भारत की (ISRO महिला वैज्ञानिक) रितु करिधल श्रीवास्तव का जीवन परिचय | Ritu Karidhal Biography in Hindi (वेतन, परिवार, उम्र, कुल संपत्ति, शिक्षा)

By | November 3, 2023
Follow Us: Google News

Indian Scientists Ritu Karidhal Biography in Hindi: जैसा कि आप सभी लोगों को मालूम है कि चंद्रयान-3 मिशन सफल रहा है :- भारत ने चंद्रयान-3 मिशन में एस सोमनाथ की अध्यक्षता में इसरो ने विभिन्न अंतरिक्ष अभियानों का सफलतापूर्वक नेतृत्व किया है। हम आपको बता दे की भारत दुनिया का पहला ऐसा देश है जिसने चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर पहुंचने का रिकॉर्ड अपने नाम पर दर्ज किया है क्योंकि इस जगह पर दुनिया का कोई भी देश अभी तक पहुंच नहीं पाया है हालांकि हम आपको बता दे कि चंद्रमा पर रूस अमेरिका और चीन भी जा चुके हैं लेकिन इस जगह पर उनके द्वारा कोई भी मिशन अभी तक भेजा नहीं किया है और ना ही ऐसा करने में सफल हो पाए हैं लेकिन भारत ने इस जगह पर चंद्रयान-3 की सॉफ्ट लैंडिंग करवा कर करवा कर अपना नाम इतिहास में दर्ज करवा लिया है | 

हम आपको बता दें कि चंद्रयान-3 मिशन को सफल करने में इसरो में काम करने वाली कई महिला वैज्ञानिकों की भूमिका अहम रही है उनके ही प्रयास से चंद्रयान-3 मिशन सफलतापूर्वक पूरा हो पाया है हम आपको बता दें कि इस मिशन को सफल करने में इसरो की महिला वैज्ञानिक जैसे :- रितु करिधल श्रीवास्तव, नंदिनी हरिनाथ, अनुराधा टी.के, मौमिता दत्ता आदि प्रमुख महिला वैज्ञानिको की भूमिका अहम है जिन्होंने दिन-रात इस मिशन में अपना योगदान दिया है | रितु करिधल श्रीवास्तव (Ritu Karidhal) के भूमिका काफी अहम रही थी ऐसे में लोगों के मन में उनके जीवन के बारे में जानने की आवश्यकता तेजी के साथ बढ़ रही है कि इसरो वैज्ञानिक रितु करिधल श्रीवास्तव कौन है प्रारंभिक जीवन शिक्षा करियर कुल संपत्ति सैलरी मिलने वाले पुरस्कार सम्मान इत्यादि के बारे में अगर आप कुछ भी नहीं जानते हैं तो आज के आर्टिकल में हम आपको Ritu Karidhal Biography in Hindi के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी हम आपको उपलब्ध करवाएंगे अतः आपसे निवेदन रहेगा कि आप आर्टिकल पर बने रहे हैं चलिए जानते हैं-

इसरो वैज्ञानिक रितु करिधल श्रीवास्तव | Ritu Karidhal Biography in Hindi- Overview

जन्म तारीख ( Birth Date)13 April  1975
उम्र/आयु (Age)48 साल
जन्मस्थल (Birthplace)लखनऊ उत्तर प्रदेश
राशि – चक्र चिन्हमेष राशि
राष्ट्रीयता nationalityभारतीय
गृहनगर(Hometown)लखनऊ उत्तर प्रदेश
शिक्षा (schooling)शिक्षा (स्कूली शिक्षा) • सेंट अंजनी पब्लिक शिक्षा (स्कूली शिक्षा), लकथेस डेज़• नवयुग कन्या विद्यालय,
कॉलेज (College)/Universitysमहिला विद्यालय पीजी कॉलेज लखनऊलखनऊ विश्वविद्यालय• Indian Institute of Science, Bangalore
शैक्षिक योग्यता (Educational Qualification)• B.Sc from the Mahila Vidyalaya PG कॉलेज लखनऊ• M.Sc in Physics लखनऊ विश्वविद्यालय• M.Tech in Aerospace Engineering from the Indian Institute of Science, Bangalore
धर्म (Religions)भारतीय
Casteकायस्थ
एड्रेस/पताराजाजीपुरम, लखनऊ
शौक (Hobbys)किताबें पढ़ना

