26 जनवरी 2024 के मुख्य अतिथि | 75वें गणतंत्र दिवस 2024 पर सम्मिलित होंगे ये मेहमान

Republic Day Chief Guest 2024

2024 Gantantra Diwas Chief Guest:- प्रत्येक साल की तरह इस साल भी 2024 में 26 जनवरी के दिन गणतंत्र दिवस काफी धूमधाम से एवं सम्मान के साथ मनाया जाएगा। गणतंत्र दिवस के दिन हमारे देश में कई जगहों पर सांस्कृतिक एवं देशभक्ति कार्यक्रम आयोजित किया जाता है जिसमें देश के नागरिक भारी संख्या में भाग लेते हैं। गणतंत्र दिवस के उपलक्ष में है हमारे देश की राजधानी दिल्ली के राजपथ पर परेड जैसी कार्यक्रम आयोजित किया जाता है जिसमें हमारे देश के तीनों सेनाएं अपनी पराक्रम प्रस्तुत करते हैं। देश के प्रधानमंत्री लाल किला से देश के निवासियों को संबोधन करते हैं।हमारे देश में पहली बार 26 जनवरी 1950 को गणतंत्र दिवस मनाया गया था जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में है इंडोनेशिया के राष्ट्रपति सुकर्णो शामिल हुए थे।

तभी से या परंपरा चली आ रही है कि प्रत्येक वर्ष 26 जनवरी के दिन किसी न किसी देश के गणमान्य व्यक्ति को अतिथि के रूप में गणतंत्र दिवस के दिन निमंत्रण दिया जाता है। ऐसे में हम में से कई लोगों के मन में यह प्रश्न होगा कि साल 2024 में गणतंत्र दिवस के दिन मुख्य अतिथि के रूप में किस विदेशी राष्ट्रीय अध्यक्ष को आमंत्रण किया जाएगा। तो आईए हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से Chief Guest of Republic Day 2024, Chief Guest of Republic Day 2024 in india, Who is Chief Guest On 26 january 2024 संबंधित जानकारी विस्तार पूर्वक प्रदान कर रहे हैं इसलिए आप लोग इस आर्टिकल को अंत तक पढ़े।

Chief Guest of Republic Day 2024

2024 Gantantra Diwas Chief Guest

Republic Day 2024Similar Content
26 जनवरी 2024Click Here
26 जनवरी 2024 के मुख्य अतिथिClick Here
गणतंत्र दिवस पर निबंध हिंदी में Click Here
गणतंत्र दिवस क्यों मनाया जाता हैClick Here
26 जनवरी पर भाषण हिंदी में Click Here
Republic Day Status In HindiClick Here
गणतंत्र दिवस पर भाषण हिंदी मेंClick Here
गणतंत्र दिवस पर कविता हिंदी मेंClick Here
गणतंत्र दिवस 2024 पर हिंदी शायरीClick Here
गणतंत्र दिवस पर देशभक्ति गीतClick Here

गणतंत्र दिवस 2024 के मुख्य अतिथि | Chief Guest of Republic Day 2024

2024 में भारत अपना 75th गणतंत्र दिवस  उमंग और उषा के साथ बनाएगा और प्रत्येक गणतंत्र दिवस पर विदेशी राष्ट्र अध्यक्ष को आमंत्रित किया जाता है 2024 से रिपब्लिक डे के अवसर पर  चीफ गेस्ट के तौर पर फ्रांस के राष्ट्रपति  इमैनुएल मैक्रों आमंत्रित किया गया हैं। आप लोगों को मालूम  है कि भारत और फ्रांस के संबंध कितने घनिष्ठ हैं। ऐसे में जब फ्रांस के राष्ट्रपति गणतंत्र दिवस के तौर पर भारत आएंगे तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और फ्रांस के राष्ट्रपति के बीच में कई अहम समझौता पर हस्ताक्षर भी किए जाएंगे इसके अलावा दोनों देश कई मुद्दों पर बातचीत भी करेंगे इस परंपरा की शुरुआत 26 जनवरी 1950 को किया गया था। जब भारत ने अपना पहला गणतंत्र दिवस मनाया था। उस समय के तत्कालीन प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू ने इंडोनेशिया (Indonesia) के राष्ट्रपति सुकर्णो (President Sukarno) आए थे। सुकर्णो, उस समय के प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू (Pandit JL Nehru) के काफी करीब थे। दोनों ने एशिया और अफ्रीकी देशों की आजादी की मुहिम की थी।

See also  Mahaparinirvan Diwas 2022 | डॉ. अम्बेडकर महापरिनिर्वाण दिवस
टॉपिकगणतंत्र दिवस पर सम्मलित होने वाले मेहमान
लेख प्रकारआर्टिकल
साल2024
गणतंत्र दिवस का अन्य नाम26 जनवरी
पहला गणतंत्र दिवस26 जनवरी 1950
पहले गणतंत्र दिवस महमानइंडोनेशिया के राष्ट्रपति सुकर्णो 
2024 गणतंत्र दिवस संख्या75 वां
गणतंत्र दिवस समारोह स्थानराजपथ, नई दिल्ली
2024 गणतंत्र दिवस ध्वज रोहणराष्ट्रपति द्रोपदी मुर्मू
पकिस्तान गणतंत्र दिवस महमानदो बार

Chief Guest of Republic Day 2024 in India

प्रत्येक साल हम सभी लोग 26 जनवरी को भारत में गणतंत्र दिवस के रूप में मनाते हैं 26 जनवरी 1950 को हमारा संविधान लागू हुआ था।  जिसके बाद 26 जनवरी देशभर में रिपब्लिक डे के रूप में मनाया जाता हैं। प्रत्येक गणतंत्र दिवस पर विदेशी देशों के राष्ट्र अध्यक्ष को बनाने की परंपरा हैं। इसका शुभारंभ 26 जनवरी 1950 को किया गया ऐसे में 2024 के गणतंत्र दिवस पर मुख्य अतिथि के तौर पर फ्रांस के राष्ट्रपति  इमैनुएल मैक्रों भारत आएंगे  और दिल्ली के कर्तव्य पथ पर आयोजित राष्ट्रीय परेड में सम्मिलित होंगे और देश के प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति दोनों से मुलाकात करेंगे 

Who is Chief Guest On 26 january 2024

2024 में भारत 75th रिपब्लिक डे मनाएगी और इस बार 26 जनवरी के पावन अवसर पर फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांस के राष्ट्रपति  इमैनुएल मैक्रों रिपब्लिक डे के मुख्य अतिथि होंगे।  गणतंत्र दिवस पर चीफ गेस्ट लाने की परंपरा 26 जनवरी 1950 को की गई थी। उसके बाद से ही प्रत्येक साल 26 जनवरी पर कोई ना कोई विदेशी राष्ट्र अध्यक्ष चीफ गेस्ट के रूप में आता है नीचे Chief Guest On 26 january का विवरण देंगे जो भारत में अब तक गणतंत्र दिवस के पर्व में मुख्य तौर पर सम्मिलित हो चुके हैं:-

Chief Guest On 26 january 2024
2024 फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों सम्मिलित होंगे
2023 इजिप्ट के राष्ट्रपति अब्देल फतेह अल सि
2022कोई मुख्य अतिथि नहीं
2021कोई मुख्य अतिथि नहीं
2020ब्राजील के राष्ट्रपति जायर बोल्सनारो
2019दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सायरिल रामाफोसा
2018थाईलैंड के पीएम जनरल प्रायुत चान-ओ-चा, म्यांमार की नेता आंग सान सू की, ब्रुनेई के सुल्तान हसनअल बोल्किया, कंबोडिया के पीएम हुन सेन, इंडोनेशिया के राष्ट्रपति जोको विडोडो, सिंगापुर के पीएम ली सियन लूंग, मलेशिया के पीएम नजीब रजाक, वियतनाम के प्रधानमंत्री न्गुयेन शुयान फुक, लाओस के पीएम थॉन्गलौन सिसोलिथ, फिलीपींस के राष्ट्रपति ड्रिगो दुतेर्ते
2017 क्राउन प्रिंस शेख मोहम्मद बिन जायेद अल नाहयान (संयुक्त अरब अमीरात)
2016राष्ट्रपति फ्रेंकोइस होलैंड (फ्रांस)
2015राष्ट्रपति बराक ओबामा (अमेरिका)
2014पीएम शिंजो आबे (जापान)
2013राजा जिग्मे खेसर नामग्याल वांगचुक (भूटान)
2012प्रधानमंत्री यिंगलुक शिनावात्रा (थाईलैंड)
2011राष्ट्रपति सुसिलो बांम्बांग युधोयोनो (इंडोनेशिया)
2010राष्ट्रपति ली मयूंग बाक (दक्षिण कोरिया)
2009राष्ट्रपति नूरसुल्तान नजरबायेव (कजाखस्तान)
2008राष्ट्रपति निकोलस सरकोजी (फ्रांस)
2007राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (रूस)
2006किंग अब्दुल्ला बिन अब्दुलअजीज अलसऊद (सऊदी अरब)
2005किंग जिग्मे सिंग्ये वांगचुक (भूटान)
2004राष्ट्रपति लुइज इनासिओ लुला दा सिल्वा (ब्राजील)
2003राष्ट्रपति मोहम्मद खटामी (ईरान)
2002राष्ट्रपति कसम उतेम (मॉरीशस)
2001राष्ट्रपति अब्देलजीज बुटीफिला (अल्जीरिया)
2000राष्ट्रपति ओलेजगुन ओबासांजो (नाइजीरिया)
1999राजा बिरेंद्र बीर बिक्रम शाह देव (नेपाल)
1998राष्ट्रपति जैक शिराक (फ्रांस)
1999पीएम बासदेव पांडे (त्रिनिदाद एंड टोबैगो)
1997राष्ट्रपति डॉ. फर्नाडो हेनरीक कार्डोसो (ब्राजील)
1996राष्ट्रपति नेल्सन मंडेला (दक्षिण अफ्रीका)
1995प्रधानमंत्री गोह चोक टोंग (सिंगापुर)
1994पीएम जॉन मेजर (ब्रिटेन)
1993राष्ट्रपति मारियो सोरेस (पुर्तगाल)
1992राष्ट्रपति ममून अब्दुल गयूम (मालदीव)
1991पीएम अनिरुद्ध जुग्नथ (मॉरीशस)
1990जनरल सचिव गुयेन वान लिन (वियतनाम)
1989राष्ट्रपति जेआर जयवर्धने (श्रीलंका)
1988राष्ट्रपति एलन गार्सिया (पेरू)
1987प्रधानमंत्री एंड्रियास पैपांड्रेड (ग्रीस)
1986राष्ट्रपति राउल अल्फोन्सिन (अर्जेंटीना)
1985किंग जिग्मे सिंग्ये वांगचुक (भूटान)
1984राष्ट्रपति शेहू शागरी (नाइजीरिया)
1983किंग जुआन कार्लोस आई (स्पेन)
1982राष्ट्रपति जोस लोपेज पोर्टिलो (मेक्सिको)
1981राष्ट्रपति वैलेरी गिस्कर्ड डी एस्टाइंग (फ्रांस)
1980पीएम मैल्कम फ्रेजर (ऑस्ट्रेलिया)
1979राष्ट्रपति पैट्रिक हिलेरी (आयरलैंड)
1977प्रथम सचिव एडवर्ड गिरेक (पोलैंड)
1976प्रधानमंत्री जाक शिराक (फ्रांस)
1975राष्ट्रपति केनेथ कौंडा (जाम्बिया)
1974राष्ट्रपति जोसीप ब्रोज टिटो (यूगोस्लाविया), पीएम सिरिमावो बंडरानाइक (श्रीलंका)
1973राष्ट्रपति मोबूतु सेसे सेको (जैरे)
1972प्रधानमंत्री सीईवोसगुर रामगुलाम (मॉरीशस)
1971राष्ट्रपति जूलियस न्येरे (तंजानिया)
1970बेल्जियम राजा बौदौइन
1969प्रधानमंत्री टोडोर झिव्कोव (बल्गेरिया)
1968अध्यक्ष अलेक्सी कोसिगिन (सोवियत संघ), राष्ट्रपति जोसीप ब्रोज टिटो (यूगोस्लाविया)
1967राजा मोहम्मद जहीर शाह (अफगानिस्तान)
1966कोई आमंत्रण नहीं
1965खाद्य और कृषि मंत्री राणा अब्दुल हमीद (पाकिस्तान)
1664चीफ लॉर्ड लुईस माउंटबैटन (ब्रिटेन)
1963राजा नोरोडोम सिहानोक (कंबोडिया)
1962प्रधानमंत्रा विग्गो कंम्पमन्न (डेनमार्क)
1961महारानी एलिजाबेथ द्वितीय (यूनाइटेड किंगडम)
1960प्रेसिडेंट क्लीमेंट वोरोशिलोव (सोवियत संघ)
1959एडिनबर्ष के ड्यूक प्रिंस फिलिप (यूनाइटेड किंगडम)
1958मार्शल जे जियानिंग (चीन)
1957रक्षामंत्री जॉर्जिया झुकोव (सोवियत संघ)
1956आर.ए. बटलर (ब्रिटेन), चीफ जस्टिस कोटारो तनाका (जापान)
1955गर्वनर जनरल मलिक गुलाम मुहम्मद (पाकिस्तान)
1954जिग्मे दोरजी वांगचुक (भुटान)
1953कोई आमंत्रण नहीं
1952कोई आमंत्रण नहीं
1951 राजा त्रिभुवन बीर बिक्रम शाह (नेपाल)
1950राष्ट्रपति सुकर्णो (इंडोनेशिया)

70 के दशक से लेकर अब तक आए मेहमानों की लिस्ट

साल 1970 में भारत की विदेश नीति का और बदला स्वरूप नजर आया। युगोस्लाविया (Yugoslavia) और पोलैंड के नेताओं के अलावा तंजानिया (tanzania) के राष्ट्रपति जूलियस कामबारगे नेयरेरे (Julius Kambarge Nyerere), फ्रांस के पीएम जैक्स रेन शिराक, ऑस्ट्रेलिया के पीएम मैल्कम फ्रेसर भारत आए, तो श्रीलंका की पहली महिला प्रधानमंत्री श्रीमावो भंडारनाइके (PM S. Bandaranaike)70 के दशक में हुई गणतंत्र दिवस की परेड का हिस्सा बनीं थी।

See also  राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस 2023 | National Safety Day | सुरक्षा दिवस कब मनाया जाता हैं?

80 और 90 के दशक के गणतंत्र दिवस के चीफ गेस्ट

भूटान, फ्रांस, श्रीलंका को फिर से इस दशक की परेड में चीफ गेस्ट के तौर पर शामिल होने का मौका मिला। इसके अलावा अफ्रीका और तीन लैटिन अमेरिकी देशों मैक्सिको, अर्जेंटीना और पेरू से भी मेहमान आए। साल 1989 में विएतनाम कम्युनिस्ट पार्टी (Vietnam Communist Party) के जनरल सेक्रेटरी नेग्यूएन वान लिन्ह (General Secretary Nguyen Van Linh) मेहमान बने थे। साल 1995 साउथ अफ्रीका के राष्ट्रपति नेल्सन मंडेला अतिथि बने। इसके अलावा लैटिन अमेरिका (Latin America), ब्राजील, यूनाइटेड किंगडम, मालद्वीप, मॉरीशस और नेपाल को इस दशक में शामिल होने का मौका मिला। साल 1997 में त्रिनिदाद एंड टोबैगो के भारतीय मूल के पीएम बासदेव पांडेय गणतंत्र दिवस पर खास मेहमान बने थे। 

इसलिए 2000 के बाद इस्लामिक देश के मुखिया बने मेहमान

भारत की विदेश नीति भी बदल चुकी थी। इस दशक में 2003 में ईरान के राष्ट्रपति मोहम्मद खातामी, सऊदी अरब के राजा अब्दुल्ला बिन अब्दुल्लाजीज अल-सौद 2006 में चीफ गेस्ट बने। वहीं 2007 में रूस के राष्ट्रपति ब्लादीमिर पुतिन (President Vladimir Putin) और 2009 में कजाखिस्तान के राष्ट्रपति नूरसुल्तान नजरबायेव खास मेहमान बनकर भारत आए। 

2010 में साउथ कोरिया, 2011 में इंडोनेशिया, 2012 में थाइलैंड के राष्ट्राध्यक्ष भारत आए थे। वहीं साल 2013 में भूटान के राजा, 2014 में शिंजो आवे भारत आए। 2015 में अमेरिकी राष्ट्रपति बतौर चीफ गेस्ट गणतंत्र दिवस के मौके पर भारत आए, यह पहला मौका था, जब किसी अमेरिकी राष्ट्रपति ने भारत के गणतंत्र दिवस में बतौर चीफ गेस्ट शिरकत की थी। 2016 में फिर से फ्रांस, 2017 में संयुक्त अरब अमीरात(United Arab Emirates) के क्राउन प्रिंस शेख मोहम्मद बिन जायेद अल नाहयान मेहमान बने। साल 2018 में सभी आसियान देश (ASEAN countries) के नेता मुख्य अतिथि रहे। 2019 में दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सायरिल रामाफोसा और 2020 में ब्राजील के राष्ट्रपति जायर बोलसोनारो अतिथि रहे।

See also  16 December Vijay Diwas 2023 | विजय दिवस कब व क्यों मनाया जाता है? (महत्व, इतिहास, व थीम)

FAQ’s Gantantra Diwas Chief Guest

Q. गणतंत्र दिवस 2024 के मुख्य अतिथि कौन होंगे? 

Ans  गणतंत्र दिवस 2024 के मुख्य अतिथि इमैनुएल मैक्रों होंगे। 

Q.gantantra diwas 2024 ke mukhya atithi kaun hai

Ans. 2024 में भारत 75 th गणतंत्र दिवस मनाएगा इस अवसर पर फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों को आमंत्रित किया गया है जो इस बार गणतंत्र दिवस के मुख्य अतिथि होंगे।

26 जनवरी 2024 के मुख्य अतिथि कौन होंगे

Q.  26 जनवरी 2024 को भारत में गणतंत्र दिवस उमंग अनुसार के साथ मनाया जाएगा इस साल गणतंत्र दिवस के मुख्य अवसर पर मुख्य अतिथि के तौर पर इमैनुएल मैक्रों को आमंत्रित किया गया हैं।

Q. गणतंत्र दिवस कब मनाया जाएगा?

Ans. मिस्त्र के राष्ट्रपति अब्देल फतेह अल सिसी साल 2024 के गणतंत्र दिवस के महमान होंगे ।

Q. गणतंत्र दिवस पर भारत के पहले मेहमान कौन बने थे?

Ans. इंडोनेशिया (Indonesia) के राष्ट्रपति सुकर्णो गणतंत्र दिवस पर भारत के पहले मेहमान बने थे। 

Q. गणतंत्र दिवस पर पाकिस्तान कितनी बार मेहमान बना?

Ans.गणतंत्र दिवस पर पाकिस्तान दो बार मेहमान बना । 

Q. गणतंत्र दिवस के मौके पर अमेरिका से कौन चीफ गेस्ट बना?

Ans. पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा गणंतत्र दिवस के मौके पर अमेरिका से चीफ गेस्ट बने थे।

इस ब्लॉग पोस्ट पर आपका कीमती समय देने के लिए धन्यवाद। इसी प्रकार के बेहतरीन सूचनाप्रद एवं ज्ञानवर्धक लेख easyhindi.in पर पढ़ते रहने के लिए इस वेबसाइट को बुकमार्क कर सकते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Optimized with PageSpeed Ninja