World Hepatitis Day 2023 | विश्व हेपेटाइटिस दिवस, जानें इतिहास, महत्व व थीम (History, Importance, Theme)

World Hepatitis Day 2023

विश्व हेपेटाइटिस दिवस 2023: ( World Hepatitis Day 2023) पूरी दुनिया में 26 जुलाई को विश्व हेपेटाइटिस दिवस मनाया जाता है इस दिन में लोगों को इस गंभीर बीमारी के प्रति जागरूक किया जाता है जैसा कि आप लोग को मालूम है कि है लीवर संबंधित गंभीर बीमारी है जिसके कारण प्रत्येक वर्ष विश्व में कई हजार लोगों की मृत्यु होती है | इसलिए पूरी दुनिया में विश्व हेपेटाइटिस दिवस मना कर लोगों को इस गंभीर बीमारी से कैसे बचना है उसके बारे में उन्हें जानकारी उपलब्ध करवाई जाती है | हम आपको बता दें कि विश्व हेपेटाइटिस दिवस  वैज्ञानिक डॉ बारूक ब्लमबर्ग के जन्मदिन  के उपलब्ध में मनाया जाता है इसलिए आज के आर्टिकल में हम आपको World Hepatitis Day 2023 के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी उपलब्ध करवाएंगे इसलिए आप हमारे साथ आर्टिकल पर बनी रहे आइए जानते हैं-

विश्व हेपेटाइटिस दिवस क्यों मनाया जाता है? Vishv Hepatitis Divas Kyu Manaya Jata Hai

विश्व हेपेटाइटिस दिवस 26 जुलाई को पूरी दुनिया में मनाया जाता है इस दिन दुनिया के बड़े-बड़े डॉक्टर इस गंभीर बीमारी के प्रति लोगों को जागरूक करने का काम करते हैं ताकि इससे बचा जा सके और हम आपको बता दें कि 26 जुलाई को ही वैज्ञानिक डॉ बारूक ब्लमबर्ग जन्म हुआ था जिन्होंने हेपेटाइटिस बी वायरस (एचबीवी) की खोज की। इसके अलावा उन्होंने हेप-बी वायरस के इलाज के लिए एक डायगोनस्टिक टेस्ट और वैक्सीन बनाया था ताकि इस बीमारी से बचा जा सके उनके जन्मदिन के उपलक्ष में विश्व हेपेटाइटिस दिवस मनाया जाता है |

विश्व हेपेटाइटिस दिवस का इतिहास | World Hepatitis Day History

विश्व हेपेटाइटिस दिवस के इतिहास के बारे में अगर हम बात करें तो इसे पहली बार 26 जुलाई 2008 को मनाया गया था इस दिवस को मशहूर विज्ञानिक डॉ बारूक ब्लमबर्ग जन्मदिन के उपलक्ष में मनाया जाता है क्योंकि उनका जन्म किस दिन हुआ था और उनके जन्मदिन को विश्व हेपेटाइटिस दिवस मनाने के पीछे का कारण है कि उन्होंने इस बीमारी से संबंधित दवाई और लैबोरेट्री विकसित की थी |  जिसके कारण इस बीमारी का इलाज संभव हो पाया था |  इसलिए उनके इस योगदान को दुनिया में World Hepatitis Day के रूप में मनाया जाता है |

See also  World Diabetes day 2023 : इस साल विश्व मधुमेह दिवस कब मनाया जाएगा? जानें इसका इतिहास, महत्व, थीम के बारे में