रितु करिधल श्रीवास्तव का प्रारंभिक जीवन | Ritu Karidhal Early Life

Ritu Karidhal Early Life

रितु करिधल का जन्म 13 अप्रैल 1974 को  उत्तर प्रदेश के लखनऊ में हुआ था उनका पालन पोषण मिडिल क्लास परिवार में हुआ था हम आपको बता दें कि उनका बचपन से ही पढ़ाई में काफी तेज थी लेकिन उनके घर में दो भाई और दो बहन थी जिसके कारण घर में आर्थिक स्थिति बहुत ज्यादा खराब थी और उन्हें अपनी पढ़ाई पूरी करने में कई प्रकार के दिक्कत और परेशानी का सामना करना पड़ा था हम आपको बता दे कि उनके पास इतने पैसे नहीं थे कि वह कोचिंग में भी पढ़ कर सके फिर भी उन्होंने हार नहीं मानी और लगातार प्रयास परिश्रम करते रही हम आपको बता दे की बचपन से ही उनका रुझान अंतरिक्ष विज्ञान में बहुत ज्यादा था बचपन में एक बार वह साइंस मेले में गई थी जहां पर उन्होंने चांद तारे और ब्रह्मांड के बारे में व्यापक जानकारी हासिल की और उनके मन में और भी ज्यादा उन चीजों के बारे में जानने की आवश्यकता तेजी के साथ बड़ी और उन्होंने बचपन में ही तय कर लिया था कि वह बड़ा होकर अंतरिक्ष वैज्ञानिक बना है |

See also  PM Narendra Modi Biography in Hindi | पीएम नरेंद्र मोदी का जीवन परिचय , शिक्षा, परिवार, राजनितिक, उपलब्धियाँ, विदेश यात्राएं, निर्णय, योजनाएं, कुल सम्पति

रितु करिधल श्रीवास्तव का शिक्षा | Ritu Karidhal Education

उन्होंने अपने प्रारंभिक स्कूलों की शिक्षा लखनऊ में स्थित प्राथमिक विद्यालय से पूरी की इसके बाद  लखनऊ के महिला विद्यापीठ पीजी कॉलेज में दाखिला लिया। इसके बाद  लखनऊ विश्वविद्यालय से भौतिकी में मास्टर ऑफ साइंस की डिग्री पूरी की। भौतिक शास्त्र में मास्टर डिग्री हासिल करने के बाद उन्होंने अपना कैरियर अंतरिक्ष विज्ञान में बनाने के लिए इस समय आवेदन किया और वहां पर उन्हें सेलेक्ट कर लिया गया इस प्रकार 1997 में  इसरो में सम्मिलित हो गए |

भारतीय भौतिकशास्त्री रितु करिधल श्रीवास्तव  का परिवार | Ritu Karidhal Family

Ritu Karidhal Family
पिता का नामस्वर्गीय श्री आर.एल. करिधल
माता का नामस्वर्गीय श्रीमती। उषा करिधल
पति का नामअविनाश श्रीवास्तव
बच्चों का नामअनीशा और आदित्य

Also Read: कल्पना चावला का जीवन परिचय

इसरो वैज्ञानिक रितु करिधल श्रीवास्तव का करियर | ISRO Scientist Ritu Karidhal Career

  • वैज्ञानिक इसरो के अंतरिक्ष यान प्रणाली प्रभाग में 1997 में सम्मिलित हुई |
  • चंद्रयान-1 मिशन के अंतरिक्ष यान प्रणालियों के विकास करने का काम 2003 में उन्हें दिया गया था
  • मार्स ऑपरेटर मिशन मंगलयान के लिए उन्हें उपसंचालन निदेशक का पदभार दिया गया
  • 2013 मंगलयान सफलतापूर्वक मिशन को पूरा करने में उनकी भूमिका अहम रही थी
  • 2014 चंद्रयान-2 के मिशन में इन्हें निर्देशक का पद दिया गया था
  • 2019 में चंद्रमा की कक्षा में चंद्रयान-2 को सफलतापूर्वक प्रवेश करवाने में उनकी भूमिका अहम रही थी लेकिन लैंडर कभी भी सतह पर सॉफ्ट लैंडिंग नहीं कर पाया
  • 2023: चंद्रयान-3 के प्रोजेक्ट डायरेक्टर उन्हें नियुक्त किया गया था  उन्होंने अपने भूमिका निर्वाह  अच्छी तरह से किया था | 
See also  जादूगर ओपी शर्मा की जीवनी | OP Sharma Biography in Hindi

हम आपको बता दें की करिधल  एक महान महिला वैज्ञानिक के और उन्होंने दुनिया के उन सभी महिलाओं को प्रेरित किया है जो अपना करियर अंतरिक्ष के क्षेत्र में बनना चाहती हैं |

Also Read: Chandrayaan-3 LIVE Updates

रितु करिधल श्रीवास्तव  की कुल संपत्ति और सैलरी | (Chandrayaan-3) ISRO Scientist Ritu Karidhal Salary

रितु करिधल श्रीवास्तव कल सैलरी और संपत्ति के बारे में बात करें तो इंटरनेट पर इसके बारे में कोई जानकारी अभी तक उपलब्ध नहीं है हालांकि हम आपको बता दे कि जो लोग इसरो में वरिष्ठ साइंटिस्ट के पद पर काम करते हैं उन्हें सरकार के द्वारा ₹70000 से लेकर ₹80000 की सैलरी दी जाती है और जो लोग किसी विशेष मिशन में प्रोजेक्ट डायरेक्टर के पद पर नियुक्त होते हैं उन्हें सरकार 2.5 Lack  रुपए वेतन के तौर पर देती है |

इसरो (ISRO) के प्रमुख वैज्ञानिको (ISRO Scientist) की लिस्ट

चंद्रयान-3 Mission की सफलता के पीछे ISRO के इन वैज्ञानिकों का रहा योगदान, जानें मून मिशन (Moon Mission) में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले वैज्ञानिको की लिस्ट कुछ इस प्रकार है-

SR. No.इसरो के प्रमुख वैज्ञानिको (IRO Scientist) के नाम
1ISRO Chairman S. Somanath (डॉक्टर एस सोमनाथ)
2डॉ. रितु करिधल श्रीवास्तव
3नंदिनी हरिनाथ (Nandini Harinath)
4अनुराधा टी.के (Anuradha T.K)
5मीनल रोहित (Meenal Rohit)
6मौमिता दत्ता (Moumita Dutta)
7टेस्सी थॉमस (Tessy Thomas)
8वीआर ललितांबिका (VR Lalitambika)
9मुथय्या वनिता (Muthayya Vanita)

रितु करिधल श्रीवास्तव पुरस्कार और सम्मान | Ritu Karidhal Awards & Achievements

रितु करिधल श्रीवास्तव  को मिलने वाले  पुरस्कार और सम्मान की सूची का विवरण हम आपको नीचे दे रहे हैं आईए जानते हैं-

YearAwards & Achievements
2007डॉ एपीजे अब्दुल कलाम द्वारा युवा वैज्ञानिक पुरस्कार दिया गया था |
2015मार्स ऑर्बिटर मिशन के लिए इसरो टीम पुरस्कार
2015एएसआई टीम पुरस्कार |
2017सोसाइटी ऑफ इंडियन एयरोस्पेस टेक्नोलॉजीज एंड इंडस्ट्रीज (SIATI) द्वारा “वूमन अचीवर्स इन एयरोस्पेस” पुरस्कार।
2017बैंक ऑफ बड़ौदा द्वारा “बिरला सन अचीवमेंट” पुरस्कार

रितु करिधल श्रीवास्तव के बारे में रोचक जानकारी | Interesting Facts about Indian Ritu Karidhal Summary

  • छात्र के रूप में बचपन में उन्हें गणित में काफी रुचि थी यही वजह है कि वह गणित पर कविताएं लिख करती
  • 2019 हैदराबाद में TEDx कार्यक्रम के लिए आमंत्रित किया गया था। जहां पर उन्होंने मंगलयान मिशन के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी लोगों के सामने प्रस्तुत किया था
  • TEDx कार्यक्रम में शाहरुख खान को भी आमंत्रित किया गया था जिसमें शाहरुख खान ने कहा कि रितु करिधल से मुलाकात और मिलना सम्मान की बात है
  • इनका मानना है कि महिलाओं को अंतरिक्ष विज्ञान में अपना कैरियर जरूर बनना चाहिए और अधिक से अधिक महिलाएं भौतिक में नोबेल पुरस्कार जीते इसके लिए भी महिलाओं को लगातार विज्ञान के क्षेत्र में नए-नए अन्वेषण और अनुसंधान करने चाहिए हैं
  • रितु करिधल जब किशोरी थी तो अखबारों में नशा और इसरो के विकास पर बराबर नजर रखती थी सबसे बड़ी बात है कि उन्होंने अपने घर में सभी प्रमुख अंतरिक्ष मिशन की अखबारों में जो खबरें छपती थी उसकी कटिंग उन्होंने घर में सजा के रखा हैै
  • रितु ने 1997 में अपनी एम.एससी  पूरा करने के बाद उन्होंने भौतिक में पीएचडी की पढ़ाई शुरू किया पढ़ाई करते 6 महीने हुए थे कि उन्होंने जब उन्होंने ग्रेजुएट एप्टीट्यूड टेस्ट इन इंजीनियरिंग (गेट) में सफलता हासिल की।
  • इसके बाद उन्होंने P.H.D की पढ़ाई छोड़ दी और इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस में शामिल होने के लिए बैंगलोर चली गईं |
  • मंगल मिशन लॉन्च होने के 10 महीने पहले वह इस मिशन में दिन-रात काम करती थी घर आने के बाद वह अपने बच्चों का होमवर्क करवाती थी फिर घर के काम को पूरा कर कर फिर से अपने काम में लग जाती थी |
See also  ज्योति मौर्य का जीवन परिचय | SDM Jyoti Maurya Biography in Hindi | ज्योति मौर्य एसडीएम की कहानी | जन्म और शिक्षा, पति, विवाह, उम्र जाने लेटेस्ट न्यूज़

FAQ’s: Ritu Karidhal Biography in Hindi

Q. रॉकेट वुमन ऑफ इंडिया के नाम से किसे जाना जाता है?

Ans ऋतु करिधाल श्रीवास्तव  रॉकेट वूमेन ऑफ इंडिया के नाम से जाना जाता है |

Q  इसरो का मतलब क्या है?

 इसरो का मतलब होता है इंडियन स्पेस रिसर्च आर्गेनाइजेशन होता है |

Q.रितु करिधाल का उपनाम क्या है?

भारत की रॉकेट महिला

Q. रितु करिधाल के पति का क्या नाम है?

 उनके पति का नाम अविनाश श्रीवास्तव जो इसरो में साइंटिस्ट के पद पर काम करते हैं |

Q. रितु करिधाल क्यों प्रसिद्ध हैं ?

Ans 5 नवंबर , 2013 को लॉन्च किए गए भारतीय मंगल मिशन उपसंचालक के रूप में इन्होंने मिशन को सफलतापूर्वक पूरा किया था इसके अलावा चंद्रयान-3 मिशन में इन्हें मिशन प्रोजेक्ट डायरेक्टर के पद पर नियुक्त किया था |

Q. रितु करिधल की आयु कितनी है?

Ans. रितु करिधल उत्तर प्रदेश लखनऊ की रहने वाली इसरो वैज्ञानिक रितु करिथल की उम्र लगभग 48 वर्ष है।

इस ब्लॉग पोस्ट पर आपका कीमती समय देने के लिए धन्यवाद। इसी प्रकार के बेहतरीन सूचनाप्रद एवं ज्ञानवर्धक लेख easyhindi.in पर पढ़ते रहने के लिए इस वेबसाइट को बुकमार्क कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *