Mahashivratri wishes in hindi | Mahashivratri Quotes in Hindi | पढ़ें महाशिवरात्रि कोट्स, शायरी, स्टेटस, शिव मंत्र और शिव चालीसा    

By | फ़रवरी 28, 2022
mahashivratri wishes in hindi

1 मार्च 2022 मंगलवार को भगवान शिव की पूजा आराधना करने हेतु महाशिवरात्रि का त्यौहार मनाया जाएगा। इस त्योहार पर सभी भक्तगण अपने सभी मिलने वालों को महाशिवरात्रि की शुभकामनाएं संदेश भेजते हैं। आज हम इस लेख में आपके लिए ऐसे ही संदेश लेकर आए हैं। (Mahashivratri wishes in hindi) जो महाशिवरात्रि के दिन आप अपने जान-पहचान वाले तथा मित्रों सदा संबंधियों को भेज सकते हैं। भगवान शिव के प्रति आस्था रखते हुए अपने कार्य को कर सकते हैं।

आइए पढ़ते हैं, महाशिवरात्रि मैसेज, महाशिवरात्रि कोट्स, महाशिवरात्रि वॉलपेपर, महाशिवरात्रि स्टेटस, महाशिवरात्रि शायरी, महाशिवरात्रि शायरी इन हिंदी, महाशिवरात्रि पर गाने, भगवान शिव के अमोघ मंत्र, शिवरात्रि मंत्र उच्चारण, शिव चालीसा आदि। इस लेख में पढ़ने वाले हैं। इसलिए अंत तक इस लेख में बने रहे।

Mahashivratri 2022 wishes in hindi | महाशिवरात्रि शायरी

भगवान शिव की पूजा आराधना करने हेतु सभी भक्त अपने आराध्य भगवान शंकर भगवान भोले की पूजा आराधना करते हैं। जिससे भक्तों को प्रभु की आस्था में हाजिरी लगाने का एक मौका अवश्य मिलता है। इस मौके को कोई भी शिवभक्त छोड़ना नहीं चाहेगा। अपने सभी मिलने जाने पर चलने वालों को  महाशिवरात्रि पर शुभ संदेश जरूर भेजेंगे। इसलिए नीचे दिए गए शुभ संदेश का आप उपयोग कर सकते हैं। किसी भी माध्यम से साझा कर सकते हैं।

हर हर महादेव बोले जो हर जन, उसे मिले समृद्धि, सुख और धन।महाशिवरात्रि की बधाई !!

शिव की महिमा अपरम्पार, शिव करते सब जन का उद्धार। उनकी कृपा आप पर सदा बनी रहे। महाशिवरात्रि की हार्दिक शुभकामनाएं!

ॐ में ही आस्था,ॐ में ही विश्वास,ॐ में ही शक्ति, ॐ में ही सारा संसार,ॐ से ही होती हैं अच्छे दिन की शुरुआत। जय शिव शंकर। हैप्पी शिवरात्रि

काल भी तुम और महाकाल भी तुम लोक भी तुम और त्रिलोक भी तुम शिव भी तुम और सत्य भी तुम। महाशिवरात्रि की शुभकामनाएं।

जिनके रोम-रोम में शिव हैं वही विष पिया करते हैं, जमाना उन्हें क्या जलाएगा जो श्रृंगार ही अंगार से किया करते हैं। हर हर महादेव !! Happy Mahashivratri 

एक दिन अपना भी नाम होगा सदा रहूँगा शिव के साये में जल्दी ही मेरा भी नाम होगा। महाशिवरात्रि की हार्दिक शुभकामनाएं !!

तेरी चौखट पर सिर रख दिया है भार मेरा उठाना पड़ेगा, मैं भला हुँ बुरा हूँ मेरे भोले भंडारी  मुझको अपना बनाना पड़ेगा। हैप्पी महाशिवरात्रि !!

जाने महाशिवरात्रि व्रत का महत्व, नियम, विधि, शुभ मुहूर्त व व्रत कथा  

घनघोर अँधेरा ओढ़ के जन जीवन से दूर हूँ श्मशान में हूँ नाचता मैं मृत्यु का ग़ुरूर हूँ,कोई हाथ न लगा पाए मैं महादेव का भक्त घनघोर हूँ। शिवरात्रि की बधाई!

आओ भगवान शिव का नमन करें । उनका आशीर्वाद हम सब पर बना रहे शिवरात्रि की हार्दिक बधाई! बोलो हर हर महादेव !!

जो भी करें महाशिवरात्रि में अभिषेक पूरी हो उसकी हर मुराद, जो भी पढ़ें यह मैसेज उसके भी पूरे हो हर ख्वाब। महाशिवरात्रि की हार्दिक बधाई !!

भोलेशंकर को मानना है तो शिवालय आना होगा, भोले का भक्त बनना है तो केवल सच्चे मन से मुस्कुराना होगा। Mahashivratri ki Hardik Shubhkamnaye !!

महाशिवरात्रि व्रत क्यों रखा जाता है

READ  Happy Dhanteras 2022 | धनतेरस की हार्दिक शुभकामनाएं सन्देश हिंदी में

महाशिवरात्रि कोट्स इन हिंदी | Mahashivratri Quotes in Hindi

भगवान शिव की पूजा आराधना करने पर सभी भक्तों की मनोकामना पूर्ण होती है। ऐसी मान्यताओं के साथ शिव भक्त भगवान शिव के नाम पर सकारात्मक शक्ति का संचरण करते हैं। सभी जानने पहचानने वालों को महाशिवरात्रि की शुभकामनाएं देते हैं। शुभकामना देने के लिए आप इन कोर्ट्स का इस्तेमाल कर सकते हैं। आप किसी भी माध्यम से इन्हें सेट कर सकते हैं।

भोले तू ही जाने तेरी माया, हर दिल में तू ही समाया। जो करे दिल से अरदास सदा रहे उसके सर पर तेरा हाथ। बम बम भोले !!

तन की जाने, मन की जाने, जाने चित की चोरी उस शिव के हाथ में हैं तेरी मेरी डोरी। महाशिवरात्रि की हार्दिक शुभकामनाएं !!

ना पूछो मुझसे मेरी पहचान मैं तो भस्मधारी हूँ, भस्म से होता जिनका श्रृंगार मैं उस शिव शंकर का पुजारी हूँ। शिवरात्रि की हार्दिक शुभकामनाएं !

भगवन शंकर हर किसी की इच्छा पूरी करते है, जो जप ले एक बार उनका नाम काम पूरा करते है। शिवरात्रि की हार्दिक शुभकामनाएं !!

अमृत पीने वाले को देव कहते हैं मगर विष पीने वाले को केवल महादेव कहते हैं !! महाशिवरात्रि की शुभकामनाएं।

जब भी मैं अपने बुरे हालातो से घबराता हूँ, तब मेरे महादेव की आवाज आती है की रुक मैं अभी आता हूँ। महाशिवरात्रि की शुभकामनाएं

मिलती है तेरी भक्ती महादेव बड़े जतन के बाद, पा ही लूँगा तुझे मैं श्मशान मे जलने के बाद।महाशिवरात्रि की शुभकामनाएं।

यह कलयुग है यहाँ ताज अच्छाई को नही बुराई को मिलता है, लेकिन हम तो महादेव के दीवाने है ताज के नही रुद्राक्ष के दीवाने है।

महाशिवरात्रि का व्रत रखने के नियम

वो दे तो मर्जी उसकी न दे तो कोई मलाल नहीं, महाकाल के फैसले कमाल है, उन फैसलों पर कोई सवाल नहीं। (हर हर महादेव ) 

महाशिवरात्रि शायरी इन हिंदी | Mahashivratri Shayari in Hindi

महाशिवरात्रि के दिन जातक पूरी रात्रि सीधा बैठकर जागरण करता है। एक पॉजिटिव एनर्जी को अपने भीतर महसूस करता है। अपने मिलने वाले सभी लोगों को इस रात्रि के दिन किए गए भगवान शिव की पूजा आराधना को शायरियों के रूप में और लोगों तक प्रेषित करते हैं। आप नीचे दी गई हिंदी शायरियों का उपयोग कर सकते हैं। तथा किसी भी माध्यम से शेयर कर सकते हैं।

शंकर की ज्योति से नूर मिलता है; भक्तों के दिलों को सकूं मिलता है; शिव के द्वार आता है जो भी; सबको फल जरूर मिलता है। शुभ महाशिवरात्रि।

पी के भांग ज़मा लो रंग; ज़िन्दगी बीते खुशियों के संग; लेकर नाम शिव भोले का; दिल में भरलो शिवरात्रि की उमंग। आपके सभी परिजनों को शुभ महाशिवरात्रि।

शिव की शक्ति से; शिव की भक्ति से; खुशियों की बहार मिले; महादेव की कृपा से; आप सब दोस्तों को जिंदगी में प्यार मिले। महाशिवरात्रि के पावन अफसर पर शुभ कामनाएं!

शिव की महिमा अपरं पार; शिव करते सबका उद्धार; उनकी कृपा आप पर सदा बनी रहे; और आपके जीवन में आयें खुशियाँ हज़ार।

शिव की बनी रहे आप पर छाया,
पलट दे जो आपकी किस्मत की काया;
मिले आपको वो सब अपनी ज़िन्दगी में,
जो कभी किसी ने भी न पाया!
शिवरात्रि की हार्दिक शुभकामनायें!

विश पीने का आदि मेरा भोला है,
नागों की माला और बाघों का चोला है…
भूतों की बस्ती का पीछे टोला है,
मस्ती में डुबा डुबा वो मेरा भोला है…
हर हर महादेव…जय महाकाल.. .

कैसे कह दूँ कि मेरी, हर दुआ बेअसर हो गई
मैं जब जब भी रोया, मेरे भोलेनाथ को खबर हो गई

शव हूँ मैं भी शिव बिना
शव में शिव का वास
शिव है मेरे आराध्य
और मैं शिव का दास

भोले बाबा का आशीर्वाद मिले आपको
उनकी दुआ का प्रसाद मिले आपको
आप करे अपनी जिन्दगी में खूब तरक्की
और हर किसी का प्यार मिले आपको
जय भोले शिव शंकर बाबा की जय
शिवरात्रि की शुभकामनायें

कर्ता करे न कर सकै
शिव करै सो होय
तीन लोक नौ खंड में
महादेव से बड़ा न कोय

महाशिवरात्रि मंत्र उच्चारण

भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए शिव मंत्रों का उच्चारण करना बहुत जरूरी है। भगवान शिव का पंचाक्षर मंत्र जिसका प्रयोग हम सभी को करना चाहिए। जो है “ओम नमः शिवाय” इसके अन्य शिव मंत्रों का उच्चारण कर सकते हैं। भगवान शिव के प्रति अपनी आस्था को प्रकट कर सकते हैं।

”हृीं ओम् नमः शिवाय हृीं”

ॐ तत्पुरुषाय विदमहे, महादेवाय धीमहि तन्नो रुद्र: प्रचोदयात्।।

”ऊँ नम: शिवाय”

“हे गौरि शंकरार्धांगि यथा त्वं शंकरप्रिया”

ॐ ऐं ह्रीं शिव गौरीमव ह्रीं ऐं ॐ

महामृत्युंजय मंत्र

भगवान शिव द्वारा एक ऐसे मंत्र की रचना की गई है। जो सही आस्था के साथ बजने पर व्यक्ति की मृत्यु होने से बचा सकता है। यह औरत को फलित करने वाला सीधा शिवलोक में निवास करता है। महामृत्युंजय मंत्र भगवान शिव के डमरू से निकला हुआ है। महामृत्युंजय मंत्र का जाप प्रत्येक शिवभक्त करना चाहिए महामृत्युंजय मंत्र है।

ॐ त्र्यम्बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम्।
उर्वारुकमिव बन्धनान मृत्योर्मुक्षीय मामृतात्॥

महामृत्युंजय गायत्री मंत्र
ॐ हौं जूं स: ॐ भूर्भुव: स्व: ॐ त्र्यम्बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवद्र्धनम्।
उर्वारुकमिव बन्धनान्मृत्योर्मुक्षीय मामृतात् ॐ स्व: भुव: ॐ स: जूं हौं ॐ ॥

शिव चालीसा

शिव चालीसा का पाठ करना पड़ते शिव भक्तों के लिए ऊर्जा  देने का काम करता है। भगवान शिव द्वारा किए गए अलौकिक कार्यों का परिचय मिलता है। शिव चालीसा से  शिवभक्त अपने आप को सौभाग्यशाली मानते हैं। प्रभु को बार-बार धन्यवाद देते हैं। इसलिए प्रत्येक व्यक्ति को शिव चालीसा का अध्ययन जरूर करना चाहिए।

READ  गोवर्धन पूजा निबंध हिंदी में | Govardhan puja essay in Hindi

दोहा

जय गणेश गिरिजा सुवन,

मंगल मूल सुजान।

कहत अयोध्यादास तुम,

देहु अभय वरदान ॥

जय गिरिजा पति दीन दयाला । सदा करत सन्तन प्रतिपाला ॥ 

भाल चन्द्रमा सोहत नीके । कानन कुण्डल नागफनी के ॥ 

अंग गौर शिर गंग बहाये । मुण्डमाल तन क्षार लगाए ॥ 

वस्त्र खाल बाघम्बर सोहे । छवि को देखि नाग मन मोहे ॥ 

मैना मातु की हवे दुलारी । बाम अंग सोहत छवि न्यारी ॥ 

कर त्रिशूल सोहत छवि भारी । करत सदा शत्रुन क्षयकारी ॥ 

नन्दि गणेश सोहै तहँ कैसे । सागर मध्य कमल हैं जैसे ॥ 

कार्तिक श्याम और गणराऊ । या छवि को कहि जात न काऊ ॥ 

देवन जबहीं जाय पुकारा । तब ही दुख प्रभु आप निवारा ॥ 

किया उपद्रव तारक भारी । देवन सब मिलि तुमहिं जुहारी ॥ 

तुरत षडानन आप पठायउ । लवनिमेष महँ मारि गिरायउ ॥ 

आप जलंधर असुर संहारा । सुयश तुम्हार विदित संसारा ॥

त्रिपुरासुर सन युद्ध मचाई । सबहिं कृपा कर लीन बचाई ॥ 

किया तपहिं भागीरथ भारी । पुरब प्रतिज्ञा तासु पुरारी ॥ 

दानिन महँ तुम सम कोउ नाहीं । सेवक स्तुति करत सदाहीं ॥ 

वेद नाम महिमा तव गाई। अकथ अनादि भेद नहिं पाई ॥ 

प्रकटी उदधि मंथन में ज्वाला । जरत सुरासुर भए विहाला ॥ 

कीन्ही दया तहं करी सहाई । नीलकण्ठ तब नाम कहाई ॥

पूजन रामचन्द्र जब कीन्हा । जीत के लंक विभीषण दीन्हा ॥ 

सहस कमल में हो रहे धारी । कीन्ह परीक्षा तबहिं पुरारी ॥ 

एक कमल प्रभु राखेउ जोई । कमल नयन पूजन चहं सोई ॥ 

कठिन भक्ति देखी प्रभु शंकर । भए प्रसन्न दिए इच्छित वर ॥ 

जय जय जय अनन्त अविनाशी । करत कृपा सब के घटवासी ॥ 

दुष्ट सकल नित मोहि सतावै । भ्रमत रहौं मोहि चैन न आवै ॥ 

त्राहि त्राहि मैं नाथ पुकारो । येहि अवसर मोहि आन उबारो ॥ 

लै त्रिशूल शत्रुन को मारो । संकट से मोहि आन उबारो ॥ 

मात-पिता भ्राता सब होई । संकट में पूछत नहिं कोई ॥ 

स्वामी एक है आस तुम्हारी । आय हरहु मम संकट भारी ॥ 

धन निर्धन को देत सदा हीं । जो कोई जांचे सो फल पाहीं ॥ 

अस्तुति केहि विधि करैं तुम्हारी । क्षमहु नाथ अब चूक हमारी ॥

Mahashivratri 2022: Chant these mantras of Lord Shiva on Mahashivratri, and  get the desired boon - The India Print : theindiaprint.com, The Print

शंकर हो संकट के नाशन । मंगल कारण विघ्न विनाशन ॥ 

योगी यति मुनि ध्यान लगावैं । शारद नारद शीश नवावैं ॥ 

नमो नमो जय नमः शिवाय । सुर ब्रह्मादिक पार न पाय ॥

जो यह पाठ करे मन लाई । ता पर होत है शम्भु सहाई ॥ 

ॠनियां जो कोई हो अधिकारी । पाठ करे सो पावन हारी ॥

पुत्र हीन कर इच्छा जोई । निश्चय शिव प्रसाद तेहि होई ॥

पण्डित त्रयोदशी को लावे । ध्यान पूर्वक होम करावे ॥

त्रयोदशी व्रत करै हमेशा । ताके तन नहीं रहै कलेशा ॥ 

धूप दीप नैवेद्य चढ़ावे । शंकर सम्मुख पाठ सुनावे ॥ 

जन्म जन्म के पाप नसावे । अन्त धाम शिवपुर में पावे ॥ 

कहैं अयोध्यादास आस तुम्हारी । जानि सकल दुःख हरहु हमारी ॥

        दोहा 

नित्त नेम कर प्रातः ही,पाठ करौं चालीसा । 

तुम मेरी मनोकामना,पूर्ण करो जगदीश ॥ 

मगसर छठि हेमन्त ॠतु,संवत चौसठ जान । 

अस्तुति चालीसा शिवहि,पूर्ण कीन कल्याण ॥

शिव आरती

जब जातक भगवान शिव की पूजा आराधना कर रहे होते हैं। तब उन्हें पूजा समापन के पश्चात शिव आरती अवश्य गाने चाहिए। जिससे पूजा को पूर्णत सफल माना जाता है। इसलिए दी गई आरती को घर पर जरूर गाए।

Shiv aarti in Hindi

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *