विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस | World Food Safety Day 2023 | World Food Safety Day Quotes, Poster Massages

World Food Safety Day 2023

World Food Safety Day 2023: विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस: खाद्य सुरक्षा, मानव स्वास्थ्य, आर्थिक समृद्धि, कृषि, बाजार पहुंच, पर्यटन और सतत विकास में योगदान देने वाले खाद्य जनित जोखिमों को रोकने, पता लगाने और प्रबंधित करने में मदद करने के लिए 7 जून को मनाया जाता है।यह जानना महत्वपूर्ण है कि कौन से खाद्य पदार्थ सुरक्षित हैं और हमारे स्वास्थ्य को नुकसान नहीं पहुंचाते हैं। एक प्रसिद्ध कहावत है कि “स्वास्थ्य ही धन है।”  सुरक्षित भोजन करना अच्छे स्वास्थ्य की सबसे महत्वपूर्ण गारंटी में से एक है। असुरक्षित खाद्य पदार्थ विभिन्न बीमारियों का कारण हैं और खराब वृद्धि और विकास, सूक्ष्म पोषक तत्वों की कमी, संचारी या गैर-संचारी रोगों और मानसिक बीमारी सहित अन्य खराब स्वास्थ्य स्थितियों में योगदान करते हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार, दुनिया भर में सालाना दस में से एक व्यक्ति खाद्य जनित बीमारियों से प्रभावित होता है। लोगों को खाद्य सुरक्षा के प्रति जागरूक करने के लिए इस दिन को मनाने का फैसला लिया गया। इस लेख में हम आपको इस दिन से जुड़ी कई जानकारियों पेश करने दजा रहे है जैसे कि  विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस 2023,वर्ल्ड फूड सेफ्टी डे का इतिहास,विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस 2023 का उद्देश्य,विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस महत्व,विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस 2023 थीम | World Food Safety Day Theme 2023.World Food Safety Day 2023: खाद्य सुरक्षा अधिनियम,World Food Safety Day Poster in Hindi, world food safety day quotes in Hindi हैं। इस लेख को पूरा पढ़े और इस दिन के बारे में सब कुछ जाने।

विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस 2023 | World Food Safety Day Wishes

टॉपिकविश्व खाद्य सुरक्षा दिवस 2023
लेख प्रकारआर्टिकल
साल2023
विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस 7 जून
वारबुधवार
अवर्तीहर साल
कहां मनाया जाता हैदुनिया में
शुरुआत2019
थीम 2023“Food standards save lives”

Also Read: विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस पर निबंध

वर्ल्ड फूड सेफ्टी डे का इतिहास | World Food Safety Day History

2018 में संयुक्त राष्ट्र महासभा ने खाद्य-जनित संक्रमणों के वैश्विक बोझ को पहचानते हुए वार्षिक 7 जून को विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस घोषित किया, जो सभी उम्र के लोगों को प्रभावित करता है, विशेष रूप से पांच वर्ष से कम उम्र के बच्चों और निम्न में रहने वाले लोगों को। साल 2020 में विश्व स्वास्थ्य सभा ने खाद्य जनित बीमारी के बोझ को कम करने के लिए खाद्य सुरक्षा पहलों को बढ़ावा देने के उद्देश्य से एक प्रस्ताव को मंजूरी दी थी।खाद्य सुरक्षा के लिए सरकारों, उत्पादकों और उपभोक्ताओं सभी की जिम्मेदारियां हैं। खेत से लेकर टेबल तक, हम जो खाना खाते हैं वह सुरक्षित और पौष्टिक है, यह सुनिश्चित करने में हर किसी को अपनी भूमिका निभानी होती है। WHO सार्वजनिक एजेंडे में खाद्य सुरक्षा को मुख्यधारा में लाना चाहता है और विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस के माध्यम से खाद्य जनित बीमारी के वैश्विक बोझ को कम करना चाहता है? खाद्य सुरक्षा को लेकर सभी चिंतित हैं।

खाद्य सुरक्षा एक महत्वपूर्ण सार्वजनिक स्वास्थ्य चिंता है और इष्टतम स्वास्थ्य और दीर्घकालिक विकास के लिए एक शर्त है। हर साल यह अनुमान लगाया जाता है कि WHO यूरोपीय क्षेत्र में 23 मिलियन से अधिक लोग दूषित भोजन के परिणामस्वरूप अस्वस्थ हो जाते हैं, जिसमें 4600 से अधिक लोग मर जाते हैं।सभी के लिए सुरक्षित और स्वस्थ भोजन की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए, यह अभियान जागरूकता बढ़ाता है और खाद्य सुरक्षा समस्याओं से बचने, पता लगाने और प्रबंधन में मदद करने के लिए कार्रवाई को प्रोत्साहित करता है। इस वर्ष का विषय लोगों, पर्यावरण और अर्थव्यवस्था के लिए सुरक्षित खाद्य उत्पादन और खपत के तत्काल और दीर्घकालिक लाभों पर जोर देना है।

See also  Ganesh Chaturthi 2023 | गणेश चतुर्थी पर खास योग जानें इस साल गणेश स्थापना व पूजा मुहूर्त

विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस के माध्यम से खाद्य सुरक्षा जागरूकता को बढ़ावा देने और खाद्य जनित बीमारी के बोझ को कम करने के लिए वास्तविक कार्रवाई करने के लिए खाद्य श्रृंखला में सभी अभिनेताओं को शामिल करके खाद्य सुरक्षा को मुख्यधारा में लाने के अपने प्रयासों को जारी रखता है।जीवन को बनाए रखने और उत्कृष्ट स्वास्थ्य को बढ़ावा देने के लिए पर्याप्त सुरक्षित और पौष्टिक भोजन करना महत्वपूर्ण है। खाद्य-जनित रोग स्वास्थ्य देखभाल प्रणालियों पर दबाव डालकर और देश की अर्थव्यवस्थाओं, पर्यटन और व्यापार पर नकारात्मक प्रभाव डालकर सामाजिक आर्थिक विकास को बाधित करते हैं।

खाद्य सुरक्षा मानव स्वास्थ्य के लिए एक बढ़ती हुई चिंता बनती जा रही है, हर साल खाद्य जनित बीमारी के अनुमानित 600 मिलियन मामलों के साथ – दुनिया में हर दस में से एक व्यक्ति दूषित भोजन खाने के बाद अस्वस्थ हो जाता है। खाद्य जनित बीमारी पांच साल से कम उम्र के 40% बच्चों को प्रभावित करती है, जिसके परिणामस्वरूप हर साल 125 000 मौतें होती हैं।बहुत से लोग, विशेषकर महिलाएं और बच्चे, दूषित या निम्न-गुणवत्ता वाले भोजन के परिणामस्वरूप पीड़ित होते हैं। नतीजतन, आम जनता को न केवल उत्कृष्ट भोजन खाने की आवश्यकता के बारे में शिक्षित करना महत्वपूर्ण है, बल्कि इसकी पहचान करना और सुरक्षित खाद्य मानकों का पालन करना भी महत्वपूर्ण है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार, जीवन को बनाए रखने और अच्छे स्वास्थ्य को बढ़ावा देने के लिए पर्याप्त मात्रा में सुरक्षित और पौष्टिक भोजन तक पहुंच महत्वपूर्ण है। वेबसाइट के अनुसार, “खाद्य-जनित संक्रमण स्वास्थ्य देखभाल प्रणालियों पर कर लगाकर और देश की अर्थव्यवस्थाओं, पर्यटन और व्यापार को नुकसान पहुँचाकर सामाजिक आर्थिक प्रगति को बाधित करते हैं।”

हर साल खाद्य जनित बीमारी के अनुमानित 600 मिलियन मामलों के साथ – दुनिया में हर दस में से लगभग एक व्यक्ति दूषित भोजन खाने के बाद अस्वस्थ हो जाता है – यह मानव स्वास्थ्य के लिए एक बढ़ता खतरा है। इसमें कहा गया है, “पांच साल से कम उम्र के बच्चे खाद्य जनित बीमारी के बोझ का 40 प्रतिशत हिस्सा लेते हैं, जिसमें प्रति वर्ष 125 000 मौतें होती हैं।”

Also Read: विश्व तंबाकू निषेध दिवस 2023

विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस 2023 का उद्देश्य | World Food Safety Day

मनुष्य जीवन जीने के लिए कुछ मूलभूत आवश्यकताओं पर निर्भर करता है। भोजन, वस्त्र और आवास एक सभ्य जीवन स्तर के लिए न्यूनतम आवश्यकताएं हैं। पूरे इतिहास में भोजन ने सामाजिक परिवर्तन, विस्तार और विकास के लिए एक उत्प्रेरक के रूप में कार्य किया है। लेकिन अब खाद्य सुरक्षा एक महत्वपूर्ण मुद्दा बन गया है। भोजन कैसे बनाया जाता है, संभाला जाता है, संग्रहीत किया जाता है और खपत की जाती है, इसकी सुरक्षा पर प्रभाव पड़ता है। खाद्य सुरक्षा के अभाव में उपभोक्ता का स्वास्थ्य प्रभावित होता है। इसलिए, खाद्य सुरक्षा के महत्व को चिह्नित करने के लिए हर साल विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस मनाया जाता है।

विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस महत्व | World Food Safety Day 2023

संयुक्त राष्ट्र के अनुसार, हर साल खाद्य जनित बीमारियों के लगभग 600 मिलियन मामले सामने आते हैं, जो असुरक्षित भोजन को मानव स्वास्थ्य के लिए सबसे गंभीर खतरों में से एक बनाता है। अस्वास्थ्यकर भोजन से उत्पन्न होने वाली बीमारियाँ सबसे कमजोर लोगों और समाज के हाशिए पर पड़े वर्गों, विशेषकर बच्चों, महिलाओं और संघर्षों के शिकार लोगों को प्रभावित करती हैं।ये बीमारियाँ दूषित भोजन और पानी में मौजूद परजीवी, वायरस और बैक्टीरिया के कारण होती हैं जो अक्सर सामान्य आँखों से दिखाई नहीं देते हैं। खाद्य सुरक्षा यह सुनिश्चित करने के लिए महत्वपूर्ण हो जाती है कि खाद्य श्रृंखला के प्रत्येक चरण में भोजन सुरक्षित और स्वच्छ रहे। कटाई और प्रसंस्करण से लेकर भंडारण और वितरण तक, भोजन उपभोक्ता तक पहुंचने से पहले सुरक्षित रहना चाहिए।

See also  Diwali Poem in Hindi | इस दीपावली पर इन सुंदर कविताओं के साथ मनाएं रोशनी का पर्व

Also Read: राजस्थान फव्वारा संयंत्र सब्सिडी योजना

विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस 2023 थीम | World Food Safety Day Theme 2023

विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस 2023 की थीम ‘खाद्य मानक जीवन बचाओ’ है। विषय खाद्य सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए सामूहिक प्रयास की आवश्यकता पर जोर देता है और खाद्य सुरक्षा मानकों को स्थापित करने और लागू करने, खाद्य आपूर्ति श्रृंखला की निगरानी करने और खाद्य जनित बीमारी के प्रकोप की जांच करने के लिए जिम्मेदार महत्वपूर्ण भूमिका पर प्रकाश डालता है।

World Food Safety Day 2023: खाद्य सुरक्षा अधिनियम

सरकार ने संसद द्वारा पारित, राष्‍ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम,2013 दिनांक 10 सितम्‍बर,2013 को अधिसूचित किया है,जिसका उद्देश्‍य एक गरिमापूर्ण जीवन जीने के लिए लोगों को वहनीय मूल्‍यों पर अच्‍छी गुणवत्‍ता के खाद्यान्‍न की पर्याप्‍त मात्रा उपलब्‍ध कराते हुए उन्‍हें मानव जीवन-चक्र दृष्‍टिकोण में खाद्य और पौषणिक सुरक्षा प्रदान करना है। इस अधिनियम में,लक्षित सार्वजनिक वितरण प्रणाली (टीपीडीएस) के अंतर्गत राजसहायता प्राप्‍त खाद्यान्‍न प्राप्‍त करने के लिए 75%ग्रामीण आबादी और 50%शहरी आबादी के कवरेज का प्रावधान है,इस प्रकार लगभग दो-तिहाई आबादी कवर की जाएगी। पात्र व्‍यक्‍ति चावल/ गेहूं/मोटे अनाज क्रमश: 3/ 2/1 रूपए प्रति किलोग्राम के राजसहायता प्राप्‍त मूल्‍यों पर 5 किलोग्राम खाद्यान्‍न प्रति व्‍यक्‍ति प्रति माह प्राप्‍त करने का हकदार है। मौजूदा अंत्‍योदय अन्‍न योजना परिवार,जिनमें निर्धनतम व्‍यक्‍ति शामिल हैं,35 किलोग्राम खाद्यान्‍न प्रति परिवार प्रति माह प्राप्‍त करते रहेंगे।इस अधिनियम में महिलाओं और बच्‍चों के लिए पौषणिक सहायता पर भी विशेष ध्‍यान दिया गया है। गर्भवती महिलाएं और स्‍तनपान कराने वाली माताएं गर्भावस्‍था के दौरान तथा बच्‍चे के जन्‍म के 6 माह बाद भोजन के अलावा कम से कम 6000 रूपए का मातृत्‍व लाभ प्राप्‍त करने की भी हकदार हैं। 14 वर्ष तक की आयु के बच्‍चे भी निर्धारित पोषण मानकों के अनुसार भोजन प्राप्‍त करने के हकदार हैं। हकदारी के खाद्यान्‍नों अथवा भोजन की आपूर्ति नहीं किए जाने की स्‍थिति में लाभार्थी खाद्य सुरक्षा भत्‍ता प्राप्‍त करेंगे। इस अधिनियम में जिला और राज्‍य स्‍तरों पर शिकायत निपटान तंत्र के गठन का भी प्रावधान है। पारदर्शिता और जवाबदेही सुनिश्‍चित करने के लिए भी इस अधिनियम में अलग से प्रावधान किए गए हैं।

Also Read: World Environment Day Slogan, Poster Message, Quotes

अधिनियम के कार्यान्वयन की वर्तमान स्थिति | World Food Safety Day 2023

अब यह अधिनियम सभी राज्यों/संघ राज्य क्षेत्रों में क्रियान्‍वित किया जा रहा है और 81.34 करोड़ व्‍यक्‍तियों के लक्षित कवरेज में से 80.72 करोड़ व्‍यक्‍ति कवर किए जा रहे हैं। चंडीगढ़, पुडुचेरी में और दादरा व नगर हवेली में अधिनियम नकद अंतरण विधि में क्रियान्‍वित किया जा रहा है, जिसके अधीन खाद्य राजसहायता सीधे लाभार्थियों के बैंक खाते में जमा की जाती है। इसके बाद उनके पास खुले बाजार से खाद्यान्‍न खरीदने का विकल्‍प होता है।

राज्‍य खाद्य आयोगों के लिए गैर-भवन परिसम्‍पत्‍तियों के लिए राज्यों/संघ राज्य क्षेत्रों को सहायता

राष्‍ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम, 2013 (एनएफएसए) में यह प्रावधान है कि प्रत्‍येक राज्‍य सरकार इस अधिनियम के कार्यान्‍वयन की निगरानी एवं समीक्षा के प्रयोजनार्थ अधिसूचना द्वारा एक राज्‍य खाद्य आयोग का गठन करेगी। यह निर्णय लिया गया है कि किसी राज्‍य द्वारा एक विशेष राज्‍य खाद्य आयोग का गठन करने का निर्णय लिए जाने के मामले में,केन्‍द्र सरकार राज्‍य खाद्य आयोग के लिए गैर-भवन परिसम्‍पत्‍तियों हेतु एकबारगी वित्‍तीय सहायता प्रदान करेगी। तदनुसार,इस विभाग की अम्ब्रेला स्‍कीम”सार्वजनिक वितरण प्रणाली का सुदृढ़ीकरण”के अंतर्गत एक घटक अर्थात”राज्‍य खाद्य आयोगों के लिए गैर-भवन परिसम्‍पत्‍तियों हेतु राज्यों/संघ राज्य क्षेत्रों को सहायता”शामिल किया गया है। इस घटक के अंतर्गत गैर-भवन परिसम्‍पत्‍तियों जैसे फर्नीचर,आफिस उपकरण,कंप्‍यूटरों आदि के लिए सहायता उपलब्‍ध है। इनमें कम्‍प्‍यूटर,एयर कंडीनशर,फोटोकापी मशीनें,फैक्‍स मशीनें, टेलीफोन,ईपीएबीएक्‍स सिस्‍टम,टेबल,कुर्सियां,स्‍टोरेज यूनिट आदि को शामिल किया जा सकता है। इस स्‍कीम के अंतर्गत किसी भी निर्माण कार्य अथवा किसी आवर्ती व्‍यय के लिए सहायता प्रदान नहीं की जाती है।

See also  महाशिवरात्रि त्यौहार 2023 | Mahashivratri Festival | जानिए  शिव रात्रि का महत्व, पूजा, व्रत विधि एवं शुभ मुहूर्त | शिव मन्त्र एवं शिव चालीसा पढ़ें

World Food Safety Day Poster in Hindi | विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस 2023

जिस प्रकार पूरी दुनिया में जलवायु परिवर्तन हो रहा है
उसी प्रकार खाद्य एवं कृषि में भी परिवर्तन होना चाहिए |

खाद्य सुरक्षा नियमों का पालन करें, स्वच्छता और सफाई का ध्यान रखें।

विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस!

आज से शपथ लें स्वस्थ खाएंगे, स्वस्थ रहेंगे।

विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस!

स्वच्छ खाना, आपकी सेहत का खज़ाना है।

विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस!

अच्छे खाने की शुरुआत अच्छे उत्पादन और साफ – सफाई के साथ करें।

विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस!

आपका भोजन जितना होगा सादा,

आपके शरीर में रोग होगा उससे भी आधा

जन जन को नींद से जगाएंगे, विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस मनाएंगे।

विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस!

पैकट की चीजों को खाना करें बंद,

यह शरीर में बीमारियों को बढ़ाता है मंद-मंद.

हमारे भोजन की सुरक्षा हमेशा भोजन के स्वाद से पहले आती है

World Food Safety Day Quotes in Hindi |

सभी लोग जानते है, बच्चे राष्ट्र के विकास की नींव होते है,

उनके लिए संतुलित आहार को सुनिश्चित करना जरूरी है.

अच्छे खाने की शुरुआत अच्छे उत्पादन और साफ – सफाई के साथ करें।

विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस!

कृषि को उन्नत तरीके से करके दिखायें,

जन-जन के जीवन में खाद्य सुरक्षा को बढायें.

शॉर्टकट न अपनाएं, साफ जल से भोजन पकाएं।

विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस 2023

घर का बना संतुलित भोजन जो करता है,

उसका शरीर स्वस्थ्य और मन प्रसन्न रहता है.

अगर आप अपने परिवार और दोस्तों से प्यार करते हैं तो हमेशा इस बात के प्रति सचेत रहें कि आप खाद्य जनित बीमारियों से बचने के लिए उन्हें क्या परोस रहे हैं। विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस की शुभकामनाएं

इस धरती पर कोई जीव भूख से न मरने पाएं,

“विश्व खाद्य दिवस” पर इतनी जागरूकता फैलाएं

FAQ’s: World Food Safety Day 2023

Q. विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस 2022 की थीम क्या है?

Ans: विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस 2022 की थीम ‘सुरक्षित भोजन, बेहतर स्वास्थ्य’ है।

Q. विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस कब मनाया जाता है ?

Ans. विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस हर साल 7 जून को मनाया जाता है।

Q. विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस मनाने के पीछे का उद्देश्य क्या है?

Ans. विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस मनाने के पीछे का उद्देश्य लोगों को खाद्य सुरक्षा के प्रति जागरुक करना है।

Q. पहली बार विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस कब मनाया गया?

Ans:  संयुक्त राष्ट्र द्वारा 7 जून को विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस घोषित किए जाने के बाद पहली बार 7 जून 2019 को विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस मनाया गया।

इस ब्लॉग पोस्ट पर आपका कीमती समय देने के लिए धन्यवाद। इसी प्रकार के बेहतरीन सूचनाप्रद एवं ज्ञानवर्धक लेख easyhindi.in पर पढ़ते रहने के लिए इस वेबसाइट को बुकमार्क कर सकते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Optimized with PageSpeed Ninja