World Braille Day 2024 | लुई ब्रेल दिवस कब और क्यों मनाया जाता है? जाने (इतिहास, महत्व, थीम)

World Braille Day 2024

World Braille Day 2024 : लुई ब्रेल के जन्म के उपलक्ष्य में प्रत्येक वर्ष 4 जनवरी को विश्व ब्रेल दिवस मनाया जाता है। लुई ब्रेल दुनिया भर में नेत्रहीन लोगों द्वारा उपयोग की जाने वाली पढ़ने और लिखने की ब्रेल प्रणाली के जनक थे। दृष्टिबाधित व्यक्तियों की शिक्षा और जीवन में शामिल करने के एक उपकरण के रूप में ब्रेल के महत्व के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए यूनेस्को ने 4 जनवरी को विश्व ब्रेल दिवस के रूप में घोषित किया है।विश्व ब्रेल दिवस पर, लोग लुई ब्रेल का सम्मान करते हैं और सभी के लिए संचार के सुलभ साधनों के बारे में जागरूकता बढ़ाते हैं।

ऐसे में हम में से कई लोग यह जानने के लिए इच्छुक होंगे कि विश्व ब्रेल दिवस क्या है, कब है, क्यों मनाया जाता है, ब्रेल लिपि क्या है, इस दिन की इतिहास, महत्व एवं थीम क्या है? तो हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से ब्रेल दिवस संबंधित जानकारी विस्तार पूर्वक प्रदान कर रहे हैं इसलिए आप लोग इस आर्टिकल को अंत तक पढ़े।

विश्व ब्रेल दिवस क्या है? (What is World Braille Day) 

Vishava Braille Day Kya Hai? दृष्टि बाधित लोगों के पढ़ाई लिखाई के लिए एक अलग प्रणाली होती है, जिसे हम लोग ब्रेल लिपि के नाम से जानते हैं। ब्रेल कोई भाषा नहीं होती है बल्कि लिखने कि एक प्रणाली होती है। ब्रेल में लिखी हुई किसी प्रकार की बात को बिना किसी के सहायता के दृष्टिहीन लोग पढ़ सकते हैं एवं समझ सकते हैं। दृष्टिहीन व्यक्ति बाएं से दाएं और के डॉट्स को स्पर्श करते हुए ब्रेल में लिखे हुए हैं किसी प्रकार कि जानकारी को एवं किताब को पढ़ सकते हैं‌। आज से कुछ वर्ष पहले तक हम लोगों ने यह सोच भी नहीं था कि ऐसी कोई प्रणाली आएगी जिसके द्वारा दृष्टिहीन व्यक्ति पढ़ सकेंगे और लिख सकेंगे। जबकि सच्चाई यह है कि ब्रेल लिपि को 9 साल तक स्वीकार नहीं किया गया था। लेकिन जब इस प्रणाली को स्वीकार किया गया तो इसके जनक लुई ब्रेल के सम्मान में उनके जन्मदिन के तारीख 4 जनवरी को प्रत्येक वर्ष विश्व वायरल दिवस के रूप में मनाने का निर्णय लिया गया था।

यह भी पढ़ें:- विश्व हिंदी दिवस

ब्रेल लिपि क्या है? (Braille Lipi Kya Hai)

ब्रेल एक प्रकार की कोड भाषा होती है, जिसका इस्तेमाल नेत्रहीन लोग पढ़ाने के लिए करते हैं। इस लिपि में नेत्रहीन लोग स्पर्श करके अपनी पढ़ाई को पूर्ण करते हैं। इस लिपि में कागज पर उभरते हुए बिंदुओं को स्पर्श दृष्टिहीन लोगों को शिक्षा दी जाती है। इस लिपि में पढ़ने के अलावा किताब को लिखने का कार्य भी कर सकते हैं। जिस प्रकार से टाइपराइटर के द्वारा किताबें लिखी जाती है, ठीक इसी प्रकार ब्रेल लिपि में रचना के लिए ब्रेलराइटर का उपयोग किया जाता है।

See also  Constitution Day of India 2023 | जाने भारत का संविधान दिवस के बारे में, इसका महत्व, इतिहास, थीम

विश्व ब्रेल दिवस कब है? (When is World Braille Day 2024)

संयुक्त राष्ट्र महासभा के द्वारा 6 नवंबर 2018 को एक प्रस्ताव पारित हुआ था, जिसमें प्रत्येक वर्ष 4 जनवरी को ब्रेल लिपि के आविष्कारक लुई ब्रेल के जन्मदिन को विश्व ब्रेल दिवस के रूप में मनाने का निर्णय लिया गया। इसलिए प्रत्येक वर्ष 4 जनवरी को विश्व ब्रेल दिवस मनाया जाता है। सन 2024 में भी 4 जनवरी को पूरे विश्व में विश्व ब्रेल दिवस मनाया जाएगा।

विश्व ब्रेल दिवस क्यों मनाया जाता है? Why World Braille Day is Celebrated

विश्व ब्रेल दिवस लुई ब्रेल के योगदान का जश्न मनाने और नेत्रहीन या दृष्टिबाधित लोगों के लिए साक्षरता और शिक्षा के महत्व के बारे में जागरूकता बढ़ाने का समय है। यह सहायक प्रौद्योगिकी में हुई कई प्रगति को पहचानने का भी समय है, जिसने दृष्टिबाधित लोगों के लिए जानकारी प्राप्त करना और दूसरों के साथ संवाद करना आसान बना दिया है। इन प्रगतियों में ब्रेल डिस्प्ले, स्क्रीन रीडर और अन्य सॉफ़्टवेयर का विकास शामिल है जो लोगों को ब्रेल या भाषण का उपयोग करके कंप्यूटर और इंटरनेट तक पहुंचने की अनुमति देता है।

यह भी पढ़ें:- हिंदी दिवस पर शायरी हिंदी में

विश्व ब्रेल दिवस का इतिहास (World Braille Day History)

संयुक्त राष्ट्र महासभा के द्वारा 6 नवंबर 2018 को एक प्रस्ताव पारित हुआ था, जिसमें प्रत्येक वर्ष 4 जनवरी को ब्रेल लिपि के आविष्कारक लुई ब्रेल के जन्मदिन के तारीख  4 जनवरी को प्रत्येक वर्ष पूरे विश्व में World Braille Day मनाने का निर्णय लिया गया था। इसे पहली बार 4 जनवरी 2019 को विश्व ब्रेल दिवस मनाया गया था। संयुक्त राष्ट्र के स्वास्थ्य संगठन (Health Organisation) के एक रिपोर्ट अनुसार पूरे विश्व में लगभग 39 मिलियन लोग नेत्रहीन है। जबकि लगभग 253 मिलियन आंखों के समस्या से जुड़े हुए हैं। ऐसे ही लोगों के लिए ब्रेल लिपि कॉफी सहायता प्रदान करेगी।

See also  Income Tax Day 2023 | आयकर दिवस, जानें इतिहास, महत्व व थीम (Date, History, importance And Theme)

विश्व ब्रेल दिवस का महत्व (World Braille Day Significance)

ब्रेल लिपि नेत्रहीन लोगों के लिए काफी वरदान साबित हुई है और साथ ही साथ उनके जीवन के अंधकार रूप को उज्जवल रूप प्रदान किया है। इसलिए आप नेत्रहीन लोग साधारण दृष्टि वाले लोगों की तरह पढ़ भी सकते हैं और पढ़ा भी सकते हैं। विश्व ब्रेल दिवस मनाने का मुख्य उद्देश्य नेत्रहीन लोगों के बारे में जागरूकता फैलाना एवं यह जानकारी प्रदान करना कि अब नेत्रहीन लोग भी सामान्य लोगों के तरह  समान अधिकारों का हकदार है। और साथ ही साथ सामान्य लोगों को दृष्टिहीन लोगों के प्रति दयालु होने का याद भी दिलाया जाता है।

विश्व ब्रेल दिवस की थीम 2024 (World Braille Day Theme 2024)

विश्व ब्रेल दिवस का थीम अभी तक प्रकाशित नहीं की गई है। जैसे ही विश्व ब्रेल दिवस की थीम प्रकाशित होता है तो इसे विश्व बल दिवस थीम 2024 पृष्ठ पर अपडेट कर दिया जाएगा।

Also Read: हिंदी दिवस पर प्रसिद्ध कविताएं

World Braille Day Quotes (विश्व ब्रेल दिवस पर कोट्स)

ब्रेल एक भाषा नहीं बल्कि एक कोड है जिसका कई भाषाओं में अनुवाद किया जा सकता है।” -लुई ब्रेल

व्यापक अर्थों में संचार तक पहुंच ज्ञान तक पहुंच है, और यह हमारे लिए बेहद महत्वपूर्ण है अगर हमें कृपालु दृष्टि वाले लोगों द्वारा तिरस्कृत या संरक्षण प्राप्त नहीं करना है।” – लुई ब्रेल

ब्रेल हजारों नेत्रहीनों के लिए स्वतंत्र होने का द्वार खोलता है।” – लुई ब्रेल

अपनी दृष्टि के लिए ईश्वर को धन्यवाद देने का अंधेरे में किसी की मदद करने से बेहतर कोई तरीका नहीं है।” – हेलेन केलर

अंधे होने से भी बदतर एक ही चीज़ है कि दृष्टि तो है लेकिन दृष्टि नहीं है।” – हेलेन केलर

दया एक ऐसी भाषा है जिसे बहरे सुन सकते हैं और अंधे देख सकते हैं।” – मार्क ट्वेन

प्रत्येक नेत्रहीन व्यक्ति में अपने सपनों को पूरा करने और अपनी आकांक्षाओं को पूरा करने की क्षमता होनी चाहिए, लुई ब्रेल ने कई लोगों को उनके सपने हासिल करने में मदद की है।

ब्रेल का आविष्कार फ्रांसीसी किशोर लुई ब्रेल ने अपनी और मानव जाति की मदद के लिए किया था। क्या उपलब्धि है।

लुई ब्रेल ने 1829 में पहली बीबीब्रेल पुस्तक प्रकाशित की और उन्होंने नेत्रहीन लोगों की शिक्षा में परिवर्तन ला दिया।

ब्रेल कोड ने उन सभी को समान पहुंच प्रदान की है जिनके पास हासिल करने के लिए कई सपने हैं और जो हासिल करने का सपना देखते हैं।

निष्कर्ष: World Braille Day 2024

उम्मीद करता हूं कि हमारे द्वारा लिखा गया आर्टिकल World Braille Day : कब और क्यों मनाया जाता है ब्रेल दिवस, जाने इतिहास,थीम,महत्व के बारे में संबंधित जानकारी विस्तार पूर्वक प्रदान की गई है जो आप लोगों को काफी पसंद आया होगा ऐसे में आप हमारे आर्टिकल संबंधित कोई प्रश्न एवं सुझाव है तो आप लोग हमारे कमेंट बॉक्स में आकर अपने प्रश्न को पूछ सकते हैं हम आपके प्रश्नों का जवाब जरूर देंगे।

See also  Hanuman Jayanti Wishes in Hindi | हनुमान जन्मोत्सव की हार्दिक शुभकामनाएं, बधाई सन्देश

FAQ’s: World Braille Day 2024

Q.विश्व ब्रेल दिवस कब मनाया जाता है?

Ans.विश्व ब्रेल दिवस प्रत्येक वर्ष 4 जनवरी को मनाया जाता है।

Q. विश्व ब्रेल दिवस पहली बार कब मनाया गया था?

Ans.विश्व ब्रेल दिवस पहली बार 4 जनवरी 2019 को मनाया गया था।

Q. विश्व ब्रेल दिवस मनाने का प्रस्ताव कब पारित हुआ था।

Ans. विश्व ब्रेल दिवस मनाने का प्रस्ताव 6 नवंबर 2018 को संयुक्त राष्ट्र महासभा के द्वारा पारित हुआ था।

Q. ब्रेल लिपि का आविष्कारक कौन थे?

Ans.ब्रेल लिपि का आविष्कारक लुई ब्रेल थे।

Q. विश्व ब्रेल दिवस प्रत्येक वर्ष 4 जनवरी को क्यों मनाया जाता है?

Ans.विश्व ब्रेल दिवस ब्रेल लिपि के जनक लुई ब्रेल के जन्मदिन के उपलक्ष्य में प्रत्येक वर्ष 4 जनवरी को विश्व ब्रेल दिवस के रूप में मनाया जाता है।

Q. विश्व ब्रेल दिवस थीम 2024 क्या है?

Ans.विश्व ब्रेल दिवस थीम 2024 अभी तक प्रकाशित नहीं की गई है जैसे ही प्रकाशित होती है अपडेट कर दिया जाएगा।

इस ब्लॉग पोस्ट पर आपका कीमती समय देने के लिए धन्यवाद। इसी प्रकार के बेहतरीन सूचनाप्रद एवं ज्ञानवर्धक लेख easyhindi.in पर पढ़ते रहने के लिए इस वेबसाइट को बुकमार्क कर सकते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Optimized with PageSpeed Ninja