74 वें गणतंत्र दिवस 2023 पर सम्मिलित होंगे ये मेहमान | 26 जनवरी 2023 के मुख्य अतिथि

Gantantra Diwas Chief Guest 2023 | 74th Republic Day Chief Guest 2023 | जानिए 74 वां गणतंत्र दिवस पर सम्मलित होने वाले विदेशी मेहमान कौन है?
By | जनवरी 24, 2023
Gantantra Diwas Chief Guest

2023 Gantantra Diwas Chief Guest:- नमस्कार साथियों आज हम आपको अपने इस आर्टिकल में उन सभी अतिथियों के नाम बताने वाले हैं, जो स्वतंत्रता से लेकर वर्तमान 2023 तक गणतंत्र दिवस (Republic day) पर भारत(India) के मुख्य अतिथि बने। बता दें कि इस साल (2023) भारत देश अपना 74वां गणतंत्र दिवस (Republic day) मनाएगा। देश की राजधानी दिल्ली ‘Delhi’ समेत देशभर में गणतंत्र दिवस समारोह की तैयारी अंतिम चरण पर है। ये केवल एक राष्ट्रीय पर्व ही नहीं, बल्कि हमारे देश के गौरव और सम्मान का दिन है। हर साल की तरह इस साल भी दिल्ली में लाल किले पर परेड होगी। परेड की तैयारियां एक महीने पहले से होने लगी हैं। हर साल गणतंत्र दिवस के मौके पर बाहरी मुल्क से चीफ गेस्ट आते है,पर बीते दो साल से कोरोना महामारी के चलते चीफ गेस्ट के तौर पर कोई सम्मलित नहीं हुआ है, पर इस साल दूसरे देश से चीफ गेस्ट के आने की पूरी संभावना है, जिसके बारे में हम आपको पूरी जानकारी इस आर्टिकल के जरिए देंगे।

इस आर्टिकल में हम आपको गणतंत्र दिवस पर सम्मलित होने वाले मेहमान,74 वे गणतंत्र दिवस पर सम्मलित होने वाले मेहमान ,74 वे गणतंत्र दिवस के मेहमान ,गणतंत्र दिवस 2023 के अतिथि के बारे में बताएंगे। इस साल गणतंत्र दिवस समारोह में सम्मिलित होने वाले मेहमानों के बारें में जानने के लिए इस लेख को पूरा पढ़े।

2023 Gantantra Diwas Chief Guest

Republic Day 2023Similar Content
26 जनवरी 2023Click Here
26 जनवरी 2023 के मुख्य अतिथिClick Here
गणतंत्र दिवस पर निबंध हिंदी में Click Here
गणतंत्र दिवस क्यों मनाया जाता हैClick Here
26 जनवरी पर भाषण हिंदी में Click Here
Republic Day Status In HindiClick Here
गणतंत्र दिवस पर भाषण हिंदी मेंClick Here
गणतंत्र दिवस पर कविता हिंदी मेंClick Here
गणतंत्र दिवस 2023 पर हिंदी शायरीClick Here
गणतंत्र दिवस पर देशभक्ति गीतClick Here

74 वें गणतंत्र दिवस पर सम्मिलित होने वाले मेहमान 

2 साल से देश अपना गणतंत्र दिवस (Republic day) कोरोना के साए में मना रहा था, लेकिन इस बार धूमधाम से मनाने की तैयारी की जा रही है। गणतंत्र दिवस हर बार विदेशी राष्ट्र अध्यक्ष को बतौर मुख्य अतिथि बुलाया जाता है। इस बार के गणतंत्र दिवस समारोह में मिस्त्र के राष्ट्रपति (Egyptian President) मुख्य अतिथि के तौर पर शामिल होंगे। भारतीय विदेश मंत्रालय (Indian Ministry of External Affairs) की ओर से बताया गया कि गणतंत्र दिवस 2023 पर मिस्त्र के राष्ट्रपति अब्देल फतह अल सिसी (Abdel Fattah El Sisi ) विदेशी मेहमान होंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) की ओर से अल-सिसी को भेजा गया औपचारिक निमंत्रण उन्हें विदेश मंत्री एस जयशंकर की ओर से 16 अक्टूबर को सौंपा गया था।

READ  Happy New Year 2023 Quotes in Hindi | हैप्पी न्यू ईयर कोट्स हिंदी में

दोनों देश इस वर्ष अपने राजनयिक संबंधों की 75 वीं वर्षगांठ मना रहे हैं। आपको बता दें कि देश की पहली गणतंत्र दिवस परेड में हिस्सा लेने के लिए इंडोनेशिया (Indonesia) के राष्ट्रपति सुकर्णो (President Sukarno) आए थे। सुकर्णो, उस समय के प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू (pandit JL Nehru) के काफी करीब थे। दोनों ने एशिया और अफ्रीकी देशों की आजादी की मुहिम की थी। इसके बाद दो बार हमारे पड़ोसी मित्र नेपाल (Nepal) के त्रिभुवन बीर विक्रम सिंह और भूटान के राजा किंग जिग्मे दोरजी वांग्चुक गणतंत्र दिवस पर चीफ गेस्ट रहे। पाकिस्तान का जिगरी मित्र चीन(China) के जनरल जियांगयिंग 1959 में भारत आए।

टॉपिकगणतंत्र दिवस पर सम्मलित होने वाले मेहमान
लेख प्रकारआर्टिकल
साल2023
गणतंत्र दिवस का अन्य नाम26 जनवरी
पहला गणतंत्र दिवस26 जनवरी 1950
पहले गणतंत्र दिवस महमानइंडोनेशिया के राष्ट्रपति सुकर्णो 
2023 गणतंत्र दिवस संख्या74 वां
गणतंत्र दिवस समारोह स्थानराजपथ, नई दिल्ली
2023 गणतंत्र दिवस ध्वज रोहणराष्ट्रपति द्रोपदी मुर्मू
पकिस्तान गणतंत्र दिवस महमानदो बार

74 वे गणतंत्र दिवस के मेहमान | 74th Republic Day Chef Guest

Gantantra Diwas Chief Guest:- भारत में रिपब्लिक डे पर विदेशी चीफ गेस्ट की पुरानी परंपरा रही है। दो बार पाकिस्तान (Pakistan) के नेता भी परेड के मुख्य अतिथि बन चुके हैं। जनवरी 1965 में पाक के एग्रीकल्चर मिनिस्टर राणा अब्दुल हामिद हमारे मेहमान थे और 3 महीने बाद अप्रैल में पाकिस्तान के साथ जंग छिड़ गई थी। 74 साल के इतिहास में यह पहली बार होगी जब मिस्त्र का कोई नेता भारतीय गणतंत्र दिवस समारोह में चीफ गेस्ट बनेगा। ये भारतीय विदेश कूटनीति के लिहाज से एक बड़ा कदम है। भारत अरब और दक्षिण में अपनी पहुंच बढ़ाना चाहता है।

READ  Swami Vivekananda Jayanti 2023 | स्वामी विवेकानंद जयंती कब मनाई जाती है?

इसके लिए अरब देशों में सबसे ज्यादा आबादी वाला और दक्षित में दूसरा सबसे बड़ा इकोनॉमी वाला मिस्त्र भारत के नजरिए से सबसे बेहतर है। गौरतलब है कि फ्रांस (France) अब तक सबसे ज्यादा 5 बार गणतंत्र दिवस पर बतौर मुख्य अतिथि आ चुका है। भारत पूरी दुनिया के सामने अपनी विदेश नीति का प्रमाण देने के लिए अधिकांश समय में सोवियत संघ को अपने मेहमान के तौर पर चुनता रहा है। जब साल 2015 में अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा (US President Barack Obama) चीफ गेस्ट के तौर पर भारत आए,तो एक नया इतिहास बना था। 

2023 गणतंत्र दिवस के अतिथि | Gantantra Diwas Chef Guest 2023

पीएम नरेंद्र मोदी ने मिस्त्र के राष्ट्रपति अब्देल फतह (President Abdel Fattah) को गणतंत्र दिवस के लिए मुख्य अतिथि के तौर पर आमंत्रण किया था, जिसको उन्होंने गर्मजोशी से स्वीकार किया। विदेश मंत्रालय के सचिव औसाफ सईद ने कहा, पीएम मोदी ने गणतंत्र दिवस के लिए मुख्य अतिथि के लिए राष्ट्रपति सीसी को आमंत्रित किया था, जिसे उन्होंने गर्मजोशी से स्वीकार किया है। इस साल G-20 की अध्यक्षता के दौरान मिस्त्र को अतिथि के रूप में आमंत्रित किया है। इससे दोनों देशों के रिश्तों को मजबूती मिलेगी।इसके अलावा देश के राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, पूर्व राष्ट्रपति, पूर्व पीएम, कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष, कई मंत्री, कई सचिव, आला अधिकारी समेत अन्य लोग भी शामिल रहेंगे।

सभी गणमान्य अतिथियों की लिस्ट बनकर तैयार है। साल 1960 में सोवियत संघ (the Soviet Union) के मार्शल क्लीमेंट येफ्रेमोविक वारोशिलोव गणतंत्र दिवस परेड (republic day parade)के मुख्य अतिथि थे। 1961 में ब्रिटेन (Britain)की महारानी एलिजाबेथ (Queen Elizabeth) भारत आईं, फिर कंबोडियर के महाराज आए। युगोस्लाविया और बुल्गारिया के अतिथि भी परेड में शामिल हो चुके हैं। साल 1961 में ब्रिटेन की महारानी क्वीन एलिजाबेथ भारत आईं थीं।

70 के दशक से लेकर अब तक आए मेहमानों की लिस्ट

साल 1970 में भारत की विदेश नीति का और बदला स्वरूप नजर आया। युगोस्लाविया (Yugoslavia) और पोलैंड के नेताओं के अलावा तंजानिया (tanzania) के राष्ट्रपति जूलियस कामबारगे नेयरेरे (Julius Kambarge Nyerere), फ्रांस के पीएम जैक्स रेन शिराक, ऑस्ट्रेलिया के पीएम मैल्कम फ्रेसर भारत आए, तो श्रीलंका की पहली महिला प्रधानमंत्री श्रीमावो भंडारनाइके (PM S. Bandaranaike)70 के दशक में हुई गणतंत्र दिवस की परेड का हिस्सा बनीं थी।

READ  Chhatrapati Shivaji Maharaj Jayanti 2023 | छत्रपति शिवाजी महाराज जयंती कब मनाई जाती है?

80 और 90 के दशक के गणतंत्र दिवस के चीफ गेस्ट

भूटान, फ्रांस, श्रीलंका को फिर से इस दशक की परेड में चीफ गेस्ट के तौर पर शामिल होने का मौका मिला। इसके अलावा अफ्रीका और तीन लैटिन अमेरिकी देशों मैक्सिको, अर्जेंटीना और पेरू से भी मेहमान आए। साल 1989 में विएतनाम कम्युनिस्ट पार्टी (Vietnam Communist Party) के जनरल सेक्रेटरी नेग्यूएन वान लिन्ह (General Secretary Nguyen Van Linh) मेहमान बने थे। साल 1995 साउथ अफ्रीका के राष्ट्रपति नेल्सन मंडेला अतिथि बने। इसके अलावा लैटिन अमेरिका(latin america), ब्राजील, यूनाइटेड किंगडम, मालद्वीप, मॉरीशस और नेपाल को इस दशक में शामिल होने का मौका मिला। साल 1997 में त्रिनिदाद एंड टोबैगो के भारतीय मूल के पीएम बासदेव पांडेय गणतंत्र दिवस पर खास मेहमान बने थे। 

इसलिए 2000 के बाद इस्लामिक देश के मुखिया बने मेहमान

भारत की विदेश नीति भी बदल चुकी थी। इस दशक में 2003 में ईरान के राष्ट्रपति मोहम्मद खातामी, सऊदी अरब के राजा अब्दुल्ला बिन अब्दुल्लाजीज अल-सौद 2006 में चीफ गेस्ट बने। वहीं 2007 में रूस के राष्ट्रपति ब्लादीमिर पुतिन (President Vladimir Putin) और 2009 में कजाखिस्तान के राष्ट्रपति नूरसुल्तान नजरबायेव खास मेहमान बनकर भारत आए। 

2010 में साउथ कोरिया, 2011 में इंडोनेशिया, 2012 में थाइलैंड के राष्ट्राध्यक्ष भारत आए थे। वहीं साल 2013 में भूटान के राजा, 2014 में शिंजो आवे भारत आए। 2015 में अमेरिकी राष्ट्रपति बतौर चीफ गेस्ट गणतंत्र दिवस के मौके पर भारत आए, यह पहला मौका था, जब किसी अमेरिकी राष्ट्रपति ने भारत के गणतंत्र दिवस में बतौर चीफ गेस्ट शिरकत की थी। 2016 में फिर से फ्रांस, 2017 में संयुक्त अरब अमीरात(United Arab Emirates) के क्राउन प्रिंस शेख मोहम्मद बिन जायेद अल नाहयान मेहमान बने। साल 2018 में सभी आसियान देश (ASEAN countries) के नेता मुख्य अतिथि रहे। 2019 में दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सायरिल रामाफोसा और 2020 में ब्राजील के राष्ट्रपति जायर बोलसोनारो अतिथि रहे।

FAQ’s Gantantra Diwas Chief Guest

Q. गणतंत्र दिवस कब मनाया जाएगा?

Ans. 26 जनवरी को पूरे देश में धूमधाम के साथ गणतंत्र दिवस मनाया जाएगा ।

Q. गणतंत्र दिवस 2023 के मुख्य अतिथि कौन होंगे? 

Ans. मिस्त्र के राष्ट्रपति अब्देल फतेह अल सिसी साल 2023 के गणतंत्र दिवस के महमान होंगे ।

Q. गणतंत्र दिवस पर भारत के पहले मेहमान कौन बने थे?

Ans. इंडोनेशिया (Indonesia)के राष्ट्रपति सुकर्णो गणतंत्र दिवस पर भारत के पहले मेहमान बने थे । 

Q. गणतंत्र दिवस पर पाकिस्तान कितनी बार मेहमान बना?

Ans.गणतंत्र दिवस पर पाकिस्तान दो बार मेहमान बना । 

Q. गणतंत्र दिवस के मौके पर अमेरिका से कौन चीफ गेस्ट बना?

Ans. पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा गणंतत्र दिवस के मौके पर अमेरिका से चीफ गेस्ट बने थे ।

इस ब्लॉग पोस्ट पर आपका कीमती समय देने के लिए धन्यवाद। इसी प्रकार के बेहतरीन सूचनाप्रद एवं ज्ञानवर्धक लेख easyhindi.in पर पढ़ते रहने के लिए इस वेबसाइट को बुकमार्क कर सकते हैं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *