Income Tax Day 2023 | आयकर दिवस, जानें इतिहास, महत्व व थीम (Date, History, importance And Theme)

Income Tax Day 2023 Date, History, importance And Theme

आयकर दिवस 2023 | Aaykar Diwas 2023: भारत में आयकर दिवस 24 जुलाई को मनाया जाता है जैसा की आप लोगों को मालूम है अगर आप नौकरी या बिजनेस कर रहे हैं तो आपको गवर्नमेंट को टैक्स देना पड़ता है और टैक्स देने का काम भारत के आयकर विभाग के द्वारा होता है इसके अलावा आप पैन कार्ड जारी करने का काम भी आयकर विभाग के पास होता है | भारत में आयकर दिवस मनाने के पीछे का प्रमुख कारण देश में लोगों को आयकर रिटर्न भरने के लिए प्रोत्साहित करना है इसके अलावा और भी कई कारण है जिससे भारत में आयकर दिवस मनाया जाता है इसलिए आज  के आर्टिकल में Income Tax Day 2023 से जुड़ी पूरी जानकारी साझा करेंगे इसलिए हमारे साथ आर्टिकल पर बने रहे हैं आइए जानते हैं-

आयकर दिवस क्यों मनाया जाता है? Income Tax Day Kyu Manaya Jata Hai

Income Tax Day Kyu Manaya Jata Hai : आयकर दिवस क्यों मनाया जाता है तो हम आपको बता दें कि 1857 में जब स्वतंत्रता संग्राम हुआ था  तब अंग्रेजों को भारी भरकम नुकसान हुआ था जिसके बाद अंग्रेजों ने उस नुकसान की भरपाई करने के लिए 24 जुलाई 1860 आयकर बिल पेश किया गया था  हालांकि पहली बार आयकर दिवस भारत में 2010 में मनाया गया था |

ये भी पढ़े : आयकर दिवस पर स्लोगन, नारे, पोस्टर, संदेश

आयकर दिवस का इतिहास | Income Tax Day History

ब्रिटिश सरकार के द्वारा 24 जुलाई 1807 में आयकर बिल प्रस्तुत किया गया था जिसके बाद ही आयकर दिवस मनाने का फैसला किया गया हालांकि भारत में पहली बार 2010 में इसे मनाया गया था और जिस दिन इसे मनाने की घोषणा की गई उस दिन देश के तत्कालीन राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी द्वारा विशेष प्रकार के डाक टिकट और सिक्के जारी किए गए थे|  आयकर दिवस के अवसर पर आयकर अधिकारियों को सम्मानित किया गया इसके अलावा आयकर विभाग के द्वारा विशेष प्रकार के प्रतीक चिन्ह भी इसी दिन जारी किए गए थे |

आयकर दिवस का उद्देश्य | Aaykar Diwas 2023

Aaykar Diwas 2023 in Hindi: आयकर दिवस का प्रमुख उद्देश्य देशभर में जनता को Tax के प्रति जागरूक करना है जैसा की आप लोगों को मालूम आम जनता जो भी टैक्स सरकार को देती है उस के माध्यम से देश के लोग हितकारी योजनाओं का काम सरकार के माध्यम से होता है इसके अलावा सरकार आम जनता के लिए कई प्रकार की योजना लेकर आती है ताकि उन्हें वित्तीय सहायता मिल सके इसलिए अगर आप सरकार को आयकर नहीं देंगे तो देश के विकास को कर पाना सरकार के लिए संभव नहीं हो पाएगा | ऐसे में प्रत्येक भारतीय का कर्तव्य है कि वह सरकार को टैक्स दें ताकि देश के विकास में भी उसकी भागीदारी सुनिश्चित की जा सके |

See also  क्रिसमस डे की कहानी हिंदी में | Christmas Day Story in Hindi

भारत में आयकर दिवस कैसे मनाया जाता हैं?

Aaykar Diwas kaise Manaya Jata Hai: भारत में आयकर दिवस के दिन कई प्रकार के कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं जिसमें भारत के वित्त मंत्री और आयकर विभाग में काम करने वाले कर्मचारियों के द्वारा लोगों को जागरुक करने का काम किया जाता है  इसके अलावा भारत के टैक्स प्रणाली को पारदर्शी और शहद और कैसे बनाया जाए इसके बारे में भी सुझाव आयकर अधिकारियों के द्वारा दिए जाते हैं |

Also Read: कारगिल विजय दिवस, जानें इतिहास, महत्व व थीम

Income Tax Day 2023 | आयकर दिवस महत्व

Income Tax Day importance: आयकर दिवस कई कारणों से बहुत ज्यादा महत्व रखता है क्योंकि इसके द्वारा सरकार को टैक्स मिलती है और जब टैक्स मिलेगी तो उस के माध्यम से देश का विकास तेज गति से किया जाएगा क्योंकि देश के विकास के लिए अधिक पैसे की आवश्यकता है और सरकार के इनकम का स्रोत टैक्स है इसलिए आयकर दिवस के माध्यम से जनता को टैक्स के प्रति जागरूक करना है ताकि अधिक संख्या में लोग अपना आयकर रिटर्न भरे जिससे सरकार को अधिक पैसे मिलेंगे | राष्ट्र की प्रगति और उन्नति को बढ़ावा बढ़ावा देने के लिए आयकर दिवस 24 जुलाई को भारत में मनाया जाता है |

आयकर दिवस 2023 थीम | Income Tax Day 2023 theme

Income Tax Day theme: आयकर दिवस जब भी मनाया जाता है तो उसका एक विशेष टीम होता है ऐसे में 2023 में भी आयकर दिवस का एक विशेष थीम निर्धारित किया गया है जिसके अनुसार आयकर दिवस मनाया जाएगा | अभी तक 2023 का थीम जारी नहीं किया गया है जैसे ही जारी होगा हम आपको अपडेट करेंगे |

See also  Guru Ravidass Jayanti 2024 | गुरु रविदास जयंती कब है? संत रविदास जी की कहानी व अनमोल वचन

आयकर दिवस के बारे में रोचक तथ्य

● आयकर दिवस पहली बार भारत में 2010 में मनाया गया था

●   24 जुलाई 1807 में आयकर ब्रिटिश सरकार के द्वारा लाया गया था तभी आयकर दिवस मनाने की घोषणा की गई थी

●  आयकर दिवस के दिन भारत की राजधानी दिल्ली में विशेष कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं

●  आयकर दिवस के माध्यम से जनता को जागरूक किया जाता है |

●  स्वतंत्र भारत के पहले वित्त मंत्री आर. के. शनमुखम चेट्टी थे

भारत में जनसंख्या वृद्धि के कारण :

मृत्यु दर में गिरावट

भारत में जनसंख्या वृद्धि का प्रमुख कारण मृत्यु दर में गिरावट है एक रिपोर्ट के मुताबिक भारत में  जन्म लेने वाले व्यक्ति के मुकाबले मरने वाले व्यक्ति की संख्या कम है जिसके कारण भारत का जनसंख्या तेजी के साथ बढ़ रहा है |

बेहतर चिकित्सा सुविधाएं

भारत में चिकित्सा सेवा पहले के मुकाबले काफी अच्छे लेवल के हो गए हैं जिसके कारण व्यक्ति को अगर कोई भी बीमारी होती है तो उसका उपचार अच्छी तरह से होता है और उसकी जान बच जा रही है यही वजह है कि भारत में जनसंख्या तेजी के साथ बढ़ रहा है

महिला शिक्षा का अभाव

भारत में जनसंख्या वृद्धि के पीछे महिला शिक्षा का अभाव है क्योंकि भारत में आज भी ऐसी कई महिलाएं हैं जिनके पास शिक्षा के साधन उपलब्ध नहीं है और कई को तो शिक्षा प्राप्ति नहीं हो रही है जिसके कारण उन्हें इस बात की समझ नहीं है क्यों नहीं कितने बच्चे पैदा करने चाहिए ताकि उनका और उनके घर की आर्थिक स्थिति गड़बड़ ना हो इसलिए महिला शिक्षा के अभाव में भी भारत की जनसंख्या बढ़ रही है

महिला एवं पुरुष में अंतर

आज भी लोगों की सोच दकियानूसी है लोगों का मानना है कि अगर इनके घर में बेटा का जन्म होता है तभी जाकर उनके खानदान का विस्तार हो पाएगा जिसके कारण वह बेटे की लालसा में अधिक बच्चे पैदा करते हैं क्योंकि ऐसे कई परिवार हैं जिनके घर में लगातार लड़कियां पैदा होती है ऐसे में उन्हें बेटे की चाह रखती है

See also  गणतंत्र दिवस पर भाषण हिंदी में | 26 January Speech in Hindi 2024 (टीचर्स के लिए भाषण)

बाल विवाह

भारत दुनिया का सबसे अधिक जनसंख्या वाला देश है और भारत के कई ऐसे गांव हैं जहां पर आज भी बाल विवाह की प्रथा आसानी से संचालित हो रही है ऐसे में बाल विवाह भारत की जनसंख्या बढ़ाने में अपना अहम किरदार निभा रहे हैं ऐसे में जब तक बाल विवाह को पूरी तरह से उन्मूलन नहीं किया जाएगा तब तक जनसंख्या वृद्धि को रोक पाना संभव नहीं

सरकारी योजना के कारण

जैसा की आप लोगों को मालूम है कि आज के समय में सभी राज्य सरकार जनता से वोट लेने की लालसा में ऐसे कई योजनाओं का संचालन कर रहे हैं जिसके कारण भी देश की जनसंख्या बढ़ रही है आप लोगों को मालूम होगा कि कई राज्यों में नवजात शिशु को जन्म देने वाली महिलाओं को ₹6000 राशि देने का प्रावधान है इस की लालच में अधिक संख्या में बच्चे पैदा कर रही हैं |

Also Read: राजस्थान में कितने जिले हैं | जिला, तहसील, गांव, जनसंख्या की जानकारी

FAQ’s: Income Tax Day 2023

Q.भारत में आयकर दिवस कब मनाया जाता है?

Ans. हर साल 24 जुलाई आयकर दिवस मनाया जाता है |

Q. भारत में आयकर रिटर्न (आईटीआर) दाखिल करने की अंतिम तिथि क्या है?

Ans. भारत में आयकर रिटर्न करने की आखिरी तारीख 31 जुलाई 2023 निर्धारित की गई है इसलिए आप अपना आयकर रिटर्न धारी तारीख के पहले ही जमा कर दे नहीं तो आपको भरकम जमाना का सामना करना पड़ेगा |

Q. भारत में आयकर का नियमन कौन करता है?

Ans. केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) के माध्यम से आयकर वसूला जाता है |

इस ब्लॉग पोस्ट पर आपका कीमती समय देने के लिए धन्यवाद। इसी प्रकार के बेहतरीन सूचनाप्रद एवं ज्ञानवर्धक लेख easyhindi.in पर पढ़ते रहने के लिए इस वेबसाइट को बुकमार्क कर सकते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Optimized with PageSpeed Ninja