Kite Festival 2023 | पतंग उत्सव कब, कहाँ और कैसे मनाया जाता है।

By | जनवरी 12, 2023
Kite Festival

Kite Festival 2023:- सक्रांति का त्यौहार क्या है? यह क्यों मनाया जाता है? वैज्ञानिक महत्व, मकर सक्रांति कब है?  इन सब प्रश्नों के जवाब आपको हम अपनी इस आर्टिकल में देने वाले हैं इस आर्टिकल को आखरी तक जरूर पढ़ें। नमस्कार दोस्तों आप सब को तो पता ही है कि हमारे देश में कई तरह के त्यौहार उत्सव मनाए जाते हैं, साथ ही आपको यह भी जानकारी दे दें कि इन्हीं त्योहारों में से एक त्यौहार Kite Festival 2023 मतलब पतंग उत्सव भी है। इस त्यौहार को लोग काफी पसंद करते हैं खासकर इसे Gujarat में ज्यादातर मनाया जाता है। इस दिन काफी अलग अलग तरह की पतंग है आसमान में देखने को मिलती हैं। भारत देश में हर साल International kite Festival का आयोजन किया जाता है।

Kite Festival 2023

Happy Makar Sankranti 2023Similar Content
मकर संक्रांति कब व क्यों मनाई जाती हैयहाँ क्लिक करें
मकर संक्रांति शुभ मुहूर्त 2023यहाँ क्लिक करें
मकर संक्रांति पर निबंधयहाँ क्लिक करें
Kite festival 2023यहाँ क्लिक करें
मकर संक्रांति शायरीयहाँ क्लिक करें
मकर संक्रांति की हार्दिक शुभकामनाएँयहाँ क्लिक करें
मकर संक्रांति वाहन क्या हैयहाँ क्लिक करें
मकर संक्रांति पर दान क्यों करते हैंयहाँ क्लिक करें
मकर संक्रांति के गीतयहाँ क्लिक करें

Kite Festival 2023 कब हैं?

अपने पाठकों को हमें बता दें कि नए साल की शुरुआत होते ही हमारे त्यौहार मनाने का भी आगाज हो जाता है, January के महीने में 13 तारीख को जहां उत्तर भारत में लोहड़ी मनाई जाती है। वहीं अगले दिन 14 तारीख को Makar Sankranti के रूप में पूरे देश में यह उत्सव मनाया जाता है। मकर सक्रांति के दिन लोग सुबह जल्दी उठकर तिल से स्नान करते हैं और इस दिन गुण और तिल्ली के लड्डू खाने का भी रिवाज है। इस दिन सूर्य Sagittarius राशि से Capricorn राशि में प्रवेश करते हैं इसलिए लोग इस त्यौहार को बड़े उत्साह के साथ मनाते हैं। लोग पवित्र नदियों में इस दिन स्नान करते हैं और खिचड़ी का सेवन करते हैं खिचड़ी खाने के अलावा लोग कई तरह के दान भी इस दिन करते हैं।

READ  कृष्ण जन्माष्टमी स्टेटस 2022 | Krishna Janmashtami Status in Hindi | कृष्ण जन्माष्टमी शुभकामनाएं स्टेटस | WhatsApp Status
टाइटलपतंग उत्सव 2023
लेख प्रकारअर्टिकल
साल2023
पतंग उत्सव 2023 कब शुरु होगा6 जनवरी 2023
पतंग उत्सव 2023 कब खत्म होगा15 जनवरी 2023
पतंग उत्सव 2023 कौन से राज्य मनाया जाएगागुजारात
गुजारात के कौनसे शहर में पतंग उत्सव 2023 मनाया जाएगाअहमदाबाद
पतंग उड़ाने की शुरुआत कब हुई थी2800 साल पहले
कौन से देश से पतंग उड़ाने की शुरुआत हुई थीचीन

इस दिन दान करने का एक अलग ही महत्व होता है दान करने के बाद लोग Kite उड़ा कर इस दिन का जश्न मनाते हैं इतना ही नहीं इस दिन तिल और गुड़ खाने का भी रिवाज है जिससे अनेक फायदे हमें प्राप्त होते हैं। इस साल मकर सक्रांति 15 जनवरी के दिन मनाई जाएगी। तमिलनाडु में इस त्यौहार को Pongal कहा जाता है और गुजरात में इस त्यौहार को Uttarayan के नाम से जाना जाता है। त्योहारों के नाम राज्यों के हिसाब से अलग-अलग हो सकते हैं लेकिन हर कोई पतन जरूर आता है और पवित्र नदियों में स्नान भी करते हैं।

पतंगों का त्यौहार कहां मनाया जाता है?

 इस दिन पूरे भारत में पतंगबाजी का त्यौहार बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है। यह त्यौहार भाईचारे का भी प्रतीक है। लेकिन हम आपको बता दें कि यह त्योहार Gujarat राज्य में एक अलग ही तरीके से मनाया जाता है गुजरात में पतंगबाजी का मुकाबला भी रखा जाता है और कई लोग कई तरह की Kite उड़ाने का आनंद लेते हैं। कहा जाता है कि इस दिन सूरज की उत्तरायण गति प्रारंभ हो जाती है मतलब सूर्य पूरब से उत्तर की ओर गमन करते हैं इस गमन के दौरान सूर्य की किरणों को अच्छा माना जाता है,  इसी के चलते गुजरात में इस त्यौहार को उत्तरायण कहा जाता है।

READ  Govardhan puja 2022 | गोवर्धन पूजा मुहूर्त, विधि, मंत्र, आरती

पतंग उत्सव कब है?

 गुजरात हर साल उत्तरायण या मकर सक्रांति के दिन International Kite Festival का बड़े स्तर पर आयोजन करता है। इस आयोजन में हिस्सा लेने के लिए Indian के दूसरे राज्यों सहित कई देशों से लोग यहां आते हैं, जिसमें लोग बढ़ चढ़कर हिस्सा लेते हैं। दुकानों में कई तरह की पतंग देखने को मिलती हैं।  इस दिन पूरा आसमान पतंगों से रंग बिरंगा हो जाता है। लो पतंगबाजी करते हुए काफी खुश नजर आते हैं और एक दूसरे की पतंग काट कर इस खेल का आनंद लेते हैं। Gujarat के Ahmedabad शहर में International Kite Festival का आयोजन 6 जनवरी से 15 जनवरी तक देखा जा सकता है। इस कार्यक्रम को लेकर राज्य सरकार काफी इंतजाम भी करती है।

पतंगों का त्योहार है मकर सक्रांति | Festival of Kite is Makar Sankranti

हिंदू धर्म के अनुसार इस दिन Lord Sun मकर राशि के अंदर दाखिल होते हैं। वही इस दिन के बाद से मौसम में भी बदलाव आता है और ठंड थोड़ी कम हो जाती है। किसानों के लिए इस दिन का खास महत्व है।  Farmers फसलों की कटाई करना आरंभ कर देते हैं पूरे साल में कुल 12 सक्रांति यहां आती हैं। January में आने वाली सक्रांति को काफी अच्छा माना जाता है, इस दिन पूरे देश में पतंगबाजी का आयोजन होता है और लोग इस खेल को काफी हर्ष उल्लास के साथ मनाते हैं इसलिए इसे पतंगों का त्यौहार भी कहा जाता है।

काईट फेस्टिवल इन इंडिया | Kite Festival in India


पतंग की कहानी

हर चीज के पीछे कोई ना कोई एक वजह जरुर होती है उसी तरह Kite को लेकर भी एक कहानी है एक इतिहास है। ऐसा कहा जाता है कि करीब 28 सौ साल पहले पतंग उड़ाने की शुरुआत चीन देश ने शुरू की थी। चीन में Kite का आविष्कार मोजी और लू बैन नाम के दो व्यक्तियों ने किया था।  उसी वक्त पतंग का उपयोग बचाओ अभियान के लिए एक संदेश के रूप में किया जाता था। लेकिन अब पतंग को केवल मनोरंजन के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। चीन से शुरू हुई यह Kite Festival पूरी दुनिया में फैल गया और कई देशों में पतंग उड़ाई जाने लगी।  इन देशों की सूची में India,  America, Malaysia और Germany जैसे देशों के नाम भी शामिल है।  हर देश में अलग-अलग वजहों के चलते Kite Festival मनाया जाता है। चिली देश में स्वतंत्रता दिवस के दौरान वहां के निवासी पतंग उड़ा कर अपना स्वतंत्रता दिवस मनाते हैं।  जापान में भी पतंगबाजी उनके देवता को खुश करने के लिए हर साल मई के महीने में मनाई जाती है।

READ  संविधान दिवस पर भाषण | Speech on Constitution Day in Hindi

FAQ’s Kite Festival 2023

Q. पतंगों का त्यौहार कब आता है?

Ans.जनवरी महीने में

Q. पतंगों के त्यौहार को क्या कहते हैं?

Ans.मकर सक्रांति को पतंगों का त्योहार कहा जाता है

Q. अंतरराष्ट्रीय पतंग महोत्सव 2023 कब से शुरू है?

Ans. 6 जनवरी से अंतरराष्ट्रीय पतंग महोत्सव 2023 शुरु होगा

Q. अंतरराष्ट्रीय पतंग महोत्सव 2023 कब तक चलेगा।

Ans.15 जनवरी तक अंतरराष्ट्रीय पतंग महोत्सव 2023 चलेगा

Q. मकर सक्रांति कब है?

Ans.15 जनवरी को मकर संक्रांति मनाई जाएगी।

इस ब्लॉग पोस्ट पर आपका कीमती समय देने के लिए धन्यवाद। इसी प्रकार के बेहतरीन सूचनाप्रद एवं ज्ञानवर्धक लेख easyhindi.in पर पढ़ते रहने के लिए इस वेबसाइट को बुकमार्क कर सकते हैं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *