपको और आपके परिवार को महेश नवमी की हार्दिक शुभकामनाये।

महेश नवमी की शुभकामनाएं

कृपा जिनकी मेरे ऊपर, तेवर भी उन्हीं का वरदान है,

शान से जीना सिखाया जिसने, भोलेनाथ उनका नाम है..!!महेश नवमी की शुभकामनाएं

शिव की बनी रहे आप पर छाया पलट दे जो आपकी किस्मत की काया मिले आपको वो सब इस अपनी ज़िन्दगी में जो कभी किसी ने भी ना पाया
महेश नवमी की शुभकामनाएं

ना जीने की खुशी, ना मौत का गम, जब तक हैं दम,

भोलेनाथ के भक्त रहेंगे हम..!!

महेश नवमी की शुभकामनाएं

महेश नवमी” के पावन पर्व पर आपको एवं आपके परिवारजनों को हार्दिक शुभकामनाएं ! आपका जीवन मंगलमय हो, भगवान महेशजी एवं माँ आदिशक्ति आपको उत्तम स्वास्थ्य, दीर्घ आयु तथा सुख-समृद्धि प्रदान करें…! महेश नवमी की शुभकामनाएं

Mahesh Navmi Hardik Shubhkamnaye | महेश नवमी की हार्दिक शुभकामनाएं

भोले तूने तो सारी दुनिया तारी हैं, कभी मेरे सर पे भी धर के हाथ,

कह दे चल बेटा आज तेरी बारी हैं..!!

महेश नवमी की शुभकामनाएं

विश्व का कण कण शिव मय हो अब हर शक्ति का अवतार उठे जल थल और अम्बर से फिर बम बम भोले की जय जयकार उठे

महेश नवमी की शुभकामनाएं

मेरे महादेव तुम्हारे बिना मैं शून्य हूँ, तुम साथ हो महाकाल तो में अनंत हूँ,

जय श्री त्रिकालनाथ महाकाल….महेश नवमी की शुभकामनाएं

दुश्मन बनकर मुझसे जीतने चला था नादान,

मेरे भोलेनाथ से मोहब्बत कर लेता तो मै खुद हार जाता..!!महेश नवमी की शुभकामनाएं

अदभुत भोले तेरी माया

अमरनाथ में डेरा जमाया

नीलकंठ में तेरा साया

तू ही मेरे दिल में समाया
महेश नवमी की शुभकामनाएं

महेश जयंती के शुभकामना संदेश | Mahesh Navami Message

शिव की बनी रहे आप पर छाया

पलट दे जो आपकी किस्मत की काया

मिले आपको वो सब इस अपनी ज़िन्दगी में

जो कभी किसी ने भी ना पाया
महेश नवमी की शुभकामनाएं

नाच रहे ड़मरू की ताल पर शिवशंम्भु,

त्रिशुलधारी गंगाधर बाबा महाकाल सर्वेशु..!!
महेश नवमी की शुभकामनाएं

जिनके रोम रोम में शिव हैं वही विष पिया करते हैं जमाना उन्हे क्या जलाएगा जो श्रृंगार ही अंगार से किया करते हैं जय भोलेनाथ शिव शम्भू
महेश नवमी की शुभकामनाएं

मस्तक सोहे चन्द्रमा, गंग जटा के बीच,

श्रद्धा से शिवलिंग को, निर्मल जल मन से सीच..!!महेश नवमी की शुभकामनाएं

मुझमें कोई छल नहीं, तेरा कोई कल नहीं

मौत के ही गर्भ में, ज़िंदगी के पास हूँ

अंधकार का आकार हूँ, प्रकाश का मैं प्रकार हूँ

मैं शिव हूँ। मैं शिव हूँ। मैं शिव हूँ
महेश नवमी की शुभकामनाएं

FAQ’s: Mahesh Navmi Quotes

Q.महेश नवमी कब मनाई जाती है ?

Ans. महेश नवमी ज्येष्ठ माह के शुक्ल पक्ष की नवमी के दिन मनाई जाती है।

See also  Why is Six6s App a Favorite in India?

Q. साल 2023 में महेश नवमी कब मनाई जाएगी ?

Ans. साल 2023 में 29 मई के दिन महेश नवमी पूरे भारत  में जोरो शोरो से मनाई जाएगी

Q. महेश नवमी के दिन किसकी पूजा कि जाती है ?

Ans.महेश नवमी के दिन भगवान भोले नाथ की पूजा कि जाती है।

Q. महेश के साथ साथ महादेव के और कौन कौन से नाम है?

Ans. महेश के साथ साथ महादेव को भोलेनाथ, शिव, शंभू,शंकर, उमापति, कैलाशपति, अविनाश, शिवम, शुभम आन्य नाम से भी जाना जाता हैं।

Q. महेश नवमी के दिन कौन सा समुदाय अस्तित्व में आया था?

Ans.महेश नवमी के दिन महेश्वरी समाज अस्तित्व में आया था।

Q. महेश नवमी कौन से समुदाय कि खास पूजा है?

Ans.महेश नवमी महेश्वीर समुदाय के लिए खास पूजा हैं।

इस ब्लॉग पोस्ट पर आपका कीमती समय देने के लिए धन्यवाद। इसी प्रकार के बेहतरीन सूचनाप्रद एवं ज्ञानवर्धक लेख easyhindi.in पर पढ़ते रहने के लिए इस वेबसाइट को बुकमार्क कर सकते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Optimized with PageSpeed Ninja