International Girl Child Day 2023: आज है (11 अक्टूबर विश्व भर में अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस, जानें क्या है इसका इतिहास, महत्व,और थीम

Empower girls for a brighter tomorrow

International Girl Child Day : आज के इस बदलते दौर में जहां सब कुछ बदल रहा है , वहां अगर कुछ नहीं बदला है तो महिलाओं और लड़कियों के साथ हो रहा भेदभाव। 21वीं सदी में रहने के बाद भी महिलाओं और लड़कियों को लिंग-आधारित भेदभाव का सामना करना पड़ता है और समान अधिकारों और अवसरों के लिए निरंतर प्रयास और भी अधिक महत्व प्राप्त करते हैं। इस चुनौती को केवल उन्हें वह प्राप्त करा कर नहीं दूर किया जा सकता जो वे चाहते हैं, बल्कि एक लड़की को वह प्रदान करके दूर किया जा सकता जिसके वे हकदार हैं।इसलिए लड़कियों के अधिकारों के बारे में जागरूकता बढ़ाने और लोगों को शिक्षित करने के उद्देश्य से, हर साल 11 अक्टूबर को अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस मनाया जाता है। 

इस दिन को बाल विवाह, महिलाओं के खिलाफ हिंसा जैसे मुद्दों पर कई कार्यक्रमों, सेमिनारों और चर्चाओं द्वारा चिह्नित किया जाता है। हर साल 11 अक्टूबर को मनाएं जाने वाला अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस कि स्थापना संयुक्त राष्ट्र द्वारा लड़कियों के अधिकारों को बढ़ावा देने और दुनिया भर में उनके सामने आने वाली अनोखी चुनौतियों का समाधान करने के लिए की गई थी। इसे पहली बार 2012 में लैंगिक असमानता के बारे में जागरूकता बढ़ाने और लड़कियों के अधिकारों और सशक्तिकरण की वकालत करने के लिए मनाया गया था।

अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस का महत्व

अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस मनाने के पीछे का विचार महिलाओं और लड़कियों के अधिकारों के बारे में जागरूकता बढ़ाना और उन्हें उनकी क्षमता को पहचानने में मदद करना है। संयुक्त राष्ट्र के आंकड़ों के अनुसार, लड़कियां यौन शोषण की प्राथमिक शिकार हैं और विश्व स्तर पर लगभग चार में से एक लड़की के पास शिक्षा या रोजगार नहीं है। बेहतर कल के लिए इन मुद्दों पर सभी को तत्काल ध्यान देने की आवश्यकता है।

See also  Chandra Grahan 2023: जाने चंद्र ग्रहण कौन-सी राशियों के लिए होगा शुभ और किसके लिए होगा भारी

अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस दुनिया भर में लड़कियों और महिलाओं की उपलब्धियों को पहचानने के लिए मनाया जाता है।

ये भी पढ़े:- अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस पर निबंध

अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस 2023 की थीम

इस दिन को मनाने के लिए हर साल एक नई थीम तय की जाती है। अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस 2023 का थीम  “Day of the Girl Child: Digital Generation. Our generation,” है जिसका हिंदी में अर्थ है“डिजिटल पीढ़ी” हमारी पीढ़ी” थीम का उद्देश्य इस डिजिटल युग में लड़कियों को होने वाले नुकसान को समझने के लिए वैश्विक समुदाय के बीच जागरूकता बढ़ाना है।

अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस पर निबंध | Antarrashtriya Balika Diwas Par Nibandh

अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस 2018: अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस हर साल 11 अक्टूबर को मनाया जाता है | इस दिन को मनाने का उद्देश्य लोगों को इस बात के लिए जागरूक करना है की लड़कियों को भी समाज में उतनी ही अधिकार और इज़्ज़त देनी चाहिए जितनी लड़को को मिलती है | लकियों का भी पूरा अधिकार बनता है की वह समाज में अपनी बात को रख सकें और उन पर हो रहे किसी भी प्रकार के अन्याय के खिलाफ आवाज उठा सकें | यह दिन उन लोगों को भी जागरूक करने के लिए है जो की लड़कियों को सामाजिक सीमाओं में बाँध कर रखते हैं | ये निबंध कक्षा 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9 ,10, 11, 12 और कॉलेज के विद्यार्थियों के लिए दिए गए है|

International day of the girl child essay in Hindi

International day of the girl child 2018 theme: इस बार की इंटरनेशनल डे ऑफ़ गर्ल चाइल्ड 2018 थीम है “With Her: A Skilled Girl Force” यानी की “उसके साथ: एक कुशल लड़की का बल “| यह दिन गुरुवार को मनाया जाएगा|

अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस के लिये राष्ट्रीय कार्य दिवस के रुप में हर वर्ष 11 अक्टूबर को राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस मनाया जाता है। देश में लड़कियों के लिये ज्यादा समर्थन और नये मौके देने के लिये इस उत्सव की शुरुआत की गयी। समाज में बालिका शिशु के द्वारा सभी असमानताओं का सामना करने के बारे में लोगों के बीच जागरुकता को बढ़ाने के लिये इसे मनाया जाता है। बालिका शिशु के साथ भेद-भाव एक बड़ी समस्या है जो कई क्षेत्रों में फैला है जैसे शिक्षा में असमानता, पोषण, कानूनी अधिकार, चिकित्सीय देख-रेख, सुरक्षा, सम्मान, बाल विवाह आदि।

लड़कियों की उन्नति के महत्व के बारे में पूरे देश के लोगों के बीच ये मिशन जागरुकता को बढ़ाता है। यह दूसरे सामुदायिक सदस्यों और माता-पिता के प्रभावकारी समर्थन के द्वारा निर्णय लेने की प्रक्रिया में लड़कियों के सार्थक योगदान को बढ़ाता हे।

ये भी पढ़े:-

बालिका दिवस से समन्धित ये लेख भी जाने:-

See also  Karwa Chauth 2023: क्या होती है सरगी? करवाचौथ का निर्जला व्रत क्या होता है? इस दिन क्‍या खाएं और क्‍या नहीं इस लेख में पाएं पूरी जानकारी
1.राष्ट्रीय बालिका दिवस पर भाषण
2.अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस पर निबंध
3.अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस कब, क्यों व कैसे मनाया जाता हैं?
4.राष्ट्रीय बालिका दिवस पर निबंध
5.बालिका दिवस पर कविता
6.बालिका दिवस पर स्लोगन 2023
7.बालिका दिवस पर शायरी
8.राष्ट्रीय बालिका दिवस कब, क्यों, कैसे मनाया जाता है?

इस ब्लॉग पोस्ट पर आपका कीमती समय देने के लिए धन्यवाद। इसी प्रकार के बेहतरीन सूचनाप्रद एवं ज्ञानवर्धक लेख easyhindi.in पर पढ़ते रहने के लिए इस वेबसाइट को बुकमार्क कर सकते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Optimized with PageSpeed Ninja