विश्व हेपेटाइटिस दिवस का उद्देश्य | World Hepatitis Day Aim

विश्व हेपेटाइटिस दिवस मनाने का प्रमुख उद्देश्य लोगों को इस गंभीर बीमारी के प्रति जागृत करना है जैसा कि आप लोग जानते हैं कि यह बीमारी लीवर संबंधित बीमारी है और इस बीमारी का इलाज समय पर ना किया जाए तो व्यक्ति की मृत्यु निश्चित है और प्रत्येक वर्ष हजारों की संख्या में लोग इस बीमारी से मर रहे हैं इस दिवस को मनाने से लोगों के अंदर जागृति आएगी और इस बीमारी से कैसे बचना है उसके बारे में भी जानकारी दी जाएगी |  World Hepatitis Day विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक पूरी दुनिया में 36 करोड लोग इस बीमारी से पीड़ित हैं और भारत की बात करें तो 4 करोड लोग हेपेटाइटिस बीमारी के रोगी है |

ये भी पढ़े : Sawan Somwar Wishes 2023 | Quotes | Message | Shayari | Status, Whatsapp Status Images

भारत में विश्व हेपेटाइटिस दिवस कैसे मनाया जाता हैं? World Hepatitis Day

भारत में विश्व हेपेटाइटिस दिवस 26 जुलाई को मनाया जाता है इस दिन भारत के जितने भी स्वस्थ संगठन है वहां पर किस से संबंधित कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं जहां पर इस बीमारी से जुड़े हुए बड़े डॉक्टर और विशेषज्ञ अपनी राय लोगों के सामने रखते हैं और लोगों को इस बात की जानकारी देते हैं कि इस बीमारी से बचना है तो किस प्रकार के दैनिक दिनचर्या का पालन करना चाहिए इसके अलावा अगर आप को इस बीमारी के लक्षण दिखाई पड़ रहे हैं तो उसकी जांच आप तुरंत करवाएं उसके बारे में भी डॉक्टर आपको एडवाइज करेंगे |

World Hepatitis Day 2023 | विश्व हेपेटाइटिस दिवस महत्व

विश्व हेपेटाइटिस दिवस के माध्यम से आप इस बीमारी के खतरों के बारे में लोगों को जागरूक कर सकते हैं ताकि इस बीमारी से  बचा जा सके  वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन (WHO) के मुताबिक विश्व हेपेटाइटिस दिवस  के उपलब्ध में कई नए सुझाव और योजनाएं बनाई जाती हैं जिससे लोगों को याद दिला जाता है कि इस गंभीर बीमारी से लड़ने के लिए अभी भी हमें बहुत कुछ करने की जरूरत है और जब तक इसका उन्मूलन ना हो जाए तब तक इसके लिए हमें काम करते रहना है

See also  UNICEF Day 2022 | यूनिसेफ दिवस कब, क्यों, कैसे मनाया जाता है।

सभी को याद दिलाया जाता हैं कि इस महामारी से लड़ने के लिए अभी भी बहुत कुछ किया जा सकता है, और हमें आपकी मदद की जरूरत है |

ये भी पढ़े : सावन सोमवार व्रत कथा 2023 | सावन सोमवार कहानी, पूजा विधि, आरती, व्रत के नियम

विश्व हेपेटाइटिस दिवस 2023 थीम | World Hepatitis Day 2023 Theme

जैसा की आप लोगों को मालूम है कि विश्व हेपेटाइटिस दिवस जब भी मनाया जाता है तो उसका एक विशेष टीम होता है इस बार 2023 में इसके Theme  निर्धारित हो गए हैं जिसके मुताबिक 2023 में थीम है ‘ हम इंतजार नहीं कर रहे

विश्व हेपेटाइटिस दिवस के बारे में रोचक तथ्य

●  वायरल हेपेटाइटिस से संक्रमित व्यक्ति को अपना चेकअप जरूर करना चाहिए

●  ऐपेटाइज से जो व्यक्ति पीड़ित है उसके लिए जीवन रक्षक उपचार का इंतजार नहीं करना चाहिए |

● जो भी महिला गर्भवती है और उसे है पढ़ाई संबंधित लक्षण दिखाई पड़े हैं तो उसे तुरंत उपचार करना चाहिए

● नवजात बच्चा जब जन्म होता है तो उसे हेपेटाइटिस के टीका दिए जाते हैं

● पेपर टाइप से जो भी व्यक्ति पीड़ित है उसके साथ भेदभाव ना करें

●  सामुदायिक संगठन अधिक निवेश के लिए इंतजार नहीं करना चाहिए |

ये भी पढ़े : नेशनल डॉक्टर्स डे 2023 पर निबंध

भारत में जनसंख्या वृद्धि के कारण:

मृत्यु दर में गिरावट

भारत में जनसंख्या वृद्धि का प्रमुख कारण मृत्यु दर में गिरावट है एक रिपोर्ट के मुताबिक भारत में  जन्म लेने वाले व्यक्ति के मुकाबले मरने वाले व्यक्ति की संख्या कम है जिसके कारण भारत का जनसंख्या तेजी के साथ बढ़ रहा है |

बेहतर चिकित्सा सुविधाएं

भारत में चिकित्सा सेवा पहले के मुकाबले काफी अच्छे लेवल के हो गए हैं जिसके कारण व्यक्ति को अगर कोई भी बीमारी होती है तो उसका उपचार अच्छी तरह से होता है और उसकी जान बच जा रही है यही वजह है कि भारत में जनसंख्या तेजी के साथ बढ़ रहा है

See also  Sushan Diwas 2022 | सुशासन दिवस कब मनाया जाता है, इतिहास व महत्व जाने

महिला शिक्षा का अभाव

भारत में जनसंख्या वृद्धि के पीछे महिला शिक्षा का अभाव है क्योंकि भारत में आज भी ऐसी कई महिलाएं हैं जिनके पास शिक्षा के साधन उपलब्ध नहीं है और कई को तो शिक्षा प्राप्ति नहीं हो रही है जिसके कारण उन्हें इस बात की समझ नहीं है क्यों नहीं कितने बच्चे पैदा करने चाहिए ताकि उनका और उनके घर की आर्थिक स्थिति गड़बड़ ना हो इसलिए महिला शिक्षा के अभाव में भी भारत की जनसंख्या बढ़ रही है

महिला एवं पुरुष में अंतर

आज भी लोगों की सोच दकियानूसी है लोगों का मानना है कि अगर इनके घर में बेटा का जन्म होता है तभी जाकर उनके खानदान का विस्तार हो पाएगा जिसके कारण वह बेटे की लालसा में अधिक बच्चे पैदा करते हैं क्योंकि ऐसे कई परिवार हैं जिनके घर में लगातार लड़कियां पैदा होती है ऐसे में उन्हें बेटे की चाह रखती है

बाल विवाह

भारत दुनिया का सबसे अधिक जनसंख्या वाला देश है और भारत के कई ऐसे गांव हैं जहां पर आज भी बाल विवाह की प्रथा आसानी से संचालित हो रही है ऐसे में बाल विवाह भारत की जनसंख्या बढ़ाने में अपना अहम किरदार निभा रहे हैं ऐसे में जब तक बाल विवाह को पूरी तरह से उन्मूलन नहीं किया जाएगा तब तक जनसंख्या वृद्धि को रोक पाना संभव नहीं

सरकारी योजना के कारण

जैसा की आप लोगों को मालूम है कि आज के समय में सभी राज्य सरकार जनता से वोट लेने की लालसा में ऐसे कई योजनाओं (जैसे :-प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना) का संचालन कर रहे हैं जिसके कारण भी देश की जनसंख्या बढ़ रही है आप लोगों को मालूम होगा कि कई राज्यों में नवजात शिशु को जन्म देने वाली महिलाओं को ₹6000 राशि देने का प्रावधान है इस की लालच में अधिक संख्या में बच्चे पैदा कर रही हैं |

इस ब्लॉग पोस्ट पर आपका कीमती समय देने के लिए धन्यवाद। इसी प्रकार के बेहतरीन सूचनाप्रद एवं ज्ञानवर्धक लेख easyhindi.in पर पढ़ते रहने के लिए इस वेबसाइट को बुकमार्क कर सकते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Optimized with PageSpeed Ninja