Poetry on Gantntr Divas 2022 | Hindi Poem on 26 January 2022 | गणतंत्र दिवस पर कविता हिंदी में | 26 January Poetry in Hindi | desh Bhakti Kavita

By | जनवरी 25, 2022
26 January par Kavita hindi me

26 जनवरी 2022 को हम सभी के लिए गर्व का पर्व है। राष्ट्रीय गणतंत्र दिवस पर भारतीय अपने-अपने अंदाज में गणतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं भेजते हैं। राष्ट्रीय पर्व को हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है। इस दिन संपूर्ण देश में स्कूल कॉलेज के छात्र एवं छात्रा 26 जनवरी पर भाषण, 26 जनवरी पर निबंध, 26 जनवरी पर शायरियां, गणतंत्रता दिवस पर कोट्स तथा गणतंत्र दिवस पर कविताएं सुनाकर देश के प्रति संप्रभुता एवं अखंडता का प्रचार प्रसार करते हैं। गणतंत्र दिवस पर भव्य आयोजन में उपस्थित सभी अतिथि गण विद्यार्थी द्वारा दी गई प्रस्तुति को बड़े ध्यान से सुनते हैं तथा अपने देश पर गर्व करते हैं। जो स्टूडेंट 26 जनवरी पर स्कूल कॉलेज में 26 January par Kavita hindi me कविता की प्रस्तुति देना चाहते हैं। तो उन्हें इस लेख में बेहतरीन कविता पढ़ने को मिलेगी।



आइए पढ़ते हैं 26 जनवरी गणतंत्रता दिवस पर देशभक्ति कविताएं, इन कविताओं  की प्रस्तुति आप स्कूल कॉलेज ऑनलाइन तथा डिजिटल प्लेटफॉर्म पर निसंकोच दे सकते हैं। 26 जनवरी पर देशभक्ति कविता सुनना और सुनाना गर्व की बात है। ऐसी कविताएं जो अपने देश की एकता, अखंडता, संप्रभुता एवं राष्ट्र हित में संदेश देती हो। ऐसी कविताएं देश के सभी नौजवान, बुजुर्ग एवं बालकों का मन गर्व के साथ देश भक्ति से जोड़ती है।

 26 जनवरी गणतंत्र दिवस पर कविता | Poem on 26 January Republic Day

आज हम जिस कविता को आपके सामने प्रस्तुत कर रहे हैं। वह लेखक बी.एल. कुमावत द्वारा लिखी गई है। आशा करते हैं कि यह देश भक्ति कविता आपके द्वारा प्रस्तुत किए जाने पर सभी का मन उत्साह के साथ भर देगी। आपकी प्रस्तुति पर सभी अतिथिगण आपकी प्रशंसा जरूर करेंगे। चलिए पढ़ते हैं, आज की कविता जिसका टाइटल है “मेरा देश किसी से कम नहीं”

READ  50 + Happy Holi Quotes in Hindi | Holi Quotes in Hindi | पढ़िए होली पर शायरी, शुभकामना सन्देश, कोट्स, कविता हिंदी में

26 जनवरी पर देश की शौर्य गाथा विडियो जरुर देखें

मेरा देश किसी से कम नही

26 January par Kavita hindi me

हो रहा युग परिवर्तन, उदय हो रहे नव भास्कर मेरे देश में |

मेरे देश की शक्ति युगों से निहीत, प्रगाढ़ सकती है मेरे देश में।।

कोई भी देश ना करें यह गलती,की भारत की शक्ति में दम नहीं।

बहुत रण फतेह की है मेरे देश ने, मेरा देश किसी से कम नहीं।।

महाभारत जैसे भयंकर युद्धो का इतिहास है मेरे देश में ।

भारती पुत्र अर्जुन जैसे सपूत, रण कौशल है मेरे देश में ।।

श्री कृष्ण का अनुसरण करते, यहां शान्ति  भी कोई कम नहीं ।

रण कौशलता का तो हम पाठ पढ़ाते, मेरा देश किसी से कम नहीं ।।

आज 21वीं सदी मे मेरा देश शक्तिशाली बन उभर रहा है ।

ज्ञान विज्ञान प्रौद्योगिकी में, मेरा देश पहचान बना रहा है ।।

है मेरे देश की कमान ऐसे हाथों, में जो शेरों से कम नहीं ।

है यह प्रगाढ़ शक्ति का खजाना, मेरा देश किसी से कम नहीं ।।

मेरे देश की सैन्य शक्ति भी आज विश्व में खूब छा रही है ।

जल थल नभ की तीनो शक्ति कवच बन देश पर छा रही है ।।

हर परिस्थिति में है तैयार भारत, हौसला यहां कभी कम नहीं ।

देखे दुनिया शक्तिशाली भारत, मेरा देश किसी से कम नहीं ।।

26 जनवरी कविता

वर्षों से शौर्य गाथा का गुणगान है मेरे देश में ।

गाये दसों दिशाएं शौर्य की गाथा, ऐसा कौशल मेरे देश में ।।

सहन नहीं ऐसी ललकार, जो सोचे भारत शौर्य में दम नहीं ।

देशभक्त हर घर में है यहां, मेरा देश किसी से कम नहीं ।।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.