74th Republic Day (26 जनवरी 2023) 74 वें गणतंत्र दिवस का महत्व व तैयारियाँ

Gantantra Diwas 2023 | 74th Republic Day 2023 | 74 वें गणतंत्र दिवस का महत्व व तैयारियाँ |
By | जनवरी 24, 2023
Republic Day

74th Republic Day:- 26 जनवरी 1950 को हमारे देश का संविधान (Constitution) लागू किया गया था । तब से हर साल इस दिन गणतंत्र दिवस (Republic Day) के रूप में मनाया जाता है। भारत में हर सरकारी ऑफिसों में बड़े उत्साह के साथ गणतंत्र दिवस (Republic day) को सेलीब्रेट किया जाता है। भारत के इतिहास में Republic day का एक खास महत्व है, क्योंकि भारतीय स्वतंत्रता से जुड़ी सभी संघर्षों के बारे में गणतंत्र दिवस में बताया जाता है। Gantantra Diwas के उपलक्ष्य में स्कूलों और कॉलेजों में भाषण संबंधित सभी जानकारी प्रदान करेंगे । इस लेख के जरिए आपको गणतंत्र दिवस से जुड़ी सारी जानकारी उपलब्ध कराई जा रही है, जिससे आपके गणतंत्र दिवस के ज्ञान को लेकर वृद्धी होगी, इसके साथ ही कई बार हमें गणतंत्र दिवस के उपलक्ष्य में भाषण भी तैयार करने को बोल दिया जाता है

इस लेख की मदद से आप वह काम भी आसानी से कर पाएंगे। इस लेख में हमने गणतंत्र दिवस से जुड़ी सारी जानकारियां मुहैया कराई है जैसे कि 26 जनवरी 2023 , गणतंत्र दिवस कब है,गणतंत्र दिवस क्यों मनाया जाता है,गणतंत्र दिवस का महत्व,74 वे गणतंत्र दिवस की तैयारियाँ ,गणतंत्र दिवस कैसे मनाया जायेगा, जिसके जारिए आपको गणतंत्र दिवस के बारे में और ज्यादा अच्छे से ज्ञान आर्जित हो जाएगा।

26 January 2023 | Gantantra Diwas

Republic Day 2023Similar Content
26 जनवरी 2023Click Here
26 जनवरी 2023 के मुख्य अतिथिClick Here
गणतंत्र दिवस पर निबंध हिंदी में Click Here
गणतंत्र दिवस क्यों मनाया जाता हैClick Here
26 जनवरी पर भाषण हिंदी में Click Here
Republic Day Status In HindiClick Here
गणतंत्र दिवस पर भाषण हिंदी मेंClick Here
गणतंत्र दिवस पर कविता हिंदी मेंClick Here
गणतंत्र दिवस 2023 पर हिंदी शायरीClick Here
गणतंत्र दिवस पर देशभक्ति गीतClick Here

गणतंत्र दिवस कब है? 74th Republic Day Kab Hai

आपको बता दें कि इस साल 26 जनवरी 2023 को 74वां गणतंत्र दिवस Republic day का आयोजन किया जा रहा है। इस साल गणतंत्र दिवस गुरूवार के दिन मनाया जाएगा। 26 जनवरी 1950 को देश का संविधान लागू किया गया था, उसी के उपलक्ष्य में भारत देश के हर एक नागरिक के द्वारा गणतंत्र दिवस को बड़े ही उत्साह और उमंग के साथ मनाया जाता है। गणतंत्र का अर्थ है, जनता के द्वारा, जनता के लिए शासन 26 जनवरी 1950 को हमारे देश भारत को गणतंत्र देश के रूप में घोषित किया गया था। सभी भारतीय नागरिकों के द्वारा यह दिवस बिना भेदभाव के मनाया जाता है।

READ  Happy New Year 2023 WhatsApp Status | हैप्पी न्यू ईयर व्हाट्सएप स्टेटस

हम सभी देशवासियों को भारत का नागरिक होने का गर्व है। समाज में, हमारी अलग जाति, धर्म या कई अन्य चीजें हैं, जो हमें अलग करती हैं, लेकिन इसकी एक व्यापक तस्वीर यह है कि हम सभी भारतीय हैं। सभी भारतीयों के द्वारा एकजुट के रूप में गणतंत्र दिवस को मनाया जाता है। हमारे देश के महान स्वतंत्रता सेनानियों के द्वारा जो अपने मेहनत और संघर्ष की आहुति दी गई थी। उसके कारण ही भारत को पूर्ण स्वराज दिलाया गया। 

टॉपिक26 जनवरी 2023
लेख प्रकारआर्टिकल
साल2023
आवर्तीप्रतिवर्ष
लागू कब हुआ26 जनवरी 1950
चीफ गेस्टमिस्त्र के राष्ट्रपति
आयोजन स्थानराजपथ, दिल्ली
कौन सा गणतंत्र है74 वां
क्यों मनाते हैंसंविधान निर्माण के उपलक्ष्य में
गणतंत्र दिवस का अन्य नाम26 जनवरी

गणतंत्र दिवस क्यों मनाया जाता है?

साल 1950 में भारत का संविधान (Constitution) लागू किया गया था। स्वतंत्र गणराज्य बनने और देश में कानून का राज स्थापित करने के लिए 26 नवंबर 1949 को संविधान सभा (constituent Assembly) ने संविधान अपनाया था। 26 जनवरी 1950 को संविधान को लोकतांत्रिक सरकार प्रणाली के साथ लागू किया गया। मतलब 2 साल 11 महीने 18 दिन बाद संविधान लागू हुआ था। इसी दिव भारत को पूर्ण गणतंत्र घोषित किया गया था। जानकारी के लिए बता दें कि इसी दिन पहली बार भारत का स्वतंत्रता दिवस (Independence Day) मनाया गया था। 15 अगस्त 1947 को आजादी मिलने तक 26 जनवरी को ही स्वतंत्रता दिवस (Independence Day) मनाया जाता था । 26 जनवरी 1930 को पूर्ण स्वराज घोषित करने की तारीख को महत्व देने के लिए 26 जनवरी 1950 को संविधान लागू किया गया और गणतंत्र दिवस घोषित किया गया । 

READ  100+ Valentines Day Quotes in Hindi | वैलेंटाइन डे कोट्स हिंदी में 2023

गणतंत्र दिवस का महत्व | Importance of Gantantra Diwas

26 नवंबर 1949 को भारतीय संविधान सभा (Indian Constituent Assembly) द्वारा संविधान को अपनाने के बाद इसे 26 जनवरी, 1950 को लागू किया गया था। तारीख को इसलिए चुना गया था, क्योंकि यह पूर्ण स्वराज दिवस के साथ मेल खाता था। जब भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस (Indian National Congress) ने ब्रिटिश शासन के विरोध में पूर्ण स्वराज की घोषणा की थी। लाहौर, Lahore (अब पाकिस्तान) में कांग्रेस के ऐतिहासिक वार्षिक सत्र में घोषणा की गई थी। जवाहरलाल नेहरू (JL nehru)को अपने पिता मोतीलाल नेहरू(motilal Nehru) से पदभार संभालने के लिए कांग्रेस का अध्यक्ष नियुक्त किया गया था, जिन्होंने भारत के लिए एक नए डोमिनियन स्टेटस संविधान का समर्थन किया था। 40 वर्षीय जवाहरलाल नेहरू ने अपने पिता के प्रस्ताव को खारिज कर दिया और ब्रिटिश शासन (British rule) से पूरी तरह से अलग होने का तर्क दिया।

उन्हें बाल गंगाधर तिलक (Bal Gangadhar Tilak), सुभाष चंद्र बोस (Subhash Chandra Bose), अरबिंदो और बिपिन चंद्र पाल जैसे नेताओं का समर्थन प्राप्त था। प्रस्ताव पारित किया गया और कांग्रेस ने पूर्ण स्वराज के लिए जनवरी 1930 का अंतिम रविवार निर्धारित किया। स्वतंत्रता के बाद इस अहम तारीख को छोड़ा नहीं जा सकता था। इसलिए 26 तारीख को इस दिन मनाने के लिए चिंहित किया गया ।

74 वे गणतंत्र दिवस की तैयारियां?

दिल्ली में कर्तव्य पथ पर हर साल आयोजित होने वाले गणतंत्र दिवस परेड को देखने के लिए दिल्ली ही नहीं, बल्कि दिल्ली से बाहर के लोग भी पहुंचते हैं। ऐसे में गणतंत्र दिवस परेड (republic day parade) के लिए दिल्ली में सेना के जवानों की तैयारी चल रही हैं। सुबह जिस वक्त 20 मीटर तक भी कुछ दिखाई नहीं पड़ता उस वक्त परेड में शामिल होने वाली कई टुकडियां अपनी तैयारी में जुट जाती हैं। कोहरा, ठंड की वजह से दिल्ली का पारा भले ही नीचे है, लेकिन जवानों का जोश हमेशा हाई रहता है। अपनी-अपनी टुकड़ियों के साथ जवान सुबह-सुबह यहां पहुंच जाते हैं और उसके बाद परेड की रिहर्सल शुरू होती है। आगामी समारोह को लेकर तैयारियां जोरों-शोरों से हो रही हैं। विजय चौक पर परेड की रिहर्सल चल रही है, जहां कड़ाके की ठंड में जवानों को रिहर्सल करते हुए देखा जा सकता है। 

READ  100 + वैलेंटाइन डे शायरी हिंदी में | Valentine's Day Shayari in Hindi, Romantic Shayari 2023

74 वां गणतंत्र दिवस को कैसे मनाया जाएगा?

हर साल Gantantra Diwas (Republic day) के मौके पर पूरे देश में भव्य आयोजन किया जाता है। इस दिन देश के हर सरकारी और प्राइवेट कार्यालयों में झंडा रोहण किया जाता है। स्कूल, कॉलेजों और हर शिक्षण संस्थान में कई तरह के आयोजन किये जाते हैं। बच्चों को इस दिन के महत्व के बारे में जानकारी दी जाती है। राष्ट्रीय त्यौहार के इस मौके पर हर साल विदेश के नेता को चीफ गेस्ट के तौर पर बुलाया जाता है। गणतंत्र दिवस के मौके पर विदेशी चीफ गेस्ट (chief guest) को आमंत्रित करने की परंपरा रही है। वहीं इस बार 26 जनवरी 2023 को होने वाले गणतंत्र दिवस के मौके पर इजिप्ट(Egypt) यानि मिस्त्र के राष्ट्रपति अब्देल फतेह अल सिसी (President Abdel Fattah El Sisi) बतौर चीफ गेस्ट के रूप में शामिल होंगे। 

FAQ’s Gantantra Diwas 2023

Q. गणतंत्र दिवस पर ध्वज रोहण कौन करता है?

Ans. राष्ट्रपति द्वारा गणतंत्र दिवस पर ध्वज रोहण किया जाता है ।

Q. इस साल 2023 में कौन सा गणतंत्र दिवस मनाया जाएगा? 

Ans.इस साल 2023 में 74वां गणतंत्र दिवस मनाया जाएगा ।

Q. गणतंत्र दिवस 2023 के मौके पर चीफ गेस्ट कौन होंगे?

Ans. मिस्त्र के राष्ट्रपति अब्देल फतेह अल सिसी इस साल के चीफ गेस्ट होंगे ।

Q. गणतंत्र दिवस 2023 किस दिन मनाया जाएगा?

Ans. गुरूवार को इस साल गणतंत्र दिवस 2023 मनाया जाएगा ।

Q. गणतंत्र दिवस को और क्या कहते हैं? 

Ans. गणतंत्र दिवस को कई लोगों द्वारा 26 जनवरी भी कहा जाता है । 

इस ब्लॉग पोस्ट पर आपका कीमती समय देने के लिए धन्यवाद। इसी प्रकार के बेहतरीन सूचनाप्रद एवं ज्ञानवर्धक लेख easyhindi.in पर पढ़ते रहने के लिए इस वेबसाइट को बुकमार्क कर सकते हैं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *