26 January speech in Hindi | speech on republic day in Hindi | रिपब्लिक डे स्पीच इन हिंदी | 26 जनवरी पर भाषण हिंदी में 2022 | Republic Day 2022 Speech in Hindi For School Students | 26 January Bhashan in Hindi

By | जनवरी 25, 2022
26 January Bhashan in Hindi

26 January Bhashan in Hindi:-  26 जनवरी 2022 को भारत 73 वा गणतंत्र दिवस मनाने जा रहा है। 26 जनवरी दिवस भारत के गौरव एवं इतिहास को स्वर्णिम अवसर प्रदान करता है। 26 जनवरी 1950 को भारत ने ऐतिहासिक उपलब्धि हासिल करते हुए देश हित में संविधान को लागू किया था। भारत में Republic Day को बड़े हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है। इस दिन भारत में सभी निजी एवं राजकीय संस्थानों में झंडारोहण किया जाता है। राष्ट्रगान का उद्घोष किया जाता है। भारत इस दिन अन्य देशों के लोगों को एवं मुख्य अतिथियों को आमंत्रित करता है। इसी के साथ देश का बच्चा-बच्चा 26 जनवरी को गर्व के साथ मनाने में खुशी जाहिर करता है।

आइए जानते हैं 26 जनवरी 2022 के दिन सबसे बढ़िया भाषण कैसे दिया जा सकता है?  भाषण कैसे लिखा जाता है ? Republic Day 2022 पर अच्छा भाषण कैसे दे सकते हैं?  गणतंत्र दिवस 2022 पर हिंदी भाषण कैसे दे?  26 जनवरी 2022 हिंदी भाषण लिखने संबंधी सभी अहम पहलुओं को इस लेख में सम्मिलित किया जा रहा है। अतः आप नीचे दिए गए भाषण लिखने की प्रक्रिया एवं 26 जनवरी 2022 को मनाने जाने वाले गणतंत्र दिवस पर अहम बातों को कैसे याद रखना है। इस संबंध में संपूर्ण विवरण प्रस्तुत किया जा रहा है। अतः आप नीचे दिए गए विवरण को ध्यानपूर्वक पढ़ें।



गणतंत्र दिवस पर भाषण |  26 जनवरी पर भाषण हिंदी में | Speech on Republic Day | Speech on 26 January in Hindi | 26 January Bhashan in Hindi

कॉलेज एवं स्कूलों में गणतंत्र दिवस को हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है। कुछ विद्यार्थी गणतंत्र दिवस पर भाषण की तैयारी करते हैं तथा उन्हें इंटरनेट के माध्यम से अच्छी इंफॉर्मेशन की तलाश रहती है। ताकि वह अपने गणतंत्र दिवस पर दिए जाने वाले भाषण को आकर्षक बना सकें। इसी संबंध में हम आपको एक भाषण पैटर्न (26 January speech pattern) दे रहे हैं। जिसका उपयोग करके आप अपने उपस्थित मुख्य अतिथियों के सामने आकर्षक भाषण का प्रारूप प्रस्तुत कर सकते हैं।

READ  गुरु नानक जयंती पर निबंध हिंदी में | Guru Nanak Jayanti Essay in Hindi

26 January 2022 Par Hindi Bhashan

आदरणीय प्रधानाचार्य जी, मेरे सभी शिक्षक गण एवं मेरे सभी सहपाठियों का आज गणतंत्र दिवस पर मैं हार्दिक अभिनंदन करता हूं/ करती हूं। मुझे ज्ञात है कि मेरे देश ने 26 जनवरी 2050 को ऐतिहासिक पन्नों में स्वर्णिम अक्षरों में देश का गौरव कहे जाने वाले संविधान को लागू किया था। आज पूरा देश 26 जनवरी 2022 को 73 वां गणतंत्र दिवस मनाने जा रहा है। इस दिन मैं आप सभी के साथ भारत के वीर सपूतों को, मेरे देश की सैन्य शक्ति को, मेरे देश की संस्कृति को, मेरे देश की अखंडता को, मेरे देश की संप्रभुता को, मेरे देश के सभी धर्मों को, मेरे देश के सभी  देशवासियों को संबोधन करना चाहता हूं/ करना चाहती हूं।

26 जनवरी 1950 को भारत ने अंग्रेजों के बनाए गए अधिनियम एक्ट को भारतीय जनता के लिए स्वीकार किया। अंग्रेजों द्वारा बनाए गए कानून को भारत की जनता पर थोपा गया था। इसी अधिनियम के चलते भारत काफी वर्षों तक गुलामी की जंजीरों में जकड़ा रहा। परंतु देश को यह आगे तक मंजूर नहीं था। 1947 में मेरा देश अंग्रेजों की गुलामी से आजाद हुआ और देश के तत्कालीन महामहिम पद पर आसीन डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद, के साथ साथ पंडित जवाहरलाल नेहरू, मौलाना अब्दुल कलाम आजाद, डॉक्टर भीमराव अंबेडकर जैसे महान देशभक्तों ने सदस्यता घटित कर भारत के संविधान को लागू करने पर मंथन किया। 9 दिसंबर 1947 की हुई सभा में निर्णय लिया गया कि जल्द ही देश में खुद का संविधान लागू होना चाहिए। भारत में संविधान लिखने की जिम्मेदारी डॉक्टर भीमराव अंबेडकर को सौंपी गई। डॉक्टर भीमराव अंबेडकर ने अथक प्रयासों से 2 वर्ष 11 महीने एवं 18 दिन की लगातार मेहनत के बाद भारत का स्वर्ण अक्षरों में लिखा जाने वाला संविधान निर्मित कर दिया। इसी सविंधान को 26 जनवरी 1950 को देशहित में लागू किया गया।

READ  आजादी का अमृत महोत्सव पर निबंध | Essay on Azadi Ka Amrit Mahotsav 2022 | Nibandh PDF Download

26 जनवरी 1950 रिपब्लिक डे (On 26 January 1950 Republic Day) के दिन लॉर्ड माउंटबेटन (गवर्नर जनरल) के स्थान पर डॉ राजेंद्र प्रसाद को भारत का प्रथम राष्ट्रपति चुना गया। भारत में इस दिन को बड़े गौरव के साथ याद किया जाता है और हर्षोल्लास के साथ राष्ट्रीय पर्व के रूप में मनाया जाता है। भारत की तीनों सेनाओं (जल सेना थल सेना तथा नभ सेना ) राष्ट्रपति को सलामी देती है। इस दिन देश के राष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री लाल किले पर झंडा रोहण करते हैं। देश के प्रधानमंत्री द्वारा सभी देशवासियों को संबोधित किया जाता है। इसी के साथ भारत के प्रधानमंत्री द्वारा देश को नई ऊर्जा संचरण करने का आह्वान किया जाता है। इसी के साथ देश के किसानों, व्यापारियों, कर्मचारियों, युवाओं, नारी शक्ति, बुजुर्गों, एवं विद्यार्थियों को संबोधित कर देश की एकता एवं अखंडता को बनाए रखने के लिए धन्यवाद करते हैं। भारत एक ऐसा राष्ट्र है जहां पर एकता में अखंडता का संदेश भरपूर मात्रा में दिखाई देता है। आज भारत में एक धर्म नहीं बल्कि अनेकों धर्म की पूजा की जाती है। सभी धर्म अपने अपने विधि के अनुसार राष्ट्र की सेवा सुरक्षा एवं अखंडता के प्रति कर्मठ एवं सजक है।

मेरे देश पर किसी प्रकार की कोई आंच आए या मेरे देश की सुरक्षा को किसी प्रकार का कोई भी खतरा हो, तो मेरे देश के सभी धर्म एवं सभी वर्ग के लोग एक जगह खड़े रहकर देश की एकता एवं अखंडता का परिचय देते है। मेरे देश में हिंदू, मुस्लिम, सिख, ईसाई सभी धर्मों के लोग एक जुट होकर देश पर आए संकट को दूर करने में कतई नहीं कतराते। कहने में तो भारत को हिंदुस्तान भी कहा जाता है। यही हिंदुस्तान सभी धर्मों की शक्ति से मिलकर बनता है। सभी धर्म एवं सभी जाति के लोग देश की एकता एवं संविधान को बनाए रखने में अहम भूमिका निभाते हैं।

READ  2022 में सूर्य ग्रहण कब है? कब लगेगा ग्रहण, जाने समय और प्रभाव

26 जनवरी पर पूरा निबंधन पढ़े

Republic Day Official Site:- https://republicday.nic.in/#

FAQ’s 26 January Bhashan in Hindi

Q. भारत में गणतंत्र दिवस कब मनाया जाता है?

Ans. भारत में 26 जनवरी के दिन गणतंत्र दिवस रिपब्लिक डे मनाया जाता है।

Q. 26 जनवरी का भाषण कैसे दें?

Ans.  गणतंत्र दिवस पर भाषण हिंदी में सभी स्कूल एवं कॉलेजों में छात्र एवं छात्रा भाषण प्रतियोगिता में हिस्सा लेती हैं। भारत के प्रति जो भी दिल में अच्छे विचार हैं उसे सही शब्दों में व्यक्त करना ही भाषण होता है। यह अलग बात है कि 26 जनवरी 2022 के दिन गणतंत्र दिवस के रूप में मनाया जाता है। तो इस पर संविधान को लेकर बात की जाए और संविधान लिखने में किए गए संघर्ष को अधिक शब्दों में व्यक्त किया जाए तो आप का भाषण आकर्षक हो सकता है। इसी के साथ आप 1947 को देश की आजादी को भी कुछ शब्दों में वर्णन कर सकते हैं और इसी के साथ ऊपर दिए गए भाषण का प्रयोग करके भी आप अपने अतिथियों एवं सहपाठियों को संबोधित कर सकते हैं।

Q.  भारत में 26 जनवरी 2022 को कौन सा गणतंत्र दिवस मनाया जाएगा?

Ans.  26 जनवरी 2022 को भारत 73 वां गणतंत्रता दिवस मनाने जा रहा है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *